Jupiter Transit

बृहस्पति का मकर राशि में गोचर और अन्य राशियों पर प्रभाव
20 Nov,2020
से
06 Apr,2021

सभी ग्रहों में बृहस्पति का एक विशिष्ट स्थान रहा है। बृहस्पति शुभदायक ग्रह रहा है तथा ज्ञान एवं विस्तार का कारक बनता है। बृहस्पति धनु और मीन राशि के स्वामी होते हैं और कर्क राशि में उच्च स्थिति को पाते हैं तो मकर राशि में ये नीचस्थ अर्थात निर्बल स्थिति को पाते हैं। किंतु बृहस्पति अपनी कमजोर स्थिति में भी अत्यंत शुभस्थ प्रभाव देने में सक्षम होता है। बृहस्पति का मकर राशि में जाना सामाजिक, मानसिक, सांसारिक एवं धार्मिक दृष्टिकोण से तो विशेष होता ही है साथ ही इसका गोचरीय पहलू अलग-अलग मायनों में खास हो जाता है। 

 

 मकर में बृहस्पति का फल/Impact of Jupiter in Capricorn

मकर राशि शनि के स्वामित्व की राशि है और स्थिरता को दर्शाती है। बृहस्पति जब मकर में जाते हैं तो यह स्थिति गुरु के अपने शिष्य के पास जाकर कर्मों के निर्धारण में सहायक मानी जाती है। बृहस्पति को गुरु का दर्जा भी प्राप्त है, ऐसे में बृहस्पति जब शनि जिन्हें सेवक भी माना गया है उनके भाव में जाते हैं तो यह स्थिति सकारात्मक भी होती है। यह स्थिति गुरु के मान को बढ़ाने वाली भी होती है। यह ज्ञान का विशिष्ट प्रतिफल देने वाली होती है। इसके कारण व्यक्तित्व की अलग छाप दिखाई देती है। मकर राशि उच्च महत्वाकांक्षा को दर्शाती है तथा काम करने को तत्पर रहने की प्रवृत्ति भी इसमें होती है। अनुशासन, ईमानदारी, दृढ़ एवं कठोर स्वरूप भी इसके गुणों में देखा जा सकता है और गुरु इन गुणों में काफी सम्मिलित होता है। बृहस्पति यहां मौजूद रह कर शानदार शैली को सामने लाना वाला होता है। बृहस्पति मकर राशि पर कोई बड़ा सकारात्मक प्रभाव नहीं दे पाता है। लेकिन फिर भी बृहस्पति इसे और अधिक आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करता है। स्नही एवं लगाव भी उत्पन्न करता है। बृहस्पति व्यक्ति को आध्यात्मिकता के क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए भी उन्मुख करता है। सफलता की राह पर ले जाता है, सकारात्मक दृष्टि देता है तथा भविष्य को लेकर जागरूक बनाता है। 

 

मेष पर बृहस्पति के मकर राशि में गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Capricorn on Aries.

मेष राशि वालों के लिए बृहस्पति गोचर दशम भाव पर होगा। बृहस्पति यहां कर्म स्थल पर मौजूद रह कर गहरा प्रभाव डाल सकता है। यह समय बदलाव की शुरुआत का संकेत देता है। दशम भाव में गोचर करते हुए बृहस्पति द्वितीय, चतुर्थ और छठे भाव को दृष्टि भी देगा। अब समय कार्यक्षेत्र में चुनौतियों को दिखाता है, नई जिम्मेदारियों के लेने में अधिक चिंता भी रह सकती है। इस गोचर का फल इन सभी घरों पर अपना असर डालेगा और जीवन में होने वाले बदलावों को लेकर काफी गहरा विचार भी हो सकता है। काम के क्षेत्र में प्रतिस्पर्धियों के साथ सामना करना पड़ सकता है। नौकरी में सहकर्मियों के साथ बेहतर रुप से काम करना भी जरूरी होगा क्योंकि छोटी छोटी बातें भी लम्बे असर डालने में सक्षम होंगी। व्यावसायिक गतिविधियों के लिए समय चुनौतीपूर्ण रह सकता है। अपने काम के विस्तार एवं उसमें सफलता के लिए लोगों के साथ जुड़ने की आवश्यकता होगी। मिले हुए असाइनमेंट पर टिके रहने और अच्छा प्रदर्शन करने का दबाव भी अधिक रह सकता है। अपने आप को स्थापित करने के लिए अधिक प्रयास करने की आवश्यकता होगी। आर्थिक क्षेत्र में स्थिति कुछ सहायक रह सकती है, लेकिन कभी कभार चीजें चिंता देने वाली भी होंगी। इस समय दूसरों की विचारधारा को समझते हुए रणनीति बनाकर काम करना ही सफलता का मार्ग निश्चित करेगा। 

 

वृष पर बृहस्पति के मकर राशि में गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Capricorn on Taurus

वृषभ राशि के लिए बृहस्पति का गोचर भाग्य स्थान पर होगा। बृहस्पति का नवम का गोचर बहुत ही शुभ फलों को प्रदान करने वाला समय होगा। किंतु इसी के साथ यहां नीचस्थ  बृहस्पति कई मसलों पर बहुत अधिक सहायक न हो लेकिन यह एक आशाजनक स्थिति होती है। भाग्य, लंबी दूरी की यात्रा, पिता एवं गुरु समक्ष लोगों का सानिध्य इस समय पर अवश्य प्राप्त होता है। यहां परिश्रम उस रुप से आगे बढ़ सकता है जिसमें हर ओर से स्थिति को नियंत्रित करके काम किया जा सकता है। कुछ दैवीय आशीर्वाद भी इस समय छत्र के रुप में काम करने वाला होता है। जीवन के कई पहलुओं पर इसका असर दिखाई देगा लेकिन लम्बे समय से चल रहा संघर्ष इस समय पर राहत दिलाने वाला हो सकता है। ये समय पूर्व के दौरान उत्पन्न हुई घटनाएं चिंताओं का एक कारण रही थीं लेकिन धीरे धीरे राहत का की ओर रुख साफ होता दिखाई देगा। काम के क्षेत्र में सफलता का मार्ग भी प्रशस्त होगा। कुछ यात्राएं करनी पड़ सकती हैं, जो लाभ की उम्मीदों को पूरा होने का अवसर देने वाली होगी। इस समय धार्मिक दृष्टिकोण कुछ अलग रुप से विकसित होगा, उदारता एवं परोपकारिता के काम में भी बढ़ चढ़ कर शामिल हो सकते हैं। 

 

मिथुन पर बृहस्पति के मकर राशि में गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Capricorn on Gemini

मिथुन राशि के लिए बृहस्पति का गोचर आठवें घर होगा। बृहस्पति अष्टम भाव में काफी बदलाव दिखाने वाला होगा। आठवां भाव दीर्घायु, विरासत और अचानक होने वाली लाभ-हानि का समय हो सकता है। नीच बृहस्पति का अष्टम भाव में गोचरस्थ होना कई मुद्दों पर विस्तार देता है। पैतृक संपत्ति के उलझे हुए मामले इस समय पर स्पष्ट रुप से सामने होंगे। इसी के साथ छुपे हुए मसले जो किसी कारण से आप सभी के सामने नहीं ला पा रहे थे वह सामने आ सकते हैं। यहां आने पर आपकी पहचान भी खुल कर सामने आ सकती है। अपनों एवं दूसरों के साथ हर जगह कुछ न कुछ बदलाव परेशानी दे सकती है। नौकरी हो या पारिवारिक जीवन बदलाव अभी होगा।आर्थिक क्षेत्र में अधिक खर्च से बचना ही इस समय जरूरी होगा। जोखिम भरे निवेश से दूर रहने की जरुरत होगी। आकस्मिक खर्चों  एवं जीवन में होने वाली घटनाएं होंगी, इसके लिए स्वयं को दृढ़ बना कर रखना होगा। धैर्य शांति के साथ लिए गए फैसलों से ही सफलता प्राप्त हो सकती है। इस गोचर के समय पर पुराने स्वास्थ्य समस्याएं उभर सकते हैं। ऐसे में सेहत पर नजर बनाए रखने की आवश्यकता होगी। चीजों को नियंत्रण में रखने के लिए अपने चिकित्सक द्वारा सलाह के अनुसार काम करना ही सही होगा। निजी जीवन में मानसिक रुप से एवं आर्थिक रुप से कुछ असंतोष बना रह सकता है। 

 

कर्क पर बृहस्पति के मकर राशि में गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Capricorn on Cancer

कर्क राशि के लिए बृहस्पति का गोचर सातवें घर पर होगा। बृहस्पति इस स्थान पर बैठ कर विवाह और पार्टनरशिप से संबंधित समस्या दे सकता है। जीवन साथी के साथ संबंध कुछ मिले जुले से रह सकते हैंअगर किसी के साथ मिलकर काम करने का विचार रखे हुए हैं, तो उस पर अब अमल होता दिखाई देगा। व्यापार में भागीदारी करें, लेकिन इस ओर पैसों से संबंधी लेनदेन के मामलों पर सावधानी बरतें। व्यर्थ के मसलों से खुद को दूर रखें अन्यथा बातें बेकार में बढ़कर आपके लिए ही परेशानी खड़ी कर सकती हैं। उन लोगों के साथ अपने बातचीत बना कर रखें ऐसा होने से आने वाले समय में संभावनाएं काफी पक्ष में काम कर सकती हैं। इस भाव में बृहस्पति आर्थिक मसलों के लिए आय के नए स्रोत उत्पन्न करने वाला होगा। इस समय पर सजग रहते हुए योजना बनाने की आवश्यकता होगी। इस समय के दौरान प्रेम को लेकर उत्साह अधिक रहने वाला है। नई कल्पनाएं एवं नई सोच जीवन में शामिल होने वाली है। 

 

सिंह पर बृहस्पति के मकर राशि में गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Capricorn on Leo

सिंह राशि के लिए बृहस्पति का गोचर छठे भाव पर होगा। बृहस्पति के छठे घर पर होने से आपका धन इस समय पर अवांछित खर्चों, सेहत या कानूनी मामलों में खर्च हो सकता है। निजी जीवन में कुछ घटनाओं से नाखुश रह सकते हैं। कुछ कानूनी मामलों में भी इस समय उलझ सकते हैं। दूसरों के पचड़ों से दूर रहते हुए काम करें तथा व्यर्थ की बातों में शामिल होने से बचना होगा। भावनात्मक रुप से लिए गए फैसले, इस समय गलत सिद्ध हो सकते हैं। इसलिए व्यवहारिक बनें। अलग अलग तरह की गतिविधि आपको तनाव से मुक्त रख पाने में सफल होगी। प्रतिस्पर्धाओं में स्वयं को बनाए रखना आसान नहीं होगा। कड़े परिश्रम का समय है, सहकर्मियों की ओर से भी विरोध का स्वर तेज होते देख सकते हैं। अपने काम को बनाए रखने के लिए तथा अपनी स्थिति को सुरक्षित रखने के लिए अधिक कोशिशें करने की आवश्यकता बनाए रखनी होगी। स्वास्थ्य के संबंध में यह समय त्रिदोषों की समस्या से ग्रसित हो सकता है। पाचन संबंधी समस्या आपको परेशान कर सकती है। उचित रुप से भोजन एवं समय-समय पर स्वास्थ्य की जांच बनाए रखने से व्याधियों से राहत प्राप्त होगी। 

 

कन्या पर बृहस्पति के मकर राशि में गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Capricorn on Virgo

कन्या राशि के लिए बृहस्पति का गोचर इस समय पंचम भाव पर होगा। बृहस्पति का यह गोचर सकारात्मक फलों को प्रदान करने वाला होगा। इस समय पर आप अपनी शक्ति एवं सामर्थ्य को उचित रुप से जान पाने में सक्षम होंगे। छुपी हुई प्रतिभाओं को सामने देख पाएंगे। गोचर का यह समय नई संभावना से लाभ दिलाने वाला होगा। लोगों के साथ मैत्रीपूर्ण संबंध स्थापित होंगे। धन लाभ एवं भाग्य का सहयोग मिल पाएगा। विभिन्न पहलुओं पर बृहस्पति का असर विशेष फलों को देने वाला होगा। व्यापार में प्रसिद्धि को पाने में सफल रह सकते हैं। शिक्षा के क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं। अपने विषयों के साथ ही दूसरे विषयों पर भी आप अच्छी पकड़ बनाते देखे जा सकते हैं। रचनात्मक रुप से प्रशंसा प्राप्ति एवं पुरस्कार इत्यादि से सम्मानित किया जा सकता है। प्रेम संबंध प्रगाढ़ होंगे अपने साथी का सहयोग प्राप्त कर पाने में सफल रह सकते हैं। संतान पक्ष की ओर से माता-पिता को सुख की प्राप्ति हो सकती है। परिवार में किसी नए सदस्य का आगमन घर में बदलाव का माहौल भी देगा। 

 

तुला पर बृहस्पति के मकर राशि में गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Capricorn on Libra

तुला राशि के लिए बृहस्पति का गोचर चतुर्थ भाव पर होगा। बृहस्पति इस भाव में बैठ कर परिवार सुख पर असर डालने की ओर प्रवृत्त होंगे। यहां से बैठ कर बृहस्पति की दृष्टि दशम, द्वादश और अष्टम भाव पर होगा। अब समय नई चीजों में बदलाव, के साथ ही गुप्त रहस्यों को आगे ले जाने वाला तथा बाहरी मसलों में अधिक ध्यान केंद्रित का समय भी होगा। धन से जुड़े मामलों में खर्च की स्थिति बनी रहने वाली है। कुछ संपत्ति की खरीदारी हो सकती है, कोई लम्बी दूरी की यात्रा एवं परिवार के किसी व्यक्ति हेतु धन का खर्च अधिक बना रह सकता है। इस समय घर-परिवार में स्थिति को शांतिपूर्ण रखने हेतु कुछ मामलों में अपने नजरिए को बदलना भी पड़ सकता है। उचित मार्गदर्शन काम आएगा। स्वास्थ्य के लिहाज से कुछ चिंताएं होंगी, लेकिन इनसे राहत भी जल्द प्राप्त होगी। व्यक्तिगत जीवन में थोड़ा असंतोष अनुभव कर सकते हैं। इस समय भावन अप्रधान होने से अच्छा होगा की व्यवहारिक होकर काम किया जाए। चतुराई एवं नम्रता के साथ स्थिति को संभालने में सफल होंगे। इस समय कोशिश करें की स्वयं को सकारात्मक बना कर रखें और बदलावों को लेकर भी आगे बढ़ कर उनका स्वागत करना ही सफलता का पहला कदम बन सकता है। 

 

वृश्चिक पर बृहस्पति के मकर राशि में गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Capricorn on Scorpio

वृश्चिक राशि के लिए बृहस्पति का गोचर तीसरे भाव पर होगा। बृहस्पति यहां बैठ कर आपके साहस, पराक्रम, परिश्रम, संचार, यात्राओं, भाई बहनों पर असर डालने वाला होगा।  बृहस्पति कुछ कमजोर स्थिति में यहां होकर भी आपको आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करने वाला होगा। इस समय के दौरान आप अपने कार्य में कुछ सुस्त हो सकते हैं या चीजों को टाल भी सकते हैं, ऐसे में जरूरत होगी अपने इस रवैये से बचा जाए। अपने कार्य या किसी अन्य कारण से ट्रांस्फर से जुड़े मामलों से भी प्रभावित होना पड़ सकता है। तृतीय भाव में बैठ कर बृहस्पति आपको अपने स्थान से हटाते हुए यात्रा एवं नई जगहों से जुड़ने के लिए उत्साहित कर सकता है। नौकरी एवं व्यवसाय को लेकर कुछ बदलाव का विचार कर सकते हैं। लाभ प्राप्ति को लेकर महत्वाकांक्षाएं भी तेज होंगी। कुछ क्रोध होगा लेकिन जरुरत है इस समय स्वयं को शांत रखने की अन्यथा अपने के साथ ही विवाद भी झेल सकते हैं। इस समय गोचर का असर मानसिक शांति और ताकत को प्रभावित करने वाला होगा। लोगों के साथ मेल-जोल और संचार की शैली में अलग रंग दिखाई देगा। इस समय पर काम से अधिक बातों से लाभ कमाने की कोशिशें भी बनी रह सकती हैं। 

 

धनु पर बृहस्पति के मकर राशि में गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Capricorn on Sagittarius

धनु राशि के लिए बृहस्पति का गोचर दूसरे भाव पर होगा। बृहस्पति का द्वितीय भाव में गोचर शुभ एवं सकारात्मक फलों को देने वाला होता है। ये समय आपके लिए नई संभावनाओं को लेकर आएगा। जीवन में कुछ बेहतरीन कार्यों को कर पाने में स्वतंत्र रह सकते हैं। अपनी इच्छाओं को पूरा होते देख पाने का समय भी बृहस्पति के इस गोचर के दौरान मिल सकता है। द्वितीय भाव कुटुम्ब, वाणी और धन का स्थान होता है इस पर बृहस्पति विस्तार देता दिखाई देगा। व्यक्तिगत जीवन में चीजें सुचारू रुप से चलती दिखाई दे सकती हैं। परिवार आपके साथ खड।अ दिखाई देगा, घर में किसी नए सदस्य का आगमन भी इस गोचर के परिणाम स्वरूप हो सकता है। अब इस समय पर उन चुनौतियों से निपट पाने में सफल हो सकते हैं जिनको लेकर एक लम्बे समय से द्वंद बना हुआ था। धन से संबंधित मामलों में थोड़ा तनाव मुक्त भी रह पाएंगे। धन लाभ के योग बनेंगे तथा किसी न किसी रुप से धन की प्राप्ति हो सकती है। बृहस्पति का ये गोचर आपको अभिव्यक्ति के क्षेत्र में अच्छे प्रभाव दे सकता है। दूसरों के समक्ष बेहतर रुप से अपनी बात को रख पाएंगे। विवाहित लोगों को मिलाजुला प्रभाव देखने को मिल सकता है। पारिवारिक दखल के चलते भी स्थिति थोड़ा असहज भी हो सकती है ऐसे में जरूरी होगा शांत रह कर स्थिति का सामना करें जीवन साथी के साथ योगदान बना कर रखने से कुशलता पक्ष में रहेगी। 

 

मकर राशि प्रभाव पर बृहस्पति के मकर राशि में गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Capricorn on Capricorn

मकर राशि के लिए बृहस्पति का गोचर इन्हीं की राशि में होगा। अब जब बृहस्पति आपकी राशि लग्न पर ही गोचर कर रही है तो यह स्थिति काफी विशेष बन जाएगी। अब नीतियों में बदलाव का समय होगा। व्यवहार और विचारधारा का अलग रंग रुप दिखाई देगा। जीवन की दिशा में बदलाव भी दिखाई देगा। इस समय अधिक व्यावहारिक दिखाई दे सकते हैं। चीजों पर कार्य करने से पहले अब और अधिक सोच विचार हो सकता है। अपनों के साथ कुछ मुद्दों पर असहमति या तर्क वितर्क की स्थिति भी उभर सकती है। ये समय प्रतिष्ठा को बनाए रखने और अपना वर्चस्व स्थापित करने की नीतियों पर भी काम करने वाला होगा। इस समय पर मनमर्जी के मामले अधिक बढ़ सकते हैं, इसलिए जरूरी होगा की सभी की बातों को स्थान दिया जाए अन्यथा चीजें विपक्ष के रुप में भी सामने उभर सकती है। आर्थिक रुप से स्थिति सामान्य होगी। कुछ अनावश्यक खर्चों पर नियंत्रण लगाना होगा क्योंकि कई बार व्यर्थ के अपव्यय भी हो सकते हैं। भविष्य की योजनाओं पर काम शुरु कर सकते हैं। सेहत के मामले में कुछ दिक्कतें रह सकती हैं जो मुख्य रुप से खानपान के चलते अधिक प्रभावी होंगी। संक्रमण या मधुमेह से जुड़े रोग परेशान कर सकते हैं, डॉक्टरी सलाह द्वारा इन पर नियंत्रण बनाए रखा जा सकता है। 

 

कुंभ पर बृहस्पति के मकर राशि में गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Capricorn on Aquarius

कुंभ राशि के लिए बृहस्पति का गोचर बारहवें घर पर होगा। बृहस्पति के इस गोचर पर अधिक ध्यान देने की आवश्यकता होगी। बारहवां घर व्यय, धन हानि, तनाव, निद्रा एवं शैय्या सुख को प्रभावित करने वाला होता है।  बृहस्पति इस घर में रहते हुए चौथे और आठवें घर को देखेगा। अब समय होगा। घर से दूर जाने का या किसी न किसी कारण से अपने सुख से आप हट सकते हैं। घरेलू क्षेत्र में कुछ बातें आपके भीतर नई सोच उत्पन्न कर सकती हैं। ये समय पर जमीन या संपत्ति की बिक्री और खरीद को लेकर हलचलें तेज हो सकती हैं। पूर्व में सोचे गए कुछ मसले आपके सामने काफी मजबूती के साथ खड़े दिखाई देंगे। इस समय पर सभी दृष्टिकोण की ओर खुद को खुला रखना होगा तभी उचित रुप से फैसला ले पाने में सफलता मिल पाएगी।  कुछ सौदे आपके पक्ष में होंगे लेकिन खर्चों की अधिकता के कारण अभी उनका ज्यादा फायदा उठाने में दिक्कतें भी उभर सकती हैं। स्वास्थ्य चिंता दे सकता है, मानसिक चिंता या बाहरी कारण आपकी हेल्थ पर असर डाल सकते हैं।बाहरी संपर्क से जुड़ने का ये अच्छा समय होगा। विदेश यात्रा अथवा विदेश में काम से संबंधित योग इस गोचर समय पर फलित होते दिखाई देंगे।इन सभी के बीच यात्राओं एवं बदलावों का दौर आप को प्रभावित करने वाला होगा। 

 

मीन पर बृहस्पति के मकर राशि में गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Capricorn on Pisces 

मीन राशि के लिए बृहस्पति का गोचर एकादश भाव पर होगा। लाभ के स्थान पर बैठ कर बृहस्पति विस्तार तो देंगे साथ ही कुछ नई योजनाओं में आगे बढ़ने का भी समय होगा। कुछ रुके हुए कामों को करने के लिए अब अग्रसर दिखाई दे सकते हैं। मीन राशि के लिए बृहस्पति कर्म की प्रधानता एवं दृष्टिकोण का प्रसार देते हैं। एकादश में जाकर इच्छाएं अब आगे बढ़ सकती हैं। नए काम की शुरुआत के लिए निर्णायक समय दिखाई दे सकता है। इस समय पर आय में वृद्धि के लिए किए जाने वाले प्रयासों में से कुछ में अच्छी सफलता भी मिल सकती है। मीन राशि का स्वामी ही बृहस्पति है। राशि स्वामी कमजोर अवस्था में होने से कुछ आलस्य भी आपके भीतर आ सकता है या हो सकता है की आप शारीरिक बल से अधिक मानसिक रुप से काम को सुलझाने की कोशिश कर सकते हैं। कई बार धीमापन आपको मिलने वाले मौकों पर भी असर डाल सकता है इसलिए अवसरों का लाभ जब भी मिले उसे उठाने से चूकें नहीं अन्यथा इंतजार कुछ अधिक लम्बा भी हो सकता है। अपने रिश्तों के साथ आप आत्मीयता को पाएंगे। 

अन्य राशियों में बृहस्पति के गोचर के प्रभाव के बारे में पढ़ने के लिए बृहस्पति के गोचर पर क्लिक करें। साथ ही आप हमारी वेबसाइट से जन्मकुंडली, लव या अरेंज मैरिज में चुनाव, व्यवसायिक नामों के सुझावस्वास्थ्य ज्योतिषनौकरी या व्यवसाय के चुनाव के बारे में भी पढ़ सकते हैं। 
बृहस्पति का कुंभ राशि में गोचर और अन्य राशियों पर प्रभाव
20 Nov,2021
से
12 Apr,2022

बृहस्पति का कुंभ राशि में होना काफी महत्वपूर्ण होता है। कुंभ राशि शनि के स्वामित्व की राशि है तथा शनि की मूल त्रिकोण राशि है। बृहस्पति ज्ञान एवं बौद्धिकता के कारक हैं जब वह कुंभ में आते हैं, तो ज्ञान में गहराई का समावेश भी देखने को मिलता है। यहां कई विचारों के पनपने की संभनाएं विकसित होती हैं। विचारधारा में अब स्वच्छंद स्वरुप भी देखने को मिलता है। इस समय चीजें खुले तौर पर देखने की ओर अग्रसर होती है। बृहस्पति विस्तार एवं ज्ञान के स्वामी होते हैं जब भी यह किसी राशि में गोचर करते हैं तो उस राशि के गुणों को प्रभावित करते हैं। ऐसे में कुंभ राशि में जाते ही बृहस्पति का प्रभाव काफी प्रगतिशील विचारों के साथ देखने को मिल सकता है। इस समय के दौरान सामाजिक रुप से अग्रसर रह सकते हैं।

 

मेष राशि पर बृहस्पति का कुंभ राशि के गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Aquarius on Aries

मेष राशि के लिए, बृहस्पति का गोचर ग्यारहवें भाव पर होगा। आय का स्थान बृहस्पति से प्रभावित होगा। इस समय धन वृद्धि के अवसर मिल सकते हैं। कुछ कार्यों को लेकर योजनाएं जो अभी तक बनी हुई थीं, उन पर अब अमल होने के आसार दिखाई दे सकते हैं। इस समय पर इच्छाओं की पूर्ति के लिए उचित अवसर भी सामने होंगे। जीवन साथी या पार्टनर के साथ कुछ अच्छे पलों को बिताने का आनंद भी प्राप्त हो सकता है। छात्रों के लिए समय बेहतर होगा। अपनी शिक्षा में परिणाम की प्राप्ति सकारात्मक रह सकती है। इस समय पसंद के शिक्षण संस्थानों में प्रवेश प्राप्ति का सुख भी मिल सकता है। काम के क्षेत्र अब समय नई दिशाओं को तय करने वाला होगा। कुछ नवीन चीजों को सीखने के प्रति उत्साह भी दिखाई देगा। साहसिक कार्यों एवं रोमांच में शामिल होंगे। संतान पक्ष की ओर से कुछ समाचार प्राप्त हो सकता है। कुल मिलाकर बृहस्पति का गोचर अनुकूल फलों को देने में सहायक बन सकता है। 

 

वृषभ राशि पर बृहस्पति का कुंभ राशि के गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Aquarius on Taurus

वृष राशि के लिए बृहस्पति का दशम भाव पर गोचर होगा। करियर, नाम और प्रसिद्धि को बृहस्पति इस समय अधिक प्रभावित करने वाला है। इस गोचर अवधि में आवश्यक होगा की कार्य को लेकर आलस्य छोड़ दें और सक्रिय होकर आगे बढ़ें। इस समय पर नौकरी में बदलाव का भी समय होगा। कुछ नई योजनाओं पर काम शुरु कर सकते हैं। स्थान बदलाव के साथ ही पद प्राप्ति के भी अवसर मिल सकते हैं। वरिष्ठ अधिकारियों का सहयोग बेहतर रुप से मिल सकता है। इस समय अद्भुत उद्यमशीलता की पहल करनी होगी तभी संतुष्टि से भरे नतीजे देख पाएंगे। नौकरी या कारोबार दोनों ही स्थानों पर प्रतिष्ठा एवं पदोन्नति के अवसर मिल सकते हैं। नई परियोजनाओं पर काम करने के नए तरीकों को अपनाने में शामिल रहना चाहेंगे। कुछ अड़चनों का सामना भी इस समय कर सकते हैं। सहकर्मियों के साथ चिंता बनी रह सकती है इसलिए धैर्य के साथ शांत रहते हुए अपने कार्यों को निपटाना उचित निर्णय होगा। 

 

मिथुन राशि पर बृहस्पति का कुंभ राशि के गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Aquarius on Gemini

मिथुन राशि के लिए बृहस्पति का गोचर नवम भाव पर होगा। भाग्य और आध्यात्मिकता का केन्द्र बृहस्पति के आधिपत्य से प्रभावित होगा। इस स्थान पर शुभ फलों की प्राप्ति के अच्छे अवसर मिल सकते हैं। यह समय जीवन में कुछ नई उम्मीद और आशाओं का आगमन होगा। इस गोचर के दौरान भाग्य पक्ष में रह सकता है। रुके हुए कार्य अब भाग्य के सहयोग द्वारा आगे बढ़ते नजर आएंगे। पिता का सुख एवं पिता समान वरिष्ठ लोगों का सहयोग मिल सकता है। इस समय पर आध्यात्मिक दृष्टिकोण भी विकसित होगा। कुछ धर्म कर्म से जुड़े कामों में शामिल हो सकते हैं। इसके साथ ही ज्योतिष दर्शन इत्यादि में रुचि भी बढ़ सकती है। इस समय के दौरान एक बेहतर दृष्टिकोण भी उभरेगा। यात्राओं के लिए शुभ समय हो सकता है। व्यक्तिगत रूप से, संतोषजनक परिणाम प्राप्त कर पाएंगे। संतान का सुख विवाह से संबंधित कार्य इस समय के दौरान देखने को मिल सकते हैं। आर्थिक स्थिति नियंत्रण में रहेगी। भाई बंधुओं की ओर से प्रेम और सहयोग इस समय पर आपके पक्ष में रह सकता है। 

 

कर्क राशि पर बृहस्पति का कुंभ राशि के गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Aquarius on Cancer

कर्क राशि के लिए बृहस्पति का गोचर अष्टम भाव में होगा। ये समय कुछ मिलाजुला फल देने वाला रहेगा। अष्टम में स्थित बृहस्पति आपके मनोविज्ञान पर अलग रुप से असर डाल सकता है। अभी तक जिन चीजों के बारे में जो विचारधारा बनी हुई थी उनमें बदलाव देख पाएंगे। इस समय के दौरान सावधान एवं सजगता के साथ काम करने की आवश्यकता होगी। किसी भी कार्य को करने में जल्दबाजी या अत्यधिक क्रोध में आकर करने की आवश्यकता नहीं है ऐसा करने से कार्यों में असफलता ही हाथ लगेगी। लोगों पर बहुत अधिक भरोसे से भी बचने की आवश्यकता होगी और अपनी नीतियों में गोपनीयता को बनाए रखना होगा। आर्थिक पक्ष साधारण ही रहेगा। खर्चों का अपव्यय अधिक रह सकता है। इस समय रोग, विवाद या परिवार पर धन अधिक खर्च हो सकता है। परिवार में कुछ लोगों के साथ तनाव की स्थिति भी उभर सकती है। अष्टम भाव में बृहस्पति आपकी आध्यात्मिक स्थिति को भी जागृत करने वाला होगा और धर्म की ओर रुझान दिखाई देगा। स्वास्थ्य की दृष्टि से विशेष ध्यान रखना आवश्यक होगा। छोटी-मोटी स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां उभर सकती हैं। 

 

सिंह राशि पर बृहस्पति का कुंभ राशि के गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Aquarius on Leo 

सिंह राशि के लिए बृहस्पति का गोचर सातवें भाव पर होगा। बृहस्पति इस घर पर बैठ कर विवाह और साझेदारी से जुड़े समस्या पर अपना असर डालेगा। सप्तम भाव में गोचर करते हुए बृहस्पति विवाह होने की संभावनाओं को बढ़ाता है ऐसे में जो अविवाहित व्यक्ति अपने लिए योग्य जीवन साथी की तलाश में उन्हें इस समय पर कुछ सकारात्मक फलों की प्राप्ति हो सकती है। बृहस्पति आपकी सोच को बदलेगा और नई चीजों की ओर आपका ध्यान आकर्षित होगा। इस समय पर जीवन में आगे बढ़ने की योजनाओं पर विचार कर सकते हैं। पार्टनर के साथ मिलकर नए कार्यों की शुरुआत पर भी विचार अब संभव होगा और कुछ नीतियों को लागू कर पाएंगे। इस समय के दौरान आर्थिक पक्ष को कुछ मजबूती मिलेगी। पूर्व में बने हुए खर्चों से मुक्त होने से राहत मिल सकती है। यात्राओं के लिए समय काफी अच्छा बन रहा है कुछ विदेश संबंधी यात्राएं हो सकती हैं या फिर परिवार के साथ लम्बी दूरी की यात्राओं पर जा सकते हैं। इस समय स्थान अथवा कार्यक्षेत्र में बदलाव को लेकर बहुत अधिक जल्दबाजी के फैसलों से बचने की आवश्यकता होगी। स्वास्थ्य के प्रति सजग रहना होगा क्योंकि खान पान में कुछ बदलाव का असर सेहत पर पड़ सकता है। 

 

कन्या राशि पर बृहस्पति का कुंभ राशि के गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Aquarius on Virgo 

कन्या राशि के लिए बृहस्पति का गोचर छठे भाव पर होगा। इस स्थान पर बैठ कर बृहस्पति  ऋण, शत्रु और रोग की स्थिति को प्रभावित कर सकता है। इन चीजों में वृद्धि होते भी देखी जा सकती है। नौकरी के क्षेत्र में इस समय पर सहज और शांत रहकर फैसले लेने होंगे। सहकर्मियों के साथ बहुत अधिक सहयोग इस समय पर नहीं मिल पाने से चीजें आपके लिए थोड़ा कठिन हो सकती हैं। इस समय पर जोखिम भरे विकल्पों से बच कर रहना ही बेहतर होगा। कुछ अनावश्यक कार्यों के चलते परेशानी में पड़ सकते हैं, ऐसे में जरूरी होगा की आप काम में अधिक ध्यान एवं एकाग्रता से आगे बढ़ें। इस समय काम में बदलाव की स्थिति भी बनती दिखाई देगी और किसी नए स्थान में आवेदन दे सकते हैं। स्वास्थ्य के लिहाज से अधिक सावधान रहने की जरूरत होगी। चीजों को नियंत्रण में रखना चाहिए क्योंकि छोटी सी लापरवाही भी परेशानी का सबब बन सकती है। इस समय पर विरोधी पक्ष काफी मजबूत रह सकती है और आपकी छोटी-छोटी गलतियों का फायदा उठाने की कोशिश कर सकते हैं। 

 

वृश्चिक राशि पर बृहस्पति का कुंभ राशि के गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Aquarius on Scorpio

वृश्चिक राशि के लिए, बृहस्पति का गोचर चतुर्थ भाव पर होगा। बृहस्पति इस स्थान पर बैठ कर सुख, संपत्ति, समृद्धि एवं माता की स्थिति को प्रभावित करने वाला होगा। इस समय पर घरेलू स्तर पर कई बदलाव भी देखने को मिल सकते हैं। अपने आस पास की स्थिति को लेकर कुछ चिंता में भी दिखाई दे सकते हैं। घर एवं आराम से जुड़ी चीजों पर धन खर्च हो सकता है। इस समय के दौरान जमीन या किसी निवास की खरीद फरोख्त को लेकर भी सोच विचार बना रहने वाला है। वाहन या आभूषण इत्यादि की प्राप्ति भी इस समय पर होने की अधिक संभावना होगी। इस समय धन के मामले में काफी सोच विचार करके निर्णय लेने की जरूरत है। खर्चों का अपव्यय बचत पर भी असर डाल सकता है। परिवार में होने वाले मतभेदों को लेकर अधिक सावधान रहना होगा। इस समय पर स्वास्थ्य से संबंधित कुछ मसले चिंता में डाल सकते हैं। रक्तचाप, हृदय एवं मधुमेह से संबंधित रोग परेशानी दे सकते हैं। खान पान में सात्विकता बनाए रखने से लाभ मिलेगा। 

 

धनु राशि पर बृहस्पति का कुंभ राशि के गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Aquarius on sagittarius

धनु राशि के लिए, बृहस्पति का गोचर इस समय पर तीसरे घर पर होगा। बृहस्पति का असर इस समय पराक्रम, साहस, भाई-बहनों और यात्राओं को प्रभावित करने वाला होगा। इस समय के बृहस्पति का प्रभाव यात्राओं की अधिकता दिखा सकता है कुछ छोटी यात्राएं बनी रहेंगी। स्थान बदलाव की स्थिति भी इस समय पर दिखाई दे सकती है। कामकाज को लेकर होने वाले बदलाव या घरेलू क्षेत्र में होने वाले बदलाव दोनों ही स्थिति स्थान परिवर्तन के लिए उत्तरदायी हो सकती हैं। भाग्य का सहयोग आर्थिक रुप से आय प्राप्ति के मौके भी प्रदान करने वाला होगा। इस समय के दौरान परिश्रम अधिक करने की आवश्यकता होगी और आलस्य से दूर रहकर काम करना होगा। भाई बंधुओं का प्रेम और सहयोग रह सकता है, उनके साथ कुछ बातों पर मतभेद भी होंगे लेकिन स्थिति सकारात्मक रुप में बनी रहेगी। 

 

मकर राशि पर बृहस्पति का कुंभ राशि के गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Aquarius on Capricorn

मकर चंद्र राशि के लिए बृहस्पति का गोचर दूसरे भाव पर होगा। इस समय बृहस्पति वाणी, धन और कुटुम्ब पर असर डालने वाला होगा। ये समय सकारात्मक रुप से काम कर सकता है। आप अपने व्यक्तित्व में विकास को देख पाएंगे। धन लाभ प्राप्ति का अच्छा समय होगा। धन से संबंधित मामलों में अच्छे परिणाम प्राप्त कर पाएंगे। इस समय के दौरान वाणी में प्रभावशीलता दिखाई देगी। अपनी बातों एवं तर्क द्वारा दूसरों को प्रभावित करने में सक्षम रह सकते हैं। सौभाग्य में वृद्धि का समय होगा। संपत्ति से जुड़े मामलों में आशापूर्ण नतीजे भी देखने को मिल सकते हैं। काम के क्षेत्र में सफलता तथा उत्तम भोजन एवं वस्त्रों की प्राप्ति भी हो सकती है। भावनात्मक रुप से कुछ सोच विचार अधिक रह सकता है। घर पर किसी नए सदस्य का आगमन भी इस समय पर दिखाई दे सकता है। परिवार में साथ मिलकर काम करने की प्रवृत्ति पर जोर अधिक देना चाहेंगे।

 

कुंभ राशि पर बृहस्पति का कुंभ राशि के गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Aquarius on Aquarius

कुंभ राशि के लिए बृहस्पति का गोचर पहले भाव पर होगा। कुंभ राशि में ही गोचर करते हुए बृहस्पति इस समय विचारधारा, स्वास्थ्य, संबंधों पर असर डालने वाला होगा। इस समय के दौरान आपके व्यक्तित्व में बदलाव दिखाई देगा। कुछ नई चीजों को लेकर आगे बढ़ने की कोशिशें भी इस समय अधिक हो सकती हैं। दांपत्य जीवन पर स्थिति अनुकूल दिखाई दे सकती है। रिश्तों में के दूसरे को लेकर समर्पण का भाव भी जागेगा। इस समय कुछ बातों को लेकर यदि मतभेद रहता भी है तो जरूरी होगा की शांत होकर चीजों को सुलझाने की कोशिश की जाए। इस समय के दौरान साझेदारी से जुड़े काम में अच्छे लाभ की उम्मीद भी की जा सकती है। परिवार में विवाह एवं मांगलिक कार्यों से जुड़े काम इस समय पर संपन्न हो सकते हैं। काम के क्षेत्र में बदलाव और नए सौदों की प्राप्ति का भी समय बना हुआ है। 

 

मीन राशि पर बृहस्पति का कुंभ राशि के गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Aquarius on Pisces

मीन राशि के लिए बृहस्पति का गोचर बारहवें भाव पर होगा। बृहस्पति इस समय व्यय, विदेश, यात्रा एवं मोक्ष जैसे पहलुओं पर असर डालने वाले होंगे। इस समय खर्चों की अधिकता चिंता को बढ़ा सकती है। व्यर्थ के अपव्यय अधिक रह सकते है अथवा अचानक से धन खर्च की स्थिति भी इस समय पर बनती दिखाई दे सकती है। 

 

बृहस्पति का द्वादश भाव में गोचर मिले जुले फलों को अधिक देने वाला होता है। इस समय के दौरान विदेश यात्रा एवं लम्बी दूरी की यात्राओं का योग भी फलित हो सकता है। बाहरी संपर्क इस समय अधिक रहते है। जो लोग विदेश में कार्यरत हैं या जो विदेशी कार्यों में लिप्त हैं उनके लिए कुछ लाभ की स्थिति का योग भी इस समय बनते दिखाई दे सकता है। इस समय के दौरान धार्मिक गतिविधियों एवं आध्यात्मिक कार्यों में रुझान भी रह सकता है। प्रेम संबंधों में चिंता एवं अलगाव की स्थिति उभर सकती है। रिश्तों में व्यर्थ के मतभेद परेशानी को बढ़ाने का कार्य कर सकते हैं। शांति और धैर्य के साथ ही परिस्थितियों का सामना करने से ही राहत की उम्मीद की जा सकती है। स्वास्थ्य को लेकर अधिक सजग रहने की जरूरत होती है। व्याधियां परेशानी दे सकती हैं जिसके कारण चिकित्सक के पास बार-बार जाने की संभावना भी अधिक उत्पन्न हो सकती है।

अन्य राशियों में बृहस्पति के गोचर के प्रभाव के बारे में पढ़ने के लिए बृहस्पति के गोचर पर क्लिक करें। साथ ही आप हमारी वेबसाइट से जन्मकुंडली, लव या अरेंज मैरिज में चुनावव्यवसायिक नामों के सुझावस्वास्थ्य ज्योतिषनौकरी या व्यवसाय के चुनाव के बारे में भी पढ़ सकते हैं।     
बृहस्पति का मकर राशि में गोचर और अन्य राशियों पर प्रभाव
14 Sep,2021
से
19 Nov,2021

सभी ग्रहों में बृहस्पति का एक विशिष्ट स्थान रहा है। बृहस्पति शुभदायक ग्रह रहा है तथा ज्ञान एवं विस्तार का कारक बनता है। बृहस्पति धनु और मीन राशि के स्वामी होते हैं और कर्क राशि में उच्च स्थिति को पाते हैं तो मकर राशि में ये नीचस्थ अर्थात निर्बल स्थिति को पाते हैं। किंतु बृहस्पति अपनी कमजोर स्थिति में भी अत्यंत शुभस्थ प्रभाव देने में सक्षम होता है। बृहस्पति का मकर राशि में जाना सामाजिक, मानसिक, सांसारिक एवं धार्मिक दृष्टिकोण से तो विशेष होता ही है साथ ही इसका गोचरीय पहलू अलग-अलग मायनों में खास हो जाता है। 

 

 मकर में बृहस्पति का फल/Impact of Jupiter in Capricorn

मकर राशि शनि के स्वामित्व की राशि है और स्थिरता को दर्शाती है। बृहस्पति जब मकर में जाते हैं तो यह स्थिति गुरु के अपने शिष्य के पास जाकर कर्मों के निर्धारण में सहायक मानी जाती है। बृहस्पति को गुरु का दर्जा भी प्राप्त है, ऐसे में बृहस्पति जब शनि जिन्हें सेवक भी माना गया है उनके भाव में जाते हैं तो यह स्थिति सकारात्मक भी होती है। यह स्थिति गुरु के मान को बढ़ाने वाली भी होती है। यह ज्ञान का विशिष्ट प्रतिफल देने वाली होती है। इसके कारण व्यक्तित्व की अलग छाप दिखाई देती है। मकर राशि उच्च महत्वाकांक्षा को दर्शाती है तथा काम करने को तत्पर रहने की प्रवृत्ति भी इसमें होती है। अनुशासन, ईमानदारी, दृढ़ एवं कठोर स्वरूप भी इसके गुणों में देखा जा सकता है और गुरु इन गुणों में काफी सम्मिलित होता है। बृहस्पति यहां मौजूद रह कर शानदार शैली को सामने लाना वाला होता है। बृहस्पति मकर राशि पर कोई बड़ा सकारात्मक प्रभाव नहीं दे पाता है। लेकिन फिर भी बृहस्पति इसे और अधिक आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करता है। स्नही एवं लगाव भी उत्पन्न करता है। बृहस्पति व्यक्ति को आध्यात्मिकता के क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए भी उन्मुख करता है। सफलता की राह पर ले जाता है, सकारात्मक दृष्टि देता है तथा भविष्य को लेकर जागरूक बनाता है। 

 

मेष पर बृहस्पति के मकर राशि में गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Capricorn on Aries.

