मुख्य पृष्ठ ग्रहों चंद्रमा चंद्रमा सप्तम भाव में

प्रीमियम उत्पाद

सातवें भाव में चंद्रमा/MOON IN 7TH HOUSE

Moon in 7th House

वैदिक ज्योतिष/Vedic astrology के अनुसार, सातवां भाव मुकदमों, कॉन्ट्रैक्ट, विवाह, पार्टनरशिप, आदि विभिन्न चीजों का  प्रतीक होने के कारण, इसका ऐसे व्यक्तियों का दूसरों या उनके आसपास मंडराने वाले लोगों के संबंध में, बहुत बड़ा हाथ होता है। यह रचनात्मकता और शांति की भावना को उकसाता है। चंद्रमा और सातवें भाव की युति बहुत ही असाधारण संयोजन होता है, क्योंकि इसकी भावनाएं सातवें भाव के साथ मिश्रित हो जाती हैं। यह देखा गया है कि जिन व्यक्तियों की जन्म कुंडली के सातवें भाव में चंद्रमा/ Moon in the seventh house होता है, वह स्पष्टवादिता और दृढ़ता के गुणों से संपन्न होने के कारण आनंदित होते हैं। मुख्य रूप से, इन्हें अपने आस-पास मंडराने वाले लोगों के साथ मजबूत संबंध और देखभाल करने वाली प्रवृत्ति के कारण इन्हें परिभाषित किया जा सकता है। सातवें भाव में चंद्रमा के स्थित होने के कारण वैवाहिक संबंध, दूसरों के प्रति दृष्टिकोण, विदेश यात्रा और व्यावसायिक साझेदारी जैसे क्षेत्र प्रभावित होते हैं।

सातवें भाव में चंद्रमा का सकारात्मक प्रभाव/ Positive Impact of Moon in Seventh House

• सातवें भाव में स्थित चंद्रमा, ऐसे व्यक्तियों के लिए जीवनसाथी से संबंधित भविष्यवाणियां बता सकती है कि उसे घरेलू जिम्मेदारियों को आसानी से संभालने वाले एवं धार्मिक जीवनसाथी मिल सकता है। इसके अलावा जीवनसाथी के उदार और दयालु होने के कारण, अधिकतर इन व्यक्तियों का वैवाहिक जीवन आनंदमय रहता है। सातवें भाव में चंद्रमा वाले व्यक्तियों को उचित साथी की खोज करने के रूप में कई संबंध बनाते हैं।  इसके विपरीत, सातवें भाव में चंद्रमा की प्रेम विवाह संबंधी भविष्यवाणियों के अनुसार, चंद्रमा व्यक्तियों के वैवाहिक जीवन में उथल-पुथल उत्पन्न कर सकता है। 

• सातवें भाव में चंद्रमा/Moon in the seventh house वाले व्यक्तियों का समग्र व्यक्तित्व दूसरों के प्रति समझौता और सहानुभूति रखने वाला होता है। उदारता के कारण, वह समस्याओं की गंभीरता की परवाह किए बिना दूसरों की मदद करने का प्रयास करते हैं।

• सातवें भाव में चंद्रमा वाले पुरुषों के कुंडली की भविष्यवाणियों के अनुसार, इन पुरुषों के ग्रह व्यावसायिक संभावनाओं के लिए अनुकूल होने के कारण, यह अपने करियर को उज्जवल बनाने में सक्षम होने के साथ ही, कठोर परिश्रम और केंद्रित होकर अपने बिजनेस का विस्तार और विकास करने में सक्षम होते हैं। यह अपने व्यापार की सभी अनिश्चितताओं को दूर करके और अपना काम व्यवस्थित और प्रभावी ढंग से करने के कारण, करियर में अधिक सफल होते हैं।

नकारात्मक प्रभाव/ Negative Impact

१. जन्म कुंडली के सातवें भाव में चंद्रमा वाले व्यक्तियों को, दूसरों पर निर्भरता को लेकर बहुत सावधान रहने की आवश्यकता होती है। दूसरों पर निर्भर होना अच्छा है, लेकिन दूसरों पर अत्यधिक निर्भर होना खुद के लिए हानिकारक होता है, इसलिए उन्हें दूसरों पर ज्यादा निर्भर नहीं रहना चाहिए।  हालांकि, दूसरों पर बहुत अधिक निर्भर होने के कारण, वह जिस व्यक्ति पर निर्भर होते हैं, उसके तौर-तरीकों से झटका लग सकता है। 

२. सातवें भाव में स्थित चंद्रमा कई बार रिश्तों पर बुरा प्रभाव डाल सकता है। व्यक्तियों को, अपने साथी को स्पष्ट रूप से स्वीकार करने की स्थिति में होना चाहिए, लेकिन हमेशा ऐसा स्थिति एक समान नहं होती। इस कारण यह साथी के साथ भावनात्मक समस्याओं को भी संचालित कर सकता है तथा स्थिति के बिगड़ने पर, यह अलगाव या तलाक का कारण भी बन सकता है।

३. सातवें भाव वाली महिलाओं की कुंडली में चंद्रमा, मानसिक रूप से बौद्धिक प्रवृत्ति देता है। लेकिन, साथी की काफी भिन्न प्रवृत्ति होने के कारण, वह उसे अपने साथी के रूप में महसूस नहीं कर पाती, जिससे दोनों के बीच विवाद की स्थिति उत्पन्न हो जाती है, तथा साथी द्वारा ठगा महसूस करने पर, उनके आपसी संबंधों में दरार आ सकती है।

४. उम्र बढ़ने और अधिक उदार-चित्त होने के कारण,  पिछले जीवन में कम दिलचस्पी लेते हैं, तथा उनका उम्र उन्हें खुश और बेहतर बनाए रखती है।

सातवें भाव में चंद्रमा का प्रभाव/ Effects of Moon in 7th House

• चन्द्रमा मानसिकता और सातवां भाव व्यापार का सूचक होता है, व्यवसायी प्रवृत्ति वाले ऐसे व्यक्ति व्यापारी या दुकानदारी में सफलता प्राप्त कर सकते है।

• चंद्रमा द्वारा माता का प्रतिनिधित्व करने के कारण, इन व्यक्तियों की माताओं में सौदेबाजी की उत्कृष्ट क्षमता होने की संभावनाएं होती है। सीधे व्यापार से नहीं जुड़ने पर भी, उनके पास काफी हद तक सौदेबाजी का गुण हो सकता है।

• सातवें भाव का चंद्रमा/Moon in the seventh house आयात-निर्यात, रेस्टोरेंट, होटल, तेल, रसायन आदि जैसे व्यवसायों के लिए उपयुक्त होता है।

• सातवें भाव में चंद्रमा का यह स्थान, व्यक्तियों को  अपने आस-पास मंडराने वाले लोगों के साथ सहज बनाता है। ऐसे व्यक्ति आराम और सुख-सुविधाओं की परवाह किए बिना ही, कभी-कभी अपना पूरा जीवन दूसरों के कल्याण के लिए समर्पित कर देते हैं। 
सभी भावों में चंद्रमा के प्रभाव और ग्रहों के गोचर और इसके प्रभावों, कैसे बनाएं सही जन्मकुंडलीकुंडली मिलान का महत्व के बारे में और पढ़ें।

ज्योतिष रहस्य