noscript

MANGAL VISHESH VIDHI

Bajrangi Dhaam Mangal Vishesh Vidhi

Mangal Poojan Vidhi:

This vidhi will go on for 7 weeks. Please carry out the same with full devotion.

First Tuesday:

First tuesday's yantra: Hanumatay Namah Yantram

First tuesday's ratna: 2 pravalak

Prasad: Mishri

Path: Hanuman Chalisa(day and evening)

Second Tuesday:

Second tuesday's yantra: Hanumatay Poojan Yantram

Second tuesday's ratna: 2 pravalak

Prasad: Besan ladoo

Mantra: OM HAM HUMANTAY NAMAH

Mala: Mangal Mala

No. of times: Two mala, 216 times

Third Tuesday:

Third tuesday's yantra: Bhaktambar Yantram

Third tuesday's ratna: 2 pravalak

Prasad: Boondi ladoo

Mantra: OM KRAM KRIM KROM SAH BHOMAYA NAMAH

Mala: Mangal Mala

No. of times: Two mala, 216 times

Fourth Tuesday:

Fourth tuesday's yantra: Navnath Yantram

Fourth tuesday's ratna: 2 pravalak

Prasad: Mishri

Path:Hanuman Chalisa(day and evening)

Fifth Tuesday:

Fifth tuesday's yantra: Chautrisiya Yantram

Fifth tuesday's ratna: 2 pravalak

Prasad: Besan ladoo

Mantra: OM HAM HUMANTAY NAMAH

Mala: Mangal Mala

No. of times: Two mala, 216 times

Sixth tuesday:

Sixth tuesday's yantra: Sampoorna Rishi Mandal Yantra

Sixth tuesday's ratna: 2 pravalak

Prasad: Besan ladoo

Mantra: OM KRAM KRIM KROM SAH BHOMAYA NAMAH

Mala: Mangal Mala

No. of times: Two mala, 216 times

Seventh Tuesday:

Seventh Tuesday's yantra: Shri Marooti Yantra

Seventh Tuesday's ratna: 2 pravalak

Prasad: White Barfi

Mantra: Gayatri Mantra

Mala: Rudraksha Mala

No. of times: Three mala, 324 times

After Seven weeks,all the Yantra is to remain in your temple and Pravalak to be floated in running water.

The things required in this vidhi.

1. Yantra -7 (1 Every week)

2. Pravlak-14  (2 Every week) 

3. Prasaad (as told)

4. Roli-moli

5. Raw rice

6. Flowers

7. Dhoop-agarbatti

 

EXPLAINED IN HINDI

 

मंगल पूजन विशेष विधि :
यह विधि सात सप्तहा चलेगी , इसे निम्न विधि से पूर्ण विश्वास के साथ करें/  
पहला मंगलवार :
विधि आरंभ करने का दिवस : शुक्ल पक्ष का मंगलवार 
पहले मंगलवार को यन्त्र की स्थापना :- हनुमते नमः यन्त्र 
पहले मंगलवार को रत्न स्थापना  :- दो प्रवलक
पहले सप्तहा प्रसाद : मिश्री 
पहले सप्तहा पाठ : हनुमान चालीसा , सुबह और शाम /

दूसरा मंगलवार :
विधि आरंभ करने का दिवस : दूसरा  मंगलवार 
दूसरे मंगलवार को यन्त्र की स्थापना :- हनुमत्यपूजन यन्त्रम 
दूसरे मंगलवार को रत्न स्थापना  :- दो प्रवलक
दूसरे सप्तहा प्रसाद : बेसन के लड्डू 
दूसरे सप्तहा का मंत्र  : ॐ हं हुमंतय नमः 
जपने की माला : मंगल माला 
जप की संख्या : दो मालायें , २१६ बार 

तीसरा  मंगलवार :
विधि आरंभ करने का दिवस : तीसरा  मंगलवार 
तीसरे मंगलवार को यन्त्र की स्थापना :- भक्ताम्बर यन्त्रम 
तीसरे मंगलवार को रत्न स्थापना  :- दो प्रवलक
तीसरेसप्तहा प्रसाद : बूंदी  के लड्डू 
तीसरे सप्तहा का मंत्र  : ॐ क्रां क्रीं क्रौं सः भौमाय नमः 
जपने की माला : मंगल माला 
जप की संख्या : दो मालायें , २१६ बार 

चौथा मंगलवार :
विधि आरंभ करने का दिवस : चौथा  मंगलवार 
चौथे  मंगलवार को यन्त्र की स्थापना :- नवनाथ यन्त्रम 
चौथे  मंगलवार को रत्न स्थापना  :- दो प्रवलक
चौथे  सप्तहा प्रसाद : मिश्री 
चौथे  सप्तहा पाठ : हनुमान चालीसा , सुबह और शाम /

पांचवां  मंगलवार :
विधि आरंभ करने का दिवस : पांचवां  मंगलवार 
पांचवां  मंगलवार को यन्त्र की स्थापना :- चौत्रीसिया यन्त्रम 
पांचवां  मंगलवार को रत्न स्थापना  :- दो प्रवलक
पांचवां सप्तहा प्रसाद : बेसन के लड्डू 
पांचवां  सप्तहा का मंत्र  : ॐ हं हुमंतय नमः 
जपने की माला : मंगल माला 
जप की संख्या : दो मालायें , २१६ बार 

छठा  मंगलवार :
विधि आरंभ करने का दिवस : छठा मंगलवार 
छठा मंगलवार को यन्त्र की स्थापना :- संपूर्ण ऋषि मंडल यन्त्र 
छठा मंगलवार को रत्न स्थापना  :- दो प्रवलक
छठा सप्तहा प्रसाद : बूंदी  के लड्डू 
छठा सप्तहा का मंत्र  : ॐ क्रां क्रीं क्रौं सः भौमाय नमः 
जपने की माला : मंगल माला 
जप की संख्या : दो मालायें , २१६ बार 

सातवां  मंगलवार :
विधि आरंभ करने का दिवस : सातवां मंगलवार 
सातवां मंगलवार को यन्त्र की स्थापना :- श्री मारुती यन्त्र 
सातवां मंगलवार को रत्न स्थापना  :- दो प्रवलक
सातवांसप्तहा प्रसाद : सफ़ेद बर्फी 
सातवां  सप्तहा का मंत्र  : गायत्री मंत्र 
जपने की माला : रुद्राक्ष माला 
जप की संख्या : तीन  मालायें , 324 बार 

सात सप्तहा के बाद, सभी यंत्रों को अपने मंदिर में ही रहने दें व , जितने भी प्रवलक हैं उन्हें बहते हुए पानी में प्रवाहित करें /  
विधि सम्पूर्णं 

 इस उपाय में उपयोग होने वाली सामग्री |

1. यन्त्र  -7 (1 प्रत्येक सप्ताह )

2. प्रवलक -14  (2 प्रत्येक सप्ताह )

3. प्रसाद (जो बताया गया)

4. रोली-मोली 

5. कच्चा चावल 

6. फूल 

7. धुप-अगरबत्ती