दसवें भाव में सूर्य/ SUN IN 10TH HOUSE

Sun in 10th House

जन्म कुंडली के दसवें भाव में सूर्य/Sun in tenth house की यह सबसे अच्छी स्थितियों में से एक है। इसके पीछे कई कारण होते हैं, लेकिन सबसा बड़ा कारण इसका यह है कि सूर्य व्यक्ति को कुछ रचनात्मक करने की और अग्रसर करता है यदि वह शुभ स्थिति में विराजमान हो। वहीं दसवां भाव करियर, व्यवसाय, जीवन वृत्ति, आदि से संबंधित कार्यों के लिए जाना जाता है और सूर्य ऐसे पेशों में वृद्धि के लिए जाना जाता है।

दसवें भाव में सूर्य की स्थिति का पिता के साथ संबंध पर प्रभाव/ Effect of sun in 10th house on father-child relationship

सूर्य का दसवें भाव/10th House में होना, व्यक्ति के पिता के लिए लाभप्रद माना गया है। ऐसे व्यक्तियों के पिता कठोर और अनुशासित होने के साथ ही, उनके प्रति स्नेही भी होते हैं, तथा इनके पिता सरकारी सेवाओं या राजनीति में सक्रिय भूमिका निभाते हैं। किसी भी स्थिति में, पिता इन व्यक्ति के पालन-पोषण के लिए समय की कमी को, कई घरेलू नौकरों और निजी शिक्षकों की नियुक्ति करके पूरा करते हैं। यह व्यक्ति, पिता की वृद्धावस्था या किसी अन्य प्रकार की विकलांगता के बाद उनकी बहुत अच्छी तरह से सेवा करते हैं। वयस्क होने पर भी, इन व्यक्तियों के बचपन में पिता के सख्त अनुशासन के कारण, पिता से एक प्रकार का आंतरिक भय बना रहता है।

आमतौर पर, इन व्यक्तियों के पिता वैवाहिक जीवन में हस्तक्षेप नहीं करते। हालांकि, पिता 18 साल की उम्र तक की संतान के किसी भी प्रेम संबंध को स्वीकार नहीं करते और ऐसी परिस्थितियों में, सभी अप्रत्यक्ष और प्रत्यक्ष तरीकों से इसे समाप्त करने का पूरा प्रयास करते हैं।

इसके संदर्भ में यह याद रखना चाहिए कि प्रत्येक व्यक्ति पर उसके स्वयं के ग्रह शासन करते हैं। संतान या इसके विपरीत ग्रहों का किसी अन्य व्यक्ति के जीवन पर कम से कम प्रभाव पड़ता है, चाहे दोनों के बीच कोई भी  संबंध क्यों न हो। संतान का पिता के ग्रहों पर सबसे अधिक 15% तक प्रभाव हो सकता है, जबकि पिता का संतान की किस्मत और भाग्य पर मुश्किल से 5 से 10% का प्रभाव होता है, चाहे पिता की एक ही संतान हो या अधिक।

दसवां भाव आपकी आमदनी और आय का मार्ग कैसे प्रशस्त करता है?/How Does the 10th House Pave the Way for Your Earnings and Income?

दसवां भाव, अधिकतर आमदनी और आय के प्राथमिक स्रोतों से संबंधित मामलों को नियंत्रित करता है इसलिए इस मामले को विशेष रूप से दसवें भाव की राशि के संदर्भ में, जन्म कुंडली में इसके स्वामी की स्थिति के साथ ही, महिला और पुरुष दोनों व्यक्तियों के मामलों में नवमांश चार्ट के व्यापक अध्ययन को, इसके पूर्ण स्वरूप में अध्ययन करने की आवश्यकता होती है।   ज्योतिष के प्राचीन आचार्यों ने, जन्मकुण्डली के दसवें भाव (अर्थात् सातवें भाव का स्वामी) से दसवें भाव के स्वामी की, महिलाओं और पुरुषों दोनों के नवमांश चार्ट में इसकी स्थिति को महत्व दिया है। जन्म कुण्डली में क्रमशः दसवें और सातवें भाव के दोनों स्वामियों की सप्त-वर्ग शक्ति का, जन्म कुंडली के दसवें भाव के साथ संबंध का अध्ययन करने की आवश्यकता होती है।

पांचवां भाव और उसका स्वामी आपकी शिक्षा को कैसे नियंत्रित करता है?/ How Does the 5th House and its Lord Govern Your Education? 