मेष राशि वालों के लिए बृहस्पति गोचर दशम भाव पर होगा। बृहस्पति यहां कर्म स्थल पर मौजूद रह कर गहरा प्रभाव डाल सकता है। यह समय बदलाव की शुरुआत का संकेत देता है। दशम भाव में गोचर करते हुए बृहस्पति द्वितीय, चतुर्थ और छठे भाव को दृष्टि भी देगा। अब समय कार्यक्षेत्र में चुनौतियों को दिखाता है, नई जिम्मेदारियों के लेने में अधिक चिंता भी रह सकती है। इस गोचर का फल इन सभी घरों पर अपना असर डालेगा और जीवन में होने वाले बदलावों को लेकर काफी गहरा विचार भी हो सकता है। काम के क्षेत्र में प्रतिस्पर्धियों के साथ सामना करना पड़ सकता है। नौकरी में सहकर्मियों के साथ बेहतर रुप से काम करना भी जरूरी होगा क्योंकि छोटी छोटी बातें भी लम्बे असर डालने में सक्षम होंगी। व्यावसायिक गतिविधियों के लिए समय चुनौतीपूर्ण रह सकता है। अपने काम के विस्तार एवं उसमें सफलता के लिए लोगों के साथ जुड़ने की आवश्यकता होगी। मिले हुए असाइनमेंट पर टिके रहने और अच्छा प्रदर्शन करने का दबाव भी अधिक रह सकता है। अपने आप को स्थापित करने के लिए अधिक प्रयास करने की आवश्यकता होगी। आर्थिक क्षेत्र में स्थिति कुछ सहायक रह सकती है, लेकिन कभी कभार चीजें चिंता देने वाली भी होंगी। इस समय दूसरों की विचारधारा को समझते हुए रणनीति बनाकर काम करना ही सफलता का मार्ग निश्चित करेगा। 

 

वृष पर बृहस्पति के मकर राशि में गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Capricorn on Taurus

वृषभ राशि के लिए बृहस्पति का गोचर भाग्य स्थान पर होगा। बृहस्पति का नवम का गोचर बहुत ही शुभ फलों को प्रदान करने वाला समय होगा। किंतु इसी के साथ यहां नीचस्थ  बृहस्पति कई मसलों पर बहुत अधिक सहायक न हो लेकिन यह एक आशाजनक स्थिति होती है। भाग्य, लंबी दूरी की यात्रा, पिता एवं गुरु समक्ष लोगों का सानिध्य इस समय पर अवश्य प्राप्त होता है। यहां परिश्रम उस रुप से आगे बढ़ सकता है जिसमें हर ओर से स्थिति को नियंत्रित करके काम किया जा सकता है। कुछ दैवीय आशीर्वाद भी इस समय छत्र के रुप में काम करने वाला होता है। जीवन के कई पहलुओं पर इसका असर दिखाई देगा लेकिन लम्बे समय से चल रहा संघर्ष इस समय पर राहत दिलाने वाला हो सकता है। ये समय पूर्व के दौरान उत्पन्न हुई घटनाएं चिंताओं का एक कारण रही थीं लेकिन धीरे धीरे राहत का की ओर रुख साफ होता दिखाई देगा। काम के क्षेत्र में सफलता का मार्ग भी प्रशस्त होगा। कुछ यात्राएं करनी पड़ सकती हैं, जो लाभ की उम्मीदों को पूरा होने का अवसर देने वाली होगी। इस समय धार्मिक दृष्टिकोण कुछ अलग रुप से विकसित होगा, उदारता एवं परोपकारिता के काम में भी बढ़ चढ़ कर शामिल हो सकते हैं। 

 

मिथुन पर बृहस्पति के मकर राशि में गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Capricorn on Gemini

मिथुन राशि के लिए बृहस्पति का गोचर आठवें घर होगा। बृहस्पति अष्टम भाव में काफी बदलाव दिखाने वाला होगा। आठवां भाव दीर्घायु, विरासत और अचानक होने वाली लाभ-हानि का समय हो सकता है। नीच बृहस्पति का अष्टम भाव में गोचरस्थ होना कई मुद्दों पर विस्तार देता है। पैतृक संपत्ति के उलझे हुए मामले इस समय पर स्पष्ट रुप से सामने होंगे। इसी के साथ छुपे हुए मसले जो किसी कारण से आप सभी के सामने नहीं ला पा रहे थे वह सामने आ सकते हैं। यहां आने पर आपकी पहचान भी खुल कर सामने आ सकती है। अपनों एवं दूसरों के साथ हर जगह कुछ न कुछ बदलाव परेशानी दे सकती है। नौकरी हो या पारिवारिक जीवन बदलाव अभी होगा।आर्थिक क्षेत्र में अधिक खर्च से बचना ही इस समय जरूरी होगा। जोखिम भरे निवेश से दूर रहने की जरुरत होगी। आकस्मिक खर्चों  एवं जीवन में होने वाली घटनाएं होंगी, इसके लिए स्वयं को दृढ़ बना कर रखना होगा। धैर्य शांति के साथ लिए गए फैसलों से ही सफलता प्राप्त हो सकती है। इस गोचर के समय पर पुराने स्वास्थ्य समस्याएं उभर सकते हैं। ऐसे में सेहत पर नजर बनाए रखने की आवश्यकता होगी। चीजों को नियंत्रण में रखने के लिए अपने चिकित्सक द्वारा सलाह के अनुसार काम करना ही सही होगा। निजी जीवन में मानसिक रुप से एवं आर्थिक रुप से कुछ असंतोष बना रह सकता है। 

 

कर्क पर बृहस्पति के मकर राशि में गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Capricorn on Cancer

कर्क राशि के लिए बृहस्पति का गोचर सातवें घर पर होगा। बृहस्पति इस स्थान पर बैठ कर विवाह और पार्टनरशिप से संबंधित समस्या दे सकता है। जीवन साथी के साथ संबंध कुछ मिले जुले से रह सकते हैंअगर किसी के साथ मिलकर काम करने का विचार रखे हुए हैं, तो उस पर अब अमल होता दिखाई देगा। व्यापार में भागीदारी करें, लेकिन इस ओर पैसों से संबंधी लेनदेन के मामलों पर सावधानी बरतें। व्यर्थ के मसलों से खुद को दूर रखें अन्यथा बातें बेकार में बढ़कर आपके लिए ही परेशानी खड़ी कर सकती हैं। उन लोगों के साथ अपने बातचीत बना कर रखें ऐसा होने से आने वाले समय में संभावनाएं काफी पक्ष में काम कर सकती हैं। इस भाव में बृहस्पति आर्थिक मसलों के लिए आय के नए स्रोत उत्पन्न करने वाला होगा। इस समय पर सजग रहते हुए योजना बनाने की आवश्यकता होगी। इस समय के दौरान प्रेम को लेकर उत्साह अधिक रहने वाला है। नई कल्पनाएं एवं नई सोच जीवन में शामिल होने वाली है। 

 

सिंह पर बृहस्पति के मकर राशि में गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Capricorn on Leo

सिंह राशि के लिए बृहस्पति का गोचर छठे भाव पर होगा। बृहस्पति के छठे घर पर होने से आपका धन इस समय पर अवांछित खर्चों, सेहत या कानूनी मामलों में खर्च हो सकता है। निजी जीवन में कुछ घटनाओं से नाखुश रह सकते हैं। कुछ कानूनी मामलों में भी इस समय उलझ सकते हैं। दूसरों के पचड़ों से दूर रहते हुए काम करें तथा व्यर्थ की बातों में शामिल होने से बचना होगा। भावनात्मक रुप से लिए गए फैसले, इस समय गलत सिद्ध हो सकते हैं। इसलिए व्यवहारिक बनें। अलग अलग तरह की गतिविधि आपको तनाव से मुक्त रख पाने में सफल होगी। प्रतिस्पर्धाओं में स्वयं को बनाए रखना आसान नहीं होगा। कड़े परिश्रम का समय है, सहकर्मियों की ओर से भी विरोध का स्वर तेज होते देख सकते हैं। अपने काम को बनाए रखने के लिए तथा अपनी स्थिति को सुरक्षित रखने के लिए अधिक कोशिशें करने की आवश्यकता बनाए रखनी होगी। स्वास्थ्य के संबंध में यह समय त्रिदोषों की समस्या से ग्रसित हो सकता है। पाचन संबंधी समस्या आपको परेशान कर सकती है। उचित रुप से भोजन एवं समय-समय पर स्वास्थ्य की जांच बनाए रखने से व्याधियों से राहत प्राप्त होगी। 

 

कन्या पर बृहस्पति के मकर राशि में गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Capricorn on Virgo

कन्या राशि के लिए बृहस्पति का गोचर इस समय पंचम भाव पर होगा। बृहस्पति का यह गोचर सकारात्मक फलों को प्रदान करने वाला होगा। इस समय पर आप अपनी शक्ति एवं सामर्थ्य को उचित रुप से जान पाने में सक्षम होंगे। छुपी हुई प्रतिभाओं को सामने देख पाएंगे। गोचर का यह समय नई संभावना से लाभ दिलाने वाला होगा। लोगों के साथ मैत्रीपूर्ण संबंध स्थापित होंगे। धन लाभ एवं भाग्य का सहयोग मिल पाएगा। विभिन्न पहलुओं पर बृहस्पति का असर विशेष फलों को देने वाला होगा। व्यापार में प्रसिद्धि को पाने में सफल रह सकते हैं। शिक्षा के क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं। अपने विषयों के साथ ही दूसरे विषयों पर भी आप अच्छी पकड़ बनाते देखे जा सकते हैं। रचनात्मक रुप से प्रशंसा प्राप्ति एवं पुरस्कार इत्यादि से सम्मानित किया जा सकता है। प्रेम संबंध प्रगाढ़ होंगे अपने साथी का सहयोग प्राप्त कर पाने में सफल रह सकते हैं। संतान पक्ष की ओर से माता-पिता को सुख की प्राप्ति हो सकती है। परिवार में किसी नए सदस्य का आगमन घर में बदलाव का माहौल भी देगा। 

 

तुला पर बृहस्पति के मकर राशि में गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Capricorn on Libra

तुला राशि के लिए बृहस्पति का गोचर चतुर्थ भाव पर होगा। बृहस्पति इस भाव में बैठ कर परिवार सुख पर असर डालने की ओर प्रवृत्त होंगे। यहां से बैठ कर बृहस्पति की दृष्टि दशम, द्वादश और अष्टम भाव पर होगा। अब समय नई चीजों में बदलाव, के साथ ही गुप्त रहस्यों को आगे ले जाने वाला तथा बाहरी मसलों में अधिक ध्यान केंद्रित का समय भी होगा। धन से जुड़े मामलों में खर्च की स्थिति बनी रहने वाली है। कुछ संपत्ति की खरीदारी हो सकती है, कोई लम्बी दूरी की यात्रा एवं परिवार के किसी व्यक्ति हेतु धन का खर्च अधिक बना रह सकता है। इस समय घर-परिवार में स्थिति को शांतिपूर्ण रखने हेतु कुछ मामलों में अपने नजरिए को बदलना भी पड़ सकता है। उचित मार्गदर्शन काम आएगा। स्वास्थ्य के लिहाज से कुछ चिंताएं होंगी, लेकिन इनसे राहत भी जल्द प्राप्त होगी। व्यक्तिगत जीवन में थोड़ा असंतोष अनुभव कर सकते हैं। इस समय भावन अप्रधान होने से अच्छा होगा की व्यवहारिक होकर काम किया जाए। चतुराई एवं नम्रता के साथ स्थिति को संभालने में सफल होंगे। इस समय कोशिश करें की स्वयं को सकारात्मक बना कर रखें और बदलावों को लेकर भी आगे बढ़ कर उनका स्वागत करना ही सफलता का पहला कदम बन सकता है। 

 

वृश्चिक पर बृहस्पति के मकर राशि में गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Capricorn on Scorpio

वृश्चिक राशि के लिए बृहस्पति का गोचर तीसरे भाव पर होगा। बृहस्पति यहां बैठ कर आपके साहस, पराक्रम, परिश्रम, संचार, यात्राओं, भाई बहनों पर असर डालने वाला होगा।  बृहस्पति कुछ कमजोर स्थिति में यहां होकर भी आपको आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करने वाला होगा। इस समय के दौरान आप अपने कार्य में कुछ सुस्त हो सकते हैं या चीजों को टाल भी सकते हैं, ऐसे में जरूरत होगी अपने इस रवैये से बचा जाए। अपने कार्य या किसी अन्य कारण से ट्रांस्फर से जुड़े मामलों से भी प्रभावित होना पड़ सकता है। तृतीय भाव में बैठ कर बृहस्पति आपको अपने स्थान से हटाते हुए यात्रा एवं नई जगहों से जुड़ने के लिए उत्साहित कर सकता है। नौकरी एवं व्यवसाय को लेकर कुछ बदलाव का विचार कर सकते हैं। लाभ प्राप्ति को लेकर महत्वाकांक्षाएं भी तेज होंगी। कुछ क्रोध होगा लेकिन जरुरत है इस समय स्वयं को शांत रखने की अन्यथा अपने के साथ ही विवाद भी झेल सकते हैं। इस समय गोचर का असर मानसिक शांति और ताकत को प्रभावित करने वाला होगा। लोगों के साथ मेल-जोल और संचार की शैली में अलग रंग दिखाई देगा। इस समय पर काम से अधिक बातों से लाभ कमाने की कोशिशें भी बनी रह सकती हैं। 

 

धनु पर बृहस्पति के मकर राशि में गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Capricorn on Sagittarius

धनु राशि के लिए बृहस्पति का गोचर दूसरे भाव पर होगा। बृहस्पति का द्वितीय भाव में गोचर शुभ एवं सकारात्मक फलों को देने वाला होता है। ये समय आपके लिए नई संभावनाओं को लेकर आएगा। जीवन में कुछ बेहतरीन कार्यों को कर पाने में स्वतंत्र रह सकते हैं। अपनी इच्छाओं को पूरा होते देख पाने का समय भी बृहस्पति के इस गोचर के दौरान मिल सकता है। द्वितीय भाव कुटुम्ब, वाणी और धन का स्थान होता है इस पर बृहस्पति विस्तार देता दिखाई देगा। व्यक्तिगत जीवन में चीजें सुचारू रुप से चलती दिखाई दे सकती हैं। परिवार आपके साथ खड।अ दिखाई देगा, घर में किसी नए सदस्य का आगमन भी इस गोचर के परिणाम स्वरूप हो सकता है। अब इस समय पर उन चुनौतियों से निपट पाने में सफल हो सकते हैं जिनको लेकर एक लम्बे समय से द्वंद बना हुआ था। धन से संबंधित मामलों में थोड़ा तनाव मुक्त भी रह पाएंगे। धन लाभ के योग बनेंगे तथा किसी न किसी रुप से धन की प्राप्ति हो सकती है। बृहस्पति का ये गोचर आपको अभिव्यक्ति के क्षेत्र में अच्छे प्रभाव दे सकता है। दूसरों के समक्ष बेहतर रुप से अपनी बात को रख पाएंगे। विवाहित लोगों को मिलाजुला प्रभाव देखने को मिल सकता है। पारिवारिक दखल के चलते भी स्थिति थोड़ा असहज भी हो सकती है ऐसे में जरूरी होगा शांत रह कर स्थिति का सामना करें जीवन साथी के साथ योगदान बना कर रखने से कुशलता पक्ष में रहेगी। 

 

मकर राशि प्रभाव पर बृहस्पति के मकर राशि में गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Capricorn on Capricorn

मकर राशि के लिए बृहस्पति का गोचर इन्हीं की राशि में होगा। अब जब बृहस्पति आपकी राशि लग्न पर ही गोचर कर रही है तो यह स्थिति काफी विशेष बन जाएगी। अब नीतियों में बदलाव का समय होगा। व्यवहार और विचारधारा का अलग रंग रुप दिखाई देगा। जीवन की दिशा में बदलाव भी दिखाई देगा। इस समय अधिक व्यावहारिक दिखाई दे सकते हैं। चीजों पर कार्य करने से पहले अब और अधिक सोच विचार हो सकता है। अपनों के साथ कुछ मुद्दों पर असहमति या तर्क वितर्क की स्थिति भी उभर सकती है। ये समय प्रतिष्ठा को बनाए रखने और अपना वर्चस्व स्थापित करने की नीतियों पर भी काम करने वाला होगा। इस समय पर मनमर्जी के मामले अधिक बढ़ सकते हैं, इसलिए जरूरी होगा की सभी की बातों को स्थान दिया जाए अन्यथा चीजें विपक्ष के रुप में भी सामने उभर सकती है। आर्थिक रुप से स्थिति सामान्य होगी। कुछ अनावश्यक खर्चों पर नियंत्रण लगाना होगा क्योंकि कई बार व्यर्थ के अपव्यय भी हो सकते हैं। भविष्य की योजनाओं पर काम शुरु कर सकते हैं। सेहत के मामले में कुछ दिक्कतें रह सकती हैं जो मुख्य रुप से खानपान के चलते अधिक प्रभावी होंगी। संक्रमण या मधुमेह से जुड़े रोग परेशान कर सकते हैं, डॉक्टरी सलाह द्वारा इन पर नियंत्रण बनाए रखा जा सकता है। 

 

कुंभ पर बृहस्पति के मकर राशि में गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Capricorn on Aquarius

कुंभ राशि के लिए बृहस्पति का गोचर बारहवें घर पर होगा। बृहस्पति के इस गोचर पर अधिक ध्यान देने की आवश्यकता होगी। बारहवां घर व्यय, धन हानि, तनाव, निद्रा एवं शैय्या सुख को प्रभावित करने वाला होता है।  बृहस्पति इस घर में रहते हुए चौथे और आठवें घर को देखेगा। अब समय होगा। घर से दूर जाने का या किसी न किसी कारण से अपने सुख से आप हट सकते हैं। घरेलू क्षेत्र में कुछ बातें आपके भीतर नई सोच उत्पन्न कर सकती हैं। ये समय पर जमीन या संपत्ति की बिक्री और खरीद को लेकर हलचलें तेज हो सकती हैं। पूर्व में सोचे गए कुछ मसले आपके सामने काफी मजबूती के साथ खड़े दिखाई देंगे। इस समय पर सभी दृष्टिकोण की ओर खुद को खुला रखना होगा तभी उचित रुप से फैसला ले पाने में सफलता मिल पाएगी।  कुछ सौदे आपके पक्ष में होंगे लेकिन खर्चों की अधिकता के कारण अभी उनका ज्यादा फायदा उठाने में दिक्कतें भी उभर सकती हैं। स्वास्थ्य चिंता दे सकता है, मानसिक चिंता या बाहरी कारण आपकी हेल्थ पर असर डाल सकते हैं।बाहरी संपर्क से जुड़ने का ये अच्छा समय होगा। विदेश यात्रा अथवा विदेश में काम से संबंधित योग इस गोचर समय पर फलित होते दिखाई देंगे।इन सभी के बीच यात्राओं एवं बदलावों का दौर आप को प्रभावित करने वाला होगा। 

 

मीन पर बृहस्पति के मकर राशि में गोचर का प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Capricorn on Pisces 

मीन राशि के लिए बृहस्पति का गोचर एकादश भाव पर होगा। लाभ के स्थान पर बैठ कर बृहस्पति विस्तार तो देंगे साथ ही कुछ नई योजनाओं में आगे बढ़ने का भी समय होगा। कुछ रुके हुए कामों को करने के लिए अब अग्रसर दिखाई दे सकते हैं। मीन राशि के लिए बृहस्पति कर्म की प्रधानता एवं दृष्टिकोण का प्रसार देते हैं। एकादश में जाकर इच्छाएं अब आगे बढ़ सकती हैं। नए काम की शुरुआत के लिए निर्णायक समय दिखाई दे सकता है। इस समय पर आय में वृद्धि के लिए किए जाने वाले प्रयासों में से कुछ में अच्छी सफलता भी मिल सकती है। मीन राशि का स्वामी ही बृहस्पति है। राशि स्वामी कमजोर अवस्था में होने से कुछ आलस्य भी आपके भीतर आ सकता है या हो सकता है की आप शारीरिक बल से अधिक मानसिक रुप से काम को सुलझाने की कोशिश कर सकते हैं। कई बार धीमापन आपको मिलने वाले मौकों पर भी असर डाल सकता है इसलिए अवसरों का लाभ जब भी मिले उसे उठाने से चूकें नहीं अन्यथा इंतजार कुछ अधिक लम्बा भी हो सकता है। अपने रिश्तों के साथ आप आत्मीयता को पाएंगे। 

अन्य राशियों में बृहस्पति के गोचर के प्रभाव के बारे में पढ़ने के लिए बृहस्पति के गोचर पर क्लिक करें। साथ ही आप हमारी वेबसाइट से जन्मकुंडली, लव या अरेंज मैरिज में चुनाव, व्यवसायिक नामों के सुझावस्वास्थ्य ज्योतिषनौकरी या व्यवसाय के चुनाव के बारे में भी पढ़ सकते हैं। 
मीन राशि में बृहस्पति का गोचर/ JUPITER TRANSIT IN PISCES
13 Apr,2022
से
21 Apr,2023

मीन राशि एक जलीय राशि है, जो व्यक्ति के मजबूत दृढ़ विश्वास और महत्वपूर्ण स्थिति को दर्शाती है। आमतौर पर मीन राशि व्यक्ति के भाग्य, उदारता, भव्यता और कल्पना की ओर तेजी से अग्रसर होते हैं। इसके साथ ही बृहस्पति के गोचर के दौरान वह अपने सभी समस्याओं का समाधान खोज पाने में भी सफल होंगे, जिसके कारण आत्मविश्वास की कमी नहीं रहेगी। जब बृहस्पति मीन राशि में गोचर/Jupiter transit in Pisces करेंगे, तो उस समय सकारात्मक परिणाम भी देखने को मिलते है। इस दौरान आपको अपने अलग और स्वच्छ आचरण को बनाए रखना चाहिए। चलिए जानते हैं कि मीन राशि में बृहस्पति के गोचर से आपकी राशि पर क्या प्रभाव पड़ेगा।

मीन राशि में बृहस्पति के गोचर का मेष राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Pisces on Aries

इस गोचर के दौरान, व्यक्ति अधिक सहानुभूतिपूर्ण, दयालु और मार्मिक बनते हैं। साथ ही व्यक्ति सभी उत्कृष्ट विशेषताओं से जुड़े रहते हैं। इस गोचर के दौरान, मेष राशि वाले व्यक्ति अपने अंदर सभी खतरनाक, लापरवाही प्रवृत्तियों, असाधारण, गहन स्थापित आशंकाओं और अंतर्निहित दोष भावनाओं को समाप्त कर सकते हैं। आपको यह समझना होगा कि आमतौर पर बृहस्पति एक ऐसे वॉचमैन के रूप में कार्य करता है, जिससे आपको लाभ ही मिलता है। इस ग्रह योग के दौरान आप हर व्यक्ति के अंतरात्मा के साथ स्थिर, असाधारण, और मजबूत रिश्ता बना पाने में सक्षम होंगे।

इस दौरान मेष राशि वालों को अपने डर और अस्थिरता का सामना करना पड़ेगा, जिससे वह आगे आने वाले समय में बेहतर महसूस करेंगे। प्रमोशन या करियर में अच्छे परिणाम प्राप्त करने की इच्छा से आप दान पुण्य, उपहार और लोगों की मदद करेंगे। जितनी सहायता आप दूसरों की करेंगे, उतना ही अच्छा आपको महसूस होगा। जिस काम में दान, भेंट देना, और दूसरों की मदद करना शामिल होता है, उसमें आपको आनंद, लाभ और समृद्धि की प्राप्ति हो सकती है।

आपकी कल्पना का ब्रह्मांड इच्छाओं से भरा होगा, जो सुधार की आशंका और ज्ञान से युक्त होगा। ऐसे व्यक्ति अपनी ऊर्जा को योग, चिंतन और अन्य एकांतवास में भी लगा सकते हैं। यह आपके रोमांचक भावनाओं और आत्मा की शांति में सहायता करेगा। अलगाव की स्थिति में, लोग अत्यधिक उत्साहित और समृद्ध बनने की इच्छा रख सकते हैं।

बृहस्पति के मीन राशि में गोचर का वृषभ राशि पर प्रभाव/ Impact of Jupiter Transit in Pisces on Taurus

यह गोचर आपके लिए असाधारण एवं अनुकूल परिस्थितियों और ऊर्जा का प्रवाह लाएगा। यह ग्रह गोचर विभिन्न प्रणालियों में प्रशासन अभ्यास को बढ़ाएगा। इसके साथ ही यह आपको अधिक व्यापक, व्यवहार्य और लंबी दौड़ के उद्देश्यों का विकास करने में सहायता करेगा।

व्यक्ति निस्संदेह अपने साथियों पर उनकी निरंतर सहायता और समर्थन के लिए भरोसा कर सकते हैं। यह मदद आपके लिए उत्पादक और महत्वपूर्ण साबित होगी। इस गोचर/Transit के दौरान आपको अपने उद्देश्यों और लक्ष्यों का पता चलता जाएगा और काम के दौरान आप ऊर्जावान बने रहेंगे। लोग आपके शानदार और बेहतर भविष्य के लिए नए विचारों की सराहना करेंगे। आप अपने उद्देश्यों और लक्ष्यों की पूर्ति के लिए एक ईमानदार प्रयास जरूर करेंगे। बुरे वक्त में आपको आपके प्रिय व्यक्ति ज़रूर मदद करेंगे।

आप अपने साथियों के साथ और अपने आस पास के लोगों के साथ बहुत खुश और गतिशील रहेंगे। आपको बिजनेस में सफलता मिल सकती है।

मिथुन राशि पर बृहस्पति के मीन राशि में गोचर का प्रभाव/ Impact of Jupiter Transit in Pisces on Gemini

यह गोचर मिथुन राशि के लिए अच्छे परिणाम लाएगा। यह आपको अलग अलग क्षेत्र में सफलता दिलवा सकता है और पेशेवर उपलब्धि की गारंटी देता है। इस गोचर के दौरान आप अपने बिजनेस के लक्ष्य को पूरा करने, खामियों की जांच करने और अपनी स्थिति को प्रबल बनाने में सक्षम हो सकते हैं। आपको बिजनेस से संबंधित किसी यात्रा का अवसर भी प्राप्त हो सकता है।

आपके द्वारा लिए गए निर्णय इस अवधि के दौरान लोगों को अचंभे में डाल सकते हैं, जिसके कारण आपकी मानक या सोशल स्टेटस भी बदल सकती है, जो आपको लाभ भी दे सकती है। आप अपने जीवन में बहुत उन्नति प्राप्त करेंगे। नए उद्घाटन के लिए नए दरवाजे खुलेंगे, डिप्लोमा से संबंधित क्षेत्रों में रुचि बढ़ेगी, और आप कुछ क्षेत्रों में आपको सम्मान भी मिल सकता है। वैवाहिक जीवन की बात करें तो जो अविवाहित हैं, उनकी सगाई जल्दी हो जाएगी।

जल्द ही आपके ऊपर एक राक्षसी छाया आएगी। इसके कारण आपको कुछ स्थान पर नकारात्मक परिणाम देखने को मिलेगा। विशेषज्ञों की रुचि किसी एक विषय की शोध में अविश्वसनीय रूप से बढ़ेगी। व्यक्तिगत और पेशेवर दोनों ही तरीकों से स्वतंत्रता और अधिक प्रमुख कर्तव्यों का पालन कर पाने में आप सक्षम होंगे। आप अपना जीवन सच्चाई और ईमानदारी से व्यतीत करेंगे।

मीन राशि में बृहस्पति के गोचर का कर्क राशि पर प्रभाव/ Impact of Jupiter Transit in Pisces on Cancer

कर्क राशि वालों के पास इस दौरान यात्रा करने, अध्ययन करने, विदेश जाने, अपने संचार कौशल को नई ऊंचाई पर ले जाने और अपनी नींव को मजबूत करने के लिए उत्तम समय है। विद्वानों की रुचि बढ़ेगी, और शिक्षा के क्षेत्र में लाभ मिलेगा।

इस दौरान जीवन सुचारू रूप से चलेगा। बिजनेस संचार/Business communication में सुधार होगा। इस दौरान आपके सामाजिक प्रदर्शन और उन्नति में उत्पादक होंगे। कानूनी मामलों में फैसला आपके पक्ष में होगा। विश्वसनीय और वैध मार्गदर्शन की तलाश करें क्योंकि यह आपके लिए उपयोगी साबित हो सकता है। व्यक्ति जीवन के प्रति समर्पित, विश्वसनीय और अच्छे आचरण का निर्माण करेगा। क्रिएटर्स को बेहतरीन ऑडिट और एक अविश्वसनीय डिस्ट्रीब्यूटर मिल सकता है जो उनके बिजनेस के लिए लाभदायक साबित हो सकता है।

व्यक्तिगत और व्यावसायिक दोनों स्तरों पर यात्रा के विभिन्न अवसर प्राप्त हो सकते हैं। प्रमुख शिक्षाप्रद यात्रा और पेशेवर प्रगति का आनंद मिल सकता है।

मीन राशि में बृहस्पति के गोचर का सिंह राशि पर प्रभाव/ Impact of Jupiter transit in Pisces on Leo

इस गोचर का परिणाम, सिंह राशि वाले व्यक्ति आठवें भाव द्वारा शासित विभिन्न क्षेत्रों में देख सकते हैं, जैसे संयुक्त खाते, साझा संपत्ति/Shared assets, क्रेडिट, शुल्क, कामुकता, निकटता, स्वास्थ्य, व्यक्तिगत परिवर्तन, अन्वेषण, परीक्षा और अन्य मानसिक समस्याएं। यदि संपत्ति की उचित निगरानी की जाए या इसका सही प्रयोग किया जाए, तो मानसिक स्वास्थ्य और लोगों से निकटता जैसे क्षेत्रों में लाभ प्राप्त हो सकता है।

यह समय कुछ कार्यों के लिए सबसे उचित है। खास तौर पर उन क्षेत्रों में आपको लाभ दिलवा सकता है, जहां पर प्रबंधन कौशल या उत्पादन की आवश्यकता हो। आप बिना किसी तनाव के इमरजेंसी की स्थिति को संभाल सकते है।

जो कुछ भी आपके लिए अधिक महत्व रखता है, उसे जानने, समझने और स्वीकार करने की आपकी क्षमता में वृद्धि होगी। आपके सारे कार्य सही तरीके से चलेंगे। कुछ क्षेत्र हैं, जिन्हें विशिष्ट मामलों की सूची में रखा जा सकता है। संसाधनों को एक संघ या एक साथ रखकर मौद्रिक लाभ प्राप्त कर सकते हैं या पत्नी के वेतन में वृद्धि हो सकती है, जिसके कारण आपके ऊपर दबाव कम रहेगा।

बृहस्पति के मीन राशि में गोचर का कन्या राशि पर प्रभाव/ Impact of Jupiter Transit in Pisces on Virgo

आपको बृहस्पति के गोचर/Jupiter transit के दौरान अलग अलग लाभ की प्राप्ति होगी, जैसे विवाह, बिजनेस में सफलता, कस्टम-आधारित कानूनी मामले, लेन-देन, और एग्रीमेंट के संबंध में लाभ मिल सकता है।

इस वर्ष आप एक महत्वपूर्ण संबंध बनाने, उसे मजबूत करने और समृद्ध बनाने पर अपना ध्यान केंद्रित कर सकते हैं। इस अवधि में वर्तमान या मौजूदा संबंधों को बेहतर बनाने में सहायता मिल सकती है। आप प्रभावी रूप से अपना ध्यान मोल भाव पर केंद्रित कर सकते हैं और कानूनी मामलों में जीत हासिल कर सकते हैं।

लोगों से आपका संबंध आपको मौद्रिक लाभ प्रदान कर सकता है। जो लोग आपके आस पास रहेंगे, उन्हें आपके साथ जुड़ने से लाभ होगा और वह इस दौरान प्रसन्नता से परिपूर्ण महसूस करेंगे। हर चीज के प्रति खुले विचारों वाली मानसिकता बनेगी, लेकिन कुछ समय के लिए आपको कानूनी समस्या का सामना करना पड़ेगा। कुछ समय के पश्चात सब ठीक हो जाएगा। जहां जहां आपको किसी बात को लेकर परेशानी आएगी, बहुत जल्द ही आप उसका समाधान निकाल पाएंगे। सामाजिक संबंधों में स्वतंत्रता की आवश्यकता कदम दर कदम पर पड़ेगी और संभावना है कि आप इस दौरान स्वयं को सीमित या किसी चीज के संबंध में चिंतित महसूस कर सकते हैं।

बृहस्पति के मीन राशि में गोचर का तुला राशि पर प्रभाव/ Impact of Jupiter Transit in Pisces on Libra

दूसरों की तुलना में व्यक्तिगत और पेशेवर दोनों ही जीवन में सुधार होगा। दिन-प्रतिदिन के कार्यक्रम में भी सुधार देखने को मिल सकता है। इस गोचर के दौरान, आपके पास उत्कृष्ट कार्य या कुछ जरूरी सूची या सूचना को संभालने का कार्य मिलेगा, जिसका सुरक्षित हाथों में रखना बेहद जरूरी होगा। आपके आस-पास के लोगों को हर बात का ध्यान रहेगा।

लोग आपके काम करने के पैटर्न के प्रभावशाली उपलब्धि या मिले परिणाम की सराहना करेंगे। इस गोचर के दौरान कोई सहकर्मी या कार्यकर्ता आपकी मदद कर सकते हैं। आप प्रशासन के द्वारा किए गए कामों की सराहना करेंगे। आपका लक्ष्य अपने काम को उत्पादक रूप से पूरा करने का होगा और इसे समय पर पूर्ण करने से आपकी सराहना भी होगी। इसके अतिरिक्त, संभावना है कि आपको किसी और क्षेत्र का काम भी मिल सकता है। निस्संदेह यह अवधि आपके पेशेवर जीवन के लिए फायदेमंद साबित होगी। बहुत सारे काम होंगे जो आप अभी कर सकते हैं। निर्णय लेने की क्षमता में कमी के कारण आप अपने बारे में अत्यधिक आश्वस्त महसूस करेंगे। आप इस दौरान प्रसन्न रहेंगे, जिसके कारण आपको अलग अलग क्षेत्र में लाभ मिलेगा।

बृहस्पति के मीन राशि में गोचर का वृश्चिक राशि पर प्रभाव/ Impact of Jupiter Transit in Pisces on Scorpio

इस गोचर के दौरान आप कुछ अविश्वसनीय यादें बनाएंगे जो मस्ती, भावुकता, महत्वपूर्ण अवसरों और एक असाधारण समय के साथ भरी हुई होगी। किसी के आइडिया की सराहना करने, उसकी जमीनी स्तर पर जांच करने और उस आइडिया पर आपके काम करने की चपलता भी आपके अनुभव में शामिल होगी।

आप नए अवसरों और नए तरीकों को ढूंढने का प्रयास करेंगे। अपने अंदर सर्वश्रेष्ठ खोजने का यह एक असाधारण मौका है। इस दौरान आप नए व्यक्तियों से मिल सकते हैं, जो आपको कुछ नया करने के लिए प्रेरित करेंगे। सबसे अधिक संभावना है कि आप विभिन्न कल्पनाशील और विशेषज्ञ कार्यों से निपटने पर अपना ध्यान केंद्रित करेंगे। आपके आस पास के लोग भी कुछ नए या आश्चर्यजनक काम की शुरुआत कर सकते हैं। इस गोचर के दौरान, आप विभिन्न क्षेत्रों में शामिल हो सकते हैं। उदाहरण के लिए किसी को पुरस्कार देना या किसी लाभ के प्रति दूसरों को आश्वस्त करना।

यह समय आपको भावुक और हास्य पल जीने का मौका देगा। यही कारण होगा जिसकी वजह से आप अलग अलग व्यक्तियों के साथ एक अच्छा कनेक्शन स्थापित करने में सफलता हासिल करेंगे। आप अपने निर्णय लेने की क्षमता और खुले व्यवहार से बहुत संतुष्ट रहेंगे। इसके साथ ही आप विभिन्न सामाजिक प्रतिबद्धताओं का भी आनंद लेंगे। अविवाहित लोग ऐसे व्यक्ति से मिल सकते हैं, जो किसी भी रिश्ते में आपके साथ जुड़ सकते हैं।

इस प्रकार बृहस्पति गोचर/Jupiter transit के दौरान आप अधिक लाभ प्राप्त करने में सफल होंगे। खतरा है, इसलिए सावधानी बरतना आपके लिए बेहद ज़रूरी है। घमंड या अहंकार न करें। बच्चों के साथ संबंध बेहतर होंगे और गर्भावस्था की स्थिति भी उत्पन्न हो सकती है।

बृहस्पति के मीन राशि में गोचर का धनु राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Pisces on Sagittarius

घर, परिवार, संपत्ति, घरेलू(घरेलू जीवन) और विलासिता के मामलों में लाभ मिलने की संभावना है। अनुभवों में सुधार करने और उन्हें बढ़ाने के लिए अच्छा योग है। आपका यह विश्वास कि सब कुछ अच्छा है और सुरक्षित है, घरेलू जीवन या खुद के घर से ही विकसित होगा। पारिवारिक जीवन, परिवार और मानसिक वातावरण सहित आपकी जीवन शैली में वृद्धि होगी।

आपकी आंतरिक आवाज और अनुभव आपको मजबूत करेंगे। इसी प्रकार लोग आर्थिक लाभ के लिए वसीयत में कुछ फेरबदल भी कर सकते हैं। उदाहरण के तौर पर कुछ भी नया वह खरीद सकते हैं या बेच सकते हैं।

बृहस्पति के मीन राशि में गोचर का मकर राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Pisces on Capricorn.

अंतर्दृष्टि और योग्यता के विस्तार पर ध्यान केंद्रित करें। परिवार के सदस्यों और पड़ोसियों से भी सहायता मिल सकती है। आपके भावबोध विचार, सूचना और ऊर्जा आपको बेहतर महसूस कराएंगे। आप विभिन्न उलझनों का सामना कर सकते हैं। कुछ आंकड़े को देख कर आप अपनी बात व्यक्त कर सकते हैं या उसके पीछे की सच्चाई की जांच भी कर सकते हैं।

आप असाधारण उत्साह और सकारात्मक सोच के साथ अपने विचारों और आवश्यकताओं का संचार करेंगे। इसके साथ-साथ मकर राशि वाले लोगों को बहुत सारे कामों में फायदा हो सकता है और आप इस दौरान किसी एक विषय पर अध्ययन कर पाने और उसमें सुधार पर पाने में सक्षम होंगे।

गुरु के मीन राशि में गोचर का कुंभ राशि पर प्रभाव/ Impact of Jupiter Transit in Pisces on Aquarius

इस अवधि के दौरान, आप उस प्रशासन की सराहना करेंगे जो हर समय चौंकाने रहने वाले हैं या उसका हिस्सा भी बन सकते हैं। व्यक्तिगत और पेशेवर दोनों ही तरह से यह एक उत्पादक और फलदायी वर्ष साबित होगा। आपके पास खरीद के बहुत सारे स्रोत होंगे, जिससे लाभ होना निश्चित है।

जीवन के प्रति आपका जो रवैया है, वह जल्द ही व्यावहारिक और समझदार हो जाएगा। आप गुरु गोचर/ Jupiter transit के दौरान नई प्रतिभाओं और क्षमताओं को सशक्त बनाने पर ध्यान केंद्रित करेंगे। राजस्व और संपत्ति में भी आपकी वृद्धि होगी। आपके चरित्र की लोग सराहना करेंगे। इसी प्रकार आप स्वयं को आत्म-प्रतिबिंब की ओर थोड़ा और झुका देंगे, जिससे आपको सुरक्षा की भावना रखने में मदद मिलेगी।

मीन राशि में बृहस्पति के गोचर का मीन राशि पर प्रभाव/ Impact of Jupiter Transit in Pisces on Pisces

वर्तमान समय में मीन राशि में बृहस्पति के गोचर का मीन राशि पर सबसे ज्यादा प्रभाव पड़ता है। इस गोचर का परिणाम प्रभावशाली होगा। आपको अपने ऊर्जा स्तर को बढ़ाने पर ध्यान देना चाहिए और इस दौरान आप अधिक आनंदित और सारगर्भित महसूस करेंगे।

इस दौरान आपका असाधारण, उत्साह और व्यापक स्वभाव प्रकट हो सकता है। इसलिए, आपको अलग-अलग सकारात्मक परिणाम मिलेंगे, जो जीवन जीने का एक रोमांटिक उदाहरण दे सकता। इस गोचर के दौरान आप बहुत खुशमिजाज और संतुष्ट रहेंगे, जिसका सीधा लाभ आपको मिलेगा।

आप अपने जीवन में हर काम को जल्द से जल्द पूरा करने पर जोर लगाएंगे। बीता हुआ समय आपके लिए चिंता का विषय नहीं होगा। बार बार घटने वाली घटनाएं आपको अन्य समस्याओं से उबरने में मदद करेंगी। लेकिन आप अपने अलग और विशिष्ट दृष्टिकोण के कारण जाने जाएंगे। इस अवधि के दौरान आपकी आकांक्षाओं और रुचियों में वृद्धि होगी।

बृहस्पति के अन्य राशियों में गोचर के प्रभाव के बारे में पढ़ने के लिए बृहस्पति के सभी गोचर पर क्लिक करें। आप यह भी पढ़ सकते हैं कि करियर के फैसलों, शादी की समस्याओं, बिजनेस में सफलता का ना मिलना और स्वास्थ्य समस्याओं पर ज्योतिष आपकी मदद कैसे करता है।

मेष राशि में बृहस्पति गोचर का विभिन्न राशियों पर प्रभाव / Jupiter transit in Aries
22 Apr,2023
से
30 Apr,2024

अग्नि तत्व राशि मेष का अन्य शक्तिशाली अग्नि तत्व वाली राशि और बृहस्पति के साथ उनका मेल सशक्त मतो, विश्वासों में संगतता और स्पष्ट धारणाओं को प्रकट करता है।  इस विशेष और असाधारण गोचर का सामना कर रहे लोग, स्वयं के सर्वोत्तम प्रयासों द्वारा उचित अवसरों की प्राप्ति के लिए कठोर परिश्रम करते हैं। यह गोचर विशाल संदर्भों में, लंबी अवधि के लिए योजनाएं बनाने की अत्यधिक ऊर्जा और क्षमता को सुनिश्चित करता है, तथा क्षमतानुसार, जोखिमों का मूल्यांकन करके आत्मविश्वास से परिपूर्ण बनाता है। मेष राशि में बृहस्पति अत्यंत विशेष होने के कारण, अंततः सौभाग्य को आकर्षित करता है। इस गोचर से प्रभावित होने वाले  लोग, दूसरों को स्वतंत्र और मजबूत बनाने के लिए, प्रेरित और प्रोत्साहित कर सकते हैं जो कि एक कुशल और प्रेरक व्यक्तित्व का श्रेष्ठ उदाहरण हो सकता है।  सामान्य रूप से, यह गोचर उत्साहपूर्वक और कुशलता के साथ किए गए कार्यों द्वारा, बेहतर और उज्ज्वल भविष्य की दिशा में मदद करता है। नकारात्मक परिस्थितियों में भी, धैर्यपूर्वक सकारात्मक रूप से कार्यों को करते रहना चाहिए। 

मेष राशि में बृहस्पति गोचर का मेष राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Aries on Aries

इस गोचर से व्यक्तित्व में शीघ्र ही अविश्वसनीय सुधार और परिवर्तन होंगे। इन बदलावों से आत्मसम्मान और आत्मविश्वास में वृद्धि होने से व्यक्तित्व में निखार आएगा और उदारता, दया और जीवन के आशावादी दृष्टिकोण की ओर झुकाव रहेगा। यह गोचर  सकारात्मक विचारों में वृद्धि करके, उत्साह और आशावादिता के साथ व्यक्तित्व में सुधार लाएगा। गोचर के क्रमागत वृद्धि के दौरान, जीवन में शांति और आराम की प्राप्ति होगी। जीवन के कष्टों के प्रति नए और उत्साही दृष्टिकोण के द्वारा कुशल नेतृत्व का प्रतिनिधित्व कर सकते हैं। अतीत के अनुभवों के बारे में न सोचकर, उत्तम भविष्य के बारे में सोचना शुरू कर सकते हैं। व्यक्तित्व पर गंभीर प्रभाव डालने वाली अतीत की घटनाओं और वृतांतों में कमी करते हुए, जीवन में आने वाली चुनौतियों का बिना किसी दिखावटीपन और चिंताओं के, पूर्ण रूप से सामना करते हुए समाधान कर सकते हैं। जीवन के प्रति दृष्टिकोण में अविश्वसनीय रूप से बदलावों में वृद्धि होगी। व्यक्तित्व का प्रथम प्रभाव सभी को आकर्षित करने के कारण प्रभावशाली हो सकता है। इस अवधि के दौरान, शिक्षा पर ध्यान केंद्रित करके, ज्ञान को समृद्ध करने के अवसरों का पता लगाना चाहिए। दुनिया भर की यात्राओं द्वारा प्रकृति के चमत्कारों की खोज कर सकते हैं। इसके साथ ही, सर्वाधिक प्रासंगिक और महत्वपूर्ण कार्यों में से एक व्यवसाय के विस्तार/Business expansion पर ध्यान केंद्रित किया जा सकता है। इस गोचर के द्वारा जीवन के सपनों को पूर्ण करने में मदद मिल सकती है।

मेष राशि में बृहस्पति गोचर का वृष राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Aries on Taurus 

इस अवधि के दौरान, लंबे समय से बनी रहने वाली हानिकारक और आत्मघाती प्रवृत्तियों से  छुटकारा पाने के साथ ही, विभिन्न प्रकार की गहन असुरक्षाओं और आशंकाओं से भी बचा जा सकता है। साथ ही, मन में दबी हुई विभिन्न असुरक्षाओं और भय से भी बचा जा सकता है, तथा डरावने और भय का अनुभव करने वाले  अपराध-बोध से दूर होने के अवसरों का भी आनंद प्राप्त कर सकते हैं। अवचेतन मन के साथ एक दृढ़ मेल  स्थापित करने से, व्यक्तित्व/Personality में गहराई तक जड़ें जमा चुके सुखों और भय का पता लगाने में मदद मिलेगी।  इस चक्र के दौरान, निश्चित रूप से जरूरतमंद लोगों की मदद, स्वेच्छा से दान और सहयोग करने में आनंद प्राप्त होने से, अत्यधिक प्रसन्नता और संतुष्टि का अनुभव कर पाएंगे। जितनी दूसरों की मदद करेंगे, उतना ही प्रसन्नता और संतुष्टि का आप अनुभव करेंगे और प्रत्येक दान कार्य से आत्मविश्वास में वृद्धि होने के कारण, स्वयं की आंतरिक श्रेष्ठता प्राप्त कर सकते हैं। दूसरों की सेवा और मदद करने से आनंद, सुख, स्थिरता और शांति के साथ हीदेखे गए सपने समृद्ध होने के कारण आनंद और सुखों की प्राप्ति होगी। फिर से योग और ध्यान में समय  व्यतीत करने पर तन-मन और आत्मा को जीवंत कर देगा तथा इस एकांत और चिंतन द्वारा अत्यधिक आनंद और शांति की प्राप्ति अवश्य होगी।

मेष राशि में बृहस्पति गोचर का मिथुन राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Aries on Gemini

यह गोचर कुछ ऐसे कार्यों को करने में मदद करेगा, जो आश्चर्यजनक रूप से उत्तम परिणामों को प्राप्त करने में मददगार हो सकते हैं। बड़े संगठनों का गठन, दीर्घकालिक लक्ष्यों और उद्देश्यों का निर्माण, विभिन्न संपर्कों और परिचितों के साथ क्लबों और संगठनों की स्थापना जैसे विभिन्न नेटवर्किंग गतिविधियों/Networking activities से स्वयं को जोड़ें रख सकते हैं, जिसके कारण मित्रों पर विश्वसनीयता और निर्भरता में भी वृद्धि हो सकती है, तथा कुछ नए मित्रों के साथ मजबूत संबंधों को विकसित करने का प्रयास कर सकते हैं। इस उचित समय पर, आसानी से लागू करने के लिए दीर्घकालिक लक्ष्यों/Long term goals को व्यापक, असाधारण और व्यावहारिक होना चाहिए। भविष्य के परिप्रेक्ष्य के लिए, बेहतर विचारों की खोजबीन करके पता लगाने में भी कुछ समय व्यतीत कर सकते हैं। सलाह या मार्गदर्शन द्वारा लक्ष्यों और उद्देश्यों को प्राप्त करने में मदद मिल सकती है। इस दौरान, किसी प्रतिष्ठित क्लब, प्रतिष्ठित समूहों या किसी समूह या संघ में शामिल होने के अवसर भी मिलेंगे।  सामान्य लक्ष्यों से संबंधित उचित व्यक्तियों के साथ संबंध बन सकते हैं, जो जीवन के प्रति अत्यधिक मनोरंजक और आशावादी हो सकता है। इस गोचर द्वारा न केवल आशाओं, सुखों और समृद्धि का आशीर्वाद मिलेगा, बल्कि व्यवसाय और करियर में भी सफलता प्राप्त होगी।

मेष राशि में बृहस्पति गोचर का कर्क राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Aries on Cancer

यह अवधि करियर में उन्नति, व्यवसाय में सफलता और  जीवन में अधिकतम प्राप्ति और अत्यधिक सफलता प्राप्त करने का एक सुनहरा अवसर हो सकती है।  बिजनेस से संबंधित विभिन्न स्थलों की यात्रा करने के कारण, नए और भिन्न लोगों से मिलकर, बिना किसी अव्यवस्था के अपने विचारों को व्यापक समूहों में आसानी से प्रसारित कर सकते हैं। सम्मानजनक स्थिति प्राप्त होने के कारण, संबंधों की मजबूती में सक्षम हो सकती है। कोई प्रतिष्ठित पुरस्कार, डिप्लोमा, पदोन्नति, नई नौकरी या शादी करने का अवसर मिलने की भी संभावना है, तथा प्रतिष्ठित व्यक्तियों द्वारा मदद और मार्गदर्शन की प्राप्ति हो सकती है। व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन के उच्च स्तर पर पहुंचने के कारणअपने कार्यों से अत्यधिक आनंद और संतुष्टि की प्राप्ति होगी तथा व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन-शैली में श्रेष्ठ अवसरों, जिम्मेदारियों और स्वतंत्रता का आनंद लेने के अवसर मिल सकते है।

मेष राशि में बृहस्पति गोचर का सिंह राशि पर प्रभाव/ Effects of Jupiter in Aries on Leo 

इस अवधि के दौरान, विभिन्न खूबसूरत स्थलों की यात्रा करने के भरपूर अवसर मिलने के साथ ही, विदेश में अध्ययन करने और महान व्यक्तियों से मिलने के भी अवसर प्राप्त हो सकते हैं। इस समय के दौरानबौद्धिक जिज्ञासाओं में वृद्धि होने के कारण, शैक्षणिक गतिविधियों द्वारा स्वयं को श्रेष्ठ साबित करने का अनोखा अवसर प्राप्त होंगे तथा बड़े व्यापारिक सौदों से अत्यधिक लाभ प्राप्त करने के अवसरों की प्राप्ति होगी और कानूनी समस्याओं के परिणाम अनुकूल होंगे।  कानूनी सलाह लेने पर बेहतर परिणाम प्राप्त हो सकते हैं। कुछ व्यक्तियों के प्रेम प्रसंग शुरू हो सकते हैं। सांस्कृतिक पृष्ठभूमि वाले व्यक्तियों से मिलने के कारण, रचनात्मक कार्य प्रकाशित या प्रचारित हो सकता है।

मेष राशि में बृहस्पति गोचर का कन्या राशि पर प्रभाव / Effect of Jupiter Transit in Aries on Virgo 

आठवें भाव के शासित क्षेत्रों- संयुक्त पूंजी, संसाधनों की साझेदारी, ऋणों, करों, जांचों, अनुसंधानों, अंतरंगताओ, उपचारों, व्यक्तिगत परिवर्तनों, लैंगिकता और मनोवैज्ञानिक मामलों से संबंधित प्रत्येक मामलों में महत्वपूर्ण लाभों का अनुभव किया जा सकता है। समय के इस बिंदु पर, जीवन के प्रत्येक पहलू से संबंधित आपकी समझ और ज्ञान में वृद्धि आपको बेहतर जीवन की ओर ले जा सकती है। इसके साथ ही, संसाधनों का प्रबंधन करने में सक्षम होने के कारण पर्याप्त धन की प्राप्ति होगी और इसके लिए बस एक बेहतर शुरुआत और मजबूत और प्रभावी वित्तीय रणनीति और योजना बनाने की आवश्यकता होगी। इस समय के दौरान आप उन लोगों की सहायता कर सकते हैं जिनको आपकी सहायता की आवश्यकता है। जीवन के प्रति सोच में थोड़ा सा बदलाव करने पर आशंकाओं को दूर करने में सफल हो सकते हैं और कुछ समय गहन अध्ययन या शोध में भी व्यतीत कर सकते हैं। गोचर के कारण टैक्स रिफंडविरासत के लाभों जैसे कई अन्य कारकों पर भी ध्यान केंद्रित कर सकते हैं। साथी की आय में वृद्धि हो सकती है, और प्रेमी के साथ अंतरंग होने के कई अवसरों की प्राप्ति होगी। 

मेष राशि में बृहस्पति गोचर का तुला राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Aries on Libra 

इस समय के दौरान, विवाह या किसी गंभीर संबंधों, बिजनेस साझेदारी/Business partnership, प्रथागत साथी के साथ भागीदारी हो सकती है। किसी संविदात्मक समझौते को सुलझाकर, उस पर हस्ताक्षर करने के लिए सहमत हो सकते हैं। यह समय निश्चित रूप से, व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन में एक विश्वसनीय, भरोसेमंद और सहयोगी साथी को ढूंढकर, एक नया संबंध स्थापित करने के लिए एकदम उचित है। कानूनी मामलों या आधिकारिक मामलों को सुलझाकर, शीघ्र ही श्रेष्ठ सौदों को करके पर्याप्त सफलता प्राप्त करेंगे। भागीदारों की मदद से, अत्यधिक वित्तीय लाभ प्राप्त कर सकते हैं तथा बाजार में एक मजबूत और शक्तिशाली छवि विकसित कर पाएंगे और साथी के साथ संबंधों में मधुरता का आनंद प्राप्त करेंगे। इस समय के दौरान, कानूनी मामलों को सुलझाना चुनौतीपूर्ण होगा लेकिन नामुमकिन नहीं।

मेष राशि में बृहस्पति गोचर का वृश्चिक राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Aries on Scorpio 

दैनिक जीवन में स्वास्थ्य संबंधी अनेक लाभों की प्राप्ति होगी। यह गोचर, किसी भी जॉब में आगे बढ़ने के लिए आवश्यक विवरणों का अध्ययन और बेहतर निरीक्षण करने में मदद कर सकता है और  कौशल और प्रतिभाओं के बारे में अधिक जागरूक करता है। सहकर्मियों और कर्मचारियों की मदद से लाभ की प्राप्ति होगी। अत्यधिक कार्य संतुष्टि प्राप्त होने के  साथ ही, कई भिन्न और नए अवसर भी मिल सकते हैं तथा कार्यों के वातावरण, पद्धति और काम करने के तरीके में निश्चित रूप से सुधार होगा। एक कर्मचारी के रूप में, समय के अनुकूल होने के कारण, हर कोई पारिश्रमिक पर रखना चाहेगा। अपने कार्यों पर गर्व करके, इस गोचर का पूर्ण रूप से आनंद लेना उचित रहेगा।  

मेष राशि में बृहस्पति गोचर का धनु राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Aries on Sagittarius 

आपको मौज-मस्ती, रोमांस और मनोरंजन गतिविधियों को करने का समान समय मिलेगा। आपका स्वभाव आपको तीव्रता, रचनात्मकता और उत्कृष्ट अवसरों की खोज की ओर ले जा सकती है, जिससे मनोरंजन  के कई अन्य तरीकों को ढूंढकर पूरे दिन उत्साहित और जोशीले बने रह सकते हैं। नए मित्रों द्वारा  कई रचनात्मक परियोजनाओं से परिचित होने के साथ ही, वह आपके बहिर्मुखी स्वभाव को प्रकट करा सकते हैं। प्रेम के देवता कामदेव की कृपा से प्रेम संबंधों की शुरुआत हो सकती है तथा कई सामाजिक कार्यक्रमों और समारोहों में भाग लेने के अवसर भी प्राप्त हो सकते हैं। शेयर बाजार में निवेश या किसी आकस्मिक संबंध का विकसित होना सामान्य बातें होने के कारण, दोनों ही मामलों में, लाभ का आनंद प्राप्त करेंगे।

मेष राशि में बृहस्पति गोचर का मकर राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Aries on Capricorn 

इस अवधि के दौरान, समय बहुत अच्छा बीतने वाला है, तथा जीवन में आश्चर्यजनक परिवर्तनों के साक्षी बनेंगे। परिवारिक व्यक्तिगत जीवन और व्यावसायिक जीवन अत्यधिक संतोषजनक और खुशहाल रहने के कारणपारिवारिक संबंधों का आनंद लेने के साथ ही मित्रों का नया समूह भी बना सकते हैं तथा घरेलू जीवन सुखदसकुशल और सुरक्षित रहेगा। मानसिक शांति, प्रेम, दायित्व और समृद्धि की नींव स्थापित करके जीवन में सुधार करना ही मुख्य केंद्र-बिंदु रहने वाला है। इसके साथ ही, आंतरिक दुनिया को समझकर शांति और धैर्य का पता लगाने के महत्वपूर्ण अवसर मिलेंगे। अचल संपत्ति/ Immovable property में निवेश करने पर अत्यधिक लाभ की प्राप्ति होगी, जो आर्थिक रूप से स्वावलंबी बनाकर  आत्मसम्मान और आत्मविश्वास में वृद्धि कराएगा। घर की संरचना और डिजाइन के नवीनीकरण और सुधार में भी निवेश कर सकते हैं तथा किसी सुंदर, विशाल और आकर्षक नए स्थान पर जाने के अवसर भी मिल सकते हैं। कुछ व्यक्तियों को परिवार में किसी नए सदस्य का स्वागत या खरीद-फरोख्त करने के अवसर मिल सकते हैं।

मेष राशि में बृहस्पति गोचर का कुंभ राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter in Aries on Aquarius 

इस अवधि के दौरान, ज्ञान में वृद्धि और कौशल को समृद्ध करने में समय व्यतीत करेंगे, जिसके कारण आप आनंदित अनुभव कर सकते हैं।  इस दौरान, पुराने पड़ोसियों, मित्रों और पारिवारिक सदस्यों से मदद मिल सकती है तथा प्रियजनों के साथ विचारों के प्रचार करने के अवसर मिलने पर उनका स्पष्ट रूप से समर्थन प्राप्त होगा। स्वयं के द्वारा किए गए कार्यों के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण विकसित होने के कारण प्रत्येक चीज के प्रति विचार और ज्ञान को व्यक्त करने के अवसर प्राप्त हो सकते हैं। ज्ञान की दिशा में मार्गदर्शन करने वाली सही जानकारियां प्रदान करके सभी को नए और नवीन विचारों को समझा या सिखा सकते हैं। उच्च-स्तर के अध्ययन और कई अन्य विभिन्न यात्राओं के अवसर भी प्राप्त हो सकते हैं। 

मेष राशि में बृहस्पति गोचर का मीन राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter in Aries on Pisces 

इस अवधि के दौरान, अधिक उत्साही और आत्मविश्वासी महसूस कर सकते हैं। अस्तित्व में रहने, कमाने और विनिमय की क्षमता उच्च स्तर तक बढ़ जाएगी। यथार्थवादी और व्यावहारिक बने रहने पर, अधिक आमदनी प्राप्त करने में सक्षम हो सकते हैं। बृहस्पति गोचर/ Jupiter transit के दौरान, अपने पुरानी विशेषताओं, प्रतिभाओं और कुशलताओं के साथ ही कुछ नए कौशल भी विकसित कर सकते हैं। आमदनी में वृद्धि होने से आर्थिक स्थिति में भी सुधार होता जाएगा तथा सुरक्षित, संतुष्ट और प्रसन्न अनुभव करने के लिए फिजूल-खर्च कर सकते हैं। इस दौरान, पिछले कई समस्याएं सुलझ जाएंगी। इसके अलावा, बजट बनाकर  संसाधनों का प्रबंधन करके कुछ धन की बचत भी कर सकते हैं।

अन्य राशियों में बृहस्पति के समस्त गोचरों के प्रभावों के बारे में पढ़ने के लिए 'बृहस्पति के सभी गोचर' पर क्लिक करें।

आप यह भी पढ़ सकते हैं कि ज्योतिष करियर संबंधित निर्णयों, विवाह की समस्याओं, व्यवसाय की विफलता और स्वास्थ्य संबंधी मुद्दों पर किस प्रकार आपकी सहायता करता है।

बृहस्पति का वृषभ राशि में गोचर और अन्य राशियों पर प्रभाव
01 May,2024
से
13 May,2025

एक लम्बे समय तक मेष राशि में रहने के पश्चात गुरु ग्रह अब वृष राशि में गोचरस्थ होंगे. गुरु का गोचर वृष राशि में होने से कुछ महत्वपूर्ण बदलावों को देखा जा सकता है. यह बदलाव व्यक्तिगत रुप से, राजनीतिक रुप से अथवा भौगोलिक परिस्थितियों के रुप में भी दिखाई देगा. गुरु का राशि परिवर्तन एक विशेष समय स्थिति होती है जिसका असर काफी गहरे अर्थों में दिखाई देता है. 

