Ketu Transit

केतु ग्रह किसी एक राशि में 18 माह तक रहते हैं और फिर वह दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं। चलिए समझते हैं कि केतु का गोचर किसे कहते हैं और यह गोचर/Ketu Gochar कितने समय एक राशि को प्रभावित कर सकता है और इस गोचर का आपकी राशि पर क्या प्रभाव पड़ेगा।

केतु के गोचर का क्या अर्थ है?/ What does Ketu transit mean? 

जब भी केतु एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं तो उसे केतु गोचर कहते हैं। केतु ग्रह का गोचर लगभग 18 माह तक एक राशि में होता है। इसलिए हम कह सकते हैं कि 2 वर्ष में 3 गोचर होते हैं।

केतु गोचर कब तक रहता है?/ How long does Ketu transit last?

केतु एक चंद्र राशि पर 18 माह तक प्रभाव डालता है। इसके पश्चात केतु दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं। इसका एक अर्थ यह भी निकाल सकते हैं कि केतु एक साथ एक ही राशि पर लगातार दो वर्ष तक प्रभाव नहीं डालते हैं। यदि हम इस गोचर को वैदिक ज्योतिष/Vedic Astrology के नजरिए से देखें तो इसका भी महत्व अन्य गोचरों के बराबर होता है। इसका महत्व थोड़ा ज्यादा होता है, क्योंकि इस गोचर के दौरान जो भी आपके साथ होगा वह लगातार 18 माह तक होता रहेगा।

केतु गोचर आपको कैसे प्रभावित करता है?/ How does Ketu transit affect you?

केतु एक काल्पनिक लेकिन प्रभावशाली एवं ताकतवर ग्रह है। इसका प्रभाव आपकी राशि पर हमेशा रहेगा और कभी कभी यह एक साथ अन्य राशियों पर भी प्रभाव डालेगा। आम तौर पर केतु ग्रह को पीडित ग्रह के रूप में जाना जाता है क्योंकि यह कुंडली के अलग अलग भावों को नकारात्मक रूप से प्रभावित करता है। लेकिन इस बात को भी झठलाया नहीं जा सकता कि केतु सकारात्मक परिणाम भी देने में सक्षम होता है। इस स्थिति में मेरा पक्ष यह है कि यदि केतु ग्रह को सही ढंग से नहीं देखा या संभाला गया तो इसका परिणाम विनाशकारी हो सकता है। यह राहु के ठीक विपरीत संकुचन ग्रह है, जिसे विस्तार का ग्रह भी कहते हैं।

केतु यह दिखाता है कि उससे आपको लाभ हो रहा है, लेकिन जो कुछ भी आपको इस ग्रह से मिलेगा वह स्थायी नहीं होता, इसलिए केतु जो कुछ भी देता है उस पर कभी  भी निर्भर नहीं रहना चाहिए। केतु ग्रह के कारण मानसिक तनाव, स्वास्थ्य समस्याएं, खर्च में वृद्धि, कर्ज को ना चुका पाना जैसी समस्याएं उत्पन्न हो सकती है। लेकिन आपको डरने की आवश्यकता नहीं है। इस गोचर के दौरान कुछ भाव और चंद्र राशि अत्यंत लाभकारी परिणाम दे सकते हैं जैसे – धन संपत्ति में वृद्धि, विदेश यात्रा का मौका, पेशे में वृद्धि, वैवाहिक जीवन/Married life में सुख, और अन्य फायदे। लेकिन जो भी परिणाम आपको मिलेंगे वह स्थाई नहीं होंगे। ऐसा इसलिए है क्योंकि केतु गोचर के दौरान केतु, एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करता है।

केतु ग्रह का अलग अलग चंद्र राशि पर प्रभाव/Effect of Ketu transits on different Moon Signs

जब केतु अगली राशि में गोचर करता है, तो उस राशि पर केतु के गोचर का अलग-अलग प्रभाव पड़ता है। जैसा कि हमने ऊपर बताया था कि यह लाभ तो देता है, लेकिन कुछ भी स्थायी नहीं मिलता, इसलिए इस गोचर के दौरान बहुत ज्यादा सावधान रहना चाहिए।

अब इस बात को हम बार बार बता रहें है कि इस गोचर का प्रभाव एक साथ 18 माह तक पड़ता है तो इस स्थिति में आपको गोचर की शुरुआत में एक अच्छे ज्योतिषी से संपर्क करना चाहिए ताकि इस गोचर के दौरान आपको सकारात्मक परिणाम मिल सकता है।

अपने प्रेम और वैवाहिक जीवन, करियर, बिजनेस और स्वास्थ्य पर प्रभाव जानने के लिए विभिन्न भावों में ग्रहों के गोचर पर क्लिक करें।