मंगल दोष के कारण और उपाय | Manglik dosha reasons and solutions

क्या आपको भी मंगल दोष/ Mangal Dosha ने अपने चपेट में ले लिया है? क्या आपकी कुंडली मंगल दोष/Mangal Dosha in kundli होने के कारण आप चिंतित हैं? यदि हां तो अब आपको इस विषय में विचार करने की आवश्यकता नहीं है। आप इन प्रश्नों के हल के लिए सबसे प्रामाणिक स्थान पर आए हैं जहां पर आपको मंगल दोष का जवाब वैदिक ज्योतिष/Mangal Dosha in Vedic astrology से मिलेगा। इससे पहले कि हम शुरू करें, मैं चाहता हूं कि आप ऊपर दिए मंगल दोष कैलकुलेटर/ Mangal Dosha calculator से अपनी कुंडली में कुजा दोष/ Kuja Dosha के बारे में जानें।

आपको क्या परिणाम मिला? क्या आपकी कुंडली में भी मांगलिक दोष/ Manglik Yoga है? चलिए मान लेते हैं कि आपका जवाब “ना” है तो आपके लिए यह समय खुशियां मनाने का है। लेकिन यदि आपका जवाब “हां” है तो आपको इस विषय में घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है क्योंकि वैदिक ज्योतिष के अनुसार भौम दोष/ Bhauma Dosha को निष्क्रिय किया जा सकता है।

यदि आपने ऊपर मांगलिक दोष कैलकुलेटर का प्रयोग किया है और आपको परिणाम मिलता है कि आपकी कुंडली में मांगलिक दोष है तो आप नीचे दी गई बातों का ध्यान अवश्य रखें:

आपको क्या परिणाम मिला? क्या आपकी कुंडली में भी मांगलिक दोष/ Manglik Yoga है? चलिए मान लेते हैं कि आपका जवाब “ना” है तो आपके लिए यह समय खुशियां मनाने का है। लेकिन यदि आपका जवाब “हां” है तो आपको इस विषय में घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है क्योंकि वैदिक ज्योतिष के अनुसार भौम दोष/ Bhauma Dosha को निष्क्रिय किया जा सकता है।

यदि आपने ऊपर मांगलिक दोष कैलकुलेटर का प्रयोग किया है और आपको परिणाम मिलता है कि आपकी कुंडली में मांगलिक दोष है तो आप नीचे दी गई बातों का ध्यान अवश्य रखें:

1.  इस बात की सबसे ज्यादा संभावना होती है कि आपका मांगलिक योग/ Manglik Yoga नहीं है। ऐसा इसलिए होता है कि क्योंकि उन्हें कुछ ज्योतिषियों ने बताया होता है कि उनकी कुंडली में मांगलिक दोष है लेकिन वास्तव में उन्होंने मंगल दोष की सही गणना नहीं की होती।

2.  ऐसा भी कई बार होता है कि मंगल दोष/ Mangal Dosha होने के बावजूद भी यह आपके विवाह को प्रभावित नहीं करता है।

3. सिर्फ मंगल दोष कैलकुलेटर/ Mangal Dosha calculator के परिणामों पर निर्भर ना करें| हो सकता है कि यह सिर्फ एक प्ररंभिक संकेत हो और अंत परिणाम कुछ और आए।

मांगलिक दोष: इसके पीछे का ज्योतिषीय विचार । MANGLIK DOSHA: ASTROLOGICAL THOUGHT BEHIND IT

मंगल ग्रह उग्र ग्रह है जिसमें बहुत उर्जा होती है। इस विषय में ज्योतिषीय धारणा यह कहती है कि यदि मंगल की अनियंत्रित ऊर्जा विवाह से संबंधित किसी भी भाव से जुड़ी हो तो उसकी ऊर्जा उस घर के फलों को नष्ट कर सकती है। विवाह के भाव पर मंगल ग्रह के किसी भी प्रभाव को मंगल दोष का प्रभाव/ effects of Mangal Dosha कहते हैं।

मांगलिक दोष: इसके पीछे का ज्योतिषीय विचार । MANGLIK DOSHA: ASTROLOGICAL THOUGHT BEHIND IT