वृष राशि में गुरु प्रवेश 

वृष राशि शुक्र के स्वामित्व की राशि है. ज्योतिष शास्त्र में शुक्र ग्रह को दैत्यों के गुरु शुक्राचार्य की उपाधि प्राप्त है वहीं गुरु अर्थात बृहस्पति को देवताओं के गुरु की उपाधि प्राप्त है. ऎसे में एक गुरु का दूसरे गुरु के अधिकार क्षेत्र में जाना काफी जटिलताओं वाला तो होगा ही साथ ही ज्ञान के संदर्भ में यह विशेष समय होगा जब अनुसंधान एवं विज्ञान से संबंधित कुछ नए आयाम भी दिखाई देंगे. 

बृहस्पति तथा शुक्र दोनों ही शुभ ग्रहों की श्रेणी में आते हैं तथा दोनों को ही उच्च पद प्राप्त है. गुरु को ज्ञान सौभाग्य संतान विवाह सुख से जोड़ा जाता है वहीं शुक्र को भौतिक सुख संपदा, ऎश्वर्य, विलास, रोमांस से संबंधित ग्रह माना गया है. यह दोनों ग्रह ही जीवन में जातक को सौभाग्य एवं आनंद सुख की प्राप्ति हेतु मुख्य कारक ग्रह भी माने गए हैं. बृहस्पति की उच्च महत्वाकांक्षा को वृषभ राशि में स्थायित्व प्राप्त होता है. यहां धैर्य के साथ आगे बढ़ने की प्रेरणा भी मिलती है अगर धैर्य के साथ निर्णय को लिया जाए तो निसंदेह यह स्थिति कई बेहतर परिणामों के रुप में भी प्राप्त होती है. 

बृहस्पति का वृषभ राशि में गोचर का मेष राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Taurus on Aries

मेष राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर दूसरे भाव में होगा. गोचर में जब भी बृहस्पति जन्म राशि से दूसरे भाव में भ्रमण करता है तो इसे एक शुभस्थ स्थिति माना जाता है. पराशर होरा शास्त्र इत्यादि के अनुसार दूसरे भाव का गुरु व्यक्ति के लिए सौभाग्य के द्वारा खोलने जैसा कार्य करता है. इस स्थान पर व्यक्ति के अनेक प्रकार के कार्य शुभ रुप से फलित होते हैं. यहां पर गुरु की स्थिति सुखद एवं प्रभावशाली गुण प्रदान करने वाली मानी गई है. गुरु के इस गोचर के समय काल में जातक को अपने कार्य क्षेत्र में आगे बढ़ने के अवसर मिलते हैं. लम्बे समय से चली आ रही चिंताओं से मुक्ति प्राप्त होती है. कोई नया काम अथवा कारोबार शुरू होने की संभावनाएं भी बढ़ जाती हैं. गुरु के गोचर का ये समय आर्थिक दृष्टि से सकारात्मक परिणाम दिलाने वाला होता है. धन लाभ किसी न किसी रुप से प्राप्त होता है. आय के स्रोत विकसित होते हैं कुटुम्ब की ओर से सहयोग की प्राप्ति भी इस समय पर होती है. इस समय के दौरान पूर्व में किए गए निवेश अब कुछ लाभ दिलाने वाले बनते हैं. कार्य की स्थिति में चली आ रही उठा-पटक को भी कुछ स्थिरता प्राप्त होती है. घर प्राप्ति, संतान सुख एवं भौतिक वस्तुओं की प्राप्ति भी इस समय पर हो सकती है. कुछ मामलों में यह समय भावनात्मक रुप से उथल-पुथल वाला हो सकता है. 

बृहस्पति का वृषभ राशि में गोचर का वृष राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Taurus onTaurus

वृष राशि के लिए बृहस्पति का गोचर लग्न भाव पर अर्थात राशि पर ही होगा. ऐसे में गोचर का असर आपके स्वभाव, व्यवहार, वेशभूषा तथा व्यक्तित्व पर गहरे रुप से देखने को मिल सकता है. गुरु का गोचर जन्म राशि पर होने से इच्छाओं में वृद्धि, अभिमान की उत्पत्ति, जिद का आगमन,ज्ञान का विस्तार, विचारधारा में होने वाले बदलाव इत्यादि बातें काफी गहरे तक असर डालने वाली होती हैं. इस गोचर के समय पर यात्राओं का योग बनता है, परिवार में जिम्मेदारियों तथा विचार विमर्श से जुड़ी बातें आप को भी प्रभावित करने वाली होती है. दूसरों पर गहरा असर डालने में अभिव्यक्ति का बेहतर प्रदर्शन भी दिखाई देता है. इस समय के दौरान बृहस्पति के गोचर का असर संबंधों पर भी पड़ता है विशेष रुप से वैवाहिक संबंधों एवं साझेदारी से जुड़े मसले भी प्रभावित हुए बिना नहीं रह पाते हैं. विवाह से जुड़े मांगलिक कार्य भी संपन्न हो सकते हैं. कोई नया कार्य शुरू किया जा सकता है. साजेदारी से जुड़े काम की नींव भी इस समय पर डाली जा सकती है.  पारिवारिक जीवन में कर्तव्यों को बोझ कुछ अधिक रह सकता है. इस गोचर के समय पर क्रोध एवं अभिमान की स्थिति भी स्वभाव में धीरे धीरे अपनी जगह बना सकती है ऐसे में इस स्थिति से बचना उचित होता है. स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से ये समय शरीर में वसा की अधिकता को बढ़ा सकता है अथवा रक्तचाप से संबंधित कुछ समस्याएं हो सकती है, किंतु उचित देखभाल एवं संयमित दिनचर्या द्वारा इन परेशानियों से बचाव भी संभव होता है. 

बृहस्पति का वृषभ राशि में गोचर का मिथुन राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Taurus on Gemini

मिथुन राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर द्वादश भाव पर होगा. बारहवें भाव में गोचर का फल काफी मिले जुले असर को दर्शाता है. बारहवां घर हर प्रकार के व्यय का घर होता है, इसके साथ ही विदेशी लाभ, मोक्ष एवं हानि भी इसी घर से देखे जाती है. गुरु क ऐस स्थान पर आकर भ्रमण करना काफी गहरे असर डालने वाला हो सकता है. विशेष रुप से यह आर्थिक स्थिति को प्रभावित कर सकता है. कार्य क्षेत्र चाहे कोई भी हो उसमें चुनौतियों एवं बाधाओं का सामना अधिक करना पड़ सकता है. इस गोचर के दौरान आपको इस दौरान लम्बी दूरी की यात्राओं का समय भी दिखाई देता है, यह मुख्य रुप से विदेश गमन की स्थिति या विदेश द्वारा होने वाले लाभ के सकारात्मक संकेत भी देता है. इस समय पर अपव्यय की स्थिति किसी न किसी रुप से देखने को मिल ही जाती है. धन का संचय करना कठिन रहता है, इसलिए ये समय वित्तीय मामलों को संभल कर करने की सलाह दी जाती है. कोई बड़ा निवेश या जोखिम भरा निवेश करने से बचना चाहिए. स्वास्थ्य के लिहाज से भी ध्यान देना आवश्यक होता है. लापरवाही के चलते हेल्थ पर असर पड़ सकता है. नौकरी हो या व्यवसाय आरोप-प्रत्यारों का दौर भी झेलना पड़ सकता है. शत्रुओं का सामना करना पड़ सकता है. जीवन साथी अथवा अन्य संबंधों में अधिक सजग रहने की आवश्यकता होती है अन्यथा छोटी छोटी बातें गलतियों के कारण बड़ी बन सकती हैं. 

बृहस्पति का वृषभ राशि में गोचर का कर्क राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Taurus on cancer

कर्क राशि के जातकों के लिए गुरु का गोचर एकादश भाव स्थान पर होगा. बृहस्पति का यह गोचर अनुकूल दिखाई देता है. इस समय लाभ स्थान पर गुरु का होना कुछ नए बदलाव एवं नई संभावनाओं की तलाश को भी दर्शाता है. इस गोचर के दौरान, मित्रता का सुख प्राप्त होगा, नए संबंधों का सूत्रपात होता दिखाई दे सकता है. शिक्षा के क्षेत्र में परिणाम अनुकूल रह सकते हैं तथा उच्च शिक्षा प्राप्ति के योग भी इस समय बनते दिखाई देंगे. प्रेम संबंध प्रगाढ़ता को पाएंगे. प्रतियोगिताओं में आगे बढ़ने के बेहतर अवसर भी इस समय प्राप्त हो सकते हैं. इस समय बड़े भाई बंधुओं का सहयोग भी प्राप्त हो सकता है किंतु साथ ही थोड़ा अधिक अनुशासन देखने को भी मिल सकता है.  आलस्य का प्रभाव दिखाई दे सकता है जिसके कारण कार्यों में विलंब की स्थितियां भी सामने होंगे.  महत्वाकांक्षाओं को पूरा करने हेतु प्रयास तो होंगे जो सकारात्मक रुप से कुछ असर देने वाले हो सकते हैं. इस समय नए कार्यस्थल से जुड़ने का अवसर मिलेगा. व्यवसाय के क्षेत्र में बदलाव लाभ देने वाले होंगे. कुछ सामाजिक गतिविधियां मान सम्मान प्राप्ति में भी सहायक हो सकती है. पदोन्नति के अवसर मिल सकते हैं. इस समय पर संतान से संबंधित विषय भी जीवन पर असर डाल सकते हैं. गोचर की यह स्थिति कुल मिलाकर अनुकूल फलों को दिलाने में सहायक बनती है. 

बृहस्पति का वृषभ राशि में गोचर का सिंह राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Taurus on Leo

सिंह राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर दशम स्थान अर्थात कर्म स्थान के घर होगा. बृहस्पति का यह गोचर कर्म के क्षेत्र में आपकी स्थिति को मजबूती देने का कार्य कर सकता है. इस स्थान पर बृहस्पति का गोचर आपको आगे बढ़ने तथा प्रतिस्पर्धाओं में कुछ सफलता दिलाने में सहायक भी होगा. इस गोचर की अवधि सकारात्मक रुप से जीवन पर असर डालने वाली होगी. अपने कार्यों में एक बदलाव अब दिखाई देगा. यदि पहले से ही स्थितियां कार्य को बदलने का कारण बन रही थीं तो अब वह पूर्ण रुप से अपना असर दिखा सकती हैं. नौकरी में बदलाव कर सकते हैं, आय में वृद्धि अथवा नए काम से जुड़ने का मौका सामने होगा. पद प्राप्ति के योग भी इस समय पर फलित होते दिखाई दे सकते हैं. इस समय के दौरान बृहस्पति आपके करियर, प्रसिद्धि, वरिष्ठ अधिकारियों के साथ संबंधों को प्रमुख रुप से प्रभावित करने वाला होगा. दशम भाव में स्थित गोचर आपके चतुर्थ पर दृष्टि भी डालेगा तो अब बदलाव की स्थिति आपके अपने बाहरी एवं आंतरिक दोनों ही रूपों पर असर डालने वाली होगी. बृहस्पति गोचर के दौरान व्यावसायिक रूप से कुछ अशांति अथवा विवाद के संकेत भी दिखाई दे सकते हैं. इस समय काम में स्थान परिवर्तन की भी संभावना बनी रहने वाली होंगी. बृहस्पति का यह गोचर आपके लिए बदलाव तो अवश्य लाएगा. 

बृहस्पति का वृषभ राशि में गोचर का कन्या राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Taurus on Virgo

कन्या राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर नवम स्थान अर्थात भाग्य के घर होगा. बृहस्पति का यह गोचर भाग्यदायक स्थिति देने में भी सहायक होगा. इस गोचर की अवधि सकारात्मक रुप से जीवन पर असर डालने वाली होगी. बृहस्पति का गोचर भाग्य एवं आध्यात्मिक चेतना को भी जागृत करने वाला होता है. गोचर के दौरान भाग्य का सहयोग बेहतर रुप से मिलेगा. कुछ रुके हुए कार्य भी आप आगे बढ़ सकते हैं. इस समय पर जीवन में वरिष्ठ अधिकारियों का सहयोग भी मिलेगा. गुरुजनों के सहयोग से ज्ञान में अच्छा विस्तार होगा. परिवार के साथ सहयोग एवं प्रेम की प्राप्ति का समय भी होगा. पिता का सहयोग मिलेगा और आशीर्वाद भी प्राप्त होगा. मान सम्मान प्राप्ति का समय भी इस समय मिलेगा. उच्च शिक्षा प्राप्ति के योग भी मिलेंगे. सफलता के नए मार्ग भी अब दिखाई देंगे. इच्छाओं को पूरा करने में परिश्रम एवं साहस भी काम आएगा. लक्ष्यों को पूरा कर पाने में सफलता मिलेगी.इस समय के दौरान धार्मिक गतिविधियों में शामिल होंगे. विवाह एवं मांगलिक कार्यों से जुड़ सकते हैं. मानसिक क्षितिज की खोज करने और भीतर से परिपक्व होने का भी एक अद्भुत क्षण भी दिखाई देगा. नौकरी के क्षेत्र में पद प्राप्ति का समय दिखाई देगा. इस समय पर धार्मिक क्षेत्र की यात्राओं का समय भी बना रहने वाला है. रिश्तों का सुख प्राप्त कर पाएंगे. 

बृहस्पति का वृषभ राशि में गोचर का तुला राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Taurus on Libra 

तुला राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर अष्टम भाव में होगा. इस समय पर स्थिति काफी महत्वपूर्ण रहने वाली होगी. आठवें भाव में बृहस्पति का गोचर अचानक होने वाली स्थितियों को दर्शाने वाला होता है. इस समय पर विरासत का सुख भी प्राप्त हो सकता है. बृहस्पति के इस गोचर का प्रभाव तटस्थ रुप के फल देने वाला होगा. अब का समय पूर्व के समय में किए गए कार्यों का असर दिखाने वाला ही होगा. फैसलों को सोच समझ कर लेने का समय होगा. इस समय पर संभल कर काम करने का समय होगा. इच्छाओं की पूर्ति कर पाना मुश्किल होगा, ऐसे समय में जुनून काम आएगा. बृहस्पति का अष्टम भाव गोचर समय गुप्त विरोधियों से भी प्रभावित कर देने वाला हो सकता है. रिश्तों में धैर्य के साथ संभल कर काम करने की आवश्यकता होगी. प्रेम संबंधों, यौन इच्छाओं में अजीब सा आकर्षण भी दिखा सकता है. रिश्ते में विरोध एवं ईर्ष्या का भाव भी अपना असर दिखा सकता है. रिश्ते में ये समय कुछ विश्वासघात की स्थिति से भी प्रभावित कर सकता है. इस गोचर के दौरान पैतृक संपदा से जुड़े मसले भी असर डाल सकते हैं. उत्तराधिकार का लबह मिल सकता है. वैवाहिक संबंधों में तनाव उभर सकता है. इस अवधि के दौरान आध्यात्मिक गतिविधियों में शामिल होंगे तथा गूढ़ विद्याओं में रुझान भी दिखाई देगा. स्वास्थ्य की दृष्टि से विशेष ध्यान देने की आवश्यकता होगी. छोटी-मोटी स्वास्थ्य संबंधी बीमारियां आपको परेशान कर सकती हैं. इस समय पर बहुत जोखिम भरे कार्यों से बचने की आवश्यकता होगी. 

बृहस्पति का वृषभ राशि में गोचर का वृश्चिक राशि पर प्रभाव /Impact of Jupiter transit in Taurus on Scorpio

वृश्चिक राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर सातवें घर पर होगा. वृश्चिक राशि वालों के लिए बृहस्पति दांपत्य जीवन, साझेदारी से जुड़े मामलों को सीधे तौर पर प्रभावित करने वाला होगा. वृश्चिक राशि के लिए ये गोचर महत्वपूर्ण रहने वाला होगा. इस समय के दौरान वैवाहिक संबंधों का आरंभ दिखाई देगा. मानसिक रुप से कुछ सकारात्मक दृष्टिकोण भी विकसित होगा. सप्तम भाव में गोचर प्रसन्नता एवं नए रिश्तों से जुड़ने का समय देगा. जीवन सतही की ओर से सहयोग की प्राप्ति होगी. सामाजिक प्रतिष्ठा अच्छी रह सकती है. इस समय पर व्यवसाय के क्षेत्र में नए बदलाव बेहतर रुप से सहायक हो सकते हैं. साझेदारी से संबंधित कार्यों में शामिल होने का समय भी बनेगा. कार्यों में सफलता मिल सकती है, आर्थिक रूप से भी यह समय अनुकूल रह सकता है. जीवन के कुछ मामलों में स्थिरता को भी महसूस कर पाएंगे. निर्णय लेने की योग्यता भी अच्छी रह सकती है. नौकरी में बदलाव अथवा स्थानांतरण का अवसर भी इस समय पर प्राप्त हो सकता है. यात्राओं का समय भी बना रहने वाला होगा. विदेश से लाभ अथवा विदेश यात्रा का योग भी बन सकता है. इस समय धन खर्च भी अधिक रहेगा ऐसे में निवेश की स्थिति को सोच समझ कर करने की आवश्यकता होगी. 

बृहस्पति का वृषभ राशि में गोचर का धनु राशि पर प्रभाव /Impact of Jupiter transit in Taurus on Sagittarius

धनु राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर छठे घर पर होगा. बृहस्पति का यह गोचर थोड़ा सजग रहकर काम करने की ओर संकेत देता है. छठा भाव रोग, ऋण, शत्रु का स्थान माना जाता है. ऐसे में एक शुभ ग्रह की स्थिति यहां होने से सकारात्मक फलों की प्राप्ति हेतु अधिक संघर्ष करने की आवश्यकता होगी. कार्यक्षेत्र में लगातार प्रयास बनाए रखने की आवश्यकता होगी. प्रतिस्पर्धाओं का दौर कड़ा रह सकता है. इस समय के दौरान काम में बदलाव भी देखने को मिल सकता है. अचानक से होने वाले बदलाव मानसिक रुप से चिंता भी बढ़ा सकते हैं. कार्यक्षेत्र में सहकर्मियों का अधिक सहयोग न मिल पाए. व्यर्थ के विवाद भी इस समय पर उभरते दिखाई देंगे. तर्क एवं बहस का दौर बना रह सकता है. कार्यक्षेत्र में चीजें समस्या से प्रभावित रह सकती हैं. कोई नया काम शुरू करने की योजना इस समय अटकाव से भी प्रभावित हो सकती है. विरोधी परेशान करने का कोई अवसर आसानी से नहीं छोड़ने वाले होंगे. स्वास्थ्य के मामले में लापरवाही से इस समय बचने की आवश्यकता होगी. स्वास्थ्य समस्याएं आपको अस्पताल के चक्कर कटवाने पर भी मजबूर कर सकती हैं इसलिए सजग रहते हुए कार्य करना होगा. 

बृहस्पति का वृषभ राशि में गोचर का मकर राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Taurus on capricorn

मकर राशि के जातकों के लिए पंचम भाव में बृहस्पति का गोचर होगा. बृहस्पति का असर जीवन में संबंधों, शिक्षा, मित्रता को प्रभावित करने वाला होगा. इस गोचर के दौरान बृहस्पति के शुभ फल प्राप्त हो पाएंगे. प्रेम संबंधों की ओर आकर्षण विकसित होगा. अपने रिश्ते को मजबूत बनाने में भी सफलता मिल सकेगी. प्यार में लगाव तथा रोमांच की स्थिति बनी रहने वाली है. इस समय पर रिश्तों पर अधिक ध्यान केन्द्रित रह सकता है. छात्रों के लिए शिक्षा से जुड़े मामले सकारात्मक परिणाम देने वाले होंगे. शिक्षा के लिए घर से दूर जाकर भी आवेदन या प्रवेश प्राप्ति की परीक्षा में शामिल हो सकते हैं. बृहस्पति का गोचर आपके आर्थिक पक्ष के लिए भी मजबूती दिखाने वाला होगा. दोस्तों के साथ अच्छा प्रगाढ़ संबंध बनेगा और नए मित्रों को भी जीवन में शामिल होते देख पाएंगे. छात्र अपने लक्ष्यों को बेहतर और मजबूत रुप से प्राप्त कर पाने में सफल होंगे. गोचर का समय संतान सुख प्राप्ति के शुभ योग को भी दिखाने वाला होगा. दंपत्ति को जीवन में संतान सुख प्राप्त हो सकता है तथा माता-पिता बच्चों की ओर से कुछ अच्छे समाचार भी प्राप्त कर गर्व का अनुभव कर पाएंगे. 

बृहस्पति का वृषभ राशि में गोचर का कुंभ राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Taurus on Aquarius

कुंभ राशि वालों के लिए बृहस्पति का गोचर चतुर्थ भाव पर होगा. सुख स्थान पर गुरु का गोचर आपके जीवन में नई प्रेरणा एवं नई संभावनाओं को दिखाने वाला होगा. बृहस्पति आपके सुख, वाहन, माता एवं भौतिक वस्तुओं पर विशेष असर डाल सकता है. गुरु के  गोचर का असर आप अपने निर्णयों पर भी देख पाएंगे. वित्त मामलों में लाभ की स्थिति दिखाई देगी. कुछ नई वस्तुओं की खरीदारी का समय भी बन रहा है. इस समय वाहन, मकान, संपत्ति, भूमि इत्यादि से जुड़े मामलों पर कुछ धन व्यय हो सकता है तथा इसकी प्राप्ति के योग भी बनेंगे. खरीदारी से खर्चे भी बढ़ सकते हैं, इसलिए निवेश से जुड़े मामलों को सावधानी बरतने की आवश्यकता होगी. परिवार में कुछ मसलों पर विरोधाभास भी दिखाई देगा ऐसे में व्यर्थ के मसलों में शामिल होने से बचने की आवश्यकता होगी. माता की ओर से प्रेम एवं सुख की प्राप्ति होगी किंतु स्वास्थ्य संबंधी मामलों पर भी इस समय ध्यान देना होगा. हृदय, लीवर या छाती से संबंधित रोगों पर निगाह बनाए रखने की आवश्यकता होगी. 

बृहस्पति का वृषभ राशि में गोचर का मीन राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Taurus on pisces

मीन राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर तृतीय भाव पर होगा. तीसरा भाव आपके साहस, पराक्रम, उत्साह, भाई-बंधुओं एवं यात्राओं को दिखाता है ऎसे में गुरु का यहां गोचर करना इन मुख्य बातों पर असर डालने वाला होगा.बृहस्पति के इस गोचर के दौरान आप उत्साह पूर्वक अपने कार्यों में आगे बढ़ सकता है. परिश्रम द्वारा भाग्य का निर्माण कर पाने में आप सफल हो सकते हैं. मित्रों के साथ घूमने-फिरने का अवसर मिल सकता है. अभिरुचि से जुड़े कार्यों की ओर भी रुझान बढ़ सकता है. संचार, मार्केटिंग से संबंधित कामों में अच्छे प्यार में आपको सफलता मिल सकती है. भाई बहनों का सहयोग मिल सकता है तथा उनके साथ विवाद की स्थिति भी बनी रह सकती है. इस समय के दौरान राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर काम करने का बेहतर अवसर भी मिल सकता है. परिवार अथवा नौकरी के मामले में स्थानांतरण के मौके भी इस समय पर दिखाई दे सकते हैं. सामाजिक दायरे में विस्तार होता तथा मान सम्मान प्राप्ति के योग भी इस समय पर निर्मित होते दिखाई दे सकते हैं. 

मिथुन राशि में बृहस्पति का गोचर/ Jupiter transit in Gemini
05 Dec,2025
से
01 Jun,2026

प्रभावी रूप से मंगलकारी ग्रह बृहस्पति ज्ञान, संपत्ति, विनम्रता और आध्यात्मिकता जैसी विभिन्न विशेषताओं को पाने की क्षमता प्रदान करने का वादा करता है। कुंडली में जन्म संबंधी शक्तियों और प्रकृति के प्रभावशाली स्थिति में होने पर, यह विशेषताएं किसी व्यक्ति द्वारा जीवन में प्रयोग की जाने वाली अवधारणाओं में सहायक होती हैं। मिथुन राशि में बृहस्पति का यह प्रभावी परिवर्तन, विशेष रूप से तुला राशि वालों के लिए राहत का संकेत लाएगा। इसके साथ ही धनु और मिथुन लग्न वाले लोगों की लोकप्रिय रूप से 'लग्न चार्ट' के रूप में माने जाने वाली जन्मकुंडली में, हानिकारक भावों का परिवर्तन करने वाले बृहस्पति के इस गोचर की प्रकृति की कृपा के कारण, अद्भुत सुधारों के मिलने वाले से आनंदित हो सकते हैं। 

मिथुन राशि में बृहस्पति के गोचर का मेष राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Gemini on Aries

बृहस्पति गोचर का मिथुन राशि पर प्रभाव मेष राशि के तीसरे भाव पर होगा जिससे किसी नए बिजनेस को शुरू करने या स्थापित करने या  व्यावसायिक उद्यम के प्रगति करने में शक्तिशाली ग्रहों द्वारा सहयोग करने के कारण, व्यावसायिक गतिविधियों या उपक्रमों में लिप्त लोगों को फलदायक परिणामों की प्राप्ति होते हैं। 

इसके साथ ही, सातवें और ग्यारहवें भाव पर बृहस्पति का प्रभाव, इन लोगों को अधिक मजबूत व्यापारिक साझेदारी स्थापित करने और भारी लाभ प्राप्त करने में मदद करेगा। बृहस्पति के सहयोग से, इन व्यक्तियों को कोई उपयुक्त प्रेमी मिलने के साथ ही, विदेशों सहित विभिन्न स्थानों की यात्रा करने के अवसर मिल सकते हैं।

मेष राशि वाले व्यक्तियों के लिए, यह गोचर अविश्वसनीय रूप से सहयोगी और मददगार दिखाई पड़ता है। व्यावसायिक जीवन में अत्यधिक तल्लीन और व्यस्त रहने के साथ ही, आपको कई सामाजिक मामलों में दखल करने के अवसर भी मिल सकते हैं।

हालांकि, अत्यधिक खर्चों का सामना करने की आशंकाओं के चलते, आपको अपने बजट और संसाधनों पर गहरी नजर रखनी चाहिए। अन्यथा, यह आपके लिए भविष्य में गंभीर आर्थिक समस्याएं खड़ी कर सकते हैं। इसके साथ ही, जीवन में मिल रहे सुख और  संतुष्टि की ओर स्वयं को केंद्रित करने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। 

मिथुन राशि में बृहस्पति के गोचर का वृषभ राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Gemini on Taurus

मिथुन राशि में बृहस्पति के गोचर का वृषभ राशि के आठवें और ग्यारहवें भाव के स्वामी को प्रभावित करेगा। बृहस्पति का यह गोचर मिश्रित परिणाम लेकर आएगा। साथ ही, वृषभ राशि के दूसरे भाव की तरफ होने वाला यह गोचर, बिजनेस स्थापित करने और ज्यादा आर्थिक लाभ प्राप्त करने में मदद करेगा। हालांकि, इन व्यक्तियों को तनाव या पारिवारिक उलझनों जैसी कुछ  कठिनाइयों का सामना करने के साथ ही, वैवाहिक जीवन में विचार करने योग्य देरी और रुकावटों होने की संभावनाएं होने के कारण इन लोगों को परिवार, संयुक्त परिवार और वैवाहिक समस्याओं से संबंधित विभिन्न समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

पारिवारिक सदस्यों, विशेष रूप से माता-पिता और बच्चों का स्वास्थ्य एक गंभीर समस्या हो सकती है।

इसके अलावा, प्रमोशन या नौकरी परिवर्तन में देरी होने के कारण, एक लंबे समय तक प्रतीक्षा करनी पड़ सकती है। शिक्षा और शोध कार्यों से संबंधित लोगों के लिए यह गोचर आशावादी, विश्वास और सत्यता की ओर झुकाव को बढ़ाने और विकसित करने में सहायक होगा।

मिथुन राशि में बृहस्पति के गोचर का मिथुन राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Gemini on Gemini

मिथुन राशि में बृहस्पति के गोचर का मिथुन राशि के पहले भाव को प्रभावित करेगा। इसके परिणामस्वरूप गंभीर वैवाहिक समस्याओं का सामना कर रहे व्यक्तियों को अपनी समस्याओं का पूर्ण समाधान मिलने के साथ ही, संबंधों में कुछ नई सकारात्मकता पाएंगे। जीवनसाथी की तलाश कर रहे या विवाह के इच्छुक लोगों के लिए, यह वाकई एक अच्छा समय साबित हो सकता है।

इसके अलावा, व्यावसायिक जीवन में व्यापारिक साझेदारी भी आपको उच्च गुणवत्ता वाले परिणाम प्राप्त कराने वाली है, जो आखिरकार आपको जीवन में एक मजबूत स्थिति को बढ़ाने और स्थापित करने में मदद करेगा। शिक्षा और सामाजिकता से संबंधित मामलों में कुछ करने की रुचि रखने वाले लोगों के लिए, बृहस्पति का लग्न कुंडली के पहले भाव से गुजरना अत्यधिक सहायक और सकारात्मक रहेगा।

ग्रहों के सकारात्मक सहयोग से प्रतिष्ठा में भी वृद्धि होगी। बृहस्पति के मारक प्रभाव के कारण, आप कुछ मामलों में अतिसंवेदनशील हो सकते हैं, इसलिए सार्वजनिक रूप से, एक भी शब्द बोलने से पहले  सावधानी बरतना अच्छा होने के साथ ही, किसी भी प्रकार की ऐसी भाषा या शब्दों का प्रयोग न करें जिससे किसी के एहसासों या भावनाओं को ठेस पहुंचे। अतः बिना किसी अर्थ के, स्वयं को व्यक्त करने या कुछ भी कहने से पहले दो बार ज़रूर सोचना चाहिए।

मिथुन राशि में बृहस्पति के गोचर का कर्क राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Gemini on Cancer

कर्क लग्न में जन्म लेने वाले लोग, निश्चित रूप से अपने खर्चों में कुछ वृद्धि का अनुभव करेंगे लेकिन उन्हें चिंता नहीं करनी चाहिए क्योंकि धन लाभ के स्रोतों में भी वृद्धि होने वाली है। मिथुन राशि में बृहस्पति के गोचर का कर्क राशि के लिए यात्राओं के संबंध में अच्छा होने वाला है।

उच्च शिक्षा या बिजनेस का एक अलग स्तर पर विस्तार करने के लिए, विदेश जाने के अवसर मिल सकते हैं। जन्म कुंडली के बारहवें भाव से बृहस्पति का यह गोचर आध्यात्मिक या धार्मिक कार्यों के लिए लाभकारी होने के कारण, आप स्वयं को धर्मनिष्ठा के साथ विभिन्न समृद्धशाली आध्यात्मिक कार्यों के अलौकिक वातावरण में समाहित कर सकते हैं।

आपको, पारिवारिक और बिजनेस से संबंधित मामलों में गंभीर समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। पारिवारिक मामलों से संबंधित कुछ आकस्मिक कठिनाइयों का सामना करना सामान्य सी बात है, लेकिन आपको जल्दी ही इनका समाधान मिल जाएगा। इस दौरान माता-पिता, जीवनसाथी और बच्चों से संबंधित विभिन्न स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना आप कर सकते हैं।

यह गोचर, विवाह के इच्छुक लोगों के लिए अत्यंत लाभकारी और अनुकूल रहेगा तथा अविवाहित लोग, जीवनसाथी बनने योग्य प्रेमी से मिल सकते हैं।

कई बीमारियों से पीड़ित होने की संभावनाओं के चलते,  अपने परिवारिक सदस्यों का ध्यान रखने के साथ ही,   उन्हें प्रेमपूर्वक स्पेशल महसूस कराना चाहिए।

मिथुन राशि में बृहस्पति के गोचर का सिंह राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Gemini on Leo

सिंह लग्न वाले लोगों के लिए, लग्न कुंडली के ग्यारहवें भाव में बृहस्पति का मिथुन राशि में गोचर अत्यंत लाभकारी और सहयोगी रहने के कारण, इन व्यक्तियों को कई अन्य स्रोतों से भी अत्यधिक आर्थिक लाभ की प्राप्ति होगी। किसी भी प्रकार की सट्टेबाजी या व्यापारिक गतिविधियों में हाथ आजमाना भी, असाधारण रूप से सकारात्मक और फायदेमंद साबित होगा। शैक्षिक संभावनाओं के साथ ही, वेतन वृद्धि या प्रमोशन मिलने के कारण व्यावसायिक स्थिति में अत्यधिक वृद्धि होने की संभावनाएं हैं।

अपनी बेहतरी के लिए नई नौकरी की तलाश कर रहे व्यक्ति भी, बिना गड़बड़ियों किए भाग्यशाली साबित हो सकते हैं। बिजनेस स्थापित करने या किसी उद्यम में निवेश करने में भी ग्रहों का अपार सहयोग मिलेगा। यह अद्भुत और शक्तिशाली गोचर, आपको विवाह या जन्म  द्वारा परिवार में सम्मिलित रहने का आनंद भी देगा।  निश्चित रूप से, किसी भी प्रकार की अनैतिक गतिविधियों से उचित दूरी बनाए रखना ही आपकी एकमात्र जिम्मेदारी होनी चाहिए तथा किसी के बहकावे में न आकर, समस्याग्रस्त स्थितियों का अंत करना चाहिए। साथ ही, कुछ समय निकालकर लाभकारी और मदद करने वाली  नैतिक गतिविधियों में सम्मिलित  होना चाहिए।

मिथुन राशि में बृहस्पति के गोचर का कन्या राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Gemini on Virgo

कन्या लग्न वाले व्यक्तियों के लिए, यह गोचर लग्न कुंडली के दसवें भाव से शुरू होगा, जिसके घरेलू मामलों के स्थायीकरण के लिए अत्यधिक लाभकारी होने के कारण, आपकी आर्थिक स्थिति बेहतर होगी तथा घर खरीदने जैसी संपत्तियों में निवेश करेंगे या संपत्ति और जमीन से संबंधित लंबित समस्याओं को दूर करेंगे। आपको व्यावसायिक जीवन में अत्यधिक अनुकूलता दिखाई देगी। नया बिजनेस  स्थापित करने और किसी नए कार्य निवेश करने में रुचि रखने वाले व्यक्ति भी भाग्यशाली साबित हो सकते हैं। एक ऐसा अच्छा बिजनेस पार्टनर मिलेगा, जो कार्यों को बेहतर तरीके से आगे बढ़ाने में आपकी मदद करेगा और कार्यों को बेहतर तरीके से आगे बढ़ाकर आपको नए बिजनेस और रोचक उपक्रमों से जोड़ेगा।

आपके नाना की स्थिति और प्रतिष्ठा में भी महत्वपूर्ण रूप से बढ़ोतरी होने के साथ ही राजनीति, शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्रों में रुचि रखने वाले इस राशि के व्यक्ति भी सशक्त महसूस कर सकते हैं। वैवाहिक स्थिति में सुधार होने से, आप सुख और संतुष्टि का अनुभव करेंगे। विवाह के इच्छुक व्यक्ति, बृहस्पति के सहयोग से आगे बढ़ सकते हैं।

मिथुन राशि में बृहस्पति के गोचर का तुला राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Gemini on Libra

मिथुन राशि में बृहस्पति का गोचर, अंततः आठवें भाव के बृहस्पति के गोचर की तुलना में अधिक सहायक है। व्यावसायिक जीवन में अधिक असाधारण चीजें हासिल करने के कारण, पिछली समस्याओं का समाप्त होना निश्चित है।

बृहस्पति की इस अनुकूल स्थिति में हर तरह की बकाया राशि को चुकाने का अवसर मिलने के कारण, आर्थिक स्थिति को दृढ़ बनाए रखने के उचित प्रयास करेंगे और भारी लाभ प्राप्त करेंगे। अधिक निवेश, विदेश यात्राओं, जीवन और बिजनेस पार्टनरों के साथ संबंधों में वृद्धि होने से बेहिसाब सफलताओं की प्राप्ति होगी। इसके साथ ही व्यावसायिक और परिचितों के साथ संपर्कों में सुधार होगा, जिससे अपने व्यावसायिक और निजी दोनों जीवन को समृद्धशाली बनाने में मदद मिलेगी।

मित्रों और परिवार से संबंधित लंबे समय से चले आ रहे  तनाव भी, निश्चित रूप से अब समाप्त हो जाएंगे। पिता का स्वास्थ्य प्रभावित होने की संभावनाओं के चलते,  उनका ध्यान रखना चाहिए। यहां तक की, स्वास्थ्य के भी प्रभावित होने पर, शांत और तनावमुक्त रहने के लिए कुछ योग मुद्राएं, महत्वपूर्ण व्यायाम या मेडिटेशन और प्राणायाम करना चाहिए।

मिथुन राशि में बृहस्पति के गोचर का वृश्चिक राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Gemini on Scorpio

बृहस्पति का यह गोचर, वृश्चिक लग्न वाले व्यक्तियों के  आठों भावों में प्रवेश करेगा जिसका व्यावसायिक और घरेलू जीवन शैली पर कठोर प्रभाव पड़ेगा। यह जीवन का एक महत्वपूर्ण मोड़ हो सकता है, लेकिन उम्मीद के आकर्षण को खोए बिना, इस दौर के उन्मूलन की प्रतीक्षा करें। इससे आपका व्यावसायिक जीवन प्रभावित होगा। नौकरी तलाश करने वालों को बहुत संघर्ष करना पड़ सकता है, लेकिन बिना उम्मीद खोए, कठोर परिश्रम और प्रयासों का अनुसरण करना चाहिए।

पारिवारिक स्थिति और संबंधों की व्यवस्था पूरी तरह से ठीक रहेगी, जिसका आप निश्चित रूप से समाधान कर सकते हैं। मान-सम्मान की हानि होगी तथा विवाह की तैयारी कर रहे व्यक्तियों को थोड़ा विलंब हो सकता है।  शिक्षा या अनुसंधान विकास विभाग में कार्यरत लोगों के लिए, यह समय बहुत अच्छा रहेगा। आपको उचित  आर्थिक सौदे के साथ आगे बढ़ने के अवसर भी मिलेंगे तथा जमीन संबंधी समस्याओं का जल्द समाधान होगा। हालांकि, समग्र परिणाम दुर्बल और कमजोर रहेंगे। इस गोचर के दौरान, आपको कुछ व्यायाम भी करने चाहिए।

आपको जीवन के प्रति निराशावादी दृष्टिकोण विकसित करने के बजाय अच्छी चीजों पर ध्यान केंद्रित करने का प्रयास करना चाहिए। इसके अलावा, अपने संसाधनों के महत्व को समझते हुए इन्हें बर्बाद नहीं करना चाहिए। अन्यथा, आपको भविष्य में गंभीर आर्थिक संकटों का सामना करना पड़ सकता है।

मिथुन राशि में बृहस्पति के गोचर का धनु राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Gemini on Sagittarius

यह गोचर, जीवनशैली से संबंधित विभिन्न क्षेत्रों के स्वरूपों को बेहतर बनाने में मदद करेगा। किन्हीं स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना कर रहे व्यक्तियों को जल्दी ही राहत मिल सकती है। कानूनी मामलों जैसी समस्याओं के समाप्त होने की संभावनाओं के चलते, निश्चित ही भविष्य राहत और तनाव मुक्त रहेगा। मिथुन राशि में बृहस्पति का क्रम-विकास, आपको विशेष रुप से नए सामाजिक बंधनों से जोड़ने के साथ ही, व्यावसायिक जीवन में सुधार लाने में भी सहायक होगा। राशि वाले व्यक्तियों को, पारिवारिक सदस्यों द्वारा संतान प्राप्त होने से संबंधित शुभ समाचार मिलेगा, जो उन्हें  उम्मीद, सुख और आनंद से भर देगा।

व्यवसाय में वृद्धि और विस्तार करने और कुछ नए व्यावसायिक उपक्रमों में धन निवेश करने के लिए, यह एक अच्छा समय है। किसी गंभीर रिश्ते में प्रेम पाने के लिए भी यह एक अच्छा समय है, जो आपके जीवन को एक नया सार देगा। लग्न कुंडली के सातवें भाव में बृहस्पति का यह गोचर, बेहतर जीवन या व्यावसायिक साझेदार को पाने के अधिक अवसर प्रदान करेगा। बृहस्पति गोचर से अधिकतम लाभ प्राप्त करने की कोशिशों में, किसी भी प्रकार की जोड़-तोड़ और अनैतिक गतिविधियों से बचते आ, दूरी बनाए रखनी चाहिए।

मिथुन राशि में बृहस्पति के गोचर का मकर राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Gemini on Capricorn  

बृहस्पति का यह गोचर, मिथुन राशि से क्रमशः आपकी लग्न कुंडली के छठे भाव में होने वाला है। इस राशि परिवर्तन की घटनाओं के कारण, आपकी व्यावसायिक जीवन शैली में कुछ गंभीर नुकसानों और हानि हो सकती है। बिजनेस करने वालों को, भविष्य में चुनौतीपूर्ण साबित होने वाले किसी भी प्रकार के जोखिमों से बचने के लिए पहले से ही अतिरिक्त सावधानी बरतनी चाहिए।   सम्मान, व्यवसाय में हानि का सामना करने के साथ ही, आपकी आर्थिक स्थिति पर भी नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। इस अवधि के चुनौतीपूर्ण होने पर, चिंता न करें तथा निरंतरता और स्थिरता पाने के इच्छुक होने पर, सभी समस्याओं को एक बार में हल करने का प्रयास करें।

वैवाहिक स्थिति और अन्य प्रेम संबंधों से संबंधित अनगिनत समस्याओं का सामना करने के कारण, आपकी पारिवारिक स्थिति सुकून देने वाली नहीं रहेगी तथा शत्रु कानूनी विवादों, चोरी, धोखाधड़ी, छल-कपट, या किसी भी प्रकार की शारीरिक चोटों जैसी कई बाधाएँ उत्पन्न कर सकते हैं। कमजोर या नीच के शनि, बुध या शुक्र वाले व्यक्तियों का, बृहस्पति की महादशा से गुजरेंगे के कारण समय अच्छा नहीं रहेगा।

मिथुन राशि में बृहस्पति के गोचर का कुंभ राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Gemini on Aquarius  

लग्न कुंडली के अनुसार, कुम्भ लग्न के पांचवें भाव में बृहस्पति का यह राशि परिवर्तन मिश्रित परिणाम देगा। विशेष रूप से इस राशि वाले व्यक्तियों के लिए, यह विशेष परिवर्तनकाल आर्थिक रूप से दृढ़ और प्रभावी लाभ में वृद्धि करेगा और लाभ प्राप्त करने के अवसर देकर आर्थिक स्थिति को समृद्धशाली बनाएगा।

व्यावसायिक जीवन में भी सफलता मिलने के साथ ही,  जल्दी ही आपके संबंधों और वैवाहिक स्थिति सहित आपके व्यक्तिगत जीवन में भी बदलाव आएगा।

पांचवें भाव में बृहस्पति के गोचर से आपको लाभ प्राप्त होगा क्योंकि मिथुन राशि में रहने के दौरान, संतान और शिक्षा पर प्रभाव पड़ सकता है। इसके साथ ही, बृहस्पति भी गोचर के दौरान, राहु के गोचर की युति से गुजरेगा जो आपको छल-कपट की ओर ले जा सकता है, जिससे अनैतिक तरीकों से आर्थिक लाभ पाने के प्रति आपका झुकाव बढ़ सकता है जिसे आपको नियंत्रित करना चाहिए।

साथ ही, एकाग्रता में कमी के कारण आपका ध्यान विचलित होने की भी संभावनाएं हैं। अतः, इसमें स्थिरता लाने की आवश्यकता है तथा अपनी कड़ी मेहनत और धैर्य को परिवर्तित करने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए और न केवल व्यक्तियों, बल्कि समाज की बेहतरी की दिशा में प्रयास करना चाहिए। विचार यह है कि बुराई को टालकर, अच्छाई को अपनाना है।

