noscript

Sampoorn Vishnu Vallabh Vidhi

Sampoorn Vishnu Vallabh Vidhi – (For 27 Mondays)

The Sampoorn Vishnu Vallabh Vidhi is a thorough worship of Lord Vishnu, performed continuously for 27 weeks. One has to follow this process, again and again, on Mondays.

First of all, keep the following materials ready:
1. Raw milk (It’s best to use cow’s milk)
2. Ghee
3. Curd
4. Mishri / Boora (grinded sugar)
5. Honey
6. Makhana (Lotus flower’s seeds)
7. Chironji or Charoli
8. Ganga / holy water
9. Shukthiz Pishthi
10. Itr (Perfume)
11. Saffron
12. Sandalwood
13. Raw Rice
14. Datura 
15. Bel Ptr 
16. Flower (Lotus or Oleander only)

Method
On a particular Monday chosen to begin this vidhi, prepare Panchamruth using the first 8 of the aforementioned items and store it in a Kalash. Subsequently, organize the items 9 to 16 on a plate. Take the Kalash and plate to a Shiva temple and offer them to Lord Shiva, with reverence, reciting “Om Namah Shivaya”.
Save some Panchamruth & consume it later as Prasad.

Do and Don't
1.  Ensure that the Shiv Ling is cleansed with pure water, available in the temple, before offering anything to him.
2. After offering the items, pour Ganga water on Nandi and Maa Parvati.
3. Do not cast any flower other than Oleander or Lotus.
4. Do not use Turmeric, Roli, Kumkum, Coconut water, or Tusli on Shiv Ling even by mistake.
5. You have to repeat this for the next 26 Mondays. In case, you miss any Monday because of emergency/ natural reasons, ensure that you do it on one of the Mondays after the 27thMonday. Don’t forget it or leave it owing to laziness.
If you find this an arduous task, you can take the help of our priests & team.

सम्पूर्ण विष्णुवल्लभ विधि (27 सोमवार )

यह विधि आपको सोमवार के दिन निष्पादित करनी है | विधि व प्रयुक्त वस्तुएं  निम्न  प्रकार से है |

सबसे पहले निम्न वस्तुओं का प्रबंध कर लें :
1. कच्चा दूध (यदि गाय का हो तो उत्तम हैं)
2.घी
3. दही
4.मिश्री या चीनी या बूरा
5. शहद
6. बारीक कटे हुए मखाने
7. चिरौंजी
8. गंगा जल
9.शुक्तिज पिष्टी
10. इत्र
11. केसर
12. चन्दन
13. अक्षत
14. धतूरा
15. बेल पत्र
16. फूल (कनेर या कमल के, कोई अन्य नहीं)

विधि :

सोमवार के दिन उपरोक्त उल्लेखित वस्तुओं (क्रम संख्या 1 से 8 तक) से पंचामृत बना लें तथा उसे किसी कलश में शिव मंदिर तक ले जाने का प्रबंध कर लें और साथ साथ क्रम संख्या 9 से 16 तक के पदार्थों को किसी थाल में मंदिर ले जाये | यह सब पूर्ण विधि विधान व श्रद्धा के साथ शिव लिंग पर चढ़ाएं और मन ही मन ॐ नमः शिवाय का पाठ करते रहे |
थोड़ा सा पंचामृत बचा लें जिसे बाद में प्रसाद स्वरुप ग्रहण करें |

कृपया ध्यान दें :
1. अपनी साम्रगी को अर्पण करने से पहले, शिव लिंग को शुद्ध जल  से साफ़ अवश्य करें और अपनी साम्रगी को अर्पित करने के उपरान्त भी शिव लिंग को शुद्ध जल से साफ़ करें |
2. शिवलिंग पर सामग्री चढ़ाने के बाद नंदी व माँ पार्वती पर भी गंगा जल अवश्य चढ़ाएं |
3. भगवान् शिव पर कनेर या कमल के पुष्प के आलावा कोई अन्य पुष्प न चढ़ाएं |
4. शिवलिंग पर हल्दी, रोली, कुमकुम, नारियल पानी, तुलसी भूल कर भी न चढ़ाएं |
5.शिवलिंग पर शंख कभी न फूकें |
6. यह आपको 27 सोमवार लगातार करना है, ध्यान दें कि यदि अस्वस्थता के कारण कोई सोमवार छूट जाता है तो उसे सत्तीसवें सोमवार के बाद वाले सोमवार में पूर्ण कर सकते हैं, परन्तु आलस्य के कारण कोई ना छोड़े |

विशेष:

यदि आप इस विधि को करने में असमर्थ हैं तो बजरंगी धाम इसे आपके लिए संम्पादित करवा सकता है ,आप इस विषय से सम्बंधित अधिक जानकारी बजरंगी धाम से लें |