वृषभ राशि में बृहस्पति/Jupiter in Taurus Sign

बृहस्पति का वृष राशि में होना व्यक्ति को स्थिरता एवं बौद्धिक गुणों से संपन्न करता है। बृहस्पति एक शुभ ग्रह है। विस्तार का कारक है। वृषभ राशि शुक्र ग्रह की राशि है, ऐसे में बृहस्पति का शुक्र के घर में बौद्धिक एवं व्यक्तित्व को प्रभावित करने वाला होता है। आकर्षक व्यक्तित्व प्राप्त होता है। सामाजिक रुप से आगे रहते हुए काम करते हैं। कुछ कठोरता एवं दृढ़ता भी देखने को मिल सकती है। अपनी शर्तों पर आगे बढ़ने की क्षमता इसके द्वारा विकसित होती है। इस के प्रभाव द्वारा समृद्धि एवं प्रसिद्धि प्राप्ति का अवसर मिलता है। सामाजिक क्षेत्र में अत्यधिक गतिशीलता देखने को मिल सकती है।

 

वृष राशि में बृहस्पति आपके व्यक्ति को बनाता है खास

जीवन में आगे बढ़ने की अभिलाषा होती है। इच्छाएं बनी रहती है। कर्मठता भी होती है लेकिन साथ ही संघर्ष भी अधिक रह सकता है। भावनात्मक रुप से लगाव की स्थिति को देख पाते हैं अच्छी कद काठी प्राप्त होती है। लोगों के मध्य स्वयं को स्थापित करने में भी कुशलता प्राप्त होती है। बृहस्पति का प्रभाव व्यक्ति को जागरूक एवं ज्ञान से युक्त बनाता है किंतु अपनी योग्यताओं का अच्छा लाभ प्राप्त करने में समय अधिक लग सकता है। सफलता के प्रति उत्साहित होते हैं किंतु उचित योग्य प्रतियोगिता में शामिल होना अधिक पसंद होगा। व्यक्ति बोलचाल में कुशल एवं भाषा शैली से मोहित करने में सक्षम होता है।

 

वृष राशि में बृहस्पति आपकी आर्थिक और सामाजिक स्थिति को देता है नए रंग 

वृष राशि में बृहस्पति का होना प्रगतिशील स्थिति को दर्शाता होता है। अपने आस-पास की गतिविधियों को लेकर भी काफी सजग रहने वाला होता है। प्रतिभा एवं क्षमताएं जीवन में आगे बढ़ने के भी काफी अवसर देने वाली होगी। अपने परिवार के प्रति भी निष्ठा की भावना भी रहती है। धनार्जन के क्षेत्र में अच्छे मौके प्राप्त होते हैं। अपनी कोशिशों के द्वारा जीवन में बेहतर लाभ मिल सकता है।

 

व्यक्ति अध्यात्म और धर्म के प्रति भी रुझान रख सकता है। इन चीजों में काम करके भी आगे बढ़ सकता है। नीतियों का सम्मान करते हैं लेकिन कई बार स्वयं भी इसके विरुद्ध काम कर सकते हैं। बृहस्पति का वृष में होना जीवन में  धनार्जन करने में सहायक बनता है। भाग्य का सहयोग भी प्राप्त होता है। कार्य क्षेत्र हो अथवा सामान्य जीवन धन का आगमन किसी भी रुप में प्राप्त हो सकता है।

 

व्यक्ति न्यायिक गुणों वाला होता है। संपत्ति और धन का उपयोग उचित रुप से करने की योग्यता होती है। जीवन में बेहतर चीजों प्राप्त कर सकते हैं। कौशल एवं योग्यता के द्वारा जीवन में संपन्नता को प्राप्त कर सकते हैं। जीवन में स्थिरता आती है। राजनीतिक गुण होते हैं इसलिए अच्छे सलाहकार एवं मार्गदर्शक भी हो सकते हैं।

 

प्रेम और विवाह संबंध होते हैं विशेष 

वृष राशि में बृहस्पति की स्थिति व्यक्ति के भीतर रिश्तों का लगाव अच्छे से रखने वाली होती है। प्रेम और भावनाओं का उत्साह भीतर अच्छा होता है। रिश्तों के प्रति अच्छा लगाव रहता है। आप काफी उत्साहित एवं जागरूक होते हैं। चीजों के प्रति लगाव होता है। रिश्तों में अपनों के प्रति आगे रहते हैं उनके लिए हमेशा तत्पर रहते हैं। साथी के लिए अच्छी वस्तुओं की प्राप्ति कर सकते हैं। वैवाहिक जीवन में थोड़ा उतार-चढ़ाव बने रह सकते हैं। रिश्तों में जिद और कठोरता से बच कर अपने लिए बेहतर स्थिति को प्राप्त कर सकते हैं। 

 

करियर और व्यापार में पाते हैं प्रगति के मौके

बृहस्पति के वृष राशि में होने के कारण व्यक्ति अपने काम को लेकर सजग होता है। अपने उत्साह द्वारा आप जीवन में प्रगति के भी अनेक अवसर प्राप्त करते हैं। व्यक्ति के भीतर प्रगति को लेकर भी काफी संजीदा होंगे। मजबूत व्यावसायिक कौशल के द्वारा अपने व्यापार में कई तरह से लाभ प्राप्त कर सकते हैं। सतर्क और धैर्यपूर्वक काम करते हैं। विरोधियों को परास्त करने में विजय प्राप्त कर सकते हैं। मुश्किल परिस्थितियों में चतुराई के साथ फैसले लेने की भी अच्छी क्षमता होती है। कार्यकुशलता अच्छी होती है। अपनी वाणी द्वारा अच्छा लाभ एवं आकर्षण प्रदान करता है।

 

बृहस्पति के वृष राशि में होने पर समझदारी का प्रयोग करते हैं। आसानी से नए विचारों और प्रयोगों के साथ खेलते हैं और काफी कुशल होते हैं। वृष राशि में बृहस्पति रूढ़िवादी दृष्टिकोण दे सकता है। धर्म कर्म के कार्यों को व्यवसाय रुप में शामिल हो सकते हैं। प्रशासनिक कामों में आगे रह सकता है। साज सज्जा के कार्यों में शामिल हो सकते हैं, अध्ययन से जुड़े काम, काउंसलर, खेल कूद के कार्य, आयात-निर्यात से जुड़े काम, विदेशी कंपनियों से लाभ, मीडिया, फैशन, वक्ता, उपदेशक, कार्यशील, रंगमंच इत्यादि का कार्य, निदेशक, सलाहकार बना सकता है। बृहस्पति और वृष का स्वामी शुक्र दोनों ही गुरु की उपाधि पाते हैं इस के कारण व्यक्ति में ज्ञान देने का कौशल अच्छा रह सकता है।

ज्योतिष रहस्य