मिथुन राशि में बृहस्पति के गोचर का मीन राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Gemini on Pisces  

इस लग्न के लिए, जन्म कुंडली के ऊर्जा देने वाले चौथे भाव में बृहस्पति का यह विशेष गोचर, शुभ समाचारों के रूप में मजबूत सकारात्मकता और परिणाम उत्पन्न करने वाला दिखाई देता है। नई नौकरी की तलाश करने वाले या व्यावसायिक सफलता प्राप्त करने के लिए कुछ नया करने की कोशिश करने वाले लोगों को, अपनी व्यवसायिक कुशलता को समृद्ध करने के अवसर मिल सकते हैं। जल्दी ही, संपत्ति या वाहन से संबंधित मामलों में भी वृद्धि हो सकती है जिससे आपको किसी नई आवासीय संपत्ति की खरीद में निवेश करने का अवसर मिल सकता है। इस गोचर की अवधि के अंतर्गत, आपको अपार प्रसिद्धि, सफलता और भाग्य की कृपा प्राप्त होगी।

इस समय आपकी कुंडली में शुभ स्थिति में स्थित बृहस्पति, बुध और मंगल की महादशा चलने के कारण, आपको माता-पिता की ओर से शुभ समाचार प्राप्त होंगे, जो आपके और आपके पारिवारिक जीवन में अत्यधिक सुख और आनंद लाएंगे।

इसके साथ ही, आर्थिक स्थिति में धीरे-धीरे सुधार होगा और अपनी समस्याओं का समाधान, बिना किसी अव्यवस्था या गड़बड़ी के करने में सक्षम होंगे। भाषा, विज्ञान, शिक्षा, शिक्षण और प्रशिक्षण जैसे क्षेत्रों से संबंधित लोगों को, निश्चित रूप से कुछ अत्यधिक लाभदायक सकारात्मक परिणामों की प्राप्ति होगी। इस राशि परिवर्तनके दौरान, अच्छा समय व्यतीत के लिए आपको किसी भी प्रकार के छल-कपट और अनैतिक गतिविधियों या चेष्टाओं को टालते हुए, उनसे बचना चाहिए।

बृहस्पति के अन्य राशियों में गोचर के प्रभाव के बारे में पढ़ने के लिए बृहस्पति के सभी गोचर र क्लिक करें। आप यह भी पढ़ सकते हैं कि करियर के फैसलोंशादी की समस्याओंबिजनेस में सफलता का ना मिलना और स्वास्थ्य समस्याओं पर ज्योतिष आपकी मदद कैसे करता है।

कर्क राशि में बृहस्पति का गोचर/ Jupiter Transit in Cancer
18 Oct,2025
से
04 Dec,2025

वैदिक ज्योतिष के अनुसार, शांत और स्थिर चंद्रमा द्वारा शासित कर्क राशि ऐसी जल राशि है जो  बृहस्पति के एक सुखद ग्रह होने की पुष्टि करती है क्योंकि कर्क राशि पर बृहस्पति गोचर के दौरान उच्च का हो सकता है। यह स्थायी रूप से कई लग्नों पर, उनके क्रम-विकास और प्रकृति के अनुसार महत्वपूर्ण प्रभाव डालता है। वैदिक ज्योतिष के अनुसार कर्क राशि में बृहस्पति गोचर/Jupiter transit in cancer के समृद्धशाली अध्ययन के अनुसार, यह मेष लग्न में जन्मे लोगों के लिए अत्यधिक शुभ और धार्मिक प्रतीत होता है। चलिए जानते हैं कि आपकी राशि पर इस गोचर का क्या प्रभाव पड़ेगा। 

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का मेष राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Aries

यह गोचर, मेष राशि वालों की जन्मकुंडली के चौथे भाव से होकर गुजरेगा। वैदिक ज्योतिष की कुंडली रीडिंग के अनुसार, यह पैतृक भूमि या किसी नई संपत्ति द्वारा संपत्ति अर्जित करने की संभावनाओं वाले कुछ महत्वपूर्ण कारकों पर प्रकाश डालता है। नया वाहन या घर की खरीदारी में निवेश करने के अवसर मिलने की संभावनाएं हैं, जो इन लोगों के लिए अत्यधिक भाग्यशाली साबित होने वाला बनाता है। उच्च शिक्षा के लिए विदेश जाने का प्रयास कर रहे लोगों को, इस अवधि के दौरान कोई सुनहरा अवसर मिल सकता है।

दसवें भाव पर बृहस्पति का स्पष्ट और अनुकूल गोचरसमृद्धशाली सकारात्मकता का मार्ग दिखाकर व्यावसायिक दृष्टिकोण में वृद्धि करेगा जिससे न सिर्फ आपका व्यावसायिक जीवन बेहतर होगा, बल्कि आपकी आय भी बढ़ेगी। यद्यपि, बृहस्पति नौवें भाव का स्वामी है, इसलिए चौथे भाव में बृहस्पति का गोचर होने के कारण, व्यक्ति के माता-पिता को भी आशावादी परिणामों की प्राप्ति होगी और जल्दी ही, परिवार में एक विशाल उत्सव होगा।

उच्च के बृहस्पति का कर्क राशि में गोचर, विवाह और किसी महिला के साथ अंतरंग संबंधों के लिए श्रेष्ठ होता है इसलिए विवाह करने के इच्छुक लोगों के लिए यह एक अच्छा अवसर है। व्यापार या बसने के लिए विदेश जाने की योजना बना रहे लोग भी, भाग्यशाली रहेंगे। इस अवधि के दौरान, ट्रांस्फर की भी संभवना है। लोग विवाह, तीर्थयात्रा, किसी अन्य धार्मिक स्थान पर जाने या किसी शुभ कार्यक्रम में शामिल होने जैसे अवसरों तथा सभी अच्छी और उत्पादक चीजों पर धन का खर्च करेंगे। कुंडली का अध्ययन यह सुनिश्चित करता है कि यह व्यक्ति, किसी भी प्रकार की दुर्घटना या चोट से सुरक्षित और सकुशल रहेंगे। मेष लग्न पर, बृहस्पति की महादशा से गुजरने का सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का वृषभ राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Taurus

यह गोचर, वृषभ राशि वालों की जन्मकुंडली के तीसरे भाव को प्रभावित करेगा, जो उनकी लग्न कुंडली के तीसरे भाव के लिए सहयोगी और अनुकूल नहीं है। इस योग का अर्थ है कि आपको भाई-बहनों के साथ कुछ विशेष समस्याओं का सामना करना पड़ेगा, जिनसे आपके संबंध प्रभावित हो सकते हैं। अतः, इसका उचित ख्याल रखना चाहिए।

इसके साथ ही, स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से संबंधित दुर्घटनाओं एवं बीमारियों की संभावनाओं के चलते, अगर आप अपना और अपने माता-पिता का उचित ख्याल रखेंगे तो यह मददगार रहेगा।

धन लाभ और आर्थिक स्थिरता पर ध्यान देते हुए, इस अच्छे समय में जमीन, संपत्ति या मकान में निवेश करें। शिक्षा, राजनीति, समाज सेवा, न्यायपालिका और कानून जैसे क्षेत्रों में कार्यरत लोगों को लाभ होगा तथा लगातार प्रयासों और कठोर परिश्रम के चलते, आप विदेश यात्राओं पर भी जा सकते हैं।

वैवाहिक दृष्टि से, बृहस्पति का यह संक्रमण इतना सहायक नहीं है क्योंकि मार्ग में निरंतरता आने वाले संघर्षपूर्ण अवरोधों के कारण, विवाह की तिथि और उसका अंतिम रूप बनाने में देरी होगी। प्रेम विवाह की योजना बनाने पर, किसी भी भावनात्मक असफलता से बचने का फैसला करने पर, अपने दृष्टिकोण के प्रति अत्यधिक सावधान रहें तथा जीवन में आगे बढ़ने के लिए प्रत्येक चीज को जांच-परखकर सुनिश्चित कर ही निर्णय लें।

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का मिथुन राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Gemini 

बृहस्पति का गोचर, मिथुन लग्न वालों की जन्मकुंडली के दूसरे भाव को प्रभावित करेगा। यह परिवार और संबंधों के संबंध में सहायक परिणामों को सुनिश्चित करेगा। कुंडली का अध्ययन, विभिन्न समारोहों और विवाह के बारे में स्पष्ट रूप से बताता है। बृहस्पति के जन्मकुंडली के दूसरे भाव में गोचर करने पर, अच्छे परिणामों की उम्मीद करने वाले लोगों पर ग्रहों का भारी प्रभाव पड़ेगा। विवाह, संतति या बच्चे के जन्म के कारण, परिवार सौभाग्यशाली और सुखी रहेगा।

बृहस्पति गोचर के प्रभाव विशेष रूप से आर्थिक मोर्चे पर देखने को मिल सकता है, लेकिन स्थिति में भी सुधार होने से शिक्षा, राजनीति, भाषा, प्रशासन, साहित्य, प्रकाशन और विज्ञापनों में कार्यरत लोगों का दृष्टिकोण आशावादी होगा। परिवार में अक्सर रहने वाले तनावों को आप अपनी सूझबूझ, ज्ञान और अनुभव से उन सभी को सुलझा लेंगे। बिजनेस या आर्थिक साझेदारी से संबंधित लोगों को जागरूक रहना चाहिए।

आपको विभिन्न अवसरों पर अवांछित और अनावश्यक समस्याओं का सामना करना पड़ेगा। विशेष स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं की संभावनाओं के चलते, स्वास्थ्य की देखभाल करना आवश्यक है। साथ ही, अपने माता-पिता को सुखी और संतुष्ट रखने की कोशिश करें।

 

कर्क राशि पर बृहस्पति के गोचर का कर्क राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Cancer

बृहस्पति का गोचर, कर्क राशि वाले लोगों की लग्न कुंडली कही जाने वाली जन्मकुंडली के पहले भाव को प्रभावित करेगा, जो सभी पहलुओं के आशाजनक और सहयोग देने वाले परिणामों को दर्शाता है। कुंडली का अध्ययन प्रसिद्धि, प्रतिष्ठा, सफलता, और जीत का संकेत देता है। जिन लोगों को कानूनी त्रुटियां और विवादास्पद विभिन्न समस्या हैं, वह जल्दी ही सुलझ जाएंगे तथा जल्दी ही सफलता मिलने के कारण, सकारात्मक समाचारों की प्राप्ति होगी, जिससे आपका जीवन सुख और समृद्धि से परिपूर्ण होगा। मजबूत संबंधों को स्थापित करने के लिए विभिन्न संघर्षों और विरोधाभास को हल करने पर ध्यान देना चाहिए। राशिफल की रीडिंग कहती है कि समय बीतने के साथ परिवार, विवाह और संबंध बेहतर हो जाएंगे। आपके विवाह को अंतिम रूप देने और शादी की तारीख में देरी हो सकती है। सभी लंबित कार्यों और परियोजनाओं के समय पर पूरा होने के कारण, आप आमोद-प्रमोद और आनंद से परिपूर्ण रहेंगे‌। खुद का घर, निवास स्थान, पुनर्वास या विदेश यात्रा का विचार बना रहे लोगों का सफ़र जल्दी ही शुरू होगा। अधिक आय, भुगतान और बकाया राशि को समाप्त कर सकती है यह गोचर।

आप कुछ धार्मिक स्थलों या तीर्थ यात्राओं पर भी जा सकते हैं। सेना, खेल, धर्म, बैंकिंग, शिक्षा, चिकित्सा और न्यायपालिका में कार्यरत व्यक्तियों के लिए यह आनंदित रहने वाला समय साबित हो सकता है। नए व्यावसायिक उपक्रमों में निवेश करने के इच्छुक लोगों के लिए, यह आगे बढ़ने का उचित समय है।

 

सिंह राशि पर बृहस्पति के गोचर का कर्क राशि में प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Leo 

बृहस्पति, सिंह राशि वाले व्यक्तियों की लग्न कुंडली कही जाने वाली जन्मकुंडली के बारहवें भाव को प्रभावित करेगा, जो उनके जन्म में मिश्रित परिणाम लाएगा। आखिरकार, यह आकर्षित करने वाली विदेश यात्राओं या विदेश में बसने जैसे कई आशाजनक परिणामों को दर्शाता है। इसके साथ ही, धार्मिक और आध्यात्मिक संपन्नता को आगे बढ़ाने पर भी ध्यान देना चाहिए। उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए किसी विदेशी विश्वविद्यालय में पढ़ने के इच्छुक लोगों को, इस अवधि के दौरान अवसरों की प्राप्ति होगी। शारीरिक रूप से थकान देने वाली, विभिन्न स्थानों या स्थलों की यात्रा करना पूर्व निर्धारित है इसलिए निश्चित रूप से, आपको अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना चाहिए। विवाह, संतान और उच्च शिक्षा जैसे विभिन्न क्षेत्रों में धन का खर्च होगा।

शेयर बाजार, व्यापार या किसी जोखिम भरे कार्यों से संबंधित लोगों को, गंभीर आर्थिक नुकसान का सामना करना पड़ेगा लेकिन प्रमोशन या वेतनवृद्धि की उम्मीद कर रहे लोगों के लिए यह उत्तम समय होगा। इस राशि वाले व्यक्तियों को, अत्यधिक लाभकारी परिणाम प्राप्त करने के लिए, व्यावसायिक उद्देश्य वाली संपत्तियों को खरीदने में निवेश करना चाहिए। संतान के आने के कारण आपका जीवन सुख, आनंद और समृद्धि से परिपूर्ण हो जाएगा। बच्चों को कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ेगा, जिन्हें आपको सावधानीपूर्वक निपटाना चाहिए। होटल, बीमा, प्रबंधन, फैशन, इंटीरियर डिडाईन, शिक्षा, परिवहन, और निर्माण या रेस्तरां जैसे विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत इस राशि वाले व्यक्तियों की कार्यकुशलता लाभकारी रहेगी।

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का कन्या राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Virgo

बृहस्पति का गोचर, कन्या राशि वाले व्यक्तियों की लग्न कुंडली कही जाने वाली जन्मकुंडली के ग्यारहवें भाव से होकर गुजरने के कारण, आपको संबंधों और परिवार का अत्यधिक सहयोग मिलेगा। विवाह और संतान से संबंधित अध्ययन, विवाह और संतान के लिए सकारात्मक और उत्तम परिणामों को दर्शाता है।  पार्टनर की तलाश कर रहे या विवाह के इच्छुक लोगों के लिए यह एक अच्छा समय साबित हो सकता है। प्राप्त लाभ को संपत्ति, घर के नवीनीकरण में निवेश करेंगे और थोड़े ही समय में, अत्यधिक आशावादी परिणाम प्राप्त करेंगे।

बृहस्पति का गोचर सामाजिक दायरे, परिवार, विशेष रूप से बड़े भाई-बहनों के साथ, संघर्ष या विवाद और अराजकता उत्पन्न करता है। साथ ही, आपको विशिष्ट आर्थिक, व्यवसाय से संबंधित परेशानियों और गंभीर गलतफहमियों का सामना करना पड़ सकता है। अतः, जागरूक रहें। इसके अलावा विभिन्न पारिवारिक, आर्थिक और अन्य मामलों में साजिश और बुरे इरादों की संभावनाओं से उचित तरीके से निपटने की आवश्यकता है।

आपके बच्चों और जीवनसाथी को स्वास्थ्य संबंधी कई समस्याओं का सामना करना पड़ेगा जिनके चलतेआपको अपने बच्चों की उचित देखभाल करने की आवश्यकता हो सकती है। इसके अलावा, आरामदायक भविष्य के लिए धन और संसाधनों की बचत करने का निश्चय करना चाहिए। 

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का तुला राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Libra 

तुला लग्न में बृहस्पति का यह गोचर, जन्मकुंडली के दसवें भाव की लग्न कुंडली से गुजरने पर जन्म के लिए मिश्रित परिणाम देने के कारण, शत्रुओं पर सभी कानूनी विवादों पर जीत मिलेगी। विभिन्न संघर्षों और अंतर्विरोधों में लिप्त होने की संभावनाओं के चलते, व्यक्तिगत, व्यावसायिक और सामाजिक बंधनों को मजबूती के साथ स्थापित करने के लिए अपनी बोली के प्रति सचेत रहना होगा। यह गोचर, विभिन्न व्यावसायिक योजनाओं और नई पद्धतियों में निवेश करने जैसे विभिन्न व्यावसायिक कार्यों में अधिक आजादी सुनिश्चित करने में अत्यधिक सहयोगी रहेगा तथा मेडिसिन, व्यापार, परिवहन, शिक्षा, न्यायपालिका, खेल, राजनीति, काउंसलिंग जैसे अन्य विभिन्न क्षेत्रों में नौकरी के अवसरों की तलाश करने वाले व्यक्तियों को सकारात्मक परिणाम मिलने की संभावना प्रबल है।

लगातार चलने वाली आर्थिक समस्याओं के साथ ही अधिक आमदनी भी आएगी। इस राशि वाले व्यक्ति, अपनी व्यावसायिक आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए उधार या कोई आर्थिक मदद ले सकते हैं, इस दौरान आप अपनी इस प्रक्रिया को आगे बढ़ा सकते हैं। साथ ही, अधिक लाभ प्राप्त करने के लिए अपने संसाधनों और धन की आवश्यक रूप से बचत करनी चाहिए क्योंकि आपकी कुंडली बताती है कि आपके परिवार को माता-पिता और जीवनसाथी से संबंधित  विशिष्ट चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। नवविवाहित लोगों को, सावधानीपूर्वक अपने मित्रों, परिवार और सभी लोगों के साथ अत्यधिक आक्रामक और हावी होने से बचना चाहिए।

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का वृश्चिक राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Scorpio

बृहस्पति का यह गोचर वृश्चिक राशि वालों की कुंडली के नवम भाव को प्रभावित करेगा, जो जीवन के हर पहलू के लिए अत्यंत सहयोगी, लाभकारी और समृद्धिशाली रहेगा। इसका अध्ययन आपके जीवन में सौभाग्य, सफलता और सकारात्मक ऊर्जा को दर्शाने के साथ ही, बताता है कि आपका व्यवसायिक, आर्थिक और सामाजिक जीवन की स्थितियां को कैसे बेहतर कर सकता है। इस अवधि के दौरान, इस राशि वाले लोगों को कई सामाजिक और पारिवारिक कार्यक्रमों में हिस्सा लेने के अवसर मिलेंगे। गंभीर स्वास्थ्य, कानूनी तथा करियर में बाधक समस्याओं का सामना करने वाले व्यक्ति, इन सभी समस्याओं के समाप्त होने की उम्मीद करना शुरू कर सकते हैं। 

व्यावसायिक जीवन में प्रमोशन, वेतनवृद्धि और अन्य परिणामों जैसे महत्वपूर्ण सकारात्मक बदलावों के साथ ही मित्रों, भाई-बहनों और संबंधों में पड़ी गांठों तथा सामाजिक स्थिति में भी अत्यधिक सुधार आएगा। आपकी कुंडली बता सकती है कि यह शिक्षा और पठन-पाठन से संबंधित लोगों को भी अत्यधिक प्रोत्साहित करने वाला होगा कि नहीं। 

इस राशि वाले व्यक्तियों को, बिजनेस या शैक्षिक उद्देश्यों के लिए विदेशों का अनुभव करने के अवसर मिलेंगे तथा एक प्रतिष्ठित और प्रख्यात संस्थान में प्रवेश लें पाएंगे।

जैसे-जैसे आपकी आमदनी में वृद्धि होगी, आर्थिक समस्याएं दूर होती जाएंगी, लेकिन एक आरामदायक भविष्य की योजना बनाने के लिए, अपनी बचत क्षमता को बढ़ाने पर ध्यान देना चाहिए। परिवार में संतान के आने के साथ संबंधों और पारिवारिक समस्याभी आसानी से खत्म हो जाएंगे। सरकारी सेवा, धर्म, बैंकिंग, फाइनेंस, कानून, न्यायपालिका, चिकित्सा, व्यापार और विभिन्न सामाजिक क्षेत्रों से संबंधित व्यक्ति अत्यधिक सफलता प्राप्त करेंगे।

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का धनु राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Sagittarius 

प्रबल बृहस्पति, धनु राशि वालों की कुंडली के आष्टम भाव को प्रभावित करेगा, जो विशेष रुप से व्यक्ति के जीवन में कुछ उथल-पुथल उत्पन्न कर सकता है और इस परिवर्तन काल में उच्च का होने के कारण, घटनाओं के सकारात्मक परिणामों को सीमित करेगा। शारीरिक चोट और पुराने रोगों के फिर से होने की भी संभावनाएं बनी हुई हैं।

व्यक्तिगत, व्यावसायिक और सामाजिक जीवन को यथावत बनाए रखने के लिए, इस राशि वाले व्यक्तियों को जीवन में कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है तथा इस गोचर के दौरान, यह व्यक्ति धर्म और अध्यात्म का अनुसरण कर सकते हैं। इसके साथ ही अध्ययन कर रहे या शिक्षा के क्षेत्र में कार्य कर रहे लोगों के लिए, यह गोचर अत्यधिक सकारात्मक रहेगा तथा विशेष रूप से, धन और संपत्ति में सकारात्मक परिणामों की प्राप्ति  सुनिश्चित करेगा। हालांकि, अधिक आमदनी के लिए हमेशा किसी न किसी चीज़ में व्यस्त रहते हुए, अत्यधिक कड़ी मेहनत करने की अपेक्षा की जाती है। विवाह के बारे में सोच रहे व्यक्तियों को, अपनी योजना को अंतिम रूप देने के लिए बाधाओं या देरी का सामना करना पड़ सकता है।

बेहतरी के लिए लगातार परिश्रम और प्रयास करने पर आपको सफल परिणाम दिखाई दे सकते हैं। समाज सेवा, धर्म, खनन, अध्यात्म, कृषि, अनुसंधान और मनोरंजन जैसे विभिन्न क्षेत्रों में समय लगाने और प्रयास करने वाले व्यक्तियों के लिए, यह गोचर अत्यधिक लाभकारी साबित हो सकता है। चाहे कुछ भी हो, आपको जीवन में सफलता पाने के लिए कठोर परिश्रम करना चाहिए।

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का मकर राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Capricorn 

मकर लग्न वाले लोगों के लिए, बृहस्पति का गोचर का प्रभाव उनकी कुंडली के सातवें भाव पर होगा। हालांकि, ध्यान रखने योग्य बात यह है कि कर्क राशि में बृहस्पति का गोचर, मिथुन राशि से बेहतर है जो आपकी लग्न कुंडली के छठे भाव में आता है। बृहस्पति तीसरे और बारहवें भाव पर शासन करने के कारण, कुछ अनिश्चित परिणाम लाएगा।

इन लोगों को दुनिया भर में यात्रा करने और दुनिया के अलग अलग जगहों को देखने के अवसर मिल सकते हैं जिसके कारण, विदेश यात्रा पर जाकर प्रकृति के सौंदर्य को निहारने का मौका मिल सकता है। प्रमोशन और नौकरी में ट्रांस्फर की तलाश कर रहे लोगों को, सकारात्मक परिणामों की प्राप्ति होगी। हालांकि, आपकी अर्थव्यवस्था अस्थिर और कमजोर परिणाम दर्शाती है। विशेष रुप से, आर्थिक समस्याओं का सामना करेंगे इसलिए अपने संसाधनों और भविष्य के लिए धन की बचत करना आपके लिए आवश्यक है। सट्टेबाजी जैसे किसी भी जोखिम भरे कार्यों में निवेश करने का तुरंत निर्णय लेना, आपको ज्यादा महंगा पड़ेगा।

आपको स्वास्थ्य और संबंधों से संबंधित विशिष्ट समस्याओं का सामना करना पड़ेगा। इस राशि वाले व्यक्तियों के मन और आत्मा पर, भावनात्मक असफलताओं का गंभीर प्रभाव पड़ेगा इसलिए किसी भी व्यवसाय में निवेश करने या बिजनेस पार्टनरों के साथ काम करने से पहले जागरूक रहना चाहिए। अर्थव्यवस्था और बजट के लेन-देन में पहले से ही सावधानी रखें। गोचर के दौरान, आध्यात्मिकता और धार्मिकता की भावनाओं पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का कुंभ राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Aquarius  

कुंभ राशि वाले लोगों के लिए, यह गोचर जन्मकुंडली के छठे भाव को प्रभावित करने वाला होगा। उन्हे जीवन में मिश्रित परिणाम प्राप्त हो सकते हैं। स्पष्ट रूप से शत्रुओं पर विजय तथा कानूनी विवादों में शानदार रूप से कार्यसिद्धि होने का संकेत दिखते हैं।

सफलता और उपलब्धियों की तलाश कर रहे लोगों को  सकारात्मक परिणाम दिखाई देंगे। इस गोचर के, कई आर्थिक मामलों में अत्यधिक सहायक और मददगार रहने के कारण, इस राशि वाले व्यक्तियों की आय में वृद्धि जैसे सकारात्मक परिणाम देखने को मिल सकते हैं। आपको यह भी संकेत मिल सकता है कि झगड़ों या संजीदा वाद-विवाद में पड़ने की संभावनाएं होने के कारण, किसी के भी साथ  गंभीर और अवांछित संघर्षों से बचना होगा क्योंकि यह आपको नुकसान पहुंचा सकता है।

यह व्यक्ति अधिकांश समय असुरक्षित महसूस करेंगे, जिससे उनके आत्मविश्वास में कमी देखने को मिलेगी और दूसरों पर निर्भरता बढ़ेगी। प्रतिष्ठा पर आंच आने के प्रति सतर्क रहें। इसके अलावा आपको गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं या शारीरिक चोटों का सामना करना पड़ सकता है तथा दुर्घटनाएं होने की भी संभावनाएं भी प्रबल नजर आ रही हैं। अतः जागरूकता बनाए रखें और सचेत रहें। परिवार के साथ जुड़े रहना और दोस्तों को सहयोग करना, इन व्यक्तियों के लिए महत्वपूर्ण कार्य  होगा, लेकिन संघर्षों और गलतफहमियों की संभावनाओं के चलते, ऐसे मामलों में शामिल न हों। वाणिज्य, व्यापार, चिकित्सा, बीमा, फाइनेंस, कानून, प्रशिक्षण, प्रशासन और राजनीति जैसे विभिन्न प्रमुख क्षेत्रों में कार्य करने वाले लोगों में आनंद का संचार होगा। 

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का मीन राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Pisces  

बृहस्पति का कर्क राशि में गोचर मीन राशि वाले लोगों की जन्मकुंडली के पांचवें भाव से गुजरेगा जो उनके जन्म में, फलदायक और आशाजनक परिणाम उत्पन्न करेगा। व्यवसाय और कई अन्य आर्थिक मामलों जैसे सभी क्षेत्रों में उल्लेखनीय सफलताओं के संकेत दिखते हैं। इस चरण के दौरान प्रमोशन, नौकरी में बदलाव, विदेश यात्रा, उच्च शिक्षा और विभिन्न शोधों में अवसरों की तलाश कर रहे व्यक्तियों के लिए, यह एक बहुत अच्छा समय रहने वाला है।

आपके कठोर परिश्रम और प्रयासों को आधिकारिक रूप से स्वीकारा जाएगा तथा व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन से संबंधित लाभ मिल सकता है। संतति से संबंधित सकारात्मक परिणाम, आपके घर को सुख, आनंद और प्रेम से भर देंगे। कर्क राशि में बृहस्पति के इस अत्यंत फलदायी गोचर द्वारा वर्तमान में शिक्षा, वित्त, बैंकिंग, प्रशासन, प्रशिक्षण, अनुसंधान, अर्थशास्त्र, भाषा, विज्ञान या  रचनात्मक क्षेत्र जैसे कई अन्य क्षेत्रों में कार्य कर रहे लोगों को भारी लाभ मिलेगा। कला, पेंटिंग, गायन और नृत्य जैसे रचनात्मक क्षेत्रों से संबंधित व्यक्तियों में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह देखने को मिलेगा। बेहतर आर्थिक लाभ होने के कारण, लंबित बकाया राशि को चुकाने के अवसर प्राप्त होंगे तथा  व्यक्तिगत, व्यावसायिक और सामाजिक संबंध बेहतर होने के साथ ही, भविष्य के लिए और अधिक सार्थक परिणामों की तलाश करेंगे। इस राशि वाले लोग, ज्यादा सार्थक और संतोषप्रद परिणाम हासिल करने वाले इन अवसरों के साथ, इस चरण का आनंद उठाएंगे।

बृहस्पति के अन्य राशियों में गोचर के प्रभाव के बारे में पढ़ने के लिए  बृहस्पति के सभी गोचर पर क्लिक करें।

आप यह भी पढ़ सकते हैं कि ज्योतिष उचित करियर के चयन, लव या अरेंज्ड मैरिज और बिजनेस में वृद्दि में कैसे मदद करता है।

कर्क राशि में बृहस्पति का गोचर/ Jupiter Transit in Cancer
02 Jun,2026
से
30 Oct,2026

वैदिक ज्योतिष के अनुसार, शांत और स्थिर चंद्रमा द्वारा शासित कर्क राशि ऐसी जल राशि है जो  बृहस्पति के एक सुखद ग्रह होने की पुष्टि करती है क्योंकि कर्क राशि पर बृहस्पति गोचर के दौरान उच्च का हो सकता है। यह स्थायी रूप से कई लग्नों पर, उनके क्रम-विकास और प्रकृति के अनुसार महत्वपूर्ण प्रभाव डालता है। वैदिक ज्योतिष के अनुसार कर्क राशि में बृहस्पति गोचर/Jupiter transit in cancer के समृद्धशाली अध्ययन के अनुसार, यह मेष लग्न में जन्मे लोगों के लिए अत्यधिक शुभ और धार्मिक प्रतीत होता है। चलिए जानते हैं कि आपकी राशि पर इस गोचर का क्या प्रभाव पड़ेगा। 

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का मेष राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Aries

यह गोचर, मेष राशि वालों की जन्मकुंडली के चौथे भाव से होकर गुजरेगा। वैदिक ज्योतिष की कुंडली रीडिंग के अनुसार, यह पैतृक भूमि या किसी नई संपत्ति द्वारा संपत्ति अर्जित करने की संभावनाओं वाले कुछ महत्वपूर्ण कारकों पर प्रकाश डालता है। नया वाहन या घर की खरीदारी में निवेश करने के अवसर मिलने की संभावनाएं हैं, जो इन लोगों के लिए अत्यधिक भाग्यशाली साबित होने वाला बनाता है। उच्च शिक्षा के लिए विदेश जाने का प्रयास कर रहे लोगों को, इस अवधि के दौरान कोई सुनहरा अवसर मिल सकता है।

दसवें भाव पर बृहस्पति का स्पष्ट और अनुकूल गोचरसमृद्धशाली सकारात्मकता का मार्ग दिखाकर व्यावसायिक दृष्टिकोण में वृद्धि करेगा जिससे न सिर्फ आपका व्यावसायिक जीवन बेहतर होगा, बल्कि आपकी आय भी बढ़ेगी। यद्यपि, बृहस्पति नौवें भाव का स्वामी है, इसलिए चौथे भाव में बृहस्पति का गोचर होने के कारण, व्यक्ति के माता-पिता को भी आशावादी परिणामों की प्राप्ति होगी और जल्दी ही, परिवार में एक विशाल उत्सव होगा।

उच्च के बृहस्पति का कर्क राशि में गोचर, विवाह और किसी महिला के साथ अंतरंग संबंधों के लिए श्रेष्ठ होता है इसलिए विवाह करने के इच्छुक लोगों के लिए यह एक अच्छा अवसर है। व्यापार या बसने के लिए विदेश जाने की योजना बना रहे लोग भी, भाग्यशाली रहेंगे। इस अवधि के दौरान, ट्रांस्फर की भी संभवना है। लोग विवाह, तीर्थयात्रा, किसी अन्य धार्मिक स्थान पर जाने या किसी शुभ कार्यक्रम में शामिल होने जैसे अवसरों तथा सभी अच्छी और उत्पादक चीजों पर धन का खर्च करेंगे। कुंडली का अध्ययन यह सुनिश्चित करता है कि यह व्यक्ति, किसी भी प्रकार की दुर्घटना या चोट से सुरक्षित और सकुशल रहेंगे। मेष लग्न पर, बृहस्पति की महादशा से गुजरने का सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का वृषभ राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Taurus

यह गोचर, वृषभ राशि वालों की जन्मकुंडली के तीसरे भाव को प्रभावित करेगा, जो उनकी लग्न कुंडली के तीसरे भाव के लिए सहयोगी और अनुकूल नहीं है। इस योग का अर्थ है कि आपको भाई-बहनों के साथ कुछ विशेष समस्याओं का सामना करना पड़ेगा, जिनसे आपके संबंध प्रभावित हो सकते हैं। अतः, इसका उचित ख्याल रखना चाहिए।

इसके साथ ही, स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से संबंधित दुर्घटनाओं एवं बीमारियों की संभावनाओं के चलते, अगर आप अपना और अपने माता-पिता का उचित ख्याल रखेंगे तो यह मददगार रहेगा।

धन लाभ और आर्थिक स्थिरता पर ध्यान देते हुए, इस अच्छे समय में जमीन, संपत्ति या मकान में निवेश करें। शिक्षा, राजनीति, समाज सेवा, न्यायपालिका और कानून जैसे क्षेत्रों में कार्यरत लोगों को लाभ होगा तथा लगातार प्रयासों और कठोर परिश्रम के चलते, आप विदेश यात्राओं पर भी जा सकते हैं।

वैवाहिक दृष्टि से, बृहस्पति का यह संक्रमण इतना सहायक नहीं है क्योंकि मार्ग में निरंतरता आने वाले संघर्षपूर्ण अवरोधों के कारण, विवाह की तिथि और उसका अंतिम रूप बनाने में देरी होगी। प्रेम विवाह की योजना बनाने पर, किसी भी भावनात्मक असफलता से बचने का फैसला करने पर, अपने दृष्टिकोण के प्रति अत्यधिक सावधान रहें तथा जीवन में आगे बढ़ने के लिए प्रत्येक चीज को जांच-परखकर सुनिश्चित कर ही निर्णय लें।

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का मिथुन राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Gemini 

बृहस्पति का गोचर, मिथुन लग्न वालों की जन्मकुंडली के दूसरे भाव को प्रभावित करेगा। यह परिवार और संबंधों के संबंध में सहायक परिणामों को सुनिश्चित करेगा। कुंडली का अध्ययन, विभिन्न समारोहों और विवाह के बारे में स्पष्ट रूप से बताता है। बृहस्पति के जन्मकुंडली के दूसरे भाव में गोचर करने पर, अच्छे परिणामों की उम्मीद करने वाले लोगों पर ग्रहों का भारी प्रभाव पड़ेगा। विवाह, संतति या बच्चे के जन्म के कारण, परिवार सौभाग्यशाली और सुखी रहेगा।

बृहस्पति गोचर के प्रभाव विशेष रूप से आर्थिक मोर्चे पर देखने को मिल सकता है, लेकिन स्थिति में भी सुधार होने से शिक्षा, राजनीति, भाषा, प्रशासन, साहित्य, प्रकाशन और विज्ञापनों में कार्यरत लोगों का दृष्टिकोण आशावादी होगा। परिवार में अक्सर रहने वाले तनावों को आप अपनी सूझबूझ, ज्ञान और अनुभव से उन सभी को सुलझा लेंगे। बिजनेस या आर्थिक साझेदारी से संबंधित लोगों को जागरूक रहना चाहिए।

आपको विभिन्न अवसरों पर अवांछित और अनावश्यक समस्याओं का सामना करना पड़ेगा। विशेष स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं की संभावनाओं के चलते, स्वास्थ्य की देखभाल करना आवश्यक है। साथ ही, अपने माता-पिता को सुखी और संतुष्ट रखने की कोशिश करें।

 

कर्क राशि पर बृहस्पति के गोचर का कर्क राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Cancer

बृहस्पति का गोचर, कर्क राशि वाले लोगों की लग्न कुंडली कही जाने वाली जन्मकुंडली के पहले भाव को प्रभावित करेगा, जो सभी पहलुओं के आशाजनक और सहयोग देने वाले परिणामों को दर्शाता है। कुंडली का अध्ययन प्रसिद्धि, प्रतिष्ठा, सफलता, और जीत का संकेत देता है। जिन लोगों को कानूनी त्रुटियां और विवादास्पद विभिन्न समस्या हैं, वह जल्दी ही सुलझ जाएंगे तथा जल्दी ही सफलता मिलने के कारण, सकारात्मक समाचारों की प्राप्ति होगी, जिससे आपका जीवन सुख और समृद्धि से परिपूर्ण होगा। मजबूत संबंधों को स्थापित करने के लिए विभिन्न संघर्षों और विरोधाभास को हल करने पर ध्यान देना चाहिए। राशिफल की रीडिंग कहती है कि समय बीतने के साथ परिवार, विवाह और संबंध बेहतर हो जाएंगे। आपके विवाह को अंतिम रूप देने और शादी की तारीख में देरी हो सकती है। सभी लंबित कार्यों और परियोजनाओं के समय पर पूरा होने के कारण, आप आमोद-प्रमोद और आनंद से परिपूर्ण रहेंगे‌। खुद का घर, निवास स्थान, पुनर्वास या विदेश यात्रा का विचार बना रहे लोगों का सफ़र जल्दी ही शुरू होगा। अधिक आय, भुगतान और बकाया राशि को समाप्त कर सकती है यह गोचर।

आप कुछ धार्मिक स्थलों या तीर्थ यात्राओं पर भी जा सकते हैं। सेना, खेल, धर्म, बैंकिंग, शिक्षा, चिकित्सा और न्यायपालिका में कार्यरत व्यक्तियों के लिए यह आनंदित रहने वाला समय साबित हो सकता है। नए व्यावसायिक उपक्रमों में निवेश करने के इच्छुक लोगों के लिए, यह आगे बढ़ने का उचित समय है।

 

सिंह राशि पर बृहस्पति के गोचर का कर्क राशि में प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Leo 

बृहस्पति, सिंह राशि वाले व्यक्तियों की लग्न कुंडली कही जाने वाली जन्मकुंडली के बारहवें भाव को प्रभावित करेगा, जो उनके जन्म में मिश्रित परिणाम लाएगा। आखिरकार, यह आकर्षित करने वाली विदेश यात्राओं या विदेश में बसने जैसे कई आशाजनक परिणामों को दर्शाता है। इसके साथ ही, धार्मिक और आध्यात्मिक संपन्नता को आगे बढ़ाने पर भी ध्यान देना चाहिए। उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए किसी विदेशी विश्वविद्यालय में पढ़ने के इच्छुक लोगों को, इस अवधि के दौरान अवसरों की प्राप्ति होगी। शारीरिक रूप से थकान देने वाली, विभिन्न स्थानों या स्थलों की यात्रा करना पूर्व निर्धारित है इसलिए निश्चित रूप से, आपको अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना चाहिए। विवाह, संतान और उच्च शिक्षा जैसे विभिन्न क्षेत्रों में धन का खर्च होगा।

शेयर बाजार, व्यापार या किसी जोखिम भरे कार्यों से संबंधित लोगों को, गंभीर आर्थिक नुकसान का सामना करना पड़ेगा लेकिन प्रमोशन या वेतनवृद्धि की उम्मीद कर रहे लोगों के लिए यह उत्तम समय होगा। इस राशि वाले व्यक्तियों को, अत्यधिक लाभकारी परिणाम प्राप्त करने के लिए, व्यावसायिक उद्देश्य वाली संपत्तियों को खरीदने में निवेश करना चाहिए। संतान के आने के कारण आपका जीवन सुख, आनंद और समृद्धि से परिपूर्ण हो जाएगा। बच्चों को कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ेगा, जिन्हें आपको सावधानीपूर्वक निपटाना चाहिए। होटल, बीमा, प्रबंधन, फैशन, इंटीरियर डिडाईन, शिक्षा, परिवहन, और निर्माण या रेस्तरां जैसे विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत इस राशि वाले व्यक्तियों की कार्यकुशलता लाभकारी रहेगी।

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का कन्या राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Virgo

बृहस्पति का गोचर, कन्या राशि वाले व्यक्तियों की लग्न कुंडली कही जाने वाली जन्मकुंडली के ग्यारहवें भाव से होकर गुजरने के कारण, आपको संबंधों और परिवार का अत्यधिक सहयोग मिलेगा। विवाह और संतान से संबंधित अध्ययन, विवाह और संतान के लिए सकारात्मक और उत्तम परिणामों को दर्शाता है।  पार्टनर की तलाश कर रहे या विवाह के इच्छुक लोगों के लिए यह एक अच्छा समय साबित हो सकता है। प्राप्त लाभ को संपत्ति, घर के नवीनीकरण में निवेश करेंगे और थोड़े ही समय में, अत्यधिक आशावादी परिणाम प्राप्त करेंगे।

बृहस्पति का गोचर सामाजिक दायरे, परिवार, विशेष रूप से बड़े भाई-बहनों के साथ, संघर्ष या विवाद और अराजकता उत्पन्न करता है। साथ ही, आपको विशिष्ट आर्थिक, व्यवसाय से संबंधित परेशानियों और गंभीर गलतफहमियों का सामना करना पड़ सकता है। अतः, जागरूक रहें। इसके अलावा विभिन्न पारिवारिक, आर्थिक और अन्य मामलों में साजिश और बुरे इरादों की संभावनाओं से उचित तरीके से निपटने की आवश्यकता है।

आपके बच्चों और जीवनसाथी को स्वास्थ्य संबंधी कई समस्याओं का सामना करना पड़ेगा जिनके चलतेआपको अपने बच्चों की उचित देखभाल करने की आवश्यकता हो सकती है। इसके अलावा, आरामदायक भविष्य के लिए धन और संसाधनों की बचत करने का निश्चय करना चाहिए। 

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का तुला राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Libra 

तुला लग्न में बृहस्पति का यह गोचर, जन्मकुंडली के दसवें भाव की लग्न कुंडली से गुजरने पर जन्म के लिए मिश्रित परिणाम देने के कारण, शत्रुओं पर सभी कानूनी विवादों पर जीत मिलेगी। विभिन्न संघर्षों और अंतर्विरोधों में लिप्त होने की संभावनाओं के चलते, व्यक्तिगत, व्यावसायिक और सामाजिक बंधनों को मजबूती के साथ स्थापित करने के लिए अपनी बोली के प्रति सचेत रहना होगा। यह गोचर, विभिन्न व्यावसायिक योजनाओं और नई पद्धतियों में निवेश करने जैसे विभिन्न व्यावसायिक कार्यों में अधिक आजादी सुनिश्चित करने में अत्यधिक सहयोगी रहेगा तथा मेडिसिन, व्यापार, परिवहन, शिक्षा, न्यायपालिका, खेल, राजनीति, काउंसलिंग जैसे अन्य विभिन्न क्षेत्रों में नौकरी के अवसरों की तलाश करने वाले व्यक्तियों को सकारात्मक परिणाम मिलने की संभावना प्रबल है।

लगातार चलने वाली आर्थिक समस्याओं के साथ ही अधिक आमदनी भी आएगी। इस राशि वाले व्यक्ति, अपनी व्यावसायिक आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए उधार या कोई आर्थिक मदद ले सकते हैं, इस दौरान आप अपनी इस प्रक्रिया को आगे बढ़ा सकते हैं। साथ ही, अधिक लाभ प्राप्त करने के लिए अपने संसाधनों और धन की आवश्यक रूप से बचत करनी चाहिए क्योंकि आपकी कुंडली बताती है कि आपके परिवार को माता-पिता और जीवनसाथी से संबंधित  विशिष्ट चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। नवविवाहित लोगों को, सावधानीपूर्वक अपने मित्रों, परिवार और सभी लोगों के साथ अत्यधिक आक्रामक और हावी होने से बचना चाहिए।

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का वृश्चिक राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Scorpio

बृहस्पति का यह गोचर वृश्चिक राशि वालों की कुंडली के नवम भाव को प्रभावित करेगा, जो जीवन के हर पहलू के लिए अत्यंत सहयोगी, लाभकारी और समृद्धिशाली रहेगा। इसका अध्ययन आपके जीवन में सौभाग्य, सफलता और सकारात्मक ऊर्जा को दर्शाने के साथ ही, बताता है कि आपका व्यवसायिक, आर्थिक और सामाजिक जीवन की स्थितियां को कैसे बेहतर कर सकता है। इस अवधि के दौरान, इस राशि वाले लोगों को कई सामाजिक और पारिवारिक कार्यक्रमों में हिस्सा लेने के अवसर मिलेंगे। गंभीर स्वास्थ्य, कानूनी तथा करियर में बाधक समस्याओं का सामना करने वाले व्यक्ति, इन सभी समस्याओं के समाप्त होने की उम्मीद करना शुरू कर सकते हैं। 

व्यावसायिक जीवन में प्रमोशन, वेतनवृद्धि और अन्य परिणामों जैसे महत्वपूर्ण सकारात्मक बदलावों के साथ ही मित्रों, भाई-बहनों और संबंधों में पड़ी गांठों तथा सामाजिक स्थिति में भी अत्यधिक सुधार आएगा। आपकी कुंडली बता सकती है कि यह शिक्षा और पठन-पाठन से संबंधित लोगों को भी अत्यधिक प्रोत्साहित करने वाला होगा कि नहीं। 

इस राशि वाले व्यक्तियों को, बिजनेस या शैक्षिक उद्देश्यों के लिए विदेशों का अनुभव करने के अवसर मिलेंगे तथा एक प्रतिष्ठित और प्रख्यात संस्थान में प्रवेश लें पाएंगे।

जैसे-जैसे आपकी आमदनी में वृद्धि होगी, आर्थिक समस्याएं दूर होती जाएंगी, लेकिन एक आरामदायक भविष्य की योजना बनाने के लिए, अपनी बचत क्षमता को बढ़ाने पर ध्यान देना चाहिए। परिवार में संतान के आने के साथ संबंधों और पारिवारिक समस्याभी आसानी से खत्म हो जाएंगे। सरकारी सेवा, धर्म, बैंकिंग, फाइनेंस, कानून, न्यायपालिका, चिकित्सा, व्यापार और विभिन्न सामाजिक क्षेत्रों से संबंधित व्यक्ति अत्यधिक सफलता प्राप्त करेंगे।

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का धनु राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Sagittarius 

प्रबल बृहस्पति, धनु राशि वालों की कुंडली के आष्टम भाव को प्रभावित करेगा, जो विशेष रुप से व्यक्ति के जीवन में कुछ उथल-पुथल उत्पन्न कर सकता है और इस परिवर्तन काल में उच्च का होने के कारण, घटनाओं के सकारात्मक परिणामों को सीमित करेगा। शारीरिक चोट और पुराने रोगों के फिर से होने की भी संभावनाएं बनी हुई हैं।

व्यक्तिगत, व्यावसायिक और सामाजिक जीवन को यथावत बनाए रखने के लिए, इस राशि वाले व्यक्तियों को जीवन में कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है तथा इस गोचर के दौरान, यह व्यक्ति धर्म और अध्यात्म का अनुसरण कर सकते हैं। इसके साथ ही अध्ययन कर रहे या शिक्षा के क्षेत्र में कार्य कर रहे लोगों के लिए, यह गोचर अत्यधिक सकारात्मक रहेगा तथा विशेष रूप से, धन और संपत्ति में सकारात्मक परिणामों की प्राप्ति  सुनिश्चित करेगा। हालांकि, अधिक आमदनी के लिए हमेशा किसी न किसी चीज़ में व्यस्त रहते हुए, अत्यधिक कड़ी मेहनत करने की अपेक्षा की जाती है। विवाह के बारे में सोच रहे व्यक्तियों को, अपनी योजना को अंतिम रूप देने के लिए बाधाओं या देरी का सामना करना पड़ सकता है।

बेहतरी के लिए लगातार परिश्रम और प्रयास करने पर आपको सफल परिणाम दिखाई दे सकते हैं। समाज सेवा, धर्म, खनन, अध्यात्म, कृषि, अनुसंधान और मनोरंजन जैसे विभिन्न क्षेत्रों में समय लगाने और प्रयास करने वाले व्यक्तियों के लिए, यह गोचर अत्यधिक लाभकारी साबित हो सकता है। चाहे कुछ भी हो, आपको जीवन में सफलता पाने के लिए कठोर परिश्रम करना चाहिए।

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का मकर राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Capricorn 

मकर लग्न वाले लोगों के लिए, बृहस्पति का गोचर का प्रभाव उनकी कुंडली के सातवें भाव पर होगा। हालांकि, ध्यान रखने योग्य बात यह है कि कर्क राशि में बृहस्पति का गोचर, मिथुन राशि से बेहतर है जो आपकी लग्न कुंडली के छठे भाव में आता है। बृहस्पति तीसरे और बारहवें भाव पर शासन करने के कारण, कुछ अनिश्चित परिणाम लाएगा।

इन लोगों को दुनिया भर में यात्रा करने और दुनिया के अलग अलग जगहों को देखने के अवसर मिल सकते हैं जिसके कारण, विदेश यात्रा पर जाकर प्रकृति के सौंदर्य को निहारने का मौका मिल सकता है। प्रमोशन और नौकरी में ट्रांस्फर की तलाश कर रहे लोगों को, सकारात्मक परिणामों की प्राप्ति होगी। हालांकि, आपकी अर्थव्यवस्था अस्थिर और कमजोर परिणाम दर्शाती है। विशेष रुप से, आर्थिक समस्याओं का सामना करेंगे इसलिए अपने संसाधनों और भविष्य के लिए धन की बचत करना आपके लिए आवश्यक है। सट्टेबाजी जैसे किसी भी जोखिम भरे कार्यों में निवेश करने का तुरंत निर्णय लेना, आपको ज्यादा महंगा पड़ेगा।

आपको स्वास्थ्य और संबंधों से संबंधित विशिष्ट समस्याओं का सामना करना पड़ेगा। इस राशि वाले व्यक्तियों के मन और आत्मा पर, भावनात्मक असफलताओं का गंभीर प्रभाव पड़ेगा इसलिए किसी भी व्यवसाय में निवेश करने या बिजनेस पार्टनरों के साथ काम करने से पहले जागरूक रहना चाहिए। अर्थव्यवस्था और बजट के लेन-देन में पहले से ही सावधानी रखें। गोचर के दौरान, आध्यात्मिकता और धार्मिकता की भावनाओं पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का कुंभ राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Aquarius  

कुंभ राशि वाले लोगों के लिए, यह गोचर जन्मकुंडली के छठे भाव को प्रभावित करने वाला होगा। उन्हे जीवन में मिश्रित परिणाम प्राप्त हो सकते हैं। स्पष्ट रूप से शत्रुओं पर विजय तथा कानूनी विवादों में शानदार रूप से कार्यसिद्धि होने का संकेत दिखते हैं।

सफलता और उपलब्धियों की तलाश कर रहे लोगों को  सकारात्मक परिणाम दिखाई देंगे। इस गोचर के, कई आर्थिक मामलों में अत्यधिक सहायक और मददगार रहने के कारण, इस राशि वाले व्यक्तियों की आय में वृद्धि जैसे सकारात्मक परिणाम देखने को मिल सकते हैं। आपको यह भी संकेत मिल सकता है कि झगड़ों या संजीदा वाद-विवाद में पड़ने की संभावनाएं होने के कारण, किसी के भी साथ  गंभीर और अवांछित संघर्षों से बचना होगा क्योंकि यह आपको नुकसान पहुंचा सकता है।

यह व्यक्ति अधिकांश समय असुरक्षित महसूस करेंगे, जिससे उनके आत्मविश्वास में कमी देखने को मिलेगी और दूसरों पर निर्भरता बढ़ेगी। प्रतिष्ठा पर आंच आने के प्रति सतर्क रहें। इसके अलावा आपको गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं या शारीरिक चोटों का सामना करना पड़ सकता है तथा दुर्घटनाएं होने की भी संभावनाएं भी प्रबल नजर आ रही हैं। अतः जागरूकता बनाए रखें और सचेत रहें। परिवार के साथ जुड़े रहना और दोस्तों को सहयोग करना, इन व्यक्तियों के लिए महत्वपूर्ण कार्य  होगा, लेकिन संघर्षों और गलतफहमियों की संभावनाओं के चलते, ऐसे मामलों में शामिल न हों। वाणिज्य, व्यापार, चिकित्सा, बीमा, फाइनेंस, कानून, प्रशिक्षण, प्रशासन और राजनीति जैसे विभिन्न प्रमुख क्षेत्रों में कार्य करने वाले लोगों में आनंद का संचार होगा। 

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का मीन राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Pisces  

बृहस्पति का कर्क राशि में गोचर मीन राशि वाले लोगों की जन्मकुंडली के पांचवें भाव से गुजरेगा जो उनके जन्म में, फलदायक और आशाजनक परिणाम उत्पन्न करेगा। व्यवसाय और कई अन्य आर्थिक मामलों जैसे सभी क्षेत्रों में उल्लेखनीय सफलताओं के संकेत दिखते हैं। इस चरण के दौरान प्रमोशन, नौकरी में बदलाव, विदेश यात्रा, उच्च शिक्षा और विभिन्न शोधों में अवसरों की तलाश कर रहे व्यक्तियों के लिए, यह एक बहुत अच्छा समय रहने वाला है।

आपके कठोर परिश्रम और प्रयासों को आधिकारिक रूप से स्वीकारा जाएगा तथा व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन से संबंधित लाभ मिल सकता है। संतति से संबंधित सकारात्मक परिणाम, आपके घर को सुख, आनंद और प्रेम से भर देंगे। कर्क राशि में बृहस्पति के इस अत्यंत फलदायी गोचर द्वारा वर्तमान में शिक्षा, वित्त, बैंकिंग, प्रशासन, प्रशिक्षण, अनुसंधान, अर्थशास्त्र, भाषा, विज्ञान या  रचनात्मक क्षेत्र जैसे कई अन्य क्षेत्रों में कार्य कर रहे लोगों को भारी लाभ मिलेगा। कला, पेंटिंग, गायन और नृत्य जैसे रचनात्मक क्षेत्रों से संबंधित व्यक्तियों में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह देखने को मिलेगा। बेहतर आर्थिक लाभ होने के कारण, लंबित बकाया राशि को चुकाने के अवसर प्राप्त होंगे तथा  व्यक्तिगत, व्यावसायिक और सामाजिक संबंध बेहतर होने के साथ ही, भविष्य के लिए और अधिक सार्थक परिणामों की तलाश करेंगे। इस राशि वाले लोग, ज्यादा सार्थक और संतोषप्रद परिणाम हासिल करने वाले इन अवसरों के साथ, इस चरण का आनंद उठाएंगे।

बृहस्पति के अन्य राशियों में गोचर के प्रभाव के बारे में पढ़ने के लिए  बृहस्पति के सभी गोचर पर क्लिक करें।

आप यह भी पढ़ सकते हैं कि ज्योतिष उचित करियर के चयन, लव या अरेंज्ड मैरिज और बिजनेस में वृद्दि में कैसे मदद करता है।

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर और अन्य राशियों पर प्रभाव
31 Oct,2026
से
24 Jan,2027

सिंह राशि में बृहस्पति का गोचर काफी प्रभावशाली होगा. बृहस्पति जहां अपनी उच्च राशि से निकल कर अपने मित्र के घर पर आगमन करेंगे जो स्थिति के लिए सकारात्मक प्रभाव दिखाने में सहायक होगा. सिंह राशि के स्वामी सूर्य है ऐसे में बृहस्पति और सूर्य के मध्य का संबंध होने पर ज्ञान, बौद्धिकता, साहस, उत्साह तो दिखाई देगा ही वही यहां अग्नि तत्व का प्रभाव क्रोध, नेतृत्व, जिद, अहंकार के रूप में भी दिखाई देगा. ऐसे में गुरु का सिंह राशि गोचर सकारात्मक तो होगा किंतु कुछ मामलों में यह स्थिति को अपने नियंत्रण में करता दिखाई देने वाला होगा. 