इस संदर्भ में, पांचवें भाव और उसके स्वामी द्वारा शिक्षा के अवयवों को नियंत्रित किए जाने के कारण, पांचवें भाव के प्रभावों का अध्ययन करना आवश्यक होता है।  इसलिए, किसी भी व्यक्ति के करियर और आजीविका के स्रोतों का अनुमान लगाते समय पांचवें भाव में ग्रहों, पांचवें भाव का पांचवें भाव के स्वामी के साथ संबंध और दसवें भाव का महत्व माना जाता है।

किसी विशिष्ट व्यक्ति की आजीविका के स्रोतों के बारे में बात करते समय, सातवें भाव के साथ-साथ दसवें भाव के अध्ययन को भी ध्यान में रखा जाना चाहिए। जन्म कुंडली और नवमांश चार्ट में, पांचवें भाव और उसके स्वामी का विस्तृत अध्ययन किया जाना चाहिए। दसवें भाव/10th House का महत्व इसलिए भी है क्योंकि यह पिता पर निर्भर होता है। कई मामलों में, व्यक्ति पिता के करियर और आजीविका के मार्ग का अनुसरण करता है; उदाहरण के लिए एक वकील के बेटे या बेटी को वकील और एक डॉक्टर के बेटे या बेटी को चिकित्सा क्षेत्र के लिए उपयुक्त समझने के कारण, अक्सर बच्चों को पिता की आजीविका के मार्ग पर लाने के लिए सर्वोत्तम प्रयास किए जाते हैं। संपत्ति या कृषि द्वारा किराए की आमदनी से आजीविका का प्राथमिक स्रोत रखने वाला पिता अक्सर चाहता है कि उसका बेटा या बेटी आजीविका के दूसरे मार्ग के साथ ही, चले आ रहे आजीविका के मार्ग को भी जारी रख सकता है। 

दसवें घर में सूर्य क्या भूमिका निभाता है?/ What Role Does the Sun Play in the 10th House?

उपरोक्त संदर्भ में, दसवें भाव में सूर्य/SUN IN 10TH HOUSE का विशेष महत्व होने के साथ ही, बिना किसी संदेह अन्य ग्रहों का भी समान महत्व होता है। सूर्य सरकारी, अर्ध-सरकारी, सार्वजनिक क्षेत्र या नगरपालिका जैसे नागरिक निकायों, सार्वजनिक सेवाओं, अन्यथा सक्रिय राजनीति तथा सरकार के बैनर या सरकारी व्यवस्था के अंतर्गत  सामाजिक और धार्मिक कार्यों के साथ संबंधित होता है।

 जैसा कि ऊपर कहा गया है, महिला और पुरुष दोनों व्यक्तियों के आय के प्राथमिक स्रोत के संबंध में, सूर्य की नवमांश स्थिति के साथ, दसवें भाव के स्वामी की जन्म कुंडली-सह-नवांश स्थिति के साथ, दसवें भाव में अन्य ग्रहों की नवमांश स्थिति के अध्ययन का भी महत्व होता है। यह सितारे अर्ध-सरकारी, सरकारी विभाग, सरकार के स्वामित्व वाली या भारत और बैंकों में सरकारी बैनर के तहत काम करने वाली बीमा कंपनियों सहित नागरिक निकायों या सार्वजनिक क्षेत्रों के उपक्रमों के तहत रोजगार के क्षेत्र में सहयोगी होते हैं। सामाजिक कार्यों के संबंध में, यह सितारे व्यक्ति के कार्यक्षेत्र को सीधे प्रभावित करते हैं। धार्मिक कार्यों से संबंधित वित्त, प्रबंधन, निर्माण और रखरखाव, सुरक्षा देवताओं/मूर्तियों पर आभूषण, आगंतुकों की सुरक्षा, मुख्य देवता को प्रसाद की तैयारी, आगंतुकों को दिए जाने वाले प्रसाद की तैयारी, शास्त्रों का पाठ और प्रवचनों की व्यवस्था आदि गतिविधियों और कर्तव्यों के विभिन्न क्षेत्र होने के कारण धार्मिक क्रियाकलापों के संबंध में भी, संबंधित ग्रहों का हमेशा अपना एक महत्व होता है 

इस पृष्ठ से संबंधित कुछ लेख

  1. जन्म कुंडली में सरकारी नौकरी की संभावनाएं
  2. सभी भावों में सूर्य का प्रभाव
  3. बिज़नेस ज्योतिष कैसे मदद कर सकता है 

ज्योतिष रहस्य