मुख्य पृष्ठ ग्रहों बृहस्पति बृहस्पति चतुर्थ भाव में

प्रीमियम उत्पाद

चौथे भाव में बृहस्पति/ JUPITER IN 4TH HOUSE

Jupiter in 4th House

सर्वप्रथम, यह चौथा भाव बृहस्पति की सबसे लाभकारी स्थितियों में से एक है, जिसमें बाल्यावस्था में स्तनपान, बाद के जीवन में भोजन, सुरक्षित आश्रय/ घर/ आवास जैसे माँ से संबंधित मामले जुड़े होते हैं।

चौथे भाव में बृहस्पति का स्वास्थ्य पर प्रभाव/ Impact Of Jupiter In The 4th House On Health

इसके अतिरिक्त, चौथा भाव परिवहन की क्षमता, हृदय, दाहिने कंधे, दाहिनी ओर की पसलियों, वक्षस्थल, पाचन तंत्र- पेट, श्वसन प्रणाली, रोगविषयक ​​​​उपचारों की सफलता या विफलताओं को शासित करता है। इन व्यक्तियों को हमेशा पका हुआ भोजन करने और अपने खाने के तरीके को अत्यधिक महत्व देने की आवश्यकता होती है।

चौथे भाव में बृहस्पति का अर्थव्यवस्था और संपत्ति पर प्रभाव/ Impact Of Jupiter In The 4th House On Finance And Property

इसके अलावा यह संपत्ति, सहकारिता, सामाजिक और धर्मार्थ निर्माण जैसे- स्कूल, कॉलेज, औषधालयों, अस्पतालों, गरीब और वृद्ध व्यक्तियों के लिए आश्रय निवास, अनाथों के लिए आश्रय, या नारी-निकेतन के निर्माण से भी संबंध रखता है। स्वभाव से उदार यह व्यक्ति, जीवन में हमेशा लोगों की हर संभव मदद की कोशिश करने के साथ ही, आवश्यकतानुसार दूसरों को आर्थिक सहायता प्रदान करने का भी प्रयास करते हैं। इन व्यक्तियों की अत्यधिक संवेदनशीलता, उनके निर्णय लेने के तरीके को प्रभावित करते हैं। कुछ मामलों में यह भी पाया गया है कि इस प्रकार का मानसिक विन्यास उनकी बुद्धि के स्तर को सामान्य बुद्धि के स्तर से नीचे ले जाता है।

व्यक्तियों की फाइनेंस पर प्रभाव/ Impact On Finance Of The Individuals:-

ऐसे व्यक्तियों को आर्थिक रूप से उच्च प्रतिष्ठित किसी व्यक्ति के द्वारा गोद लिए जाने की संभावना होती है। चौथे भाव का बृहस्पति/Jupiter in 4th house सोने-चांदी के गहनों और आभूषणों घरों में पेड़ों और लकड़ी के काम की सजावट को भी शासित करता है।

चौथे भाव का मुख्य रूप से सुख भाव भी कहा जाता है। बृहस्पति नियमित रूप से इस भाव में होने से शुभ लाभ देता है। इसके अलावा ऐसे व्यक्ति ईमानदार, संरक्षण और निष्ठा के लिए लोकप्रिय व्यक्ति शक्तिशाली, आत्म-नियंत्रण और दृढ़ संकल्प में सक्षम और भावुक होते हैं। चौथे भाव में बृहस्पति/ Jupiter in the 4th house व्यक्ति को आराम, जरूरतें और सुविधाएं प्रदान करता है और उनकी शिक्षा को आकार देकर, हर संभव तरीके से ज्ञान प्राप्त करने में मदद करता है।

यहां, यह उल्लेखनीय है कि चौथे भाव को सभी "जीवन देने वाले" तत्वों को याद रखने में कठिनाई होती है। साथ ही, हृदय की धमनियों या श्वसन तंत्र की विफलता मानव जीवन के लिए घातक और खतरनाक साबित हो सकती है। इसके साथ ही, आजकल ट्रेड यूनियन नेता और राजनीतिक नारेबाज करते हैं कि हर इंसान को 'रोटी, कपड़ा और मकान' चाहिए, जबकि मानव जीवन के ये तीनों महत्वपूर्ण कारक चौथे भाव के सहयोग द्वारा शासित होते हैं। चौथे भाव का बृहस्पति चाहे किसी भी राशि में ही क्यों ना हो, इन साधारण जरूरतों और आवश्यकताओं की प्राप्ति या संग्रह करने में सहयोग करता है।

साथ ही, हर किसी को यह पता होना चाहिए कि चौथे भाव के बृहस्पति की दसवें भाव पर सीधी दृष्टि, बृहस्पति से संबंधित ऐसी स्थिति के प्रत्येक मनुष्य के लिए आजीविका के स्रोतों को नियंत्रित करती है। इस प्रकार, चौथे भाव का बृहस्पति कमजोर भूमिका में भी लाभप्रद साधनों को प्रभावित करता है, हालांकि चौथे भाव की प्रणाली और इसकी क्षमता के परिणाम इतने उच्च या साधारण गुणवत्ता वाले नहीं होते।

बृहस्पति की बारहवें भाव पर सामान्य से अधिक दृष्टि होने पर छात्रों, विद्वानों, शोधकर्ताओं, योग्य अकाउंटेंट, न्यायाधीशों, न्यायविदों, वकीलों और अर्थशास्त्रियों को कुछ दूरी से ही उन्हें उच्च श्रेणी की दक्षता और अनुभव प्रदान करता है। बृहस्पति द्वारा संबंधित व्यक्ति के नाम, प्रतिष्ठा और छवि पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ने की भी संभावनाएं रहती हैं।

चौथे भाव में बृहस्पति का संबंधों पर प्रभाव/ Impact Of Jupiter In The 4th House On Relationships

व्यक्ति का नैसर्गिक, दत्तक या पालन करने वाली माता के साथ संबंध काफी हद तक चौथे भाव के साथ अन्य तारों के संबंध या मेल पर निर्भर करता है। इसके अलावा जहां तक बृहस्पति का संबंध है, ​​चौथे भाव में स्थित बृहस्पति/Jupiter in the 4th house के कारण आमतौर पर संबंध सौहार्दपूर्ण, मधुर और स्नेही और स्पष्ट होते हैं तथा ऐसे व्यक्ति, आमतौर पर परिवार के अन्य सदस्यों के साथ भी अच्छे संबंध बनाए रखते हैं।

आप हमारी वेबसाइट से विभिन्न भावों और राशियों में बृहस्पति की स्थिति और ज्योतिष के बारह भाव क्या दर्शाते हैं? से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

ज्योतिष रहस्य