सिंह राशि में बृहस्पति का फल/ Results of Jupiter transit in Leo

सिंह राशि एक अग्नि तत्व युक्त राशि है ओर सूर्य के अधिपत्य की राशि है जिसके फलस्वरूप इस में उत्साह, साहस, तीव्रता के साथ साथ परिस्थितियों का सामना करने के बेहतर क्षमता दिखाई देती है. दूसरी ओर बृहस्पति जो एक शुभ ग्रह है, ज्ञान, मान सम्मान तथा गर्व का कारक है सिंह में आते ही अपने स्वरूप में विस्तार पाएगा. समस्या को सहजता के साथ सुलझाने में सक्षम होगा. अपने प्रयासों द्वारा विशेष छाप छोड़ने वाला होगा. ईमानदारी तथा सत्यनिष्ठा का अच्छा असर दिखाई देगा. जोखिम लेने में आगे रह सकते हैं. नेतृत्व करने में तथा अपनी बात को आगे रखने में भी आगे रहने की स्थिति बनी रहेगी. नकारात्मक रूप से यह स्थिति क्रोध, अभिमान को दर्शाने वाली हो सकती है तथा सर्वेसर्वा होने की भावना को भी जागृत करने वाली होगी जो दूसरों को थोड़ा परेशानी में भी डाल सकती है. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का मेष राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Aries

बृहस्पति का मेष राशि के जातकों के लिए पंचम भाव पर गोचर होगा. बृहस्पति की स्थिति इस स्थान पर होने से आपके जीवन में मुख्य रूप से प्रेम, संबंध, शिक्षा, मित्रता, संतान इत्यादि से जुड़े मसले विशेष रूप से प्रभावित होंगे. गुरु के गोचर का ये समय सकारात्मक बदलावों को दिखाने में सहायक होगा. इस समय के दौरान छात्र अपनी शिक्षा में अच्छे स्तर को दिखाने में कामयाब भी रह सकते हैं. इस समय अवसर की प्राप्ति आने वाले भविष्य के लिए बेहतर नींव की स्थापना भी करने वाली होगी. रिश्तों में नए जुड़ाव दिखाई दे सकते हैं या किसी के प्रति आकर्षण अधिक तीव्र भी हो सकता है. प्रेम के मार्ग पर पथ बढ़ाने में तत्पर दिखाई दे सकते हैं. कुछ पुराने रिश्ते अब एक नए सिरे की शुरुआत का आगाज कर सकते हैं. संतान के सुख प्राप्ति के लिए भी ये समय काफी अच्छे परिणाम देने में सहायक बन सकता है. जो दंपत्ति संतान की कामना किए हुए हैं उन्हें इस समय कुछ सकारात्मक फलों की प्राप्ति का योग भी दिखाई देगा. दोस्तों के साथ मिलकर नए कार्यों में आगे बढ़ सकते हैं तथा अपनी ऊर्जा को बेहतर जगह पर लगाने में कामयाब भी हो पाएंगे. इस समय पर यात्राओं का योग बनेगा, कुछ गूढ़ विषयों एवं ज्ञान से जुड़े मसलों पर आपकी सोच भी विचारशीलता से प्रभावित होगी. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का वृष राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Taurus

वृषभ राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर चतुर्थ भाव पर होगा. बृहस्पति का यहां होना वृषभ राशि वालों के सुख को सर्वप्रथम प्रभावित करने वाला होगा. इस गोचर के समय जो लोग अपने निवास स्थान से दूर रह रहे हैं उन्हें घर वापसी के अवसर प्राप्त हो सकते हैं. इस समय पर कुछ चुनौतियों का सामना भी करना होगा. आपका सुख कई मामलों से प्रभावित हो सकता है लेकिन साथ ही प्राप्ति का योग भी काम करने वाला होगा. माता के स्वास्थ्य को लेकर थोड़ी चिंता रह सकती है उनके स्वभाव में भी कुछ कठोरता दिखाई दे सकती है. इस समय अपने मतभेदों को लेकर बहुत अधिक दिल में स्थान नहीं देने का सुझाव दिया जाता है क्योंकि आपके द्वारा रखा गया धैर्य ही घरेलू जीवन एवं कार्य स्थल दोनों स्थानों पर सकारात्मक रूप से काम करने वाला भी होगा. संपत्ति अथवा भूमि की खरीद फरोख्त से जुड़े कामों की शुरुआत का समय भी दिखाई देता है. वाहन, आभूषण इत्यादि की खरीदारी पर कुछ धन भी व्यय होगा. इस समय पर मानसिकता में नए विचारों का आगमन होगा जिसके चलते नए लोगों से जुड़ेंगे. कार्यस्थल पर भी कुछ बदलाव देखने को मिल सकते हैं. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का मिथुन राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Gemini

मिथुन राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर तीसरे घर पर होगा. बृहस्पति की स्थिति इस स्थान पर होने के कारण आपकी संचार शैली का प्रभाव, सामाजिक क्षेत्र में विशेष प्रयास से आगे बढ़ने के मौके मिल सकते हैं. इस समय पर काम में प्रोत्साहन के मौके मिल सकते हैं मार्केटिंग, फौजदारी, प्रबंधन से संबंधित कामों में शामिल होने के बेहतर मौके अब उभरते दिखाई देंगे. इस समय पर प्रतिस्पर्धाओं में आगे बढ़ते हुए अच्छे परिणाम के योग भी दिखाई दे सकते हैं. प्रतियोगिताओं में जयश्री पाने में सफलता भी प्राप्त होने की संभावना अधिक दिखाई दे सकते हैं. ये समय यात्रा के लिए भी विशेष रह सकता है. स्थान बदलाव का समय भी इस समय पर अधिक दिखाई देगा. यह परिवर्तन काम के सिलसिले में, धार्मिक यात्राओं को लेकर, निवास स्थान में बदलाव इत्यादि से जुड़ा रह सकता है. भाई बंधुओं के साथ कुछ मतभेद रह सकते हैं लेकिन उनके साथ मिलकर अच्छे समय का भी आनंद ले पाने में आप सफल रह सकते हैं. इस समय पर स्वास्थ्य संबंधी कुछ दिक्कतें उभर सकती हैं किंतु उचित देखभाल द्वारा इन से राहत पाने में कामयाबी भी हासिल होगी. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का कर्क राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Cancer

कर्क राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर दूसरे भाव स्थान पर होगा. गुरु के इस स्थान पर गोचर को एक शुभ गोचर अवधि के रूप में देखा जा सकता है. दूसरा घर वाणी, संवाद शैली, परिवार, धन इत्यादि से संबंधित होता है, ऐसे में गुरु के इस स्थान पर भ्रमण करने के कारण इन चीजों पर सकारात्मक प्रभाव दिखाई देगा. नेतृत्व करने की क्षमता निखार पाएगी. अपनी अभिव्यक्ति को लेकर स्वच्छंद, उन्मुक्त एवं प्रभावी दिखाई देंगे. लोगों को अपने विचारों द्वारा पक्ष में कर लेने की योग्यता भी इस समय पर अच्छे से दिखाई दे सकती है. कुटुम्ब में महत्वपूर्ण व्यक्ति के रूप में उभर सकते हैं. सामाजिक क्षेत्र में दायरा बढ़ सकता है. संपत्ति के मामले अब पक्ष में काम करते दिखाई दे सकते हैं. यदि कोई लोन या किसी प्रकार का ऋण लेने का सोचते हैं तो  ऎसे में स्थिति आपके लिए शुभदायक रह सकती है. दांपत्य जीवन में साथी का प्रेम एवं सहयोग बना रह पाएगा. कार्यक्षेत्र में अपने काम द्वारा दूसरों को आकर्षित कर पाने में सफलता मिल सकती है. खान पान को लेकर थोड़ी लापरवाही देखने को मिल सकती है इसलिए इस ओर ध्यान बना रखने की आवश्यकता होगी तथा अपनी वाणी में कठोरता से बचना व्यक्तित्व के विकास के लिए अच्छा होगा.  

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का सिंह राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Leo

सिंह राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर राशि पर अर्थात लग्न स्थान पर होगा. बृहस्पति का यह गोचर जीवन में आगे बढ़ने, निर्णय लेने की कुशलता तथा व्यक्तित्व को निखारने में सहायक होगा. ये समय कुछ विशेष बदलावों से रुबरु कराने वाला होगा. अपने व्यक्तित्व की छाप दूसरों पर छोड़ पाने में अब सफलता मिल सकती है. कुछ विशेष फैसले इस समय पर लेने में भी आगे रह सकते हैं. इस समय पर स्वभाव में कुछ कठोरता का भाव भी उजागर हो सकता है. दृढ़ता के साथ अपने फैसलों को लेकर अधिक जिद भी दिखा सकते हैं इसके परिणाम स्वरूप रिश्तों में दूरी भी झलक सकती है. संबंधों में कुछ मतभेद स्वाभाविक रूप से उभर सकते हैं ये समय जिम्मेदारियों की अधिकता वाला भी होगा. परिवार में मुख्य सदस्य के रूप में फैसले लेने को लेकर आगे रह सकते हैं. आर्थिक मसलों पर संभल कर फैसले लेने की आवश्यकता होगी. सोच विचार करके निवेश पर आगे बढ़ना बेहतर होगा. स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से ये समय कुछ असर करने वाला होगा. विवाह से संबंधित मामले आरंभ हो सकते हैं यदि विवाहित हैं तो जीवन साथी का प्रेम सहायक बनेगा. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का कन्या राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Virgo

कन्या राशि के जातकों के लिए ये बृहस्पति का गोचर द्वादश भाव पर होगा. बृहस्पति का ये गोचर कुछ सोच से विपरीत दिखाई दे सकता है. इस समय के दौरान समय अचानक से होने वाले उतार-चढ़ावों को दिखाने वाला भी होगा. इस समय पर बारहवां भाव अधिक असर में होगा जो खर्चों की अधिकता के साथ-साथ विचारों में दूरदर्शिता का अभाव, स्वास्थ्य से जुड़ी जटिलताओं से प्रभावित करने वाला भी हो सकता है. अभी के समय पर सर्वप्रथम बात इस ओर ध्यान देने की होगी की जल्दबाजी के निर्णयों को लेने से बचना चाहिए. यदि सकारात्मक पक्ष की बात करें तो ये समय विदेश यात्रा के लिए खास रह सकता है. विदेशी कार्यों से जुड़ कर धन लाभ प्राप्ति के योग भी बन सकते हैं. कुछ लम्बी दुरी की यात्राओं में धन का व्यय भी अधिक रह सकता है. अनिद्रा एवं बेचैनी का असर सेहत पर दिखाई दे सकता है. अस्पताल के कुछ अधिक चक्कर भी इस समय पर लगाने पड़ सकते हैं. ये समय आश्रम से जुड़ने एवं आध्यात्मिक क्षेत्र में काम करने के लिए विशेष रह सकता है. जीवन साथी के साथ कुछ तालमेल की कमी तथा प्रेम संबंधों में भी कमी की स्थिति प्रभावित कर सकती है. शैय्या सुख की कमी भी गुरु के गोचर के कारण असर डालने वाली हो सकती है. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का तुला राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Libra

तुला राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर एकादश भाव में होगा. आय के भाव में गुरु की स्थिति वृद्धि के संकेत देने वाली होगी. कुछ अच्छे संकेतों की प्राप्ति भी होगी. इस समय पर सकारात्मक रूप से आगे बढ़ने के अवसर भी प्राप्त हो सकते हैं. सामाजिक क्षेत्र में किए जाने वाले कार्यों में भूमिका विशेष रहने वाली है. निकटस्थ बंधुओं से कुछ मतांतर उत्पन्न हो सकते हैं लेकिन जल्द ही निवारण भी होगा. बड़े बंधुओं का सहयोग कार्यों में आगे बढ़ने के लिए अच्छे मार्गदर्शन को दर्शा सकता है. गोचर के इस समय पर नौकरी में पद प्राप्ति एवं कुछ लाभ के अवसर भी दिखाई देंगे. अपने समक्ष मौजूद चुनौतियों से निपटने में कामयाबी हासिल हो सकती है महत्वाकांक्षाओं को नई उड़ान भी मिलेगी. ये समय लम्बी दूरी की यात्राओं का होगा. मित्रों का सहयोग अपने जीवन में भी गहराई तक देख पाएंगे. कुछ विशेष अवसरों पर विशिष्ट लोगों के साथ मेलजोल बढ़ेगा. मिलेंगी. घरेलू जीवन में भी अपनों का सहयोग काम आएगा. शिक्षा के क्षेत्र में बेहतर मौके होंगे तथा उच्च शिक्षा प्राप्ति के मार्ग पर आगे बढ़ पाने की ओर अच्छे कदम उठा सकते हैं. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का वृश्चिक राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Scorpio

वृश्चिक राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर दशम भाव पर होगा. दसवां घर नौकरी, व्यवसाय क्षेत्र, पद प्रतिष्ठा, पिता से संबंधित मामलों को विशेष रूप से प्रभावित करता है. ऐसे में बृहस्पति का इस स्थान पर होना आपके जीवन में कार्यक्षेत्र से संबंधित कई तरह के बदलाव दिखाने वाला रह सकता है. इस समय के दौरान काम में बदलाव की प्रबल संभावनाएं उभर सकती हैं. अपने सोचे हुए फैसलों पर अब आगे बढ़ने का अवसर भी मिल सकता है.  काम के सिलसिले में यात्राएं भी होंगी तथा अधिकारियों के साथ विशेष संबंध भी स्थापित हो पाएंगे. सरकारी क्षेत्र में ये समय विशेष रहेगा. काम की तलाश अब पूरी हो सकती है. काम में स्थान परिवर्तन, पद प्राप्ति, विशिष्ठ अधिकारियों के साथ मुलाकातों का दौर भी इस गोचर अवधि के समय प्रत्यक्ष रूप से सामने दिखाई दे सकता है. कार्यस्थल पर नेतृत्व करने का अवसर भी प्राप्त हो सकता है. जिम्मेदारियों की अधिकता चिंता और अनिश्चितता भी देने वाली होगी. आर्थिक मसलों के लिए स्थिति अनुकूल रह सकती है. घर परिवार में रिश्तों का प्रेम भी मिल पाएगा. कुछ वस्तुओं की प्राप्ति होगी तो परिश्रम का बेहतर परिणाम भी देखने को मिल सकता है. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का धनु राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Sagittarius

धनु राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर नवम भाव पर होगा. गुरु का यह गोचर शुभ एवं सकारात्मकता दिलाने वाला माना गया है. इस समय पर आध्यात्मिक विचारधारा के साथ साथ नवीन दृष्टिकोण से जुड़ने के लिए तैयार दिखाई देंगे. सामाजिक क्षेत्र में किए गए कार्य अथवा व्यक्तिगत रूप से किए जाने वाले कार्यों में सम्मान प्राप्ति भी संभव होगी. पिता एवं वरिष्ठ लोगों के सहयोग द्वारा जीवन को बेहतर रूप से जीने तथा अपने लिए सफलताओं का मार्ग प्रशस्त कर पाने में सफलता हासिल होगी. नवम भाव अध्यात्म का घर होता है इसलिए गुरु की यहां पर स्थिति विचारों में जो प्रखरता लाने वाली होगी वह दूसरों को भी प्रभावित करेगी. धार्मिक कार्यों से जुड़ने का अवसर मिलेगा. कुछ धार्मिक यात्राओं पर जाने का मौका भी प्राप्त हो सकता है. इस समय के दौरान सामाजिक क्षेत्र में कुछ काम करने के प्रति भी अधिक जागरूक दिखाई दे सकते हैं. योजनाएं अब इस समय पर कार्यान्वित भी हो सकती हैं. विवाह का सुख एवं जीवन साथी के सहयोग को प्राप्त कर पाएंगे. संतान सुख का समय भी होगा तथा संतान गर्व एवं सम्मान दिलाने वाली होगी. परिवार के साथ मिलकर आनंद के पलों को व्यतीत कर पाने में सफल होंगे. इस समय पर पैरों जोड़ों में कुछ दर्द की शिकायत मुख्य रूप से उभर सकती है अथवा पित्त की अधिकता भी कुछ परेशान कर सकती है किंतु स्थिति नियंत्रित रहेगी तथा स्वास्थ्य लाभ भी प्राप्त कर पाएंगे. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का मकर राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Capricorn

मकर राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर आठवे घर पर होगा. बृहस्पति का अष्टम भाव गोचर चुनौतियों एवं जिम्मेदारियों की अधिकता को दर्शाने वाला हो सकता है. इस समय के दौरान स्थितियां कई बार अनियंत्रित सी दिखाई दे सकती हैं. अष्टम स्थान एक महत्वपूर्ण स्थान है जो जीवन में होने वाले बदलावों, बाधाओं, विलंब, रहस्य को दर्शाता है. गुरु की इस स्थान पर गोचर की स्थिति इन सभी बातों पर असर डालने वाली होती है. इस कारण से आठवें घर पर गुरु के आने पर गंभीरता से लिए जाने वाले निर्णयों की ओर झुकाव रखना अधिक अनुकूल रह सकता है. इस समय क्रोध या बेचैनी से कुछ हासिल नहीं होता है. जितना संयम रख पाएंगे उतना ही स्थिति को अपने अनुरूप कर पाने में भी सफल होंगे. इस समय के दौरान काम का होना देरी या अटकाव की स्थिति से अधिक प्रभावित हो सकता है. गुप्त परियोजनाएं इस समय उजागर भी हो सकती है तो कुछ शोध कार्यों को ये समय अच्छे परिणाम दिलाने में भी सकारात्मक भूमिका दर्शा सकता है. प्रेम संबंधों की बात हो अथवा घरेलू मुद्दे आपके लिए ये समय काफी असमंजस वाला रह सकता है. दुखद एवं कष्ट की स्थिति भी जीवन पर असर डाल सकती है. दुर्घटना एवं स्वास्थ्य संबंधी चिंताओं से भी रुबरु होना पड़ सकता है. इस कारण से ये समय विशेष सावधानी से व्यतीत करने का होता है. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का कुंभ राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Aquarius

कुंभ राशि के जातकों के लिए गुरु का गोचर सातवें घर पर होगा. गुरु के गोचर की सप्तमस्थ स्थिति आपके जीवन में प्रेम एवं रिश्तों का नया तानाबाना बुन सकती है. गुरु ग्रह सातवें घर से संबंधित मामलों को प्रभावित करने वाले होंगे और जीवन पर इन का गहरा असर भी दिखाई देगा. इस समय के दौरान विवाह एवं दाम्पत्य जीवन से संबंधित मसले जीवन को प्रभावित कर सकते हैं. अविवाहित लोगों के रिश्ते होने की प्रबल संभनाएं विकसित होती दिखाई देंगी. विवाहितों को अपने दांपत्य जीवन में कुछ बदलाव दिखाई दे सकते हैं. रिश्तों में विचारों का टकराव हो सकता है तो वहीं जीवन साथी से जुड़े स्वास्थ्य संबंधी मामले कार्यक्षेत्र की स्थिति या पारिवारिक जीवन असर डालने वाला होगा. दूसरी ओर यह गोचर कारोबार को भी प्रभावित करेगा. साझेदारी में काम कर रहे लोग लाभ प्राप्त कर सकते हैं या फिर कोई नई पार्ट्नरशिप से जुड़ने के लिए भी तैयार हो सकते हैं. आर्थिक क्षेत्र में स्थिति कुछ अनुकूल फलों को देने में सहायक होगी. सामाजिक प्रतिष्ठा का अवसर भी प्राप्त हो सकता है. इस समय पर विशेष रूप से कठोर व्यवहार को नम्र बना रखने से प्रेम की प्रगाढ़ता को पाने में सफल रह सकते हैं. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का मीन राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Pisces

मीन राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर छठे भाव पर होगा. गुरु का इस स्थान पर जाना कई मायनों में खास रह सकता है. छठा भाव प्रतियोगिताओं का स्थान होता है तो इसके कारण जीवन के अनेक क्षेत्रों में इन प्रतिस्पर्धाओं में शामिल होना पड़ सकता है और न चाहते हुए भी इसका हिस्सा बन सकते हैं. दूसरी यह स्थान शत्रु पक्ष को भी दर्शाता जिसके परिणाम स्वरूप विरोधियों का स्वर अधिक तीव्र रह सकता है. कार्यक्षेत्र हो अथवा घरेलू पक्ष दोनों ही स्थानों पर स्वयं को स्थापित करने की होड़ बनी रह सकती है. खुद की संभावनाओं की तलाश भी इस समय पर अधिक दिखाई देगी. इस गोचर के दौरान आत्मविश्वास एवं दृढ़ता बेहतर साथी बन सकते हैं किंतु जल्दबाजी जिद एवं क्रोध नकारात्मक पक्ष के लिए जिम्मेदार भी बन सकते हैं. इस समय निर्णयों को लेते हुए समझदारी के साथ आगे बढ़ना जरूरी होगा. स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से कुछ रोग परेशानी देंगे. पेट, लीवर, हड्डी एवं नसों से जुड़े रोग उभर सकते हैं. स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही से बचते हुए ही इस समय को अपने लिए पक्ष में देख सकते हैं.

बृहस्पति के अन्य राशियों में गोचर के प्रभाव के बारे में पढ़ने के लिए  बृहस्पति के सभी गोचर पर क्लिक करें।

आप यह भी पढ़ सकते हैं कि ज्योतिष उचित करियर के चयनलव या अरेंज्ड मैरिज और बिजनेस में वृद्दि में कैसे मदद करता है।

कर्क राशि में बृहस्पति का गोचर/ Jupiter Transit in Cancer
25 Jan,2027
से
26 Jun,2027

वैदिक ज्योतिष के अनुसार, शांत और स्थिर चंद्रमा द्वारा शासित कर्क राशि ऐसी जल राशि है जो  बृहस्पति के एक सुखद ग्रह होने की पुष्टि करती है क्योंकि कर्क राशि पर बृहस्पति गोचर के दौरान उच्च का हो सकता है। यह स्थायी रूप से कई लग्नों पर, उनके क्रम-विकास और प्रकृति के अनुसार महत्वपूर्ण प्रभाव डालता है। वैदिक ज्योतिष के अनुसार कर्क राशि में बृहस्पति गोचर/Jupiter transit in cancer के समृद्धशाली अध्ययन के अनुसार, यह मेष लग्न में जन्मे लोगों के लिए अत्यधिक शुभ और धार्मिक प्रतीत होता है। चलिए जानते हैं कि आपकी राशि पर इस गोचर का क्या प्रभाव पड़ेगा। 

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का मेष राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Aries

यह गोचर, मेष राशि वालों की जन्मकुंडली के चौथे भाव से होकर गुजरेगा। वैदिक ज्योतिष की कुंडली रीडिंग के अनुसार, यह पैतृक भूमि या किसी नई संपत्ति द्वारा संपत्ति अर्जित करने की संभावनाओं वाले कुछ महत्वपूर्ण कारकों पर प्रकाश डालता है। नया वाहन या घर की खरीदारी में निवेश करने के अवसर मिलने की संभावनाएं हैं, जो इन लोगों के लिए अत्यधिक भाग्यशाली साबित होने वाला बनाता है। उच्च शिक्षा के लिए विदेश जाने का प्रयास कर रहे लोगों को, इस अवधि के दौरान कोई सुनहरा अवसर मिल सकता है।

दसवें भाव पर बृहस्पति का स्पष्ट और अनुकूल गोचरसमृद्धशाली सकारात्मकता का मार्ग दिखाकर व्यावसायिक दृष्टिकोण में वृद्धि करेगा जिससे न सिर्फ आपका व्यावसायिक जीवन बेहतर होगा, बल्कि आपकी आय भी बढ़ेगी। यद्यपि, बृहस्पति नौवें भाव का स्वामी है, इसलिए चौथे भाव में बृहस्पति का गोचर होने के कारण, व्यक्ति के माता-पिता को भी आशावादी परिणामों की प्राप्ति होगी और जल्दी ही, परिवार में एक विशाल उत्सव होगा।

उच्च के बृहस्पति का कर्क राशि में गोचर, विवाह और किसी महिला के साथ अंतरंग संबंधों के लिए श्रेष्ठ होता है इसलिए विवाह करने के इच्छुक लोगों के लिए यह एक अच्छा अवसर है। व्यापार या बसने के लिए विदेश जाने की योजना बना रहे लोग भी, भाग्यशाली रहेंगे। इस अवधि के दौरान, ट्रांस्फर की भी संभवना है। लोग विवाह, तीर्थयात्रा, किसी अन्य धार्मिक स्थान पर जाने या किसी शुभ कार्यक्रम में शामिल होने जैसे अवसरों तथा सभी अच्छी और उत्पादक चीजों पर धन का खर्च करेंगे। कुंडली का अध्ययन यह सुनिश्चित करता है कि यह व्यक्ति, किसी भी प्रकार की दुर्घटना या चोट से सुरक्षित और सकुशल रहेंगे। मेष लग्न पर, बृहस्पति की महादशा से गुजरने का सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का वृषभ राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Taurus

यह गोचर, वृषभ राशि वालों की जन्मकुंडली के तीसरे भाव को प्रभावित करेगा, जो उनकी लग्न कुंडली के तीसरे भाव के लिए सहयोगी और अनुकूल नहीं है। इस योग का अर्थ है कि आपको भाई-बहनों के साथ कुछ विशेष समस्याओं का सामना करना पड़ेगा, जिनसे आपके संबंध प्रभावित हो सकते हैं। अतः, इसका उचित ख्याल रखना चाहिए।

इसके साथ ही, स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से संबंधित दुर्घटनाओं एवं बीमारियों की संभावनाओं के चलते, अगर आप अपना और अपने माता-पिता का उचित ख्याल रखेंगे तो यह मददगार रहेगा।

धन लाभ और आर्थिक स्थिरता पर ध्यान देते हुए, इस अच्छे समय में जमीन, संपत्ति या मकान में निवेश करें। शिक्षा, राजनीति, समाज सेवा, न्यायपालिका और कानून जैसे क्षेत्रों में कार्यरत लोगों को लाभ होगा तथा लगातार प्रयासों और कठोर परिश्रम के चलते, आप विदेश यात्राओं पर भी जा सकते हैं।

वैवाहिक दृष्टि से, बृहस्पति का यह संक्रमण इतना सहायक नहीं है क्योंकि मार्ग में निरंतरता आने वाले संघर्षपूर्ण अवरोधों के कारण, विवाह की तिथि और उसका अंतिम रूप बनाने में देरी होगी। प्रेम विवाह की योजना बनाने पर, किसी भी भावनात्मक असफलता से बचने का फैसला करने पर, अपने दृष्टिकोण के प्रति अत्यधिक सावधान रहें तथा जीवन में आगे बढ़ने के लिए प्रत्येक चीज को जांच-परखकर सुनिश्चित कर ही निर्णय लें।

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का मिथुन राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Gemini 

बृहस्पति का गोचर, मिथुन लग्न वालों की जन्मकुंडली के दूसरे भाव को प्रभावित करेगा। यह परिवार और संबंधों के संबंध में सहायक परिणामों को सुनिश्चित करेगा। कुंडली का अध्ययन, विभिन्न समारोहों और विवाह के बारे में स्पष्ट रूप से बताता है। बृहस्पति के जन्मकुंडली के दूसरे भाव में गोचर करने पर, अच्छे परिणामों की उम्मीद करने वाले लोगों पर ग्रहों का भारी प्रभाव पड़ेगा। विवाह, संतति या बच्चे के जन्म के कारण, परिवार सौभाग्यशाली और सुखी रहेगा।

बृहस्पति गोचर के प्रभाव विशेष रूप से आर्थिक मोर्चे पर देखने को मिल सकता है, लेकिन स्थिति में भी सुधार होने से शिक्षा, राजनीति, भाषा, प्रशासन, साहित्य, प्रकाशन और विज्ञापनों में कार्यरत लोगों का दृष्टिकोण आशावादी होगा। परिवार में अक्सर रहने वाले तनावों को आप अपनी सूझबूझ, ज्ञान और अनुभव से उन सभी को सुलझा लेंगे। बिजनेस या आर्थिक साझेदारी से संबंधित लोगों को जागरूक रहना चाहिए।

आपको विभिन्न अवसरों पर अवांछित और अनावश्यक समस्याओं का सामना करना पड़ेगा। विशेष स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं की संभावनाओं के चलते, स्वास्थ्य की देखभाल करना आवश्यक है। साथ ही, अपने माता-पिता को सुखी और संतुष्ट रखने की कोशिश करें।

 

कर्क राशि पर बृहस्पति के गोचर का कर्क राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Cancer

बृहस्पति का गोचर, कर्क राशि वाले लोगों की लग्न कुंडली कही जाने वाली जन्मकुंडली के पहले भाव को प्रभावित करेगा, जो सभी पहलुओं के आशाजनक और सहयोग देने वाले परिणामों को दर्शाता है। कुंडली का अध्ययन प्रसिद्धि, प्रतिष्ठा, सफलता, और जीत का संकेत देता है। जिन लोगों को कानूनी त्रुटियां और विवादास्पद विभिन्न समस्या हैं, वह जल्दी ही सुलझ जाएंगे तथा जल्दी ही सफलता मिलने के कारण, सकारात्मक समाचारों की प्राप्ति होगी, जिससे आपका जीवन सुख और समृद्धि से परिपूर्ण होगा। मजबूत संबंधों को स्थापित करने के लिए विभिन्न संघर्षों और विरोधाभास को हल करने पर ध्यान देना चाहिए। राशिफल की रीडिंग कहती है कि समय बीतने के साथ परिवार, विवाह और संबंध बेहतर हो जाएंगे। आपके विवाह को अंतिम रूप देने और शादी की तारीख में देरी हो सकती है। सभी लंबित कार्यों और परियोजनाओं के समय पर पूरा होने के कारण, आप आमोद-प्रमोद और आनंद से परिपूर्ण रहेंगे‌। खुद का घर, निवास स्थान, पुनर्वास या विदेश यात्रा का विचार बना रहे लोगों का सफ़र जल्दी ही शुरू होगा। अधिक आय, भुगतान और बकाया राशि को समाप्त कर सकती है यह गोचर।

आप कुछ धार्मिक स्थलों या तीर्थ यात्राओं पर भी जा सकते हैं। सेना, खेल, धर्म, बैंकिंग, शिक्षा, चिकित्सा और न्यायपालिका में कार्यरत व्यक्तियों के लिए यह आनंदित रहने वाला समय साबित हो सकता है। नए व्यावसायिक उपक्रमों में निवेश करने के इच्छुक लोगों के लिए, यह आगे बढ़ने का उचित समय है।

 

सिंह राशि पर बृहस्पति के गोचर का कर्क राशि में प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Leo 

बृहस्पति, सिंह राशि वाले व्यक्तियों की लग्न कुंडली कही जाने वाली जन्मकुंडली के बारहवें भाव को प्रभावित करेगा, जो उनके जन्म में मिश्रित परिणाम लाएगा। आखिरकार, यह आकर्षित करने वाली विदेश यात्राओं या विदेश में बसने जैसे कई आशाजनक परिणामों को दर्शाता है। इसके साथ ही, धार्मिक और आध्यात्मिक संपन्नता को आगे बढ़ाने पर भी ध्यान देना चाहिए। उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए किसी विदेशी विश्वविद्यालय में पढ़ने के इच्छुक लोगों को, इस अवधि के दौरान अवसरों की प्राप्ति होगी। शारीरिक रूप से थकान देने वाली, विभिन्न स्थानों या स्थलों की यात्रा करना पूर्व निर्धारित है इसलिए निश्चित रूप से, आपको अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना चाहिए। विवाह, संतान और उच्च शिक्षा जैसे विभिन्न क्षेत्रों में धन का खर्च होगा।

शेयर बाजार, व्यापार या किसी जोखिम भरे कार्यों से संबंधित लोगों को, गंभीर आर्थिक नुकसान का सामना करना पड़ेगा लेकिन प्रमोशन या वेतनवृद्धि की उम्मीद कर रहे लोगों के लिए यह उत्तम समय होगा। इस राशि वाले व्यक्तियों को, अत्यधिक लाभकारी परिणाम प्राप्त करने के लिए, व्यावसायिक उद्देश्य वाली संपत्तियों को खरीदने में निवेश करना चाहिए। संतान के आने के कारण आपका जीवन सुख, आनंद और समृद्धि से परिपूर्ण हो जाएगा। बच्चों को कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ेगा, जिन्हें आपको सावधानीपूर्वक निपटाना चाहिए। होटल, बीमा, प्रबंधन, फैशन, इंटीरियर डिडाईन, शिक्षा, परिवहन, और निर्माण या रेस्तरां जैसे विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत इस राशि वाले व्यक्तियों की कार्यकुशलता लाभकारी रहेगी।

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का कन्या राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Virgo

बृहस्पति का गोचर, कन्या राशि वाले व्यक्तियों की लग्न कुंडली कही जाने वाली जन्मकुंडली के ग्यारहवें भाव से होकर गुजरने के कारण, आपको संबंधों और परिवार का अत्यधिक सहयोग मिलेगा। विवाह और संतान से संबंधित अध्ययन, विवाह और संतान के लिए सकारात्मक और उत्तम परिणामों को दर्शाता है।  पार्टनर की तलाश कर रहे या विवाह के इच्छुक लोगों के लिए यह एक अच्छा समय साबित हो सकता है। प्राप्त लाभ को संपत्ति, घर के नवीनीकरण में निवेश करेंगे और थोड़े ही समय में, अत्यधिक आशावादी परिणाम प्राप्त करेंगे।

बृहस्पति का गोचर सामाजिक दायरे, परिवार, विशेष रूप से बड़े भाई-बहनों के साथ, संघर्ष या विवाद और अराजकता उत्पन्न करता है। साथ ही, आपको विशिष्ट आर्थिक, व्यवसाय से संबंधित परेशानियों और गंभीर गलतफहमियों का सामना करना पड़ सकता है। अतः, जागरूक रहें। इसके अलावा विभिन्न पारिवारिक, आर्थिक और अन्य मामलों में साजिश और बुरे इरादों की संभावनाओं से उचित तरीके से निपटने की आवश्यकता है।

आपके बच्चों और जीवनसाथी को स्वास्थ्य संबंधी कई समस्याओं का सामना करना पड़ेगा जिनके चलतेआपको अपने बच्चों की उचित देखभाल करने की आवश्यकता हो सकती है। इसके अलावा, आरामदायक भविष्य के लिए धन और संसाधनों की बचत करने का निश्चय करना चाहिए। 

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का तुला राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Libra 

तुला लग्न में बृहस्पति का यह गोचर, जन्मकुंडली के दसवें भाव की लग्न कुंडली से गुजरने पर जन्म के लिए मिश्रित परिणाम देने के कारण, शत्रुओं पर सभी कानूनी विवादों पर जीत मिलेगी। विभिन्न संघर्षों और अंतर्विरोधों में लिप्त होने की संभावनाओं के चलते, व्यक्तिगत, व्यावसायिक और सामाजिक बंधनों को मजबूती के साथ स्थापित करने के लिए अपनी बोली के प्रति सचेत रहना होगा। यह गोचर, विभिन्न व्यावसायिक योजनाओं और नई पद्धतियों में निवेश करने जैसे विभिन्न व्यावसायिक कार्यों में अधिक आजादी सुनिश्चित करने में अत्यधिक सहयोगी रहेगा तथा मेडिसिन, व्यापार, परिवहन, शिक्षा, न्यायपालिका, खेल, राजनीति, काउंसलिंग जैसे अन्य विभिन्न क्षेत्रों में नौकरी के अवसरों की तलाश करने वाले व्यक्तियों को सकारात्मक परिणाम मिलने की संभावना प्रबल है।

लगातार चलने वाली आर्थिक समस्याओं के साथ ही अधिक आमदनी भी आएगी। इस राशि वाले व्यक्ति, अपनी व्यावसायिक आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए उधार या कोई आर्थिक मदद ले सकते हैं, इस दौरान आप अपनी इस प्रक्रिया को आगे बढ़ा सकते हैं। साथ ही, अधिक लाभ प्राप्त करने के लिए अपने संसाधनों और धन की आवश्यक रूप से बचत करनी चाहिए क्योंकि आपकी कुंडली बताती है कि आपके परिवार को माता-पिता और जीवनसाथी से संबंधित  विशिष्ट चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। नवविवाहित लोगों को, सावधानीपूर्वक अपने मित्रों, परिवार और सभी लोगों के साथ अत्यधिक आक्रामक और हावी होने से बचना चाहिए।

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का वृश्चिक राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Scorpio

बृहस्पति का यह गोचर वृश्चिक राशि वालों की कुंडली के नवम भाव को प्रभावित करेगा, जो जीवन के हर पहलू के लिए अत्यंत सहयोगी, लाभकारी और समृद्धिशाली रहेगा। इसका अध्ययन आपके जीवन में सौभाग्य, सफलता और सकारात्मक ऊर्जा को दर्शाने के साथ ही, बताता है कि आपका व्यवसायिक, आर्थिक और सामाजिक जीवन की स्थितियां को कैसे बेहतर कर सकता है। इस अवधि के दौरान, इस राशि वाले लोगों को कई सामाजिक और पारिवारिक कार्यक्रमों में हिस्सा लेने के अवसर मिलेंगे। गंभीर स्वास्थ्य, कानूनी तथा करियर में बाधक समस्याओं का सामना करने वाले व्यक्ति, इन सभी समस्याओं के समाप्त होने की उम्मीद करना शुरू कर सकते हैं। 

व्यावसायिक जीवन में प्रमोशन, वेतनवृद्धि और अन्य परिणामों जैसे महत्वपूर्ण सकारात्मक बदलावों के साथ ही मित्रों, भाई-बहनों और संबंधों में पड़ी गांठों तथा सामाजिक स्थिति में भी अत्यधिक सुधार आएगा। आपकी कुंडली बता सकती है कि यह शिक्षा और पठन-पाठन से संबंधित लोगों को भी अत्यधिक प्रोत्साहित करने वाला होगा कि नहीं। 

इस राशि वाले व्यक्तियों को, बिजनेस या शैक्षिक उद्देश्यों के लिए विदेशों का अनुभव करने के अवसर मिलेंगे तथा एक प्रतिष्ठित और प्रख्यात संस्थान में प्रवेश लें पाएंगे।

जैसे-जैसे आपकी आमदनी में वृद्धि होगी, आर्थिक समस्याएं दूर होती जाएंगी, लेकिन एक आरामदायक भविष्य की योजना बनाने के लिए, अपनी बचत क्षमता को बढ़ाने पर ध्यान देना चाहिए। परिवार में संतान के आने के साथ संबंधों और पारिवारिक समस्याभी आसानी से खत्म हो जाएंगे। सरकारी सेवा, धर्म, बैंकिंग, फाइनेंस, कानून, न्यायपालिका, चिकित्सा, व्यापार और विभिन्न सामाजिक क्षेत्रों से संबंधित व्यक्ति अत्यधिक सफलता प्राप्त करेंगे।

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का धनु राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Sagittarius 

प्रबल बृहस्पति, धनु राशि वालों की कुंडली के आष्टम भाव को प्रभावित करेगा, जो विशेष रुप से व्यक्ति के जीवन में कुछ उथल-पुथल उत्पन्न कर सकता है और इस परिवर्तन काल में उच्च का होने के कारण, घटनाओं के सकारात्मक परिणामों को सीमित करेगा। शारीरिक चोट और पुराने रोगों के फिर से होने की भी संभावनाएं बनी हुई हैं।

व्यक्तिगत, व्यावसायिक और सामाजिक जीवन को यथावत बनाए रखने के लिए, इस राशि वाले व्यक्तियों को जीवन में कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है तथा इस गोचर के दौरान, यह व्यक्ति धर्म और अध्यात्म का अनुसरण कर सकते हैं। इसके साथ ही अध्ययन कर रहे या शिक्षा के क्षेत्र में कार्य कर रहे लोगों के लिए, यह गोचर अत्यधिक सकारात्मक रहेगा तथा विशेष रूप से, धन और संपत्ति में सकारात्मक परिणामों की प्राप्ति  सुनिश्चित करेगा। हालांकि, अधिक आमदनी के लिए हमेशा किसी न किसी चीज़ में व्यस्त रहते हुए, अत्यधिक कड़ी मेहनत करने की अपेक्षा की जाती है। विवाह के बारे में सोच रहे व्यक्तियों को, अपनी योजना को अंतिम रूप देने के लिए बाधाओं या देरी का सामना करना पड़ सकता है।

बेहतरी के लिए लगातार परिश्रम और प्रयास करने पर आपको सफल परिणाम दिखाई दे सकते हैं। समाज सेवा, धर्म, खनन, अध्यात्म, कृषि, अनुसंधान और मनोरंजन जैसे विभिन्न क्षेत्रों में समय लगाने और प्रयास करने वाले व्यक्तियों के लिए, यह गोचर अत्यधिक लाभकारी साबित हो सकता है। चाहे कुछ भी हो, आपको जीवन में सफलता पाने के लिए कठोर परिश्रम करना चाहिए।

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का मकर राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Capricorn 

मकर लग्न वाले लोगों के लिए, बृहस्पति का गोचर का प्रभाव उनकी कुंडली के सातवें भाव पर होगा। हालांकि, ध्यान रखने योग्य बात यह है कि कर्क राशि में बृहस्पति का गोचर, मिथुन राशि से बेहतर है जो आपकी लग्न कुंडली के छठे भाव में आता है। बृहस्पति तीसरे और बारहवें भाव पर शासन करने के कारण, कुछ अनिश्चित परिणाम लाएगा।

इन लोगों को दुनिया भर में यात्रा करने और दुनिया के अलग अलग जगहों को देखने के अवसर मिल सकते हैं जिसके कारण, विदेश यात्रा पर जाकर प्रकृति के सौंदर्य को निहारने का मौका मिल सकता है। प्रमोशन और नौकरी में ट्रांस्फर की तलाश कर रहे लोगों को, सकारात्मक परिणामों की प्राप्ति होगी। हालांकि, आपकी अर्थव्यवस्था अस्थिर और कमजोर परिणाम दर्शाती है। विशेष रुप से, आर्थिक समस्याओं का सामना करेंगे इसलिए अपने संसाधनों और भविष्य के लिए धन की बचत करना आपके लिए आवश्यक है। सट्टेबाजी जैसे किसी भी जोखिम भरे कार्यों में निवेश करने का तुरंत निर्णय लेना, आपको ज्यादा महंगा पड़ेगा।

आपको स्वास्थ्य और संबंधों से संबंधित विशिष्ट समस्याओं का सामना करना पड़ेगा। इस राशि वाले व्यक्तियों के मन और आत्मा पर, भावनात्मक असफलताओं का गंभीर प्रभाव पड़ेगा इसलिए किसी भी व्यवसाय में निवेश करने या बिजनेस पार्टनरों के साथ काम करने से पहले जागरूक रहना चाहिए। अर्थव्यवस्था और बजट के लेन-देन में पहले से ही सावधानी रखें। गोचर के दौरान, आध्यात्मिकता और धार्मिकता की भावनाओं पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का कुंभ राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Aquarius  

कुंभ राशि वाले लोगों के लिए, यह गोचर जन्मकुंडली के छठे भाव को प्रभावित करने वाला होगा। उन्हे जीवन में मिश्रित परिणाम प्राप्त हो सकते हैं। स्पष्ट रूप से शत्रुओं पर विजय तथा कानूनी विवादों में शानदार रूप से कार्यसिद्धि होने का संकेत दिखते हैं।

सफलता और उपलब्धियों की तलाश कर रहे लोगों को  सकारात्मक परिणाम दिखाई देंगे। इस गोचर के, कई आर्थिक मामलों में अत्यधिक सहायक और मददगार रहने के कारण, इस राशि वाले व्यक्तियों की आय में वृद्धि जैसे सकारात्मक परिणाम देखने को मिल सकते हैं। आपको यह भी संकेत मिल सकता है कि झगड़ों या संजीदा वाद-विवाद में पड़ने की संभावनाएं होने के कारण, किसी के भी साथ  गंभीर और अवांछित संघर्षों से बचना होगा क्योंकि यह आपको नुकसान पहुंचा सकता है।

यह व्यक्ति अधिकांश समय असुरक्षित महसूस करेंगे, जिससे उनके आत्मविश्वास में कमी देखने को मिलेगी और दूसरों पर निर्भरता बढ़ेगी। प्रतिष्ठा पर आंच आने के प्रति सतर्क रहें। इसके अलावा आपको गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं या शारीरिक चोटों का सामना करना पड़ सकता है तथा दुर्घटनाएं होने की भी संभावनाएं भी प्रबल नजर आ रही हैं। अतः जागरूकता बनाए रखें और सचेत रहें। परिवार के साथ जुड़े रहना और दोस्तों को सहयोग करना, इन व्यक्तियों के लिए महत्वपूर्ण कार्य  होगा, लेकिन संघर्षों और गलतफहमियों की संभावनाओं के चलते, ऐसे मामलों में शामिल न हों। वाणिज्य, व्यापार, चिकित्सा, बीमा, फाइनेंस, कानून, प्रशिक्षण, प्रशासन और राजनीति जैसे विभिन्न प्रमुख क्षेत्रों में कार्य करने वाले लोगों में आनंद का संचार होगा। 

 

कर्क राशि में बृहस्पति के गोचर का मीन राशि पर प्रभाव/ Effect of Jupiter Transit in Cancer on Pisces  

बृहस्पति का कर्क राशि में गोचर मीन राशि वाले लोगों की जन्मकुंडली के पांचवें भाव से गुजरेगा जो उनके जन्म में, फलदायक और आशाजनक परिणाम उत्पन्न करेगा। व्यवसाय और कई अन्य आर्थिक मामलों जैसे सभी क्षेत्रों में उल्लेखनीय सफलताओं के संकेत दिखते हैं। इस चरण के दौरान प्रमोशन, नौकरी में बदलाव, विदेश यात्रा, उच्च शिक्षा और विभिन्न शोधों में अवसरों की तलाश कर रहे व्यक्तियों के लिए, यह एक बहुत अच्छा समय रहने वाला है।

आपके कठोर परिश्रम और प्रयासों को आधिकारिक रूप से स्वीकारा जाएगा तथा व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन से संबंधित लाभ मिल सकता है। संतति से संबंधित सकारात्मक परिणाम, आपके घर को सुख, आनंद और प्रेम से भर देंगे। कर्क राशि में बृहस्पति के इस अत्यंत फलदायी गोचर द्वारा वर्तमान में शिक्षा, वित्त, बैंकिंग, प्रशासन, प्रशिक्षण, अनुसंधान, अर्थशास्त्र, भाषा, विज्ञान या  रचनात्मक क्षेत्र जैसे कई अन्य क्षेत्रों में कार्य कर रहे लोगों को भारी लाभ मिलेगा। कला, पेंटिंग, गायन और नृत्य जैसे रचनात्मक क्षेत्रों से संबंधित व्यक्तियों में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह देखने को मिलेगा। बेहतर आर्थिक लाभ होने के कारण, लंबित बकाया राशि को चुकाने के अवसर प्राप्त होंगे तथा  व्यक्तिगत, व्यावसायिक और सामाजिक संबंध बेहतर होने के साथ ही, भविष्य के लिए और अधिक सार्थक परिणामों की तलाश करेंगे। इस राशि वाले लोग, ज्यादा सार्थक और संतोषप्रद परिणाम हासिल करने वाले इन अवसरों के साथ, इस चरण का आनंद उठाएंगे।

बृहस्पति के अन्य राशियों में गोचर के प्रभाव के बारे में पढ़ने के लिए  बृहस्पति के सभी गोचर पर क्लिक करें।

आप यह भी पढ़ सकते हैं कि ज्योतिष उचित करियर के चयन, लव या अरेंज्ड मैरिज और बिजनेस में वृद्दि में कैसे मदद करता है।

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर और अन्य राशियों पर प्रभाव
26 Jun,2027
से
25 Nov,2027

सिंह राशि में बृहस्पति का गोचर काफी प्रभावशाली होगा. बृहस्पति जहां अपनी उच्च राशि से निकल कर अपने मित्र के घर पर आगमन करेंगे जो स्थिति के लिए सकारात्मक प्रभाव दिखाने में सहायक होगा. सिंह राशि के स्वामी सूर्य है ऐसे में बृहस्पति और सूर्य के मध्य का संबंध होने पर ज्ञान, बौद्धिकता, साहस, उत्साह तो दिखाई देगा ही वही यहां अग्नि तत्व का प्रभाव क्रोध, नेतृत्व, जिद, अहंकार के रूप में भी दिखाई देगा. ऐसे में गुरु का सिंह राशि गोचर सकारात्मक तो होगा किंतु कुछ मामलों में यह स्थिति को अपने नियंत्रण में करता दिखाई देने वाला होगा. 

