सिंह राशि में बुध | Mercury in Leo Sign

सिंह राशि में बुध की स्थिति, सिंह राशि के साथ मैत्रीपूर्ण संबंध होने के कारण इस ग्रह की सुखद स्थिति का, इस राशि वाले व्यक्तियों पर लाभकारी प्रभाव डालता है। व्यवहार से सौम्य और शांत व्यक्तित्व वाले ये लोग, उत्तम बोली से संपन्न, बुद्धि और विश्लेषणात्मक दृष्टि से संपन्न होंगे, जो उन्हें थोड़ा अभिमानी भी बना सकता है। इसके अलावा, यह व्यक्ति ज़िंदादिल और ऊर्जा से भरपूर होते हैं।

 

सिंह राशि में बुध लोगों को कैसे प्रभावित करता है?/ How does Mercury in Leo Affect the Natives?

सिंह राशि में बुध की उपस्थिति निम्न प्रकार से व्यक्ति को प्रभावित करती है:

सिंह राशि में बुध, व्यक्ति को गुणवान, धनवान और ईर्ष्यालु तो बनाता है लेकिन इनकी नीचता और निर्लज्जता, दूसरों के लिए परेशानी का भी कारण बन जाती है। हालांकि संगीत, नृत्य, कला और कविता जैसे कई क्षेत्रों में रुचि रखने वाले ये लोग, अत्यधिक प्रतिभाशाली, धार्मिक और धनी होते हैं तथा सिंह राशि में मंगल की बुध पर युति होने पर, व्यक्ति ज्ञानवान होता है। यह कुरुप लेकिन सुडौल शारीरिक गठन वाले होने के साथ ही, उभयलिंगी भी हो सकते हैं। वहीं, सिंह राशि में बृहस्पति के बुध को प्रभावित करने पर, यह व्यक्ति कोमल शरीर वाले हो सकते हैं। यह लोग विद्वान होने के साथ ही, संगीत वाद्ययंत्रों के जानकार, धार्मिक, तेजस्वी, प्रसिद्ध तथा रिश्तेदारों और वाहन से संपन्न होते हैं। इसके अलावा, सिंह राशि में बुध पर शुक्र का प्रभाव व्यक्ति को अद्भुत सौन्दर्य प्रदान करता है। वह आकर्षक, पराकर्मी, वाहन संपन्न, मधुर वाणी वाले होते हैं। ये व्यक्ति, महान राजा या मंत्री भी हो सकते हैं।

 

इसके अतिरिक्त, सिंह राशि में बुध पर शनि का प्रभाव होने पर, व्यक्ति का शरीर कठोर और लंबा, शुद्ध आचरण होता है तथा पसीने की दुर्गंध वाले, दुःख महसूस करने वाले और सुख से वंचित होते हैं। ये व्यक्ति, अपने ज्ञान और बोलने के तरीके का प्रयोग करके, लोगों को आकर्षित करने और भीड़ में अलग दिखने का प्रयास करते हैं तथा चीजों को स्पष्ट देखने के लिए, कई बार छोटी-छोटी बातों को नजरअंदाज कर देते हैं। साथ ही, ये अपने मित्र भाव द्वारा लोगों को फुसलाने की प्रवृत्ति भी रखते हैं। कभी-कभी, ये अपने विचारों के इतने आदी हो जाते हैं कि किसी के उन्हें  स्वीकार नहीं करने पर, यह कुछ विशिष्ट समस्याओं को उत्पन्न कर सकता है। ये वाणी या बातचीत में अपनी बहुमुखी शैली दिखाने वाले होते हैं।

 

जहां एक ओर, इनकी इच्छा होती है कि इनके वयक्त किए गए विचारों को स्वीकार किया जाना चाहिए वहीं दूसरी ओर, इनमें से कुछ लोग स्वयं की शेखी बघारते रहते हैं। इस अस्थिर चरित्र के कारण, ये लोग प्रभावी नहीं होते तथा ये झूठ बोलने के साथ ही, दूसरों के प्रति आक्रामक भी हो सकते हैं। इसके अलावा, ये नियमित जीवन में अपने भाइयों-बहनों के साथ सौहार्दपूर्ण संबंध बनाने में विफल रहते हैं तथा दूसरों से असंतुष्ट रहते हैं।

 

चूंकि, सिंह रचनात्मकता और बुध कौशल का प्रतीक है इसलिए ये लोग, श्रेष्ठ रचनात्मक कौशल वाले होंगे।  कई रचनात्मक कौशल वाले ये व्यक्ति, सौभाग्य से उन सभी में अच्छे होते हैं जो इन्हें गायन, कला, फिल्मों  जैसे विभिन्न क्षेत्रों में अपने करियर को चमकाने की भी अनुमति देता है। अपनी रचनात्मकता और संचार के द्वारा, इन्हें एक शासक की अधिकार का सुख मिलेगा।

 

अंत में, बुध का प्रभाव किसी विशेष नक्षत्र में बुध की स्थिति पर निर्भर करेगा। बुध के माघ नक्षत्र में स्थित होने पर, माघ नक्षत्र के स्वामी केतु की स्थिति सिंह राशि में बुध के कार्य प्रणाली को निरूपित करेगी।  वहीं, बुध के पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र में स्थित होने पर, उसका स्वामी शुक्र इसका प्रधान कारक होगा। लेकिन, बुध के उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र में स्थित होने पर, सूर्य की स्थिति बुध के प्रभाव पर हावी रहेगी।

आप हमारी वेबसाइट से सभी भावों में बुध के प्रभावग्रहों के गोचर और उसके प्रभावों के बारे में भी पढ़ सकते हैं।

ज्योतिष रहस्य