सिंह राशि में बृहस्पति का फल/ Results of Jupiter transit in Leo

सिंह राशि एक अग्नि तत्व युक्त राशि है ओर सूर्य के अधिपत्य की राशि है जिसके फलस्वरूप इस में उत्साह, साहस, तीव्रता के साथ साथ परिस्थितियों का सामना करने के बेहतर क्षमता दिखाई देती है. दूसरी ओर बृहस्पति जो एक शुभ ग्रह है, ज्ञान, मान सम्मान तथा गर्व का कारक है सिंह में आते ही अपने स्वरूप में विस्तार पाएगा. समस्या को सहजता के साथ सुलझाने में सक्षम होगा. अपने प्रयासों द्वारा विशेष छाप छोड़ने वाला होगा. ईमानदारी तथा सत्यनिष्ठा का अच्छा असर दिखाई देगा. जोखिम लेने में आगे रह सकते हैं. नेतृत्व करने में तथा अपनी बात को आगे रखने में भी आगे रहने की स्थिति बनी रहेगी. नकारात्मक रूप से यह स्थिति क्रोध, अभिमान को दर्शाने वाली हो सकती है तथा सर्वेसर्वा होने की भावना को भी जागृत करने वाली होगी जो दूसरों को थोड़ा परेशानी में भी डाल सकती है. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का मेष राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Aries

बृहस्पति का मेष राशि के जातकों के लिए पंचम भाव पर गोचर होगा. बृहस्पति की स्थिति इस स्थान पर होने से आपके जीवन में मुख्य रूप से प्रेम, संबंध, शिक्षा, मित्रता, संतान इत्यादि से जुड़े मसले विशेष रूप से प्रभावित होंगे. गुरु के गोचर का ये समय सकारात्मक बदलावों को दिखाने में सहायक होगा. इस समय के दौरान छात्र अपनी शिक्षा में अच्छे स्तर को दिखाने में कामयाब भी रह सकते हैं. इस समय अवसर की प्राप्ति आने वाले भविष्य के लिए बेहतर नींव की स्थापना भी करने वाली होगी. रिश्तों में नए जुड़ाव दिखाई दे सकते हैं या किसी के प्रति आकर्षण अधिक तीव्र भी हो सकता है. प्रेम के मार्ग पर पथ बढ़ाने में तत्पर दिखाई दे सकते हैं. कुछ पुराने रिश्ते अब एक नए सिरे की शुरुआत का आगाज कर सकते हैं. संतान के सुख प्राप्ति के लिए भी ये समय काफी अच्छे परिणाम देने में सहायक बन सकता है. जो दंपत्ति संतान की कामना किए हुए हैं उन्हें इस समय कुछ सकारात्मक फलों की प्राप्ति का योग भी दिखाई देगा. दोस्तों के साथ मिलकर नए कार्यों में आगे बढ़ सकते हैं तथा अपनी ऊर्जा को बेहतर जगह पर लगाने में कामयाब भी हो पाएंगे. इस समय पर यात्राओं का योग बनेगा, कुछ गूढ़ विषयों एवं ज्ञान से जुड़े मसलों पर आपकी सोच भी विचारशीलता से प्रभावित होगी. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का वृष राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Taurus

वृषभ राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर चतुर्थ भाव पर होगा. बृहस्पति का यहां होना वृषभ राशि वालों के सुख को सर्वप्रथम प्रभावित करने वाला होगा. इस गोचर के समय जो लोग अपने निवास स्थान से दूर रह रहे हैं उन्हें घर वापसी के अवसर प्राप्त हो सकते हैं. इस समय पर कुछ चुनौतियों का सामना भी करना होगा. आपका सुख कई मामलों से प्रभावित हो सकता है लेकिन साथ ही प्राप्ति का योग भी काम करने वाला होगा. माता के स्वास्थ्य को लेकर थोड़ी चिंता रह सकती है उनके स्वभाव में भी कुछ कठोरता दिखाई दे सकती है. इस समय अपने मतभेदों को लेकर बहुत अधिक दिल में स्थान नहीं देने का सुझाव दिया जाता है क्योंकि आपके द्वारा रखा गया धैर्य ही घरेलू जीवन एवं कार्य स्थल दोनों स्थानों पर सकारात्मक रूप से काम करने वाला भी होगा. संपत्ति अथवा भूमि की खरीद फरोख्त से जुड़े कामों की शुरुआत का समय भी दिखाई देता है. वाहन, आभूषण इत्यादि की खरीदारी पर कुछ धन भी व्यय होगा. इस समय पर मानसिकता में नए विचारों का आगमन होगा जिसके चलते नए लोगों से जुड़ेंगे. कार्यस्थल पर भी कुछ बदलाव देखने को मिल सकते हैं. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का मिथुन राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Gemini

मिथुन राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर तीसरे घर पर होगा. बृहस्पति की स्थिति इस स्थान पर होने के कारण आपकी संचार शैली का प्रभाव, सामाजिक क्षेत्र में विशेष प्रयास से आगे बढ़ने के मौके मिल सकते हैं. इस समय पर काम में प्रोत्साहन के मौके मिल सकते हैं मार्केटिंग, फौजदारी, प्रबंधन से संबंधित कामों में शामिल होने के बेहतर मौके अब उभरते दिखाई देंगे. इस समय पर प्रतिस्पर्धाओं में आगे बढ़ते हुए अच्छे परिणाम के योग भी दिखाई दे सकते हैं. प्रतियोगिताओं में जयश्री पाने में सफलता भी प्राप्त होने की संभावना अधिक दिखाई दे सकते हैं. ये समय यात्रा के लिए भी विशेष रह सकता है. स्थान बदलाव का समय भी इस समय पर अधिक दिखाई देगा. यह परिवर्तन काम के सिलसिले में, धार्मिक यात्राओं को लेकर, निवास स्थान में बदलाव इत्यादि से जुड़ा रह सकता है. भाई बंधुओं के साथ कुछ मतभेद रह सकते हैं लेकिन उनके साथ मिलकर अच्छे समय का भी आनंद ले पाने में आप सफल रह सकते हैं. इस समय पर स्वास्थ्य संबंधी कुछ दिक्कतें उभर सकती हैं किंतु उचित देखभाल द्वारा इन से राहत पाने में कामयाबी भी हासिल होगी. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का कर्क राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Cancer

कर्क राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर दूसरे भाव स्थान पर होगा. गुरु के इस स्थान पर गोचर को एक शुभ गोचर अवधि के रूप में देखा जा सकता है. दूसरा घर वाणी, संवाद शैली, परिवार, धन इत्यादि से संबंधित होता है, ऐसे में गुरु के इस स्थान पर भ्रमण करने के कारण इन चीजों पर सकारात्मक प्रभाव दिखाई देगा. नेतृत्व करने की क्षमता निखार पाएगी. अपनी अभिव्यक्ति को लेकर स्वच्छंद, उन्मुक्त एवं प्रभावी दिखाई देंगे. लोगों को अपने विचारों द्वारा पक्ष में कर लेने की योग्यता भी इस समय पर अच्छे से दिखाई दे सकती है. कुटुम्ब में महत्वपूर्ण व्यक्ति के रूप में उभर सकते हैं. सामाजिक क्षेत्र में दायरा बढ़ सकता है. संपत्ति के मामले अब पक्ष में काम करते दिखाई दे सकते हैं. यदि कोई लोन या किसी प्रकार का ऋण लेने का सोचते हैं तो  ऎसे में स्थिति आपके लिए शुभदायक रह सकती है. दांपत्य जीवन में साथी का प्रेम एवं सहयोग बना रह पाएगा. कार्यक्षेत्र में अपने काम द्वारा दूसरों को आकर्षित कर पाने में सफलता मिल सकती है. खान पान को लेकर थोड़ी लापरवाही देखने को मिल सकती है इसलिए इस ओर ध्यान बना रखने की आवश्यकता होगी तथा अपनी वाणी में कठोरता से बचना व्यक्तित्व के विकास के लिए अच्छा होगा.  

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का सिंह राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Leo

सिंह राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर राशि पर अर्थात लग्न स्थान पर होगा. बृहस्पति का यह गोचर जीवन में आगे बढ़ने, निर्णय लेने की कुशलता तथा व्यक्तित्व को निखारने में सहायक होगा. ये समय कुछ विशेष बदलावों से रुबरु कराने वाला होगा. अपने व्यक्तित्व की छाप दूसरों पर छोड़ पाने में अब सफलता मिल सकती है. कुछ विशेष फैसले इस समय पर लेने में भी आगे रह सकते हैं. इस समय पर स्वभाव में कुछ कठोरता का भाव भी उजागर हो सकता है. दृढ़ता के साथ अपने फैसलों को लेकर अधिक जिद भी दिखा सकते हैं इसके परिणाम स्वरूप रिश्तों में दूरी भी झलक सकती है. संबंधों में कुछ मतभेद स्वाभाविक रूप से उभर सकते हैं ये समय जिम्मेदारियों की अधिकता वाला भी होगा. परिवार में मुख्य सदस्य के रूप में फैसले लेने को लेकर आगे रह सकते हैं. आर्थिक मसलों पर संभल कर फैसले लेने की आवश्यकता होगी. सोच विचार करके निवेश पर आगे बढ़ना बेहतर होगा. स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से ये समय कुछ असर करने वाला होगा. विवाह से संबंधित मामले आरंभ हो सकते हैं यदि विवाहित हैं तो जीवन साथी का प्रेम सहायक बनेगा. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का कन्या राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Virgo

कन्या राशि के जातकों के लिए ये बृहस्पति का गोचर द्वादश भाव पर होगा. बृहस्पति का ये गोचर कुछ सोच से विपरीत दिखाई दे सकता है. इस समय के दौरान समय अचानक से होने वाले उतार-चढ़ावों को दिखाने वाला भी होगा. इस समय पर बारहवां भाव अधिक असर में होगा जो खर्चों की अधिकता के साथ-साथ विचारों में दूरदर्शिता का अभाव, स्वास्थ्य से जुड़ी जटिलताओं से प्रभावित करने वाला भी हो सकता है. अभी के समय पर सर्वप्रथम बात इस ओर ध्यान देने की होगी की जल्दबाजी के निर्णयों को लेने से बचना चाहिए. यदि सकारात्मक पक्ष की बात करें तो ये समय विदेश यात्रा के लिए खास रह सकता है. विदेशी कार्यों से जुड़ कर धन लाभ प्राप्ति के योग भी बन सकते हैं. कुछ लम्बी दुरी की यात्राओं में धन का व्यय भी अधिक रह सकता है. अनिद्रा एवं बेचैनी का असर सेहत पर दिखाई दे सकता है. अस्पताल के कुछ अधिक चक्कर भी इस समय पर लगाने पड़ सकते हैं. ये समय आश्रम से जुड़ने एवं आध्यात्मिक क्षेत्र में काम करने के लिए विशेष रह सकता है. जीवन साथी के साथ कुछ तालमेल की कमी तथा प्रेम संबंधों में भी कमी की स्थिति प्रभावित कर सकती है. शैय्या सुख की कमी भी गुरु के गोचर के कारण असर डालने वाली हो सकती है. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का तुला राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Libra

तुला राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर एकादश भाव में होगा. आय के भाव में गुरु की स्थिति वृद्धि के संकेत देने वाली होगी. कुछ अच्छे संकेतों की प्राप्ति भी होगी. इस समय पर सकारात्मक रूप से आगे बढ़ने के अवसर भी प्राप्त हो सकते हैं. सामाजिक क्षेत्र में किए जाने वाले कार्यों में भूमिका विशेष रहने वाली है. निकटस्थ बंधुओं से कुछ मतांतर उत्पन्न हो सकते हैं लेकिन जल्द ही निवारण भी होगा. बड़े बंधुओं का सहयोग कार्यों में आगे बढ़ने के लिए अच्छे मार्गदर्शन को दर्शा सकता है. गोचर के इस समय पर नौकरी में पद प्राप्ति एवं कुछ लाभ के अवसर भी दिखाई देंगे. अपने समक्ष मौजूद चुनौतियों से निपटने में कामयाबी हासिल हो सकती है महत्वाकांक्षाओं को नई उड़ान भी मिलेगी. ये समय लम्बी दूरी की यात्राओं का होगा. मित्रों का सहयोग अपने जीवन में भी गहराई तक देख पाएंगे. कुछ विशेष अवसरों पर विशिष्ट लोगों के साथ मेलजोल बढ़ेगा. मिलेंगी. घरेलू जीवन में भी अपनों का सहयोग काम आएगा. शिक्षा के क्षेत्र में बेहतर मौके होंगे तथा उच्च शिक्षा प्राप्ति के मार्ग पर आगे बढ़ पाने की ओर अच्छे कदम उठा सकते हैं. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का वृश्चिक राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Scorpio

वृश्चिक राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर दशम भाव पर होगा. दसवां घर नौकरी, व्यवसाय क्षेत्र, पद प्रतिष्ठा, पिता से संबंधित मामलों को विशेष रूप से प्रभावित करता है. ऐसे में बृहस्पति का इस स्थान पर होना आपके जीवन में कार्यक्षेत्र से संबंधित कई तरह के बदलाव दिखाने वाला रह सकता है. इस समय के दौरान काम में बदलाव की प्रबल संभावनाएं उभर सकती हैं. अपने सोचे हुए फैसलों पर अब आगे बढ़ने का अवसर भी मिल सकता है.  काम के सिलसिले में यात्राएं भी होंगी तथा अधिकारियों के साथ विशेष संबंध भी स्थापित हो पाएंगे. सरकारी क्षेत्र में ये समय विशेष रहेगा. काम की तलाश अब पूरी हो सकती है. काम में स्थान परिवर्तन, पद प्राप्ति, विशिष्ठ अधिकारियों के साथ मुलाकातों का दौर भी इस गोचर अवधि के समय प्रत्यक्ष रूप से सामने दिखाई दे सकता है. कार्यस्थल पर नेतृत्व करने का अवसर भी प्राप्त हो सकता है. जिम्मेदारियों की अधिकता चिंता और अनिश्चितता भी देने वाली होगी. आर्थिक मसलों के लिए स्थिति अनुकूल रह सकती है. घर परिवार में रिश्तों का प्रेम भी मिल पाएगा. कुछ वस्तुओं की प्राप्ति होगी तो परिश्रम का बेहतर परिणाम भी देखने को मिल सकता है. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का धनु राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Sagittarius

धनु राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर नवम भाव पर होगा. गुरु का यह गोचर शुभ एवं सकारात्मकता दिलाने वाला माना गया है. इस समय पर आध्यात्मिक विचारधारा के साथ साथ नवीन दृष्टिकोण से जुड़ने के लिए तैयार दिखाई देंगे. सामाजिक क्षेत्र में किए गए कार्य अथवा व्यक्तिगत रूप से किए जाने वाले कार्यों में सम्मान प्राप्ति भी संभव होगी. पिता एवं वरिष्ठ लोगों के सहयोग द्वारा जीवन को बेहतर रूप से जीने तथा अपने लिए सफलताओं का मार्ग प्रशस्त कर पाने में सफलता हासिल होगी. नवम भाव अध्यात्म का घर होता है इसलिए गुरु की यहां पर स्थिति विचारों में जो प्रखरता लाने वाली होगी वह दूसरों को भी प्रभावित करेगी. धार्मिक कार्यों से जुड़ने का अवसर मिलेगा. कुछ धार्मिक यात्राओं पर जाने का मौका भी प्राप्त हो सकता है. इस समय के दौरान सामाजिक क्षेत्र में कुछ काम करने के प्रति भी अधिक जागरूक दिखाई दे सकते हैं. योजनाएं अब इस समय पर कार्यान्वित भी हो सकती हैं. विवाह का सुख एवं जीवन साथी के सहयोग को प्राप्त कर पाएंगे. संतान सुख का समय भी होगा तथा संतान गर्व एवं सम्मान दिलाने वाली होगी. परिवार के साथ मिलकर आनंद के पलों को व्यतीत कर पाने में सफल होंगे. इस समय पर पैरों जोड़ों में कुछ दर्द की शिकायत मुख्य रूप से उभर सकती है अथवा पित्त की अधिकता भी कुछ परेशान कर सकती है किंतु स्थिति नियंत्रित रहेगी तथा स्वास्थ्य लाभ भी प्राप्त कर पाएंगे. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का मकर राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Capricorn

मकर राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर आठवे घर पर होगा. बृहस्पति का अष्टम भाव गोचर चुनौतियों एवं जिम्मेदारियों की अधिकता को दर्शाने वाला हो सकता है. इस समय के दौरान स्थितियां कई बार अनियंत्रित सी दिखाई दे सकती हैं. अष्टम स्थान एक महत्वपूर्ण स्थान है जो जीवन में होने वाले बदलावों, बाधाओं, विलंब, रहस्य को दर्शाता है. गुरु की इस स्थान पर गोचर की स्थिति इन सभी बातों पर असर डालने वाली होती है. इस कारण से आठवें घर पर गुरु के आने पर गंभीरता से लिए जाने वाले निर्णयों की ओर झुकाव रखना अधिक अनुकूल रह सकता है. इस समय क्रोध या बेचैनी से कुछ हासिल नहीं होता है. जितना संयम रख पाएंगे उतना ही स्थिति को अपने अनुरूप कर पाने में भी सफल होंगे. इस समय के दौरान काम का होना देरी या अटकाव की स्थिति से अधिक प्रभावित हो सकता है. गुप्त परियोजनाएं इस समय उजागर भी हो सकती है तो कुछ शोध कार्यों को ये समय अच्छे परिणाम दिलाने में भी सकारात्मक भूमिका दर्शा सकता है. प्रेम संबंधों की बात हो अथवा घरेलू मुद्दे आपके लिए ये समय काफी असमंजस वाला रह सकता है. दुखद एवं कष्ट की स्थिति भी जीवन पर असर डाल सकती है. दुर्घटना एवं स्वास्थ्य संबंधी चिंताओं से भी रुबरु होना पड़ सकता है. इस कारण से ये समय विशेष सावधानी से व्यतीत करने का होता है. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का कुंभ राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Aquarius

कुंभ राशि के जातकों के लिए गुरु का गोचर सातवें घर पर होगा. गुरु के गोचर की सप्तमस्थ स्थिति आपके जीवन में प्रेम एवं रिश्तों का नया तानाबाना बुन सकती है. गुरु ग्रह सातवें घर से संबंधित मामलों को प्रभावित करने वाले होंगे और जीवन पर इन का गहरा असर भी दिखाई देगा. इस समय के दौरान विवाह एवं दाम्पत्य जीवन से संबंधित मसले जीवन को प्रभावित कर सकते हैं. अविवाहित लोगों के रिश्ते होने की प्रबल संभनाएं विकसित होती दिखाई देंगी. विवाहितों को अपने दांपत्य जीवन में कुछ बदलाव दिखाई दे सकते हैं. रिश्तों में विचारों का टकराव हो सकता है तो वहीं जीवन साथी से जुड़े स्वास्थ्य संबंधी मामले कार्यक्षेत्र की स्थिति या पारिवारिक जीवन असर डालने वाला होगा. दूसरी ओर यह गोचर कारोबार को भी प्रभावित करेगा. साझेदारी में काम कर रहे लोग लाभ प्राप्त कर सकते हैं या फिर कोई नई पार्ट्नरशिप से जुड़ने के लिए भी तैयार हो सकते हैं. आर्थिक क्षेत्र में स्थिति कुछ अनुकूल फलों को देने में सहायक होगी. सामाजिक प्रतिष्ठा का अवसर भी प्राप्त हो सकता है. इस समय पर विशेष रूप से कठोर व्यवहार को नम्र बना रखने से प्रेम की प्रगाढ़ता को पाने में सफल रह सकते हैं. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का मीन राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Pisces

मीन राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर छठे भाव पर होगा. गुरु का इस स्थान पर जाना कई मायनों में खास रह सकता है. छठा भाव प्रतियोगिताओं का स्थान होता है तो इसके कारण जीवन के अनेक क्षेत्रों में इन प्रतिस्पर्धाओं में शामिल होना पड़ सकता है और न चाहते हुए भी इसका हिस्सा बन सकते हैं. दूसरी यह स्थान शत्रु पक्ष को भी दर्शाता जिसके परिणाम स्वरूप विरोधियों का स्वर अधिक तीव्र रह सकता है. कार्यक्षेत्र हो अथवा घरेलू पक्ष दोनों ही स्थानों पर स्वयं को स्थापित करने की होड़ बनी रह सकती है. खुद की संभावनाओं की तलाश भी इस समय पर अधिक दिखाई देगी. इस गोचर के दौरान आत्मविश्वास एवं दृढ़ता बेहतर साथी बन सकते हैं किंतु जल्दबाजी जिद एवं क्रोध नकारात्मक पक्ष के लिए जिम्मेदार भी बन सकते हैं. इस समय निर्णयों को लेते हुए समझदारी के साथ आगे बढ़ना जरूरी होगा. स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से कुछ रोग परेशानी देंगे. पेट, लीवर, हड्डी एवं नसों से जुड़े रोग उभर सकते हैं. स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही से बचते हुए ही इस समय को अपने लिए पक्ष में देख सकते हैं.

बृहस्पति के अन्य राशियों में गोचर के प्रभाव के बारे में पढ़ने के लिए  बृहस्पति के सभी गोचर पर क्लिक करें।

आप यह भी पढ़ सकते हैं कि ज्योतिष उचित करियर के चयनलव या अरेंज्ड मैरिज और बिजनेस में वृद्दि में कैसे मदद करता है।

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर और अन्य राशियों पर प्रभाव
26 Nov,2027
से
28 Feb,2028

बृहस्पति के कन्या राशि में जाना सभी राशियों के जातकों के लिए विशेष रहेगा. कन्या राशि में बृहस्पति की स्थिति बौद्धिकता, धैर्य, रचनात्मक गुणों, दक्षता एवं विकास की नई संभावनाओं को दिखाने वाली होती है. कन्या राशि बुध के स्वामित्व की राशि है और बुध बुद्धि का कारक बनता है. दूसरी ओर बृहस्पति ज्ञान का कारक माना गया है. ऐसे में इन दोनों का असर कन्या राशि पर बृहस्पति के गोचर में दिखाई देगा. उचित दिशा में आगे बढ़ने की कोशिशें अब अमल में लाई जाएंगे. 

 

कन्या राशि में जो शांत-गंभीर भाव दिखाई देता है वह बृहस्पति के योग से काफी प्रभावशाली बन जाता है. यहां पर जातक इच्छाओं को पूर्ण करने की दिशा को खोज पाता है. अपने कथन को स्पष्टता से मजबूती के साथ दूसरों को संप्रेषित भी कर पाने में सफल होता है. वाक चातुर्य भी प्राप्त होता है व्यक्तित्व में आकर्षण की स्थिति भी उत्पन्न होती है. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि प्रभाव/Impact of Jupiter Transit on Virgo

सरावली अनुसार बृहस्पति के कन्या राशि में होने पर जातक विद्वान, धार्मिक गतिविधियों के प्रति झुकाव रखने वाला होगा. जातक कार्यों में निपुण होता है, अच्छी वस्तुओं का शौक रह सकता है. कला के प्रति झुकाव होता है. यवनजातक अनुसार कन्या राशि में बृहस्पति जातक को बौद्धिक तथा व्यवहार कुशलता प्राप्त होती है

 

कन्या राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर सकारात्मक रह सकता है. सरावली अनुसार बृहस्पति के कन्या राशि में होने पर जातक विद्वान, धार्मिक गतिविधियों के प्रति झुकाव रखने वाला होगा. जातक कार्यों में निपुण होता है, अच्छु वस्तुओं का शौक रह सकता है. कला के प्रति झुकाव होता है. यवनजातक अनुसार कन्या राशि में बृहस्पति जातक को बौद्धिक तथा व्यवहार कुशलता प्राप्त होती है

 

बृहस्पति कन्या राशि के गुणों में वृद्धिदायक बनता है. जातक बुद्धिमान एवं व्यवहार कुशल होगा. किसी भी चीज को ग्रहण करने में, ज्ञान पाने में, विचारों और सूचनाओं के लिए स्वयं को आगे रखने में कुशल होगा. अवसरों का लाभ उठाने के लिए प्रयासशील बनेंगे और दृष्टिकोण जीवन को बेहतर बनाने में सहायक बनेगा. जब बृहस्पति कन्या राशि में गोचर करता है, तो व्यक्ति कुछ ज्यादा ही विचारशील हो सकता है. ऐसे में जब कुछ हासिल करना चाहेंगे, तो बहुत अधिक विश्लेषण करने में फंस सकते हैं जिसके कारण चीजें हतह से निकल सकती हैं. स्वयं को बहुत अधिक उचित समझ लेना भी परेशानी में डाल सकता है ऐसे में गलतियों से सीखने और आनंद का लुत्फ उठाने में असमर्थ भी रह सकते हैं. लोगों से दूरी बन सकती है, बहुत अधिक दखल का प्रभाव दूसरों को दूर ले जा सकता है. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का मेष राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Aries

मेष राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर छठे भाव पर होगा. बृहस्पति का इस स्थान पर गोचर काफी सजग रहकर आगे बढ़ने का समय दर्शाता है. छठा स्थान एक दु:स्थान होता है. बृहस्पति का इस स्थान पर होना, बदलावों एवं स्पर्धाओं का समय दे सकता है. व्यर्थ की चिंताएं भी अधिक रह सकती हैं. मेष राशि के लिए बृहस्पति धर्म और मोक्ष के भाव पर गोचर करने वाला है और अब यह छठे घर पर जाकर उस क्षेत्र में एक अलग दृष्टिकोण भी विकसित करेगा. इस समय पर खींचतान अधिक बनी रह सकती है. चीजें अनियंत्रित भी रह सकती हैं.  कुछ विशेष मुद्दे आपको परेशानी दे सकते हैं जिसमें शिक्षा और अध्यात्म मुख्य रुप से काम करेंगे. कुछ नई चीजों को लेकर उत्सुकता अधिक होगी, नए करने का प्रयास चीजों में संघर्ष को बढ़ा सकता है.  बृहस्पति का प्रभाव यात्राओं को दिखा सकता है. स्वास्थ्य को लेकर चिंता अधिक रह सकती है. नौकरी या व्यवसाय से संबंधित मामलों में जल्दबाजी के निर्णयों को लेने से बचने की आवश्यकता होगी. इस समय उत्साह अधिक रहेगा और यही जोश चुनौतियों से लड़ने की ऊर्जा देने वाला होगा. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का वृषभ राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Taurus

वृषभ राशि के लिए बृहस्पति का गोचर पंचम भाव स्थान पर होगा. बृहस्पति का गोचर इस स्थान पर होने से आपके पास कुछ अच्छी उम्मीद तथा संभावनाओं का समय होगा. इस समय के दौरान स्थितियां काफी सहायक रह सकती हैं. इस समय कार्यस्थल पर अनुकूल माहौल मिल सकता है. अपने सहकर्मियों के साथ मिलकर नए प्रोजेक्ट पर काम कर सकते हैं. लीडरशिप का मौका मिल सकता है. इस समय प्रेम संबंधों की शुरुआत का समय होगा, नए रिश्तों के प्रति आकर्षण भी रहेगा. दोस्ती प्रेम में बदल सकती है या फिर अपने प्रेम का इजहार कर सकते हैं. शिक्षा के मामले में ये समय अच्छे लाभ दिला सकता है. पढ़ाई में बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं. इस समय दर्शन, ज्ञान एवं बौद्धिकता से जुड़े कामों में पकड़ मजबूत रह सकती है. संतान का सुख प्राप्त होगा तथा बच्चों के द्वारा कुछ अच्छे आनंद के पल भी प्राप्त हो सकते हैं मित्रों के साथ अच्छे पल बिताने को मिलेंगे. दोस्तों जीवन में काफी सहायक हो सकते हैं. इस समय पर पेट या लीवर से संबंधित कुछ स्वास्थ्य समस्याएं परेशान दे सकती हैं इसलिए सेहत पर ध्यान देने की आवश्यकता होगी. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का मिथुन राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Gemini

मिथुन राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर चतुर्थ स्थान पर होगा. गुरु का असर आपके सुख में वृद्धि का होगा लेकिन साथ ही कुछ चिंताओं को भी देने वाला होगा. मनोकूल परिणाम पाने के लिए संघर्ष अभी रह सकता है ऐसे में अधिक कोशिशें भी करनी होंगी. इस समय पर संपत्ति की खरीदारी, घर निर्माण हो सकता है. नौकरी की तलाश कर रहे हैं या पदोन्नति का सोच रहे हैं तो उसमें अवसर मिल पाएंगे. इस समय पर लक्ष्य पर ध्यान अधिक केन्द्रित होने वाला है. यह समय अपना सर्वश्रेष्ठ देने के लिए उचित होगा. परिवार में कुछ बातों पर बहस हो सकती है इसलिए इस समय के दौरान जितना सहजता से काम लेंगे उतना ही समय आपके पक्ष में रह सकता है. अपने वरिष्ठ अधिकारियों एवं परिवार के बड़ों की ओर से कुछ दिशा निर्देश आपके भविष्य के निर्माण में सहायक बनेंगे. वैवाहिक जीवन में साथी का सहयोग कुछ मामलों में कमजोर रह सकता है ससुराल पक्ष की ओर से दबाव महसूस हो सकता है लेकिन अपनी उचित निर्णय शैली से स्थिति को नियंत्रित कर पाने में सफल रहेंगे. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का कर्क राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Cancer

कर्क राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर तीसरे भाव पर होगा. ऐसे में उत्साह अधिक रहेगा. मानसिक परिश्रम इस समय पर अधिक रह सकता है. बदलावों का दौर जारी रह सकता है. काम हो या घरेलू स्थिति इस समय परिवर्तन दिखाई देगा. इस समय पर वैचारिक और व्यावसायिक विरोधियों को नियंत्रित करना आसान होगा. यदि कोई प्रतियोगिताओं में शामिल होते हैं तो उसमें सफलता की उम्मीद अच्छी रह सकती है. पुराना ऋण भी चुकाया जाएगा, इस समय के दौरान खाने-पीने की आदतों पर नियंत्रण रखने की जरूरत होगी.  लगातार बड़ी योजनाओं पर काम करने की कोशिशें भी जारी रह सकती है. दूरदर्शी एवं  रचनात्मक दिमाग किसी मुद्दे पर हर पहलू पर नजर रखेंगे. अपने भाई बंधुओं को लेकर अधिक चिंताएं होंगी तो साथ ही भावनात्मक स्तर पर भी कमजोर दिखाई दे सकते हैं. अपने लक्ष्यों को लेकर काफी दृढ़ दिखाई देंगे साथ ही बाहरी संपर्क अच्छे लाभ दिला सकते हैं. बृहस्पति के गोचर के दौरान यात्राओं का अवसर अधिक होगा, व्यस्तता बनी रह सकती है और साथ ही खर्च की अधिकता भी रहने वाली है. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का सिंह राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Leo

सिंह राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर दूसरे घर पर होगा. गुरु का गोचर शुभ दायक रहेगा. अच्छे लाभ मिल सकते हैं. मांगलिक सुख की प्राप्ति का योग भी इस समय पर बन सकता है, जीवनसाथी से सहयोग एवं लाभ की स्थिति आपके लिए सहायक हो सकती है. बृहस्पति इस स्थान पर आर्थिक क्षेत्र और मानसिक संतुष्टि को देने में सहायक होगा. इस समय तर्कशील होंगे तथा संवाद की कुशलता प्राप्त होगी. किसी के साथ तर्क करने में बहुत बुद्धिमान हो सकते हैं. व्यवहार से भौतिकवादी, संवाद करने में बहुत अच्छे और एक अच्छा वक्ता रहेंगे. पैतृक धन प्राप्ति का योग भी इस समय शुभ रह सकता है. कुटुम्ब का सहयोग सकारात्मक रुप से काम करने वाला होगा. लोगो आपका अनुसरण करने में भी आगे रह सकते हैं. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का कन्या राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Virgo

कन्या राशि के जातकों के लिए ये समय उन्हीं की राशि पर गोचर होगा. राशि का प्रभाव सकारात्मक रुप से असर डालने वाला होगा. सफलता प्राप्ति को लेकर काफी अडिग दिखाई देंगे. इस समय पर अभिमान में वृद्धि हो सकती है और अपनों के साथ भी मतभेद रह सकते हैं लेकिन स्थिति आपके पक्ष में काम करने वाली होगी इस समय जातक अपनी विचारधारा को और भी अधिक गहराई से दूसरों के सामने रख पाने में सफलता मिलेगी. आकर्षण में वृद्धि होगी. इस समय पर कोई कौशल निखार पा सकता है. अभिरुचि से जुड़े काम दूसरों को आपका प्रशंसक भी बना सकते हैं.  नौकरी अथवा व्यवसाय में भी कुछ नए अवसर पाने का समय होगा. कार्यक्षेत्र में आप अपनी योग्यता को बहुत ही बेहतर ढंग से प्रस्तुत कर पाने में सफल रहेंगे. अपने विरोधियों को परास्त कर पाने में सक्षम होंगे. विचारधारा का पैनापन शत्रुओं को नियंत्रण में रख सकता है. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का तुला राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Libra 

तुला राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर द्वादश भाव में होगा. इस स्थान पर बृहस्पति का गोचर काफी कमजोर रह सकता है. आर्थिक स्थिति कमजोर बनी रह सकती है और व्यर्थ के अपव्यय अधिक बने रह सकते हैं. प्रयासों की अधिकता बनी रहने वाली है. इस समय के दौरान मानसिक रुप से चिंताएं अधिक रह सकती हैं. काम काज में अचानक होने वाले बदलाव काफी परेशान कर सकते हैं. नए स्थान पर स्वयं को स्थापित करने की कोशिशें बनी रह सकती है. काम के क्षेत्र में बनते हुए काम कुछ समय के लिए रुक भी सकते हैं या फिर बदलाव भी अधिक रह सकते हैं. इस समय पर विदेशी मामलों में अच्छे परिणाम देखने को मिल सकते हैं. बाहरी संपर्क लबह दिलाने में सहायक हो सकते हैं. विदेश यात्रा अथवा विदेशी नौकरी पाने के लिए ये समय काफी अनुकूल रह सकता है. कुछ नए दोस्त बन सकते हैं जिनके साथ डिस्टेंस रिलेशनशिप भी बन सकती है. अपने जन्मस्थान से दूर जाने एवं लंबी दूरी की यात्राओं का योग भी बृहस्पति को गोचर के कारण अब प्रतिफलित होता दिखाई दे सकता है. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का वृश्चिक राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Scorpio

वृश्चिक राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर एकादश भाव पर होगा. बृहस्पति का गोचर लाभ दिलाने में सहायक होगा. इस समय पर सकारात्मक फलों की प्राप्ति होने की संभावनाएं अधिक बनी रह सकती हैं. वृश्चिक राशि के लिए, बृहस्पति परिवार, नैतिक मूल्यों, वाणी, शिक्षा, संतान, संबंधों पर घरा असर डालने वाला होगा. अब इस संदर्भ में गुरु अपने बेहतर परिणाम देने में सहायक बनेगा. इच्छाओं को पूरा कर पाने में विचारशीलता अब कामयाब होते दिखाई दे सकती है. बृहस्पति ग्रह ज्ञान एवं मान्यताओं से संबंधित होता है. एकादश भाव लाभ को दिखाता है यह मान सम्मान प्राप्ति पद प्राप्ति, सामाजिक स्थिति को प्राप्त करने एवं आशाओं को पूर्ण करने में आगे रह पाएंगे. इस समय के दौरान अनुकूल फलों की प्राप्ति संबंधों के आरंभ रुप में दिखाई दे सकती है. अपने प्रेम को विवाह में प्रतिरूपित होते देखा जा सकेगा. इस समय कला कौशल एवं रचनात्मक स्थिति पुरस्कार और लाभ दिलाने में बहुत अधिक सहायक होगी. अपने बारे में कुछ अधिक आलोचनात्मक होते हुए आगे बढ़ने का संकेत भी दिखाई देगा. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का धनु राशि पर प्रभाव/ Impact of Jupiter Transit in Virgo and Sagittarius

धनु राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर दशम भाव पर होगा. इस गोचर के दौरान कर्म क्षेत्र पर तेजी दिखाई देगी. अपनी नौकरी, व्यवसाय को लेकर अब अधिक सोच विचार में रह सकते हैं. अपने उद्देश्यों को लेकर अधिक दृढ़ होते दिखाई दे सकते हैं. इस समय पर काम के क्षेत्र में अधिकारियों के साथ बेहतर संबंध बनते दिखाई देंगे. उच्च पद प्राप्ति को लेकर इस समय स्थिति काफी अच्छी रह सकती है. काम के क्षेत्र में एकाग्रता बनी रहेगी. परिश्रम द्वारा अपने लिए प्रतिष्ठा एवं सम्मान प्राप्त कर सकते हैं. काम पर फोकस रख पाएं. अपने काम के लिए पहचान मिल पाएगी. प्रसिद्धि और अपनी स्थापना हेतु  प्रयास अधिक करेंगे. इस समय पर कार्य स्थल में बदलाव हो सकता है. काम में बदलाव हो सकता है. आय में वृद्धि हो सकती है. व्यवसाय की स्थापना को लेकर काफी संजीदा दिखाई दे सकते हैं. कार्यस्थल पर सहकर्मियों का नेतृत्व करने में भी आगे रह सकते हैं. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का मकर राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Capricorn

मकर राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर नवम भाव पर होगा. बृहस्पति का गोचर भाग्य के घर पर होने से ये समय अनुकूल फलों को दिलाने में सहायक बन सकता है. नवम भाव का बृहस्पति गोचर जाकर के जीवन में नए दृष्टिकोण देने वाला होता है. जीवन में प्रसिद्धि को पाने के लिए जो प्रयास होते हैं वह भी कुछ कामयाब भी हो पाते हैं. मकर राशि के लोगों के लिए, बृहस्पति साहस, पराक्रम, सहोदरों, प्रयासों तत्का कार्यों को प्रभावित करता है और इस समय धर्म स्थान पर गुरु होने से चीजें अब एक बेहतर रुप से आगे बढ़ पाएंगे. धर्म, दर्शन, यात्रा, शिक्षा द्वारा समाज में स्थापित कर पाने में सफल रह सकते हैं. उच्च वरिष्ठ लोगों का सहयोग जीवन को आगे बढ़ाने में प्रसिद्धि पाने में काम आ सकता है. पिता का प्रेम जीवन को मार्गदर्शन देने वाला होगा. इस समय के दौरान नए नए लोगों के साथ मेलजोल होगा. किसी प्रतिष्ठान में स्थापित होने जुड़ने का अवसर मिल सकता है. कार्यक्षेत्र में बदलाव के साथ लाभ प्राप्ति के अन्य विकल्प भी मौजूद रह सकते हैं. ये समय स्वाभिमान को बढ़ाने वाला होगा. विचारों द्वारा लोग आपसे आकर्षित हुए बिना नहीं रह पाएंगे. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का कुम्भ राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Aquarius

कुंभ राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर अष्टम भाव पर होगा. बृहस्पति का अष्टम में जाना गुढ़ चेतना के जागरण का समय होगा. कुम्भ राशि के लिए बृहस्पति लाभ,इच्छा, परिवार, धन और वाणी का स्वामी होता है अष्टम में जाने पर इन सभी चीजों को लेकर विचार भी काफी गहनता लिए होंगे. इस समय बातें अधिक गहराई तक दूसरों पर असर डालने वाली होंगी. गोचर में बृहस्पति विशेष रुप से धन और लाभ के मुद्दों को अष्टम में ले जाने वाला होगा  इस को लेकर इच्छा उन्मुख बनी रह सकती है. भोग-विलास के प्रति रुझान, रहस्यों के प्रति झुकाव और रूपांतरण की प्रक्रिया अब अधिक प्रबल होकर उभर सकती है. इस समय पर आशाओं के अनुरूप कार्य न हो पाएं. चीजें अनियंत्रित भी लग सकती हैं. कुछ मामलों में यह पथभ्रष्ट होने की स्थिति को भी सामने लाने वाला हो सकता है. गुप्त रुप से ज्ञान अलग ही स्तर का होगा. इस समय के दौरान दर्शन मंत्र अथवा परालौकिक ज्ञान के प्रति भी विशेष आकर्षण इस समय अवधि के दौरान जागृत हो सकता है. आर्थिक निवेश संभल कर करने होंगे क्योंकि घाटे की आशंका भी अधिक रह सकती है. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का मीन राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Pisces

मीन राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर सप्तम भाव पर होगा. बृहस्पति का गोचर इस समय के दौरान रिश्तों पर असर देखने को मिल सकता है. विवाह से संबंधित मसले इस समय पर अधिक प्रभावित हो सकते हैं. बृहस्पति करियर, व्यवसाय, यात्रा विदेश संबंध, जीवन उद्देश्य को लेकर काफी उत्साहित होता है. साझेदारी और व्यापार आदि के मामले को लेकर अच्छे अवसर मिल सकते हैं. बृहस्पति की दृष्टि आपके लग्न को भी प्रभावित करने वाली होगी. इसके द्वारा मानसिक रुप से काफी मजबूत होंगे. किसी के साथ मिलकर काम की शुरुआत की जा सकती है और बेहतर परिणाम भी इस समय पर मिल सकते हैं. इस समय के दौरान संबंधों का आरंभ होगा. विवाह होने की संभावना बनती है. जीवन में विवाह और साझेदारी का आरंभ हो सकता है. पार्टनर के प्रति अधिक  आलोचनात्मक होने से बचना होगा अन्यथा विवाद भी बने रह सकते हैं. आर्थिक रुप से लाभ प्राप्ति का योग भी बनेगा तथा सामाजिक रुप से भी मेलजोल की स्थिति भी अधिक बढ़ सकती है. 

बृहस्पति के अन्य राशियों में गोचर के प्रभाव के बारे में पढ़ने के लिए  बृहस्पति के सभी गोचर पर क्लिक करें, आप यह भी पढ़ सकते हैं कि ज्योतिष उचित करियर के चयनलव या अरेंज्ड मैरिज और बिजनेस में वृद्दि में कैसे मदद करता है।

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर और अन्य राशियों पर प्रभाव
28 Feb,2028
से
23 Jul,2028

सिंह राशि में बृहस्पति का गोचर काफी प्रभावशाली होगा. बृहस्पति जहां अपनी उच्च राशि से निकल कर अपने मित्र के घर पर आगमन करेंगे जो स्थिति के लिए सकारात्मक प्रभाव दिखाने में सहायक होगा. सिंह राशि के स्वामी सूर्य है ऐसे में बृहस्पति और सूर्य के मध्य का संबंध होने पर ज्ञान, बौद्धिकता, साहस, उत्साह तो दिखाई देगा ही वही यहां अग्नि तत्व का प्रभाव क्रोध, नेतृत्व, जिद, अहंकार के रूप में भी दिखाई देगा. ऐसे में गुरु का सिंह राशि गोचर सकारात्मक तो होगा किंतु कुछ मामलों में यह स्थिति को अपने नियंत्रण में करता दिखाई देने वाला होगा. 

सिंह राशि में बृहस्पति का फल/ Results of Jupiter transit in Leo

सिंह राशि एक अग्नि तत्व युक्त राशि है ओर सूर्य के अधिपत्य की राशि है जिसके फलस्वरूप इस में उत्साह, साहस, तीव्रता के साथ साथ परिस्थितियों का सामना करने के बेहतर क्षमता दिखाई देती है. दूसरी ओर बृहस्पति जो एक शुभ ग्रह है, ज्ञान, मान सम्मान तथा गर्व का कारक है सिंह में आते ही अपने स्वरूप में विस्तार पाएगा. समस्या को सहजता के साथ सुलझाने में सक्षम होगा. अपने प्रयासों द्वारा विशेष छाप छोड़ने वाला होगा. ईमानदारी तथा सत्यनिष्ठा का अच्छा असर दिखाई देगा. जोखिम लेने में आगे रह सकते हैं. नेतृत्व करने में तथा अपनी बात को आगे रखने में भी आगे रहने की स्थिति बनी रहेगी. नकारात्मक रूप से यह स्थिति क्रोध, अभिमान को दर्शाने वाली हो सकती है तथा सर्वेसर्वा होने की भावना को भी जागृत करने वाली होगी जो दूसरों को थोड़ा परेशानी में भी डाल सकती है. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का मेष राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Aries

बृहस्पति का मेष राशि के जातकों के लिए पंचम भाव पर गोचर होगा. बृहस्पति की स्थिति इस स्थान पर होने से आपके जीवन में मुख्य रूप से प्रेम, संबंध, शिक्षा, मित्रता, संतान इत्यादि से जुड़े मसले विशेष रूप से प्रभावित होंगे. गुरु के गोचर का ये समय सकारात्मक बदलावों को दिखाने में सहायक होगा. इस समय के दौरान छात्र अपनी शिक्षा में अच्छे स्तर को दिखाने में कामयाब भी रह सकते हैं. इस समय अवसर की प्राप्ति आने वाले भविष्य के लिए बेहतर नींव की स्थापना भी करने वाली होगी. रिश्तों में नए जुड़ाव दिखाई दे सकते हैं या किसी के प्रति आकर्षण अधिक तीव्र भी हो सकता है. प्रेम के मार्ग पर पथ बढ़ाने में तत्पर दिखाई दे सकते हैं. कुछ पुराने रिश्ते अब एक नए सिरे की शुरुआत का आगाज कर सकते हैं. संतान के सुख प्राप्ति के लिए भी ये समय काफी अच्छे परिणाम देने में सहायक बन सकता है. जो दंपत्ति संतान की कामना किए हुए हैं उन्हें इस समय कुछ सकारात्मक फलों की प्राप्ति का योग भी दिखाई देगा. दोस्तों के साथ मिलकर नए कार्यों में आगे बढ़ सकते हैं तथा अपनी ऊर्जा को बेहतर जगह पर लगाने में कामयाब भी हो पाएंगे. इस समय पर यात्राओं का योग बनेगा, कुछ गूढ़ विषयों एवं ज्ञान से जुड़े मसलों पर आपकी सोच भी विचारशीलता से प्रभावित होगी. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का वृष राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Taurus

वृषभ राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर चतुर्थ भाव पर होगा. बृहस्पति का यहां होना वृषभ राशि वालों के सुख को सर्वप्रथम प्रभावित करने वाला होगा. इस गोचर के समय जो लोग अपने निवास स्थान से दूर रह रहे हैं उन्हें घर वापसी के अवसर प्राप्त हो सकते हैं. इस समय पर कुछ चुनौतियों का सामना भी करना होगा. आपका सुख कई मामलों से प्रभावित हो सकता है लेकिन साथ ही प्राप्ति का योग भी काम करने वाला होगा. माता के स्वास्थ्य को लेकर थोड़ी चिंता रह सकती है उनके स्वभाव में भी कुछ कठोरता दिखाई दे सकती है. इस समय अपने मतभेदों को लेकर बहुत अधिक दिल में स्थान नहीं देने का सुझाव दिया जाता है क्योंकि आपके द्वारा रखा गया धैर्य ही घरेलू जीवन एवं कार्य स्थल दोनों स्थानों पर सकारात्मक रूप से काम करने वाला भी होगा. संपत्ति अथवा भूमि की खरीद फरोख्त से जुड़े कामों की शुरुआत का समय भी दिखाई देता है. वाहन, आभूषण इत्यादि की खरीदारी पर कुछ धन भी व्यय होगा. इस समय पर मानसिकता में नए विचारों का आगमन होगा जिसके चलते नए लोगों से जुड़ेंगे. कार्यस्थल पर भी कुछ बदलाव देखने को मिल सकते हैं. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का मिथुन राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Gemini

मिथुन राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर तीसरे घर पर होगा. बृहस्पति की स्थिति इस स्थान पर होने के कारण आपकी संचार शैली का प्रभाव, सामाजिक क्षेत्र में विशेष प्रयास से आगे बढ़ने के मौके मिल सकते हैं. इस समय पर काम में प्रोत्साहन के मौके मिल सकते हैं मार्केटिंग, फौजदारी, प्रबंधन से संबंधित कामों में शामिल होने के बेहतर मौके अब उभरते दिखाई देंगे. इस समय पर प्रतिस्पर्धाओं में आगे बढ़ते हुए अच्छे परिणाम के योग भी दिखाई दे सकते हैं. प्रतियोगिताओं में जयश्री पाने में सफलता भी प्राप्त होने की संभावना अधिक दिखाई दे सकते हैं. ये समय यात्रा के लिए भी विशेष रह सकता है. स्थान बदलाव का समय भी इस समय पर अधिक दिखाई देगा. यह परिवर्तन काम के सिलसिले में, धार्मिक यात्राओं को लेकर, निवास स्थान में बदलाव इत्यादि से जुड़ा रह सकता है. भाई बंधुओं के साथ कुछ मतभेद रह सकते हैं लेकिन उनके साथ मिलकर अच्छे समय का भी आनंद ले पाने में आप सफल रह सकते हैं. इस समय पर स्वास्थ्य संबंधी कुछ दिक्कतें उभर सकती हैं किंतु उचित देखभाल द्वारा इन से राहत पाने में कामयाबी भी हासिल होगी. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का कर्क राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Cancer

कर्क राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर दूसरे भाव स्थान पर होगा. गुरु के इस स्थान पर गोचर को एक शुभ गोचर अवधि के रूप में देखा जा सकता है. दूसरा घर वाणी, संवाद शैली, परिवार, धन इत्यादि से संबंधित होता है, ऐसे में गुरु के इस स्थान पर भ्रमण करने के कारण इन चीजों पर सकारात्मक प्रभाव दिखाई देगा. नेतृत्व करने की क्षमता निखार पाएगी. अपनी अभिव्यक्ति को लेकर स्वच्छंद, उन्मुक्त एवं प्रभावी दिखाई देंगे. लोगों को अपने विचारों द्वारा पक्ष में कर लेने की योग्यता भी इस समय पर अच्छे से दिखाई दे सकती है. कुटुम्ब में महत्वपूर्ण व्यक्ति के रूप में उभर सकते हैं. सामाजिक क्षेत्र में दायरा बढ़ सकता है. संपत्ति के मामले अब पक्ष में काम करते दिखाई दे सकते हैं. यदि कोई लोन या किसी प्रकार का ऋण लेने का सोचते हैं तो  ऎसे में स्थिति आपके लिए शुभदायक रह सकती है. दांपत्य जीवन में साथी का प्रेम एवं सहयोग बना रह पाएगा. कार्यक्षेत्र में अपने काम द्वारा दूसरों को आकर्षित कर पाने में सफलता मिल सकती है. खान पान को लेकर थोड़ी लापरवाही देखने को मिल सकती है इसलिए इस ओर ध्यान बना रखने की आवश्यकता होगी तथा अपनी वाणी में कठोरता से बचना व्यक्तित्व के विकास के लिए अच्छा होगा.  

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का सिंह राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Leo

सिंह राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर राशि पर अर्थात लग्न स्थान पर होगा. बृहस्पति का यह गोचर जीवन में आगे बढ़ने, निर्णय लेने की कुशलता तथा व्यक्तित्व को निखारने में सहायक होगा. ये समय कुछ विशेष बदलावों से रुबरु कराने वाला होगा. अपने व्यक्तित्व की छाप दूसरों पर छोड़ पाने में अब सफलता मिल सकती है. कुछ विशेष फैसले इस समय पर लेने में भी आगे रह सकते हैं. इस समय पर स्वभाव में कुछ कठोरता का भाव भी उजागर हो सकता है. दृढ़ता के साथ अपने फैसलों को लेकर अधिक जिद भी दिखा सकते हैं इसके परिणाम स्वरूप रिश्तों में दूरी भी झलक सकती है. संबंधों में कुछ मतभेद स्वाभाविक रूप से उभर सकते हैं ये समय जिम्मेदारियों की अधिकता वाला भी होगा. परिवार में मुख्य सदस्य के रूप में फैसले लेने को लेकर आगे रह सकते हैं. आर्थिक मसलों पर संभल कर फैसले लेने की आवश्यकता होगी. सोच विचार करके निवेश पर आगे बढ़ना बेहतर होगा. स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से ये समय कुछ असर करने वाला होगा. विवाह से संबंधित मामले आरंभ हो सकते हैं यदि विवाहित हैं तो जीवन साथी का प्रेम सहायक बनेगा. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का कन्या राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Virgo

कन्या राशि के जातकों के लिए ये बृहस्पति का गोचर द्वादश भाव पर होगा. बृहस्पति का ये गोचर कुछ सोच से विपरीत दिखाई दे सकता है. इस समय के दौरान समय अचानक से होने वाले उतार-चढ़ावों को दिखाने वाला भी होगा. इस समय पर बारहवां भाव अधिक असर में होगा जो खर्चों की अधिकता के साथ-साथ विचारों में दूरदर्शिता का अभाव, स्वास्थ्य से जुड़ी जटिलताओं से प्रभावित करने वाला भी हो सकता है. अभी के समय पर सर्वप्रथम बात इस ओर ध्यान देने की होगी की जल्दबाजी के निर्णयों को लेने से बचना चाहिए. यदि सकारात्मक पक्ष की बात करें तो ये समय विदेश यात्रा के लिए खास रह सकता है. विदेशी कार्यों से जुड़ कर धन लाभ प्राप्ति के योग भी बन सकते हैं. कुछ लम्बी दुरी की यात्राओं में धन का व्यय भी अधिक रह सकता है. अनिद्रा एवं बेचैनी का असर सेहत पर दिखाई दे सकता है. अस्पताल के कुछ अधिक चक्कर भी इस समय पर लगाने पड़ सकते हैं. ये समय आश्रम से जुड़ने एवं आध्यात्मिक क्षेत्र में काम करने के लिए विशेष रह सकता है. जीवन साथी के साथ कुछ तालमेल की कमी तथा प्रेम संबंधों में भी कमी की स्थिति प्रभावित कर सकती है. शैय्या सुख की कमी भी गुरु के गोचर के कारण असर डालने वाली हो सकती है. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का तुला राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Libra

तुला राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर एकादश भाव में होगा. आय के भाव में गुरु की स्थिति वृद्धि के संकेत देने वाली होगी. कुछ अच्छे संकेतों की प्राप्ति भी होगी. इस समय पर सकारात्मक रूप से आगे बढ़ने के अवसर भी प्राप्त हो सकते हैं. सामाजिक क्षेत्र में किए जाने वाले कार्यों में भूमिका विशेष रहने वाली है. निकटस्थ बंधुओं से कुछ मतांतर उत्पन्न हो सकते हैं लेकिन जल्द ही निवारण भी होगा. बड़े बंधुओं का सहयोग कार्यों में आगे बढ़ने के लिए अच्छे मार्गदर्शन को दर्शा सकता है. गोचर के इस समय पर नौकरी में पद प्राप्ति एवं कुछ लाभ के अवसर भी दिखाई देंगे. अपने समक्ष मौजूद चुनौतियों से निपटने में कामयाबी हासिल हो सकती है महत्वाकांक्षाओं को नई उड़ान भी मिलेगी. ये समय लम्बी दूरी की यात्राओं का होगा. मित्रों का सहयोग अपने जीवन में भी गहराई तक देख पाएंगे. कुछ विशेष अवसरों पर विशिष्ट लोगों के साथ मेलजोल बढ़ेगा. मिलेंगी. घरेलू जीवन में भी अपनों का सहयोग काम आएगा. शिक्षा के क्षेत्र में बेहतर मौके होंगे तथा उच्च शिक्षा प्राप्ति के मार्ग पर आगे बढ़ पाने की ओर अच्छे कदम उठा सकते हैं. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का वृश्चिक राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Scorpio

वृश्चिक राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर दशम भाव पर होगा. दसवां घर नौकरी, व्यवसाय क्षेत्र, पद प्रतिष्ठा, पिता से संबंधित मामलों को विशेष रूप से प्रभावित करता है. ऐसे में बृहस्पति का इस स्थान पर होना आपके जीवन में कार्यक्षेत्र से संबंधित कई तरह के बदलाव दिखाने वाला रह सकता है. इस समय के दौरान काम में बदलाव की प्रबल संभावनाएं उभर सकती हैं. अपने सोचे हुए फैसलों पर अब आगे बढ़ने का अवसर भी मिल सकता है.  काम के सिलसिले में यात्राएं भी होंगी तथा अधिकारियों के साथ विशेष संबंध भी स्थापित हो पाएंगे. सरकारी क्षेत्र में ये समय विशेष रहेगा. काम की तलाश अब पूरी हो सकती है. काम में स्थान परिवर्तन, पद प्राप्ति, विशिष्ठ अधिकारियों के साथ मुलाकातों का दौर भी इस गोचर अवधि के समय प्रत्यक्ष रूप से सामने दिखाई दे सकता है. कार्यस्थल पर नेतृत्व करने का अवसर भी प्राप्त हो सकता है. जिम्मेदारियों की अधिकता चिंता और अनिश्चितता भी देने वाली होगी. आर्थिक मसलों के लिए स्थिति अनुकूल रह सकती है. घर परिवार में रिश्तों का प्रेम भी मिल पाएगा. कुछ वस्तुओं की प्राप्ति होगी तो परिश्रम का बेहतर परिणाम भी देखने को मिल सकता है. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का धनु राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Sagittarius

धनु राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर नवम भाव पर होगा. गुरु का यह गोचर शुभ एवं सकारात्मकता दिलाने वाला माना गया है. इस समय पर आध्यात्मिक विचारधारा के साथ साथ नवीन दृष्टिकोण से जुड़ने के लिए तैयार दिखाई देंगे. सामाजिक क्षेत्र में किए गए कार्य अथवा व्यक्तिगत रूप से किए जाने वाले कार्यों में सम्मान प्राप्ति भी संभव होगी. पिता एवं वरिष्ठ लोगों के सहयोग द्वारा जीवन को बेहतर रूप से जीने तथा अपने लिए सफलताओं का मार्ग प्रशस्त कर पाने में सफलता हासिल होगी. नवम भाव अध्यात्म का घर होता है इसलिए गुरु की यहां पर स्थिति विचारों में जो प्रखरता लाने वाली होगी वह दूसरों को भी प्रभावित करेगी. धार्मिक कार्यों से जुड़ने का अवसर मिलेगा. कुछ धार्मिक यात्राओं पर जाने का मौका भी प्राप्त हो सकता है. इस समय के दौरान सामाजिक क्षेत्र में कुछ काम करने के प्रति भी अधिक जागरूक दिखाई दे सकते हैं. योजनाएं अब इस समय पर कार्यान्वित भी हो सकती हैं. विवाह का सुख एवं जीवन साथी के सहयोग को प्राप्त कर पाएंगे. संतान सुख का समय भी होगा तथा संतान गर्व एवं सम्मान दिलाने वाली होगी. परिवार के साथ मिलकर आनंद के पलों को व्यतीत कर पाने में सफल होंगे. इस समय पर पैरों जोड़ों में कुछ दर्द की शिकायत मुख्य रूप से उभर सकती है अथवा पित्त की अधिकता भी कुछ परेशान कर सकती है किंतु स्थिति नियंत्रित रहेगी तथा स्वास्थ्य लाभ भी प्राप्त कर पाएंगे. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का मकर राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Capricorn

मकर राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर आठवे घर पर होगा. बृहस्पति का अष्टम भाव गोचर चुनौतियों एवं जिम्मेदारियों की अधिकता को दर्शाने वाला हो सकता है. इस समय के दौरान स्थितियां कई बार अनियंत्रित सी दिखाई दे सकती हैं. अष्टम स्थान एक महत्वपूर्ण स्थान है जो जीवन में होने वाले बदलावों, बाधाओं, विलंब, रहस्य को दर्शाता है. गुरु की इस स्थान पर गोचर की स्थिति इन सभी बातों पर असर डालने वाली होती है. इस कारण से आठवें घर पर गुरु के आने पर गंभीरता से लिए जाने वाले निर्णयों की ओर झुकाव रखना अधिक अनुकूल रह सकता है. इस समय क्रोध या बेचैनी से कुछ हासिल नहीं होता है. जितना संयम रख पाएंगे उतना ही स्थिति को अपने अनुरूप कर पाने में भी सफल होंगे. इस समय के दौरान काम का होना देरी या अटकाव की स्थिति से अधिक प्रभावित हो सकता है. गुप्त परियोजनाएं इस समय उजागर भी हो सकती है तो कुछ शोध कार्यों को ये समय अच्छे परिणाम दिलाने में भी सकारात्मक भूमिका दर्शा सकता है. प्रेम संबंधों की बात हो अथवा घरेलू मुद्दे आपके लिए ये समय काफी असमंजस वाला रह सकता है. दुखद एवं कष्ट की स्थिति भी जीवन पर असर डाल सकती है. दुर्घटना एवं स्वास्थ्य संबंधी चिंताओं से भी रुबरु होना पड़ सकता है. इस कारण से ये समय विशेष सावधानी से व्यतीत करने का होता है. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का कुंभ राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Aquarius

कुंभ राशि के जातकों के लिए गुरु का गोचर सातवें घर पर होगा. गुरु के गोचर की सप्तमस्थ स्थिति आपके जीवन में प्रेम एवं रिश्तों का नया तानाबाना बुन सकती है. गुरु ग्रह सातवें घर से संबंधित मामलों को प्रभावित करने वाले होंगे और जीवन पर इन का गहरा असर भी दिखाई देगा. इस समय के दौरान विवाह एवं दाम्पत्य जीवन से संबंधित मसले जीवन को प्रभावित कर सकते हैं. अविवाहित लोगों के रिश्ते होने की प्रबल संभनाएं विकसित होती दिखाई देंगी. विवाहितों को अपने दांपत्य जीवन में कुछ बदलाव दिखाई दे सकते हैं. रिश्तों में विचारों का टकराव हो सकता है तो वहीं जीवन साथी से जुड़े स्वास्थ्य संबंधी मामले कार्यक्षेत्र की स्थिति या पारिवारिक जीवन असर डालने वाला होगा. दूसरी ओर यह गोचर कारोबार को भी प्रभावित करेगा. साझेदारी में काम कर रहे लोग लाभ प्राप्त कर सकते हैं या फिर कोई नई पार्ट्नरशिप से जुड़ने के लिए भी तैयार हो सकते हैं. आर्थिक क्षेत्र में स्थिति कुछ अनुकूल फलों को देने में सहायक होगी. सामाजिक प्रतिष्ठा का अवसर भी प्राप्त हो सकता है. इस समय पर विशेष रूप से कठोर व्यवहार को नम्र बना रखने से प्रेम की प्रगाढ़ता को पाने में सफल रह सकते हैं. 

बृहस्पति का सिंह राशि में गोचर का मीन राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Leo on Pisces

मीन राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर छठे भाव पर होगा. गुरु का इस स्थान पर जाना कई मायनों में खास रह सकता है. छठा भाव प्रतियोगिताओं का स्थान होता है तो इसके कारण जीवन के अनेक क्षेत्रों में इन प्रतिस्पर्धाओं में शामिल होना पड़ सकता है और न चाहते हुए भी इसका हिस्सा बन सकते हैं. दूसरी यह स्थान शत्रु पक्ष को भी दर्शाता जिसके परिणाम स्वरूप विरोधियों का स्वर अधिक तीव्र रह सकता है. कार्यक्षेत्र हो अथवा घरेलू पक्ष दोनों ही स्थानों पर स्वयं को स्थापित करने की होड़ बनी रह सकती है. खुद की संभावनाओं की तलाश भी इस समय पर अधिक दिखाई देगी. इस गोचर के दौरान आत्मविश्वास एवं दृढ़ता बेहतर साथी बन सकते हैं किंतु जल्दबाजी जिद एवं क्रोध नकारात्मक पक्ष के लिए जिम्मेदार भी बन सकते हैं. इस समय निर्णयों को लेते हुए समझदारी के साथ आगे बढ़ना जरूरी होगा. स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से कुछ रोग परेशानी देंगे. पेट, लीवर, हड्डी एवं नसों से जुड़े रोग उभर सकते हैं. स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही से बचते हुए ही इस समय को अपने लिए पक्ष में देख सकते हैं.

बृहस्पति के अन्य राशियों में गोचर के प्रभाव के बारे में पढ़ने के लिए  बृहस्पति के सभी गोचर पर क्लिक करें।

आप यह भी पढ़ सकते हैं कि ज्योतिष उचित करियर के चयनलव या अरेंज्ड मैरिज और बिजनेस में वृद्दि में कैसे मदद करता है।

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर और अन्य राशियों पर प्रभाव
24 Jul,2028
से
25 Dec,2028

बृहस्पति के कन्या राशि में जाना सभी राशियों के जातकों के लिए विशेष रहेगा. कन्या राशि में बृहस्पति की स्थिति बौद्धिकता, धैर्य, रचनात्मक गुणों, दक्षता एवं विकास की नई संभावनाओं को दिखाने वाली होती है. कन्या राशि बुध के स्वामित्व की राशि है और बुध बुद्धि का कारक बनता है. दूसरी ओर बृहस्पति ज्ञान का कारक माना गया है. ऐसे में इन दोनों का असर कन्या राशि पर बृहस्पति के गोचर में दिखाई देगा. उचित दिशा में आगे बढ़ने की कोशिशें अब अमल में लाई जाएंगे. 

 

कन्या राशि में जो शांत-गंभीर भाव दिखाई देता है वह बृहस्पति के योग से काफी प्रभावशाली बन जाता है. यहां पर जातक इच्छाओं को पूर्ण करने की दिशा को खोज पाता है. अपने कथन को स्पष्टता से मजबूती के साथ दूसरों को संप्रेषित भी कर पाने में सफल होता है. वाक चातुर्य भी प्राप्त होता है व्यक्तित्व में आकर्षण की स्थिति भी उत्पन्न होती है. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि प्रभाव/Impact of Jupiter Transit on Virgo

सरावली अनुसार बृहस्पति के कन्या राशि में होने पर जातक विद्वान, धार्मिक गतिविधियों के प्रति झुकाव रखने वाला होगा. जातक कार्यों में निपुण होता है, अच्छी वस्तुओं का शौक रह सकता है. कला के प्रति झुकाव होता है. यवनजातक अनुसार कन्या राशि में बृहस्पति जातक को बौद्धिक तथा व्यवहार कुशलता प्राप्त होती है

 

कन्या राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर सकारात्मक रह सकता है. सरावली अनुसार बृहस्पति के कन्या राशि में होने पर जातक विद्वान, धार्मिक गतिविधियों के प्रति झुकाव रखने वाला होगा. जातक कार्यों में निपुण होता है, अच्छु वस्तुओं का शौक रह सकता है. कला के प्रति झुकाव होता है. यवनजातक अनुसार कन्या राशि में बृहस्पति जातक को बौद्धिक तथा व्यवहार कुशलता प्राप्त होती है

 

बृहस्पति कन्या राशि के गुणों में वृद्धिदायक बनता है. जातक बुद्धिमान एवं व्यवहार कुशल होगा. किसी भी चीज को ग्रहण करने में, ज्ञान पाने में, विचारों और सूचनाओं के लिए स्वयं को आगे रखने में कुशल होगा. अवसरों का लाभ उठाने के लिए प्रयासशील बनेंगे और दृष्टिकोण जीवन को बेहतर बनाने में सहायक बनेगा. जब बृहस्पति कन्या राशि में गोचर करता है, तो व्यक्ति कुछ ज्यादा ही विचारशील हो सकता है. ऐसे में जब कुछ हासिल करना चाहेंगे, तो बहुत अधिक विश्लेषण करने में फंस सकते हैं जिसके कारण चीजें हतह से निकल सकती हैं. स्वयं को बहुत अधिक उचित समझ लेना भी परेशानी में डाल सकता है ऐसे में गलतियों से सीखने और आनंद का लुत्फ उठाने में असमर्थ भी रह सकते हैं. लोगों से दूरी बन सकती है, बहुत अधिक दखल का प्रभाव दूसरों को दूर ले जा सकता है. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का मेष राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Aries

मेष राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर छठे भाव पर होगा. बृहस्पति का इस स्थान पर गोचर काफी सजग रहकर आगे बढ़ने का समय दर्शाता है. छठा स्थान एक दु:स्थान होता है. बृहस्पति का इस स्थान पर होना, बदलावों एवं स्पर्धाओं का समय दे सकता है. व्यर्थ की चिंताएं भी अधिक रह सकती हैं. मेष राशि के लिए बृहस्पति धर्म और मोक्ष के भाव पर गोचर करने वाला है और अब यह छठे घर पर जाकर उस क्षेत्र में एक अलग दृष्टिकोण भी विकसित करेगा. इस समय पर खींचतान अधिक बनी रह सकती है. चीजें अनियंत्रित भी रह सकती हैं.  कुछ विशेष मुद्दे आपको परेशानी दे सकते हैं जिसमें शिक्षा और अध्यात्म मुख्य रुप से काम करेंगे. कुछ नई चीजों को लेकर उत्सुकता अधिक होगी, नए करने का प्रयास चीजों में संघर्ष को बढ़ा सकता है.  बृहस्पति का प्रभाव यात्राओं को दिखा सकता है. स्वास्थ्य को लेकर चिंता अधिक रह सकती है. नौकरी या व्यवसाय से संबंधित मामलों में जल्दबाजी के निर्णयों को लेने से बचने की आवश्यकता होगी. इस समय उत्साह अधिक रहेगा और यही जोश चुनौतियों से लड़ने की ऊर्जा देने वाला होगा. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का वृषभ राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Taurus

वृषभ राशि के लिए बृहस्पति का गोचर पंचम भाव स्थान पर होगा. बृहस्पति का गोचर इस स्थान पर होने से आपके पास कुछ अच्छी उम्मीद तथा संभावनाओं का समय होगा. इस समय के दौरान स्थितियां काफी सहायक रह सकती हैं. इस समय कार्यस्थल पर अनुकूल माहौल मिल सकता है. अपने सहकर्मियों के साथ मिलकर नए प्रोजेक्ट पर काम कर सकते हैं. लीडरशिप का मौका मिल सकता है. इस समय प्रेम संबंधों की शुरुआत का समय होगा, नए रिश्तों के प्रति आकर्षण भी रहेगा. दोस्ती प्रेम में बदल सकती है या फिर अपने प्रेम का इजहार कर सकते हैं. शिक्षा के मामले में ये समय अच्छे लाभ दिला सकता है. पढ़ाई में बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं. इस समय दर्शन, ज्ञान एवं बौद्धिकता से जुड़े कामों में पकड़ मजबूत रह सकती है. संतान का सुख प्राप्त होगा तथा बच्चों के द्वारा कुछ अच्छे आनंद के पल भी प्राप्त हो सकते हैं मित्रों के साथ अच्छे पल बिताने को मिलेंगे. दोस्तों जीवन में काफी सहायक हो सकते हैं. इस समय पर पेट या लीवर से संबंधित कुछ स्वास्थ्य समस्याएं परेशान दे सकती हैं इसलिए सेहत पर ध्यान देने की आवश्यकता होगी. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का मिथुन राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Gemini

मिथुन राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर चतुर्थ स्थान पर होगा. गुरु का असर आपके सुख में वृद्धि का होगा लेकिन साथ ही कुछ चिंताओं को भी देने वाला होगा. मनोकूल परिणाम पाने के लिए संघर्ष अभी रह सकता है ऐसे में अधिक कोशिशें भी करनी होंगी. इस समय पर संपत्ति की खरीदारी, घर निर्माण हो सकता है. नौकरी की तलाश कर रहे हैं या पदोन्नति का सोच रहे हैं तो उसमें अवसर मिल पाएंगे. इस समय पर लक्ष्य पर ध्यान अधिक केन्द्रित होने वाला है. यह समय अपना सर्वश्रेष्ठ देने के लिए उचित होगा. परिवार में कुछ बातों पर बहस हो सकती है इसलिए इस समय के दौरान जितना सहजता से काम लेंगे उतना ही समय आपके पक्ष में रह सकता है. अपने वरिष्ठ अधिकारियों एवं परिवार के बड़ों की ओर से कुछ दिशा निर्देश आपके भविष्य के निर्माण में सहायक बनेंगे. वैवाहिक जीवन में साथी का सहयोग कुछ मामलों में कमजोर रह सकता है ससुराल पक्ष की ओर से दबाव महसूस हो सकता है लेकिन अपनी उचित निर्णय शैली से स्थिति को नियंत्रित कर पाने में सफल रहेंगे. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का कर्क राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Cancer

कर्क राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर तीसरे भाव पर होगा. ऐसे में उत्साह अधिक रहेगा. मानसिक परिश्रम इस समय पर अधिक रह सकता है. बदलावों का दौर जारी रह सकता है. काम हो या घरेलू स्थिति इस समय परिवर्तन दिखाई देगा. इस समय पर वैचारिक और व्यावसायिक विरोधियों को नियंत्रित करना आसान होगा. यदि कोई प्रतियोगिताओं में शामिल होते हैं तो उसमें सफलता की उम्मीद अच्छी रह सकती है. पुराना ऋण भी चुकाया जाएगा, इस समय के दौरान खाने-पीने की आदतों पर नियंत्रण रखने की जरूरत होगी.  लगातार बड़ी योजनाओं पर काम करने की कोशिशें भी जारी रह सकती है. दूरदर्शी एवं  रचनात्मक दिमाग किसी मुद्दे पर हर पहलू पर नजर रखेंगे. अपने भाई बंधुओं को लेकर अधिक चिंताएं होंगी तो साथ ही भावनात्मक स्तर पर भी कमजोर दिखाई दे सकते हैं. अपने लक्ष्यों को लेकर काफी दृढ़ दिखाई देंगे साथ ही बाहरी संपर्क अच्छे लाभ दिला सकते हैं. बृहस्पति के गोचर के दौरान यात्राओं का अवसर अधिक होगा, व्यस्तता बनी रह सकती है और साथ ही खर्च की अधिकता भी रहने वाली है. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का सिंह राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Leo

सिंह राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर दूसरे घर पर होगा. गुरु का गोचर शुभ दायक रहेगा. अच्छे लाभ मिल सकते हैं. मांगलिक सुख की प्राप्ति का योग भी इस समय पर बन सकता है, जीवनसाथी से सहयोग एवं लाभ की स्थिति आपके लिए सहायक हो सकती है. बृहस्पति इस स्थान पर आर्थिक क्षेत्र और मानसिक संतुष्टि को देने में सहायक होगा. इस समय तर्कशील होंगे तथा संवाद की कुशलता प्राप्त होगी. किसी के साथ तर्क करने में बहुत बुद्धिमान हो सकते हैं. व्यवहार से भौतिकवादी, संवाद करने में बहुत अच्छे और एक अच्छा वक्ता रहेंगे. पैतृक धन प्राप्ति का योग भी इस समय शुभ रह सकता है. कुटुम्ब का सहयोग सकारात्मक रुप से काम करने वाला होगा. लोगो आपका अनुसरण करने में भी आगे रह सकते हैं. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का कन्या राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Virgo

कन्या राशि के जातकों के लिए ये समय उन्हीं की राशि पर गोचर होगा. राशि का प्रभाव सकारात्मक रुप से असर डालने वाला होगा. सफलता प्राप्ति को लेकर काफी अडिग दिखाई देंगे. इस समय पर अभिमान में वृद्धि हो सकती है और अपनों के साथ भी मतभेद रह सकते हैं लेकिन स्थिति आपके पक्ष में काम करने वाली होगी इस समय जातक अपनी विचारधारा को और भी अधिक गहराई से दूसरों के सामने रख पाने में सफलता मिलेगी. आकर्षण में वृद्धि होगी. इस समय पर कोई कौशल निखार पा सकता है. अभिरुचि से जुड़े काम दूसरों को आपका प्रशंसक भी बना सकते हैं.  नौकरी अथवा व्यवसाय में भी कुछ नए अवसर पाने का समय होगा. कार्यक्षेत्र में आप अपनी योग्यता को बहुत ही बेहतर ढंग से प्रस्तुत कर पाने में सफल रहेंगे. अपने विरोधियों को परास्त कर पाने में सक्षम होंगे. विचारधारा का पैनापन शत्रुओं को नियंत्रण में रख सकता है. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का तुला राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Libra 

तुला राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर द्वादश भाव में होगा. इस स्थान पर बृहस्पति का गोचर काफी कमजोर रह सकता है. आर्थिक स्थिति कमजोर बनी रह सकती है और व्यर्थ के अपव्यय अधिक बने रह सकते हैं. प्रयासों की अधिकता बनी रहने वाली है. इस समय के दौरान मानसिक रुप से चिंताएं अधिक रह सकती हैं. काम काज में अचानक होने वाले बदलाव काफी परेशान कर सकते हैं. नए स्थान पर स्वयं को स्थापित करने की कोशिशें बनी रह सकती है. काम के क्षेत्र में बनते हुए काम कुछ समय के लिए रुक भी सकते हैं या फिर बदलाव भी अधिक रह सकते हैं. इस समय पर विदेशी मामलों में अच्छे परिणाम देखने को मिल सकते हैं. बाहरी संपर्क लबह दिलाने में सहायक हो सकते हैं. विदेश यात्रा अथवा विदेशी नौकरी पाने के लिए ये समय काफी अनुकूल रह सकता है. कुछ नए दोस्त बन सकते हैं जिनके साथ डिस्टेंस रिलेशनशिप भी बन सकती है. अपने जन्मस्थान से दूर जाने एवं लंबी दूरी की यात्राओं का योग भी बृहस्पति को गोचर के कारण अब प्रतिफलित होता दिखाई दे सकता है. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का वृश्चिक राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Scorpio

वृश्चिक राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर एकादश भाव पर होगा. बृहस्पति का गोचर लाभ दिलाने में सहायक होगा. इस समय पर सकारात्मक फलों की प्राप्ति होने की संभावनाएं अधिक बनी रह सकती हैं. वृश्चिक राशि के लिए, बृहस्पति परिवार, नैतिक मूल्यों, वाणी, शिक्षा, संतान, संबंधों पर घरा असर डालने वाला होगा. अब इस संदर्भ में गुरु अपने बेहतर परिणाम देने में सहायक बनेगा. इच्छाओं को पूरा कर पाने में विचारशीलता अब कामयाब होते दिखाई दे सकती है. बृहस्पति ग्रह ज्ञान एवं मान्यताओं से संबंधित होता है. एकादश भाव लाभ को दिखाता है यह मान सम्मान प्राप्ति पद प्राप्ति, सामाजिक स्थिति को प्राप्त करने एवं आशाओं को पूर्ण करने में आगे रह पाएंगे. इस समय के दौरान अनुकूल फलों की प्राप्ति संबंधों के आरंभ रुप में दिखाई दे सकती है. अपने प्रेम को विवाह में प्रतिरूपित होते देखा जा सकेगा. इस समय कला कौशल एवं रचनात्मक स्थिति पुरस्कार और लाभ दिलाने में बहुत अधिक सहायक होगी. अपने बारे में कुछ अधिक आलोचनात्मक होते हुए आगे बढ़ने का संकेत भी दिखाई देगा. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का धनु राशि पर प्रभाव/ Impact of Jupiter Transit in Virgo and Sagittarius

धनु राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर दशम भाव पर होगा. इस गोचर के दौरान कर्म क्षेत्र पर तेजी दिखाई देगी. अपनी नौकरी, व्यवसाय को लेकर अब अधिक सोच विचार में रह सकते हैं. अपने उद्देश्यों को लेकर अधिक दृढ़ होते दिखाई दे सकते हैं. इस समय पर काम के क्षेत्र में अधिकारियों के साथ बेहतर संबंध बनते दिखाई देंगे. उच्च पद प्राप्ति को लेकर इस समय स्थिति काफी अच्छी रह सकती है. काम के क्षेत्र में एकाग्रता बनी रहेगी. परिश्रम द्वारा अपने लिए प्रतिष्ठा एवं सम्मान प्राप्त कर सकते हैं. काम पर फोकस रख पाएं. अपने काम के लिए पहचान मिल पाएगी. प्रसिद्धि और अपनी स्थापना हेतु  प्रयास अधिक करेंगे. इस समय पर कार्य स्थल में बदलाव हो सकता है. काम में बदलाव हो सकता है. आय में वृद्धि हो सकती है. व्यवसाय की स्थापना को लेकर काफी संजीदा दिखाई दे सकते हैं. कार्यस्थल पर सहकर्मियों का नेतृत्व करने में भी आगे रह सकते हैं. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का मकर राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Capricorn

मकर राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर नवम भाव पर होगा. बृहस्पति का गोचर भाग्य के घर पर होने से ये समय अनुकूल फलों को दिलाने में सहायक बन सकता है. नवम भाव का बृहस्पति गोचर जाकर के जीवन में नए दृष्टिकोण देने वाला होता है. जीवन में प्रसिद्धि को पाने के लिए जो प्रयास होते हैं वह भी कुछ कामयाब भी हो पाते हैं. मकर राशि के लोगों के लिए, बृहस्पति साहस, पराक्रम, सहोदरों, प्रयासों तत्का कार्यों को प्रभावित करता है और इस समय धर्म स्थान पर गुरु होने से चीजें अब एक बेहतर रुप से आगे बढ़ पाएंगे. धर्म, दर्शन, यात्रा, शिक्षा द्वारा समाज में स्थापित कर पाने में सफल रह सकते हैं. उच्च वरिष्ठ लोगों का सहयोग जीवन को आगे बढ़ाने में प्रसिद्धि पाने में काम आ सकता है. पिता का प्रेम जीवन को मार्गदर्शन देने वाला होगा. इस समय के दौरान नए नए लोगों के साथ मेलजोल होगा. किसी प्रतिष्ठान में स्थापित होने जुड़ने का अवसर मिल सकता है. कार्यक्षेत्र में बदलाव के साथ लाभ प्राप्ति के अन्य विकल्प भी मौजूद रह सकते हैं. ये समय स्वाभिमान को बढ़ाने वाला होगा. विचारों द्वारा लोग आपसे आकर्षित हुए बिना नहीं रह पाएंगे. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का कुम्भ राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Aquarius

कुंभ राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर अष्टम भाव पर होगा. बृहस्पति का अष्टम में जाना गुढ़ चेतना के जागरण का समय होगा. कुम्भ राशि के लिए बृहस्पति लाभ,इच्छा, परिवार, धन और वाणी का स्वामी होता है अष्टम में जाने पर इन सभी चीजों को लेकर विचार भी काफी गहनता लिए होंगे. इस समय बातें अधिक गहराई तक दूसरों पर असर डालने वाली होंगी. गोचर में बृहस्पति विशेष रुप से धन और लाभ के मुद्दों को अष्टम में ले जाने वाला होगा  इस को लेकर इच्छा उन्मुख बनी रह सकती है. भोग-विलास के प्रति रुझान, रहस्यों के प्रति झुकाव और रूपांतरण की प्रक्रिया अब अधिक प्रबल होकर उभर सकती है. इस समय पर आशाओं के अनुरूप कार्य न हो पाएं. चीजें अनियंत्रित भी लग सकती हैं. कुछ मामलों में यह पथभ्रष्ट होने की स्थिति को भी सामने लाने वाला हो सकता है. गुप्त रुप से ज्ञान अलग ही स्तर का होगा. इस समय के दौरान दर्शन मंत्र अथवा परालौकिक ज्ञान के प्रति भी विशेष आकर्षण इस समय अवधि के दौरान जागृत हो सकता है. आर्थिक निवेश संभल कर करने होंगे क्योंकि घाटे की आशंका भी अधिक रह सकती है. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का मीन राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Pisces

मीन राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर सप्तम भाव पर होगा. बृहस्पति का गोचर इस समय के दौरान रिश्तों पर असर देखने को मिल सकता है. विवाह से संबंधित मसले इस समय पर अधिक प्रभावित हो सकते हैं. बृहस्पति करियर, व्यवसाय, यात्रा विदेश संबंध, जीवन उद्देश्य को लेकर काफी उत्साहित होता है. साझेदारी और व्यापार आदि के मामले को लेकर अच्छे अवसर मिल सकते हैं. बृहस्पति की दृष्टि आपके लग्न को भी प्रभावित करने वाली होगी. इसके द्वारा मानसिक रुप से काफी मजबूत होंगे. किसी के साथ मिलकर काम की शुरुआत की जा सकती है और बेहतर परिणाम भी इस समय पर मिल सकते हैं. इस समय के दौरान संबंधों का आरंभ होगा. विवाह होने की संभावना बनती है. जीवन में विवाह और साझेदारी का आरंभ हो सकता है. पार्टनर के प्रति अधिक  आलोचनात्मक होने से बचना होगा अन्यथा विवाद भी बने रह सकते हैं. आर्थिक रुप से लाभ प्राप्ति का योग भी बनेगा तथा सामाजिक रुप से भी मेलजोल की स्थिति भी अधिक बढ़ सकती है. 

बृहस्पति के अन्य राशियों में गोचर के प्रभाव के बारे में पढ़ने के लिए  बृहस्पति के सभी गोचर पर क्लिक करें, आप यह भी पढ़ सकते हैं कि ज्योतिष उचित करियर के चयनलव या अरेंज्ड मैरिज और बिजनेस में वृद्दि में कैसे मदद करता है।

Jupiter Transit in Libra
26 Dec,2028
से
28 Mar,2029

 

तुला राशि में बृहस्पति का प्रभाव काफी निर्णायक रुप से दिखाई दे सकता है. तुला राशि को संतान के रुप में देखा जाता है. इस राशि में गुरु का आगमन बौद्धिकता और योजनाओं को लेकर काफी प्रभावी रहता है. यह स्वच्छंद की धारा लाएगा लेकिन इस स्वतंत्रता में नियंत्रण का असर भी होगा. 

 

तुला राशि में बृहस्पति प्रभाव/Impact of Jupiter transit on Libra

तुला राशि एक वायु तत्व राशि है, जिसका अधिपति शुक्र है. यह राशि शुक्र की राशि है इस कारण बृहस्पति का यहां होना काफी कुछ मिले जुले फलों को दिखाता है. यहां बृहस्पति कुछ तटस्थ भी दिखाई देंगे. शुक्र और बृहस्पति के शुभ होने का प्रभाव इस स्थिति को सकारात्मक रंग भी देने वाला होगा. तुला राशि में बृहस्पति का होना आकर्षण एवं प्रभावशाली व्यक्तित्व को दर्शाने वाला होता है. शुक्र सौंदर्य, ऎश्वर्य, भोग विलास को दर्शाता है. बृहस्पति के तुला में आ जाने पर इन चीजों को आगे बढ़ने का अवसर मिलता है. इस समय के दौरान सोच में उत्सुकता भी दिखाई देती है. इस समय पर सृजन में गहरी रुचि दिखाई दे सकती है. विनम्र और व्यवहार कुशल होते हुए समाज में मान सम्मान की प्राप्ति होती है. 

 

इस समय के दौरान भावनात्मक एवं धार्मिक स्थिति में भी विस्तार को देख पाएंगे.  जातक में विचारों की उन्मुकता भी दिखाई देगी. न्याय स्वरूप कार्यों की ओर झुकाव अधिक होगा तथा व्यवहार में भी सत्यता एवं निष्ठा की स्थिति अनुकूल रुप से असर डालने वाली होती है. नैतिक मूल्यों के प्रति विचार सुदृढ़ होते हैं. 

 

बृहस्पति का तुला राशि में गोचर का मेष राशि पर  प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Libra on Aries

मेष राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर सातवें भाव में होगा. बृहस्पति का सातवें भाव में होना मुख्य रुप से विवाह एवं पार्टनरशिप पर सीधे तौर पर असर डाल सकता है. सातवां घर विवाह, साझेदारी, व्यापार के संबंधों, विदेश यात्रा इत्यादि को दर्शाता है. इस कारण से बृहस्पति मेष राशि वालों के पहलुओं को सर्वप्रथम प्रभावित करेगा. गुरु सप्तम में स्थित होकर पहले घर पर दृष्टि भी डालेगा, यह समय आपकी सोच एवं विचारधारा में भी नए बदलावों का समय होगा. जिन जातकों का विवाह नहीं हुआ है उन्हें इस समय पर विवाह संबंधी मामलों से प्रभावित होना पड़ सकता है. जीवन में किसी नए रिश्ते का आरंभ हो सकता है. कुछ नए व्यवसाय एवं किसी के साथ मिलकर काम करने का विचार भी इस समय पर काफी तेजी से आप के भीतर उभर सकता है. यह समय स्टार्टअप से जुड़े काम के लिए भी बेहतर रह सकता है. सामाजिक स्थिति बेहतर होगी. आर्थिक रुप से लाभ प्राप्ति के योग भी बनेंगे. 

 

बृहस्पति का तुला राशि में गोचर का वृषभ राशि पर  प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Libra on Taurus

वृषभ राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर छठे भाव पर होगा. बृहस्पति की स्थिति यहां नई चुनौतियों के साथ आगे बढ़ने की होगी. इस गोचर अवधि के समय पर विचार विमर्श एवं धैर्य के साथ किसी भी नतीजों पर पहुंचने के लिए उचित होगा. इस समय के दौरान रिश्तों में अचानक से कुछ बदलाव की स्थिति देखने को मिल सकती है. अभी तक जिन मुद्दों पर बात धीमे हो रही थी वह अब सामने उभर कर दिखाई देने लगेगी. सुख-शांति की कमी मानसिक असंतोष को देने वाली हो सकती है. कुछ कानूनी मसले या व्यर्थ के विवाद जीवन को प्रभावित कर सकती है. स्वास्थ्य को लेकर भी इस समय सजग रहने की आवश्यकता होगी. मानसिक तनाव का सामना करना पड़ सकता है. कड़ी मेहनत और प्रयासों द्वारा  प्रसिद्धि अर्जित करने में सफल रह सकते हैं. कार्यस्थल पर विरोधाभास परेशान कर सकता है इसलिए इस समय के दौरान जल्दबाजी के फैसले परेशानी बढ़ा सकते हैं. खर्चों के मामले में आगे रह सकते हैं और कुछ निवेश भी इस समय व्यय हो सकता है, इसलिए सोच समझ कर आर्थिक मसलों में कोई फैसला लेना बेहतर होगा. 

 

बृहस्पति का तुला राशि में गोचर का मिथुन राशि पर  प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Libra on Gemini

मिथुन राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर पंचम स्थान पर होगा. बृहस्पति का गोचर पंचम पर होने से आपकी सोच में विस्तार होगा, नए सकारात्मक विचार बदलाव के नए दृष्टिकोण दिखाई दे सकता है. बृहस्पति का तुला राशि में गोचर आगे बढ़ने का अवसर दिलाने वाला होगा. यहां बृहस्पति की स्थिति शुभदायक फल देने में सहायक होगी. इस स्थान पर बृहस्पति कुछ अच्छी मंत्र शक्ति प्राप्ति साधना विकास को देने में सहायक होगा. पंचम स्थान शिक्षा के मामले में आपको अच्छे अवसर देने वाला होगा. शिक्षा में बेहतर परिणाम मिलने लगते हैं. भाषा, दर्शन, रचनात्मक एवं कलात्मक विषयों की ओर रुझान भी अधिक दिखाई दे सकता है. प्रेम संबंध की शुरुआत हो सकती है. प्रेम को लेकर इस समय भावनात्मक रुप काफी उत्साहित दिखाई दे सकते हैं. पूर्व में चल रहे विवाद अब सुलझ सकते हैं. आप चीजों को ज्यादा बेहतर रुप से समझेंगे और दृष्टिकोण भी काफी परिपक्व होने लगेगा. संतान सुख प्राप्ति के लिए भी ये समय काफी सकारात्मक होता है. दोस्तों के साथ मिलकर अच्छा समय व्यतीत कर पाएंगे इस समय जीवन में नए दोस्तों का आगमन होगा. 

 

बृहस्पति का तुला राशि में गोचर का कर्क राशि पर  प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Libra on Cancer

कर्क राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर चतुर्थ भाव में होगा. गुरु का प्रभाव आपके सुख में वृद्धि तथा परिवार में नए सदस्य के आगमन को दर्शाने वाला होगा. कर्क राशि राशि के लिए बृहस्पति का गोचर भाग्य के सहयोग द्वारा घरेलू क्षेत्र में नई संभावनाओं को दर्शाने वाला होगा. बृहस्पति के गोचर द्वारा इस समय घरेलू जीवन में आपकी भागीदारी कुछ अधिक बढ़ सकती है. नवीन जिम्मेदारियां भी मिल सकती हैं. यह गोचर कुछ मिला जुला असर दिखाई दे सकता है. संपत्ति के मामलों में अवसर मिल सकते हैं. जीवन साथी के साथ रिश्तों में परिवार का सहयोग मिल सकता है. इस गोचर के दौरान विवाद भी दूर होते दिखाई दे सकते हैं. रिश्‍तों और परिवार में बनी उठा-पटक आप को अधिक प्रभावित कर सकती है लेकिन इन चीजों को सुलझाने में भी आप सफल रह सकते हैं. घर निर्माण से जुड़े मामलों में आप काफी उत्साहित रह सकते हैं. कोई नया वाहन, आभूषण इत्यादि की खरीद का समय भी अब आपके लिए विशेष रह सकता है. 

 

बृहस्पति का तुला राशि में गोचर का सिंह राशि पर  प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Libra on Leo

सिंह राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर तीसरे भाव स्थान पर होगा. बृहस्पति आपके साहस एवं उत्साह में वृद्धि को दर्शाने वाला होगा. इस समय के दौरान काम को लेकर काफी अधिक व्यस्तता रह सकती है. इस समय के दौरान व्यवहार कुशलता दूसरों पर गहरा असर डालने वाली होगी. अपने काम के क्षेत्र में या जो पुराने विचार अभी तक पूरे नहीं हो पाए थे वह अब आगे बढ़ते दिखाई देंगे. मानसिक रुप से काफी उत्साहित रह सकते हैं. ये समय आप अपने आस पास के लोगों को लेकर भी बदलाव की चाह रख सकते हैं. जीवन में भाई बंधुओं के साथ आपके संबंध इस समय पर प्रभावित रह सकते हैं. राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में शामिल होने का अवसर मिल सकता है. जो छात्र खेल कूद या फिर संचार से जुड़े मामले में सफलता के नए मापदंड स्थापित हो सकते हैं. स्थान परिवर्तन का समय होगा. कार्यस्थल एवं स्थान बदलाव का बेहतर समय दिखाई देगा. 

 

बृहस्पति का तुला राशि में गोचर का कन्या राशि पर  प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Libra on Virgo

कन्या राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर द्वितीय भाव स्थान पर होगा. बृहस्पति भाव का धन भाव पर गोचर काफी महत्वपूर्ण एवं शुभ फलों को प्रदान करने वाला होगा. इस समय पर आर्थिक स्थिति बेहतर फलों को दिलाने वाली होगी. इस समय के दौरान उत्साह और दृढ़ संकल्प से सपनों को पूरा करने में सफल रह सकते हैं. जीवन में आगे बढ़ने में अपनों का सहयोग भी काम आएगा. कुछ बेहतर करने की उम्मीद अब पूरी होती दिखाई दे सकती है. जीवन के प्रति आपका दृष्टिकोण सकारात्मक होने लगता है. अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए आप जो कुछ भी कर पाएंगे उसमें आपकी क्षमता अब बखूबी से सामने आएगी. अपने कुटुम्ब में वृद्धि का समय होगा. घर पर किसी नए सदस्य का आगमन हो सकता है. मांगलिक कार्यों में शामिल हो पाएंगे तथा जीवन साथी के साथ अपने जीवन के महत्वपूर्ण फैसलों को भी ले सकते हैं. पैतृक संपत्ति या वसीयत से लाभ मिलने की अच्छी संभावनाएं भी आपके पक्ष में रह सकती हैं. आय में वृद्धि अथवा परिवार से धन लाभ के अवसर मिल सकते हैं. ये समय वाणी में सत्यता को दर्शाने वाला होगा अर्थात आप की कही कुछ बातें सत्य भी हो सकती हैं. 

 

बृहस्पति का तुला राशि में गोचर का तुला राशि पर  प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Libra on Libra

तुला राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर पहले घर में अर्थात लग्न भाव पर होगा. बृहस्पति का गोचर आपके जीवन को नई दिशा देने में सहायक होगा. इस समय के दौरान परिवार में कोई शुभ मांगलिक कार्यों का आयोजन हो सकता है. इस समय पर परिवार के लोगों के साथ आप काफी उत्साहित होते दिखाई दे सकते हैं. कुछ सदस्यों के साथ जुड़ने की संभावना भी बनी रह सकती है. स्वभाव एवं वाणी में परिपक्वता देखने को मिल सकती है. इस समय के दौरान कुछ मामलों में नेतृत्व करने का अवसर भी प्राप्त होगा. दूसरों को प्रभावित करने का आप काफी सक्षम होंगे. इस समय के दौरान स्वभाव में कुछ तेजी, क्रोध एवं जिद की स्थिति भी अधिक देखने को मिल सकती हैं इसलिए स्वभाव में नम्रता को बनाए रखना ही सभी के सहयोग का मुख्य आधार बनेगा. अपनी संपत्ति के माध्यम से या अन्य माध्यमों से धनार्जन की अच्छी उम्मीद दिखाई दे सकती है. जीवनसाथी को लेकर कुछ चिंताएं भी रह सकती हैं उनकी स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के कारण चिंता हो सकती है. काम के क्षेत्र में विस्तार और मान सम्मान प्राप्ति के योग भी बन सकते हैं. व्यावसायिक भागीदार लाभ के लिए सहायक भी बन सकते हैं. 

 

बृहस्पति का तुला राशि में गोचर का वृश्चिक राशि पर  प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Libra on Scorpio

वृश्चिक राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर बारहवें भाव पर होगा. बृहस्पति का गोचर आपके व्यय स्थान पर बृहस्पति की स्थिति कमजोर फलों को देने वाली हो सकती है. गोचर की ये अवधि जीवन के बदलावों को दर्शाने वाली होती है. इस समय के दौरान विदेश मामले सकारात्मक फल दिलाने वाला होगा. इस समय विशेष रुप से खर्चों की अधिकता देखने को मिल सकती है. छोटी छोटी बातें परेशानी दे सकती है अथवा व्यर्थ की चिंताएं भी अधिक रह सकती हैं. इस समय के दौरान शेयर मार्किट या जोखिम से भरे निवेश में शामिल होने से बचना चाहिए. संबंधों में मतभेद एवं दूरी की स्थिति भी असर डाल सकती है. इस गोचर के दौरान अधिक बेहतर और प्रभावी निर्णय लेने में बहुत अधिक सफलता नहीं मिल पाती है. अनिद्रा, पैरों से संबंधी एवं स्वास्थ्य समस्याएं परेशानी दे सकती हैं, इसलिए इस समय सेहत पर ध्यान देने एवं योग इत्यादि में शामिल होना उचित रहेगा. 

 

बृहस्पति का तुला राशि में गोचर का धनु राशि पर  प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Libra on Sagittarius

धनु राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर एकादश भाव में होगा. बृहस्पति का गोचर एकादश होने पर ये समय लाभ प्राप्ति के बेहतर अवसर मिल सकते हैं. गुरू का यह गोचर अच्छे एवं कुछ सकारात्मक बदलावों को दिखाने वाला होगा. आय प्राप्ति के नए स्रोत भी मिल सकते हैं. इस समय पर इच्छाओं को पूरा करने की ओर कदम बढ़ा सकते हैं. कुछ नई योजनाओं को आरंभ करने का बेहतर समय दिखाई देगा. इस समय पर नौकरी या व्यवसाय के क्षेत्र में उन्नति के योग भी दिखाई दे सकते हैं. नए दोस्तों का साथ मिल सकता है साथ ही पुराने दोस्तों के साथ अच्छे संबंध मजबूत होंगे. प्रेम संबंधों में आप सफल रह सकते हैं तथा अपने रिश्ते में एक से अधिक रिश्तों की ओर भी झुकाव अधिक रह सकता है.कुछ लम्बी दूरी की यात्राओं पर जाने का अवसर मिल पाएगा. यात्राएं भी लाभदायक  रह सकती हैं. समाज के प्रतिष्ठित लोगों के साथ मुलाकात के अवसर मिल सकते हैं ये समय सम्मान प्राप्ति या किसी उपाधि को दिलाने वाला भी रह सकता है. 

 

बृहस्पति का तुला राशि में गोचर का मकर राशि पर  प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Libra on Capricorn

मकर राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर दशम भाव पर होगा. दशम भाव पर बृहस्पति की स्थिति आपके कर्मक्षेत्र को अधिक रुप से प्रभावित करने वाली होगी. ये समय आप अपने अधिकारियों के साथ अधिक संपर्क विकसित होंगे. कार्यस्थल अथवा अपने काम में कुछ प्रतिष्ठित एवं वरिष्ठ अधिकारियों के साथ मेल जोल भी बढ़ सकता है, तथा इन लोगों से बेहतर मार्गदर्शन मिल सकता है. समाज में आपके संपर्क मजबूत होंगे तथा उनके द्वारा आपको अपने काम में आगे बढ़ने का बेहतर मौका मिल सकता है. इस समय के दौरान, आपके पास आय के एक से अधिक स्रोत भी हो सकते हैं. काम के क्षेत्र में नौकरी में परिवर्तन एवं पद प्राप्ति के भी मौके बनेंगे. अपने मित्रों,  रिश्तेदारों के साथ आपके अच्छे रिश्ते भी बनेंगे.भाई बंधुओं के साथ कुछ नोक झोक रह सकती है लेकिन यह समय के साथ अपने आप दूर होते जाएंगे. इस समय पर मकान प्राप्ति, संपत्ति की खरीद फरोख्त, वाहन इत्यादि लेने का विचार भी किया जा सकता है. 

 

बृहस्पति का तुला राशि में गोचर का कुंभ राशि पर  प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Libra on Aquarius

कुंभ राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर नवम भाव पर होगा. बृहस्पति का गोचर नवें घर पर होने से आपके भाग्य में वृद्धि का समय होगा. गोचर की ये अवधि अच्छे लाभ प्रदान करने वाली होती है. जीवन में मार्गदर्शन के साथ साथ नई विचारधाराओं के साथ जुड़ने का समय होगा. आध्यात्मिक एवं आत्मज्ञान के स्तर पर ये समय काफी प्रभावी रहने वाला होगा. कुछ नए लाभ एवं नए लोगों का संपर्क इस समय पर मिल सकता है. सामाजिक स्थिति में सुधार एवं मेलजोल की अच्छी स्थिति दिखाई देगी. ये समय धार्मिक यात्राओं अथवा मनोरंजन से संबंधी यात्राएं हो सकती है. इस समय मानसिक रुप से झुकाव आध्यात्मिक ज्ञान एवं दर्शन की ओर अधिक रह सकता है. धार्मिक कार्यों के साथ ही धर्मार्थ के कार्यों में भी शामिल होने का अवसर प्राप्त हो सकता है. भाई-बहनों के साथ मेलजोल एवं आनंद का समय व्यतीत कर पाएंगे. इस समय के दौरान विवाह एवं संतान के सुख की प्राप्ति के अच्छे योग दिखाई देंगे. 

 

बृहस्पति का तुला राशि में गोचर का मीन राशि पर  प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Libra on pisces 

मीन राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर अष्टम भाव पर होगा. बृहस्पति का गोचर काफी सजग रहने की ओर संकेत देने वाला होगा. यह गोचर अचानक से आपके दृष्टिकोण को बदल कर रख देने वाला होगा. जरूरत के समय आप को अपनों का सहयोग न मिल पाए, ऐसे में जरूरत होगी धैर्य एवं स्वयं को मजबूत बनाए रखने की, इस समय पर दूसरों की ओर से कुछ नकारात्मक बातें भी सुनने को मिल सकती हैं. इस दौरान आपके स्वास्थ्य के लिहाज से कुछ परेशानी हो सकती है. मन अशांत रह सकता है और ऐसे में सही समय पर सही निर्णय नहीं ले पाएं. कुछ बदलाव अचानक और अप्रत्याशित रुप से आपको प्रभावित करने वाले होंगे. खर्चों की अधिकता तनाव देने वाली रह सकती है. इस समय पर जोखिम से भरे निवेश करने से बचना आवश्यक होता है. कार्यक्षेत्र में बदलाव की स्थिति भी इस समय पर अधिक प्रभावित कर सकती है. गूढ़ ज्ञान एवं अध्यात्म की ओर अधिक रुझान रह सकता है. 

 

अन्य राशियों में बृहस्पति के समस्त गोचरों के प्रभावों के बारे में पढ़ने के लिए बृहस्पति के  गोचर पर क्लिक करें। साथ ही आप हमारी वेबसाइट से यह भी जान सकते हैं कि ज्योतिष लव या अरेंज मैरिज में चुनाव, व्यवसायिक नामों के सुझावस्वास्थ्य ज्योतिषनौकरी या व्यवसाय के चुनाव में आपकी मदद कैसे करता है।

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर और अन्य राशियों पर प्रभाव
29 Mar,2029
से
24 Aug,2029

बृहस्पति के कन्या राशि में जाना सभी राशियों के जातकों के लिए विशेष रहेगा. कन्या राशि में बृहस्पति की स्थिति बौद्धिकता, धैर्य, रचनात्मक गुणों, दक्षता एवं विकास की नई संभावनाओं को दिखाने वाली होती है. कन्या राशि बुध के स्वामित्व की राशि है और बुध बुद्धि का कारक बनता है. दूसरी ओर बृहस्पति ज्ञान का कारक माना गया है. ऐसे में इन दोनों का असर कन्या राशि पर बृहस्पति के गोचर में दिखाई देगा. उचित दिशा में आगे बढ़ने की कोशिशें अब अमल में लाई जाएंगे. 

 

कन्या राशि में जो शांत-गंभीर भाव दिखाई देता है वह बृहस्पति के योग से काफी प्रभावशाली बन जाता है. यहां पर जातक इच्छाओं को पूर्ण करने की दिशा को खोज पाता है. अपने कथन को स्पष्टता से मजबूती के साथ दूसरों को संप्रेषित भी कर पाने में सफल होता है. वाक चातुर्य भी प्राप्त होता है व्यक्तित्व में आकर्षण की स्थिति भी उत्पन्न होती है. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि प्रभाव/Impact of Jupiter Transit on Virgo

सरावली अनुसार बृहस्पति के कन्या राशि में होने पर जातक विद्वान, धार्मिक गतिविधियों के प्रति झुकाव रखने वाला होगा. जातक कार्यों में निपुण होता है, अच्छी वस्तुओं का शौक रह सकता है. कला के प्रति झुकाव होता है. यवनजातक अनुसार कन्या राशि में बृहस्पति जातक को बौद्धिक तथा व्यवहार कुशलता प्राप्त होती है

 

कन्या राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर सकारात्मक रह सकता है. सरावली अनुसार बृहस्पति के कन्या राशि में होने पर जातक विद्वान, धार्मिक गतिविधियों के प्रति झुकाव रखने वाला होगा. जातक कार्यों में निपुण होता है, अच्छु वस्तुओं का शौक रह सकता है. कला के प्रति झुकाव होता है. यवनजातक अनुसार कन्या राशि में बृहस्पति जातक को बौद्धिक तथा व्यवहार कुशलता प्राप्त होती है

 

बृहस्पति कन्या राशि के गुणों में वृद्धिदायक बनता है. जातक बुद्धिमान एवं व्यवहार कुशल होगा. किसी भी चीज को ग्रहण करने में, ज्ञान पाने में, विचारों और सूचनाओं के लिए स्वयं को आगे रखने में कुशल होगा. अवसरों का लाभ उठाने के लिए प्रयासशील बनेंगे और दृष्टिकोण जीवन को बेहतर बनाने में सहायक बनेगा. जब बृहस्पति कन्या राशि में गोचर करता है, तो व्यक्ति कुछ ज्यादा ही विचारशील हो सकता है. ऐसे में जब कुछ हासिल करना चाहेंगे, तो बहुत अधिक विश्लेषण करने में फंस सकते हैं जिसके कारण चीजें हतह से निकल सकती हैं. स्वयं को बहुत अधिक उचित समझ लेना भी परेशानी में डाल सकता है ऐसे में गलतियों से सीखने और आनंद का लुत्फ उठाने में असमर्थ भी रह सकते हैं. लोगों से दूरी बन सकती है, बहुत अधिक दखल का प्रभाव दूसरों को दूर ले जा सकता है. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का मेष राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Aries

मेष राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर छठे भाव पर होगा. बृहस्पति का इस स्थान पर गोचर काफी सजग रहकर आगे बढ़ने का समय दर्शाता है. छठा स्थान एक दु:स्थान होता है. बृहस्पति का इस स्थान पर होना, बदलावों एवं स्पर्धाओं का समय दे सकता है. व्यर्थ की चिंताएं भी अधिक रह सकती हैं. मेष राशि के लिए बृहस्पति धर्म और मोक्ष के भाव पर गोचर करने वाला है और अब यह छठे घर पर जाकर उस क्षेत्र में एक अलग दृष्टिकोण भी विकसित करेगा. इस समय पर खींचतान अधिक बनी रह सकती है. चीजें अनियंत्रित भी रह सकती हैं.  कुछ विशेष मुद्दे आपको परेशानी दे सकते हैं जिसमें शिक्षा और अध्यात्म मुख्य रुप से काम करेंगे. कुछ नई चीजों को लेकर उत्सुकता अधिक होगी, नए करने का प्रयास चीजों में संघर्ष को बढ़ा सकता है.  बृहस्पति का प्रभाव यात्राओं को दिखा सकता है. स्वास्थ्य को लेकर चिंता अधिक रह सकती है. नौकरी या व्यवसाय से संबंधित मामलों में जल्दबाजी के निर्णयों को लेने से बचने की आवश्यकता होगी. इस समय उत्साह अधिक रहेगा और यही जोश चुनौतियों से लड़ने की ऊर्जा देने वाला होगा. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का वृषभ राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Taurus

वृषभ राशि के लिए बृहस्पति का गोचर पंचम भाव स्थान पर होगा. बृहस्पति का गोचर इस स्थान पर होने से आपके पास कुछ अच्छी उम्मीद तथा संभावनाओं का समय होगा. इस समय के दौरान स्थितियां काफी सहायक रह सकती हैं. इस समय कार्यस्थल पर अनुकूल माहौल मिल सकता है. अपने सहकर्मियों के साथ मिलकर नए प्रोजेक्ट पर काम कर सकते हैं. लीडरशिप का मौका मिल सकता है. इस समय प्रेम संबंधों की शुरुआत का समय होगा, नए रिश्तों के प्रति आकर्षण भी रहेगा. दोस्ती प्रेम में बदल सकती है या फिर अपने प्रेम का इजहार कर सकते हैं. शिक्षा के मामले में ये समय अच्छे लाभ दिला सकता है. पढ़ाई में बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं. इस समय दर्शन, ज्ञान एवं बौद्धिकता से जुड़े कामों में पकड़ मजबूत रह सकती है. संतान का सुख प्राप्त होगा तथा बच्चों के द्वारा कुछ अच्छे आनंद के पल भी प्राप्त हो सकते हैं मित्रों के साथ अच्छे पल बिताने को मिलेंगे. दोस्तों जीवन में काफी सहायक हो सकते हैं. इस समय पर पेट या लीवर से संबंधित कुछ स्वास्थ्य समस्याएं परेशान दे सकती हैं इसलिए सेहत पर ध्यान देने की आवश्यकता होगी. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का मिथुन राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Gemini

मिथुन राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर चतुर्थ स्थान पर होगा. गुरु का असर आपके सुख में वृद्धि का होगा लेकिन साथ ही कुछ चिंताओं को भी देने वाला होगा. मनोकूल परिणाम पाने के लिए संघर्ष अभी रह सकता है ऐसे में अधिक कोशिशें भी करनी होंगी. इस समय पर संपत्ति की खरीदारी, घर निर्माण हो सकता है. नौकरी की तलाश कर रहे हैं या पदोन्नति का सोच रहे हैं तो उसमें अवसर मिल पाएंगे. इस समय पर लक्ष्य पर ध्यान अधिक केन्द्रित होने वाला है. यह समय अपना सर्वश्रेष्ठ देने के लिए उचित होगा. परिवार में कुछ बातों पर बहस हो सकती है इसलिए इस समय के दौरान जितना सहजता से काम लेंगे उतना ही समय आपके पक्ष में रह सकता है. अपने वरिष्ठ अधिकारियों एवं परिवार के बड़ों की ओर से कुछ दिशा निर्देश आपके भविष्य के निर्माण में सहायक बनेंगे. वैवाहिक जीवन में साथी का सहयोग कुछ मामलों में कमजोर रह सकता है ससुराल पक्ष की ओर से दबाव महसूस हो सकता है लेकिन अपनी उचित निर्णय शैली से स्थिति को नियंत्रित कर पाने में सफल रहेंगे. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का कर्क राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Cancer

कर्क राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर तीसरे भाव पर होगा. ऐसे में उत्साह अधिक रहेगा. मानसिक परिश्रम इस समय पर अधिक रह सकता है. बदलावों का दौर जारी रह सकता है. काम हो या घरेलू स्थिति इस समय परिवर्तन दिखाई देगा. इस समय पर वैचारिक और व्यावसायिक विरोधियों को नियंत्रित करना आसान होगा. यदि कोई प्रतियोगिताओं में शामिल होते हैं तो उसमें सफलता की उम्मीद अच्छी रह सकती है. पुराना ऋण भी चुकाया जाएगा, इस समय के दौरान खाने-पीने की आदतों पर नियंत्रण रखने की जरूरत होगी.  लगातार बड़ी योजनाओं पर काम करने की कोशिशें भी जारी रह सकती है. दूरदर्शी एवं  रचनात्मक दिमाग किसी मुद्दे पर हर पहलू पर नजर रखेंगे. अपने भाई बंधुओं को लेकर अधिक चिंताएं होंगी तो साथ ही भावनात्मक स्तर पर भी कमजोर दिखाई दे सकते हैं. अपने लक्ष्यों को लेकर काफी दृढ़ दिखाई देंगे साथ ही बाहरी संपर्क अच्छे लाभ दिला सकते हैं. बृहस्पति के गोचर के दौरान यात्राओं का अवसर अधिक होगा, व्यस्तता बनी रह सकती है और साथ ही खर्च की अधिकता भी रहने वाली है. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का सिंह राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Leo

सिंह राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर दूसरे घर पर होगा. गुरु का गोचर शुभ दायक रहेगा. अच्छे लाभ मिल सकते हैं. मांगलिक सुख की प्राप्ति का योग भी इस समय पर बन सकता है, जीवनसाथी से सहयोग एवं लाभ की स्थिति आपके लिए सहायक हो सकती है. बृहस्पति इस स्थान पर आर्थिक क्षेत्र और मानसिक संतुष्टि को देने में सहायक होगा. इस समय तर्कशील होंगे तथा संवाद की कुशलता प्राप्त होगी. किसी के साथ तर्क करने में बहुत बुद्धिमान हो सकते हैं. व्यवहार से भौतिकवादी, संवाद करने में बहुत अच्छे और एक अच्छा वक्ता रहेंगे. पैतृक धन प्राप्ति का योग भी इस समय शुभ रह सकता है. कुटुम्ब का सहयोग सकारात्मक रुप से काम करने वाला होगा. लोगो आपका अनुसरण करने में भी आगे रह सकते हैं. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का कन्या राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Virgo

कन्या राशि के जातकों के लिए ये समय उन्हीं की राशि पर गोचर होगा. राशि का प्रभाव सकारात्मक रुप से असर डालने वाला होगा. सफलता प्राप्ति को लेकर काफी अडिग दिखाई देंगे. इस समय पर अभिमान में वृद्धि हो सकती है और अपनों के साथ भी मतभेद रह सकते हैं लेकिन स्थिति आपके पक्ष में काम करने वाली होगी इस समय जातक अपनी विचारधारा को और भी अधिक गहराई से दूसरों के सामने रख पाने में सफलता मिलेगी. आकर्षण में वृद्धि होगी. इस समय पर कोई कौशल निखार पा सकता है. अभिरुचि से जुड़े काम दूसरों को आपका प्रशंसक भी बना सकते हैं.  नौकरी अथवा व्यवसाय में भी कुछ नए अवसर पाने का समय होगा. कार्यक्षेत्र में आप अपनी योग्यता को बहुत ही बेहतर ढंग से प्रस्तुत कर पाने में सफल रहेंगे. अपने विरोधियों को परास्त कर पाने में सक्षम होंगे. विचारधारा का पैनापन शत्रुओं को नियंत्रण में रख सकता है. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का तुला राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Libra 

तुला राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर द्वादश भाव में होगा. इस स्थान पर बृहस्पति का गोचर काफी कमजोर रह सकता है. आर्थिक स्थिति कमजोर बनी रह सकती है और व्यर्थ के अपव्यय अधिक बने रह सकते हैं. प्रयासों की अधिकता बनी रहने वाली है. इस समय के दौरान मानसिक रुप से चिंताएं अधिक रह सकती हैं. काम काज में अचानक होने वाले बदलाव काफी परेशान कर सकते हैं. नए स्थान पर स्वयं को स्थापित करने की कोशिशें बनी रह सकती है. काम के क्षेत्र में बनते हुए काम कुछ समय के लिए रुक भी सकते हैं या फिर बदलाव भी अधिक रह सकते हैं. इस समय पर विदेशी मामलों में अच्छे परिणाम देखने को मिल सकते हैं. बाहरी संपर्क लबह दिलाने में सहायक हो सकते हैं. विदेश यात्रा अथवा विदेशी नौकरी पाने के लिए ये समय काफी अनुकूल रह सकता है. कुछ नए दोस्त बन सकते हैं जिनके साथ डिस्टेंस रिलेशनशिप भी बन सकती है. अपने जन्मस्थान से दूर जाने एवं लंबी दूरी की यात्राओं का योग भी बृहस्पति को गोचर के कारण अब प्रतिफलित होता दिखाई दे सकता है. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का वृश्चिक राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Scorpio

वृश्चिक राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर एकादश भाव पर होगा. बृहस्पति का गोचर लाभ दिलाने में सहायक होगा. इस समय पर सकारात्मक फलों की प्राप्ति होने की संभावनाएं अधिक बनी रह सकती हैं. वृश्चिक राशि के लिए, बृहस्पति परिवार, नैतिक मूल्यों, वाणी, शिक्षा, संतान, संबंधों पर घरा असर डालने वाला होगा. अब इस संदर्भ में गुरु अपने बेहतर परिणाम देने में सहायक बनेगा. इच्छाओं को पूरा कर पाने में विचारशीलता अब कामयाब होते दिखाई दे सकती है. बृहस्पति ग्रह ज्ञान एवं मान्यताओं से संबंधित होता है. एकादश भाव लाभ को दिखाता है यह मान सम्मान प्राप्ति पद प्राप्ति, सामाजिक स्थिति को प्राप्त करने एवं आशाओं को पूर्ण करने में आगे रह पाएंगे. इस समय के दौरान अनुकूल फलों की प्राप्ति संबंधों के आरंभ रुप में दिखाई दे सकती है. अपने प्रेम को विवाह में प्रतिरूपित होते देखा जा सकेगा. इस समय कला कौशल एवं रचनात्मक स्थिति पुरस्कार और लाभ दिलाने में बहुत अधिक सहायक होगी. अपने बारे में कुछ अधिक आलोचनात्मक होते हुए आगे बढ़ने का संकेत भी दिखाई देगा. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का धनु राशि पर प्रभाव/ Impact of Jupiter Transit in Virgo and Sagittarius

धनु राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर दशम भाव पर होगा. इस गोचर के दौरान कर्म क्षेत्र पर तेजी दिखाई देगी. अपनी नौकरी, व्यवसाय को लेकर अब अधिक सोच विचार में रह सकते हैं. अपने उद्देश्यों को लेकर अधिक दृढ़ होते दिखाई दे सकते हैं. इस समय पर काम के क्षेत्र में अधिकारियों के साथ बेहतर संबंध बनते दिखाई देंगे. उच्च पद प्राप्ति को लेकर इस समय स्थिति काफी अच्छी रह सकती है. काम के क्षेत्र में एकाग्रता बनी रहेगी. परिश्रम द्वारा अपने लिए प्रतिष्ठा एवं सम्मान प्राप्त कर सकते हैं. काम पर फोकस रख पाएं. अपने काम के लिए पहचान मिल पाएगी. प्रसिद्धि और अपनी स्थापना हेतु  प्रयास अधिक करेंगे. इस समय पर कार्य स्थल में बदलाव हो सकता है. काम में बदलाव हो सकता है. आय में वृद्धि हो सकती है. व्यवसाय की स्थापना को लेकर काफी संजीदा दिखाई दे सकते हैं. कार्यस्थल पर सहकर्मियों का नेतृत्व करने में भी आगे रह सकते हैं. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का मकर राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Capricorn

मकर राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर नवम भाव पर होगा. बृहस्पति का गोचर भाग्य के घर पर होने से ये समय अनुकूल फलों को दिलाने में सहायक बन सकता है. नवम भाव का बृहस्पति गोचर जाकर के जीवन में नए दृष्टिकोण देने वाला होता है. जीवन में प्रसिद्धि को पाने के लिए जो प्रयास होते हैं वह भी कुछ कामयाब भी हो पाते हैं. मकर राशि के लोगों के लिए, बृहस्पति साहस, पराक्रम, सहोदरों, प्रयासों तत्का कार्यों को प्रभावित करता है और इस समय धर्म स्थान पर गुरु होने से चीजें अब एक बेहतर रुप से आगे बढ़ पाएंगे. धर्म, दर्शन, यात्रा, शिक्षा द्वारा समाज में स्थापित कर पाने में सफल रह सकते हैं. उच्च वरिष्ठ लोगों का सहयोग जीवन को आगे बढ़ाने में प्रसिद्धि पाने में काम आ सकता है. पिता का प्रेम जीवन को मार्गदर्शन देने वाला होगा. इस समय के दौरान नए नए लोगों के साथ मेलजोल होगा. किसी प्रतिष्ठान में स्थापित होने जुड़ने का अवसर मिल सकता है. कार्यक्षेत्र में बदलाव के साथ लाभ प्राप्ति के अन्य विकल्प भी मौजूद रह सकते हैं. ये समय स्वाभिमान को बढ़ाने वाला होगा. विचारों द्वारा लोग आपसे आकर्षित हुए बिना नहीं रह पाएंगे. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का कुम्भ राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Aquarius

कुंभ राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर अष्टम भाव पर होगा. बृहस्पति का अष्टम में जाना गुढ़ चेतना के जागरण का समय होगा. कुम्भ राशि के लिए बृहस्पति लाभ,इच्छा, परिवार, धन और वाणी का स्वामी होता है अष्टम में जाने पर इन सभी चीजों को लेकर विचार भी काफी गहनता लिए होंगे. इस समय बातें अधिक गहराई तक दूसरों पर असर डालने वाली होंगी. गोचर में बृहस्पति विशेष रुप से धन और लाभ के मुद्दों को अष्टम में ले जाने वाला होगा  इस को लेकर इच्छा उन्मुख बनी रह सकती है. भोग-विलास के प्रति रुझान, रहस्यों के प्रति झुकाव और रूपांतरण की प्रक्रिया अब अधिक प्रबल होकर उभर सकती है. इस समय पर आशाओं के अनुरूप कार्य न हो पाएं. चीजें अनियंत्रित भी लग सकती हैं. कुछ मामलों में यह पथभ्रष्ट होने की स्थिति को भी सामने लाने वाला हो सकता है. गुप्त रुप से ज्ञान अलग ही स्तर का होगा. इस समय के दौरान दर्शन मंत्र अथवा परालौकिक ज्ञान के प्रति भी विशेष आकर्षण इस समय अवधि के दौरान जागृत हो सकता है. आर्थिक निवेश संभल कर करने होंगे क्योंकि घाटे की आशंका भी अधिक रह सकती है. 

 

बृहस्पति का कन्या राशि में गोचर का मीन राशि पर प्रभाव/Impact of Jupiter Transit in Virgo on Pisces

मीन राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर सप्तम भाव पर होगा. बृहस्पति का गोचर इस समय के दौरान रिश्तों पर असर देखने को मिल सकता है. विवाह से संबंधित मसले इस समय पर अधिक प्रभावित हो सकते हैं. बृहस्पति करियर, व्यवसाय, यात्रा विदेश संबंध, जीवन उद्देश्य को लेकर काफी उत्साहित होता है. साझेदारी और व्यापार आदि के मामले को लेकर अच्छे अवसर मिल सकते हैं. बृहस्पति की दृष्टि आपके लग्न को भी प्रभावित करने वाली होगी. इसके द्वारा मानसिक रुप से काफी मजबूत होंगे. किसी के साथ मिलकर काम की शुरुआत की जा सकती है और बेहतर परिणाम भी इस समय पर मिल सकते हैं. इस समय के दौरान संबंधों का आरंभ होगा. विवाह होने की संभावना बनती है. जीवन में विवाह और साझेदारी का आरंभ हो सकता है. पार्टनर के प्रति अधिक  आलोचनात्मक होने से बचना होगा अन्यथा विवाद भी बने रह सकते हैं. आर्थिक रुप से लाभ प्राप्ति का योग भी बनेगा तथा सामाजिक रुप से भी मेलजोल की स्थिति भी अधिक बढ़ सकती है. 

बृहस्पति के अन्य राशियों में गोचर के प्रभाव के बारे में पढ़ने के लिए  बृहस्पति के सभी गोचर पर क्लिक करें, आप यह भी पढ़ सकते हैं कि ज्योतिष उचित करियर के चयनलव या अरेंज्ड मैरिज और बिजनेस में वृद्दि में कैसे मदद करता है।

Jupiter Transit in Libra
25 Aug,2029
से
24 Jan,2030

 

तुला राशि में बृहस्पति का प्रभाव काफी निर्णायक रुप से दिखाई दे सकता है. तुला राशि को संतान के रुप में देखा जाता है. इस राशि में गुरु का आगमन बौद्धिकता और योजनाओं को लेकर काफी प्रभावी रहता है. यह स्वच्छंद की धारा लाएगा लेकिन इस स्वतंत्रता में नियंत्रण का असर भी होगा. 

 

तुला राशि में बृहस्पति प्रभाव/Impact of Jupiter transit on Libra

तुला राशि एक वायु तत्व राशि है, जिसका अधिपति शुक्र है. यह राशि शुक्र की राशि है इस कारण बृहस्पति का यहां होना काफी कुछ मिले जुले फलों को दिखाता है. यहां बृहस्पति कुछ तटस्थ भी दिखाई देंगे. शुक्र और बृहस्पति के शुभ होने का प्रभाव इस स्थिति को सकारात्मक रंग भी देने वाला होगा. तुला राशि में बृहस्पति का होना आकर्षण एवं प्रभावशाली व्यक्तित्व को दर्शाने वाला होता है. शुक्र सौंदर्य, ऎश्वर्य, भोग विलास को दर्शाता है. बृहस्पति के तुला में आ जाने पर इन चीजों को आगे बढ़ने का अवसर मिलता है. इस समय के दौरान सोच में उत्सुकता भी दिखाई देती है. इस समय पर सृजन में गहरी रुचि दिखाई दे सकती है. विनम्र और व्यवहार कुशल होते हुए समाज में मान सम्मान की प्राप्ति होती है. 

 

इस समय के दौरान भावनात्मक एवं धार्मिक स्थिति में भी विस्तार को देख पाएंगे.  जातक में विचारों की उन्मुकता भी दिखाई देगी. न्याय स्वरूप कार्यों की ओर झुकाव अधिक होगा तथा व्यवहार में भी सत्यता एवं निष्ठा की स्थिति अनुकूल रुप से असर डालने वाली होती है. नैतिक मूल्यों के प्रति विचार सुदृढ़ होते हैं. 

 

बृहस्पति का तुला राशि में गोचर का मेष राशि पर  प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Libra on Aries

मेष राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर सातवें भाव में होगा. बृहस्पति का सातवें भाव में होना मुख्य रुप से विवाह एवं पार्टनरशिप पर सीधे तौर पर असर डाल सकता है. सातवां घर विवाह, साझेदारी, व्यापार के संबंधों, विदेश यात्रा इत्यादि को दर्शाता है. इस कारण से बृहस्पति मेष राशि वालों के पहलुओं को सर्वप्रथम प्रभावित करेगा. गुरु सप्तम में स्थित होकर पहले घर पर दृष्टि भी डालेगा, यह समय आपकी सोच एवं विचारधारा में भी नए बदलावों का समय होगा. जिन जातकों का विवाह नहीं हुआ है उन्हें इस समय पर विवाह संबंधी मामलों से प्रभावित होना पड़ सकता है. जीवन में किसी नए रिश्ते का आरंभ हो सकता है. कुछ नए व्यवसाय एवं किसी के साथ मिलकर काम करने का विचार भी इस समय पर काफी तेजी से आप के भीतर उभर सकता है. यह समय स्टार्टअप से जुड़े काम के लिए भी बेहतर रह सकता है. सामाजिक स्थिति बेहतर होगी. आर्थिक रुप से लाभ प्राप्ति के योग भी बनेंगे. 

 

बृहस्पति का तुला राशि में गोचर का वृषभ राशि पर  प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Libra on Taurus

वृषभ राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर छठे भाव पर होगा. बृहस्पति की स्थिति यहां नई चुनौतियों के साथ आगे बढ़ने की होगी. इस गोचर अवधि के समय पर विचार विमर्श एवं धैर्य के साथ किसी भी नतीजों पर पहुंचने के लिए उचित होगा. इस समय के दौरान रिश्तों में अचानक से कुछ बदलाव की स्थिति देखने को मिल सकती है. अभी तक जिन मुद्दों पर बात धीमे हो रही थी वह अब सामने उभर कर दिखाई देने लगेगी. सुख-शांति की कमी मानसिक असंतोष को देने वाली हो सकती है. कुछ कानूनी मसले या व्यर्थ के विवाद जीवन को प्रभावित कर सकती है. स्वास्थ्य को लेकर भी इस समय सजग रहने की आवश्यकता होगी. मानसिक तनाव का सामना करना पड़ सकता है. कड़ी मेहनत और प्रयासों द्वारा  प्रसिद्धि अर्जित करने में सफल रह सकते हैं. कार्यस्थल पर विरोधाभास परेशान कर सकता है इसलिए इस समय के दौरान जल्दबाजी के फैसले परेशानी बढ़ा सकते हैं. खर्चों के मामले में आगे रह सकते हैं और कुछ निवेश भी इस समय व्यय हो सकता है, इसलिए सोच समझ कर आर्थिक मसलों में कोई फैसला लेना बेहतर होगा. 

 

बृहस्पति का तुला राशि में गोचर का मिथुन राशि पर  प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Libra on Gemini

मिथुन राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर पंचम स्थान पर होगा. बृहस्पति का गोचर पंचम पर होने से आपकी सोच में विस्तार होगा, नए सकारात्मक विचार बदलाव के नए दृष्टिकोण दिखाई दे सकता है. बृहस्पति का तुला राशि में गोचर आगे बढ़ने का अवसर दिलाने वाला होगा. यहां बृहस्पति की स्थिति शुभदायक फल देने में सहायक होगी. इस स्थान पर बृहस्पति कुछ अच्छी मंत्र शक्ति प्राप्ति साधना विकास को देने में सहायक होगा. पंचम स्थान शिक्षा के मामले में आपको अच्छे अवसर देने वाला होगा. शिक्षा में बेहतर परिणाम मिलने लगते हैं. भाषा, दर्शन, रचनात्मक एवं कलात्मक विषयों की ओर रुझान भी अधिक दिखाई दे सकता है. प्रेम संबंध की शुरुआत हो सकती है. प्रेम को लेकर इस समय भावनात्मक रुप काफी उत्साहित दिखाई दे सकते हैं. पूर्व में चल रहे विवाद अब सुलझ सकते हैं. आप चीजों को ज्यादा बेहतर रुप से समझेंगे और दृष्टिकोण भी काफी परिपक्व होने लगेगा. संतान सुख प्राप्ति के लिए भी ये समय काफी सकारात्मक होता है. दोस्तों के साथ मिलकर अच्छा समय व्यतीत कर पाएंगे इस समय जीवन में नए दोस्तों का आगमन होगा. 

 

बृहस्पति का तुला राशि में गोचर का कर्क राशि पर  प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Libra on Cancer

कर्क राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर चतुर्थ भाव में होगा. गुरु का प्रभाव आपके सुख में वृद्धि तथा परिवार में नए सदस्य के आगमन को दर्शाने वाला होगा. कर्क राशि राशि के लिए बृहस्पति का गोचर भाग्य के सहयोग द्वारा घरेलू क्षेत्र में नई संभावनाओं को दर्शाने वाला होगा. बृहस्पति के गोचर द्वारा इस समय घरेलू जीवन में आपकी भागीदारी कुछ अधिक बढ़ सकती है. नवीन जिम्मेदारियां भी मिल सकती हैं. यह गोचर कुछ मिला जुला असर दिखाई दे सकता है. संपत्ति के मामलों में अवसर मिल सकते हैं. जीवन साथी के साथ रिश्तों में परिवार का सहयोग मिल सकता है. इस गोचर के दौरान विवाद भी दूर होते दिखाई दे सकते हैं. रिश्‍तों और परिवार में बनी उठा-पटक आप को अधिक प्रभावित कर सकती है लेकिन इन चीजों को सुलझाने में भी आप सफल रह सकते हैं. घर निर्माण से जुड़े मामलों में आप काफी उत्साहित रह सकते हैं. कोई नया वाहन, आभूषण इत्यादि की खरीद का समय भी अब आपके लिए विशेष रह सकता है. 

 

बृहस्पति का तुला राशि में गोचर का सिंह राशि पर  प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Libra on Leo

सिंह राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर तीसरे भाव स्थान पर होगा. बृहस्पति आपके साहस एवं उत्साह में वृद्धि को दर्शाने वाला होगा. इस समय के दौरान काम को लेकर काफी अधिक व्यस्तता रह सकती है. इस समय के दौरान व्यवहार कुशलता दूसरों पर गहरा असर डालने वाली होगी. अपने काम के क्षेत्र में या जो पुराने विचार अभी तक पूरे नहीं हो पाए थे वह अब आगे बढ़ते दिखाई देंगे. मानसिक रुप से काफी उत्साहित रह सकते हैं. ये समय आप अपने आस पास के लोगों को लेकर भी बदलाव की चाह रख सकते हैं. जीवन में भाई बंधुओं के साथ आपके संबंध इस समय पर प्रभावित रह सकते हैं. राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में शामिल होने का अवसर मिल सकता है. जो छात्र खेल कूद या फिर संचार से जुड़े मामले में सफलता के नए मापदंड स्थापित हो सकते हैं. स्थान परिवर्तन का समय होगा. कार्यस्थल एवं स्थान बदलाव का बेहतर समय दिखाई देगा. 

 

बृहस्पति का तुला राशि में गोचर का कन्या राशि पर  प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Libra on Virgo

कन्या राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर द्वितीय भाव स्थान पर होगा. बृहस्पति भाव का धन भाव पर गोचर काफी महत्वपूर्ण एवं शुभ फलों को प्रदान करने वाला होगा. इस समय पर आर्थिक स्थिति बेहतर फलों को दिलाने वाली होगी. इस समय के दौरान उत्साह और दृढ़ संकल्प से सपनों को पूरा करने में सफल रह सकते हैं. जीवन में आगे बढ़ने में अपनों का सहयोग भी काम आएगा. कुछ बेहतर करने की उम्मीद अब पूरी होती दिखाई दे सकती है. जीवन के प्रति आपका दृष्टिकोण सकारात्मक होने लगता है. अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए आप जो कुछ भी कर पाएंगे उसमें आपकी क्षमता अब बखूबी से सामने आएगी. अपने कुटुम्ब में वृद्धि का समय होगा. घर पर किसी नए सदस्य का आगमन हो सकता है. मांगलिक कार्यों में शामिल हो पाएंगे तथा जीवन साथी के साथ अपने जीवन के महत्वपूर्ण फैसलों को भी ले सकते हैं. पैतृक संपत्ति या वसीयत से लाभ मिलने की अच्छी संभावनाएं भी आपके पक्ष में रह सकती हैं. आय में वृद्धि अथवा परिवार से धन लाभ के अवसर मिल सकते हैं. ये समय वाणी में सत्यता को दर्शाने वाला होगा अर्थात आप की कही कुछ बातें सत्य भी हो सकती हैं. 

 

बृहस्पति का तुला राशि में गोचर का तुला राशि पर  प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Libra on Libra

तुला राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर पहले घर में अर्थात लग्न भाव पर होगा. बृहस्पति का गोचर आपके जीवन को नई दिशा देने में सहायक होगा. इस समय के दौरान परिवार में कोई शुभ मांगलिक कार्यों का आयोजन हो सकता है. इस समय पर परिवार के लोगों के साथ आप काफी उत्साहित होते दिखाई दे सकते हैं. कुछ सदस्यों के साथ जुड़ने की संभावना भी बनी रह सकती है. स्वभाव एवं वाणी में परिपक्वता देखने को मिल सकती है. इस समय के दौरान कुछ मामलों में नेतृत्व करने का अवसर भी प्राप्त होगा. दूसरों को प्रभावित करने का आप काफी सक्षम होंगे. इस समय के दौरान स्वभाव में कुछ तेजी, क्रोध एवं जिद की स्थिति भी अधिक देखने को मिल सकती हैं इसलिए स्वभाव में नम्रता को बनाए रखना ही सभी के सहयोग का मुख्य आधार बनेगा. अपनी संपत्ति के माध्यम से या अन्य माध्यमों से धनार्जन की अच्छी उम्मीद दिखाई दे सकती है. जीवनसाथी को लेकर कुछ चिंताएं भी रह सकती हैं उनकी स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के कारण चिंता हो सकती है. काम के क्षेत्र में विस्तार और मान सम्मान प्राप्ति के योग भी बन सकते हैं. व्यावसायिक भागीदार लाभ के लिए सहायक भी बन सकते हैं. 

 

बृहस्पति का तुला राशि में गोचर का वृश्चिक राशि पर  प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Libra on Scorpio

वृश्चिक राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर बारहवें भाव पर होगा. बृहस्पति का गोचर आपके व्यय स्थान पर बृहस्पति की स्थिति कमजोर फलों को देने वाली हो सकती है. गोचर की ये अवधि जीवन के बदलावों को दर्शाने वाली होती है. इस समय के दौरान विदेश मामले सकारात्मक फल दिलाने वाला होगा. इस समय विशेष रुप से खर्चों की अधिकता देखने को मिल सकती है. छोटी छोटी बातें परेशानी दे सकती है अथवा व्यर्थ की चिंताएं भी अधिक रह सकती हैं. इस समय के दौरान शेयर मार्किट या जोखिम से भरे निवेश में शामिल होने से बचना चाहिए. संबंधों में मतभेद एवं दूरी की स्थिति भी असर डाल सकती है. इस गोचर के दौरान अधिक बेहतर और प्रभावी निर्णय लेने में बहुत अधिक सफलता नहीं मिल पाती है. अनिद्रा, पैरों से संबंधी एवं स्वास्थ्य समस्याएं परेशानी दे सकती हैं, इसलिए इस समय सेहत पर ध्यान देने एवं योग इत्यादि में शामिल होना उचित रहेगा. 

 

बृहस्पति का तुला राशि में गोचर का धनु राशि पर  प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Libra on Sagittarius

धनु राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर एकादश भाव में होगा. बृहस्पति का गोचर एकादश होने पर ये समय लाभ प्राप्ति के बेहतर अवसर मिल सकते हैं. गुरू का यह गोचर अच्छे एवं कुछ सकारात्मक बदलावों को दिखाने वाला होगा. आय प्राप्ति के नए स्रोत भी मिल सकते हैं. इस समय पर इच्छाओं को पूरा करने की ओर कदम बढ़ा सकते हैं. कुछ नई योजनाओं को आरंभ करने का बेहतर समय दिखाई देगा. इस समय पर नौकरी या व्यवसाय के क्षेत्र में उन्नति के योग भी दिखाई दे सकते हैं. नए दोस्तों का साथ मिल सकता है साथ ही पुराने दोस्तों के साथ अच्छे संबंध मजबूत होंगे. प्रेम संबंधों में आप सफल रह सकते हैं तथा अपने रिश्ते में एक से अधिक रिश्तों की ओर भी झुकाव अधिक रह सकता है.कुछ लम्बी दूरी की यात्राओं पर जाने का अवसर मिल पाएगा. यात्राएं भी लाभदायक  रह सकती हैं. समाज के प्रतिष्ठित लोगों के साथ मुलाकात के अवसर मिल सकते हैं ये समय सम्मान प्राप्ति या किसी उपाधि को दिलाने वाला भी रह सकता है. 

 

बृहस्पति का तुला राशि में गोचर का मकर राशि पर  प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Libra on Capricorn

मकर राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर दशम भाव पर होगा. दशम भाव पर बृहस्पति की स्थिति आपके कर्मक्षेत्र को अधिक रुप से प्रभावित करने वाली होगी. ये समय आप अपने अधिकारियों के साथ अधिक संपर्क विकसित होंगे. कार्यस्थल अथवा अपने काम में कुछ प्रतिष्ठित एवं वरिष्ठ अधिकारियों के साथ मेल जोल भी बढ़ सकता है, तथा इन लोगों से बेहतर मार्गदर्शन मिल सकता है. समाज में आपके संपर्क मजबूत होंगे तथा उनके द्वारा आपको अपने काम में आगे बढ़ने का बेहतर मौका मिल सकता है. इस समय के दौरान, आपके पास आय के एक से अधिक स्रोत भी हो सकते हैं. काम के क्षेत्र में नौकरी में परिवर्तन एवं पद प्राप्ति के भी मौके बनेंगे. अपने मित्रों,  रिश्तेदारों के साथ आपके अच्छे रिश्ते भी बनेंगे.भाई बंधुओं के साथ कुछ नोक झोक रह सकती है लेकिन यह समय के साथ अपने आप दूर होते जाएंगे. इस समय पर मकान प्राप्ति, संपत्ति की खरीद फरोख्त, वाहन इत्यादि लेने का विचार भी किया जा सकता है. 

 

बृहस्पति का तुला राशि में गोचर का कुंभ राशि पर  प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Libra on Aquarius

कुंभ राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर नवम भाव पर होगा. बृहस्पति का गोचर नवें घर पर होने से आपके भाग्य में वृद्धि का समय होगा. गोचर की ये अवधि अच्छे लाभ प्रदान करने वाली होती है. जीवन में मार्गदर्शन के साथ साथ नई विचारधाराओं के साथ जुड़ने का समय होगा. आध्यात्मिक एवं आत्मज्ञान के स्तर पर ये समय काफी प्रभावी रहने वाला होगा. कुछ नए लाभ एवं नए लोगों का संपर्क इस समय पर मिल सकता है. सामाजिक स्थिति में सुधार एवं मेलजोल की अच्छी स्थिति दिखाई देगी. ये समय धार्मिक यात्राओं अथवा मनोरंजन से संबंधी यात्राएं हो सकती है. इस समय मानसिक रुप से झुकाव आध्यात्मिक ज्ञान एवं दर्शन की ओर अधिक रह सकता है. धार्मिक कार्यों के साथ ही धर्मार्थ के कार्यों में भी शामिल होने का अवसर प्राप्त हो सकता है. भाई-बहनों के साथ मेलजोल एवं आनंद का समय व्यतीत कर पाएंगे. इस समय के दौरान विवाह एवं संतान के सुख की प्राप्ति के अच्छे योग दिखाई देंगे. 

 

बृहस्पति का तुला राशि में गोचर का मीन राशि पर  प्रभाव/Impact of Jupiter transit in Libra on pisces 

मीन राशि के जातकों के लिए बृहस्पति का गोचर अष्टम भाव पर होगा. बृहस्पति का गोचर काफी सजग रहने की ओर संकेत देने वाला होगा. यह गोचर अचानक से आपके दृष्टिकोण को बदल कर रख देने वाला होगा. जरूरत के समय आप को अपनों का सहयोग न मिल पाए, ऐसे में जरूरत होगी धैर्य एवं स्वयं को मजबूत बनाए रखने की, इस समय पर दूसरों की ओर से कुछ नकारात्मक बातें भी सुनने को मिल सकती हैं. इस दौरान आपके स्वास्थ्य के लिहाज से कुछ परेशानी हो सकती है. मन अशांत रह सकता है और ऐसे में सही समय पर सही निर्णय नहीं ले पाएं. कुछ बदलाव अचानक और अप्रत्याशित रुप से आपको प्रभावित करने वाले होंगे. खर्चों की अधिकता तनाव देने वाली रह सकती है. इस समय पर जोखिम से भरे निवेश करने से बचना आवश्यक होता है. कार्यक्षेत्र में बदलाव की स्थिति भी इस समय पर अधिक प्रभावित कर सकती है. गूढ़ ज्ञान एवं अध्यात्म की ओर अधिक रुझान रह सकता है. 

 

अन्य राशियों में बृहस्पति के समस्त गोचरों के प्रभावों के बारे में पढ़ने के लिए बृहस्पति के  गोचर पर क्लिक करें। साथ ही आप हमारी वेबसाइट से यह भी जान सकते हैं कि ज्योतिष लव या अरेंज मैरिज में चुनाव, व्यवसायिक नामों के सुझावस्वास्थ्य ज्योतिषनौकरी या व्यवसाय के चुनाव में आपकी मदद कैसे करता है।