मंगल ग्रह उग्र ग्रह है जिसमें बहुत उर्जा होती है। इस विषय में ज्योतिषीय धारणा यह कहती है कि यदि मंगल की अनियंत्रित ऊर्जा विवाह से संबंधित किसी भी भाव से जुड़ी हो तो उसकी ऊर्जा उस घर के फलों को नष्ट कर सकती है। विवाह के भाव पर मंगल ग्रह के किसी भी प्रभाव को मंगल दोष का प्रभाव/ effects of Mangal Dosha कहते हैं।

क्या मांगलिक का गैर मांगलिक से विवाह हो सकता है - इस विषय पर वीडियो देखने के लिए क्लिक करें।

कुंडली में निम्न भाव विवाह के लिए देखे जाते हैं या विवाह से संबंधित होते हैं। उनमें से किसी एक में मंगल की उपस्थिति हिंदू ज्योतिष में एक मंगल दोष/ mangal Dosha in Hindu astrology कहलाती है। मंगल दोष के प्रभाव हैं:

1.  पहले भाव में मंगल– ऐसी मान्यता है कि मंगल का प्रथम भाव/First house में होने से पति-पत्नी के बीच शारीरिक समस्याएं उत्पन्न होती है।

2.  दूसरा भाव में मंगल – दूसरे भाव/Second house में मंगल परिवार में समस्या का संकेत देता है।

3.  चौथे भाव में मंगल – इस भाव में मंगल शांति को भंग कर सकता है।

4.  सातवें भाव में मंगल – सातवें भाव में मंगल जातक को बहुत चिड़चिड़ा और गुस्सैल बनाता है।

5.  आठवें भाव में मंगल – आठवें भाव/Eighth House में मंगल का अर्थ यह है कि व्यक्ति बहुत ही आलसी और गैर जिम्मेदार होगा और इस योग के कारण उनके जीवन साथी की आयु भी कम हो जाएगी।

6.  बारहवें भाव में मंगल - बारहवें भाव/Twelfth House में मंगल का अर्थ यह है कि व्यक्ति के बहुत सारे दुश्मन हो सकते हैं, उनकी दिमागी हालत दुरुस्त नहीं होगी जिसके कारण वित्तीय समस्या हो सकती है, साथ साथ इस मानसिक स्थिति के कारण शारीरिक संबंध में भी समस्या आ सकती है। 

लेकिन मंगल आपको कभी भी परेशान नहीं करेगा यदि मंगल आपकी कुंडली में इनमे से किसी भी भाव में ना हो। उस भाव को प्रभावित करने वाले अन्य ग्रह भी होंगे, जिससे कुंडली में मांगलिक दोष/ manglik Dosha in the kundli निष्क्रिय हो सकता है।

इससे पहले कि हम निष्क्रियता के बारे में चर्चा करें, आप एक छोटी सी कहानी पढ़ें। 'क्यों कुंडली मिलान कभी-कभी विफल हो सकता है?' इस विषय पर OUTLOOK INDIA द्वारा समर्थित मेरा नवीनतम साक्षात्कार नीचे हमारे समाचार अनुभाग से पढ़ सकते हैं|

उसकी जन्म कुंडली में एक भौम दोष था:/ She had a bhauma dosha in birth chart:

अब मैं आपको मांगलिक दोष के कुछ मिथक के बारे में एक लड़की की सच्ची कहानी के बारे में बताउंगा जिनकी कुंडली में भौम दोष/Bhauma Dosha था। एक दम्पति मेरे कार्यालय में अपनी पुत्री के विवाह के लिए कुंडली के मिलान करवाने आए थे। वह विवाह के लिए आए सभी प्रस्तावों को ध्यान से परख और देख रहे थे और अंत में उन्होंने कुछ पांच कुंडली को चुना था। वह जानना चाहते थे कि इन पांचों में से किस व्यक्ति की कुंडली उनकी बेटी से सबसे ज्यादा मेल खाती है। इससे पहले कि मैं इस प्रक्रिया को शुरू करता, उन्होंने मुझे कुछ बातों से अवगत कराया जैसे –

उसकी जन्म कुंडली में एक भौम दोष था:/ She had a bhauma dosha in birth chart:

अब मैं आपको मांगलिक दोष के कुछ मिथक के बारे में एक लड़की की सच्ची कहानी के बारे में बताउंगा जिनकी कुंडली में भौम दोष/Bhauma Dosha था। एक दम्पति मेरे कार्यालय में अपनी पुत्री के विवाह के लिए कुंडली के मिलान करवाने आए थे। वह विवाह के लिए आए सभी प्रस्तावों को ध्यान से परख और देख रहे थे और अंत में उन्होंने कुछ पांच कुंडली को चुना था। वह जानना चाहते थे कि इन पांचों में से किस व्यक्ति की कुंडली उनकी बेटी से सबसे ज्यादा मेल खाती है। इससे पहले कि मैं इस प्रक्रिया को शुरू करता, उन्होंने मुझे कुछ बातों से अवगत कराया जैसे –

1.  उनकी पुत्री की कुंडली में घोर मंगल दोष है और उन्होंने सिर्फ मंगल दोष वाले लड़के ही चुने हैं।

2.  उन्होने कुछ अन्य लड़कों को भी पसंद किया था, लेकिन उन्होंने उन्हे नहीं चुना क्योंकि वह गैर-मांगलिक थे।

3.  उनके परिवार ने बहुत सारे उपाय किए ताकि मंगल दोष निष्क्रिय हो जाए।

4.  उन्हे बताया गया था कि मंगल का प्रभाव 28 वर्ष तक रहेगा, लेकिन अब वह 28 वर्ष की हो गई है लेकिन फिर उस जातक कि कुंडली में मंगल ग्रह विवाह की संभावना को प्रभावित कर रहा है।

5.  उनकी पुत्री को अपने ही कंपनी के एक व्यक्ति से प्रेम हो जाता है, लेकिन उन्होंने उसे मना कर दिया क्योंकि वह गैर मांगलिक था।

मैंने उन छः कुंडलियों का आकलन शुरू किया और मेरा पहला नजरिया यह था कि उस दंपत्ति को गलत जानकारी दी गई थी।

1.  यद्यपि मंगल उनकी पुत्री के अष्टम भाव में स्थित था लेकिन वह तुला राशि में था। मंगल ग्रह की यह स्थिति विवाह और पति की लंबी उम्र को प्रभावित नहीं करती है। इसलिए, मैंने उन्हें स्पष्ट रूप से बताया कि उनकी यह धारणा बिलकुल गलत थी कि उनकी पुत्री घोर मांगलिक है।

2.  उन पांच लड़कों में से दो मांगलिक थे, और बाकी के गैर मांगलिक। लेकिन कुजा दोष कैलकुलेटर/Kuja Dosha calculator ने बताया था कि वह पांचों मांगलिक हैं।

3.  उस दंपत्ति के पास उस व्यक्ति की भी कुंडली थी जो उनकी पुत्री के साथ काम करता है। उस लड़के की कुंडली में मांगलिक दोष तो नहीं था लेकिन फिर भी दोनों का कुंडली मिलान हो गया था।

उन्होने पूरा एक साल इन पांच लोगों को चुनने में लगा दिया और इस प्रक्रिया में उन्होने कुछ ऐसे रिश्तों को गवा दिया जो वास्तव में अच्छे हो सकते थे और मांगलिक कैलकुलेटर/Manglik Calculator से गैर-मांगलिक थे।

यहां थोड़ा ज्ञान अज्ञानता से कहीं ज्यादा खतरनाक साबित हुआ है। उनके ज्योतिष के अधूरे ज्ञान के कारण इस परिवार का महत्वपूर्ण समय बर्बाद हुआ है और यदि उन्हें इस विषय में ज्ञान होता तो यह स्थिति उत्पन्न ही नहीं होती और ना ही उनके पुत्री को भावनात्मक रूप से ठेस पहुंचती। वास्तव में जब उन्हें अपनी पुत्री का मांगलिक होने का पता चला था तो उनके अंदर अवसाद की भावना आने लगी थी कि उसकी कुंडली में मांगलिक दोष है।

मुझे उन्हें अपनी बात समझाने के लिए दो लंबे सत्र लेने पड़े और उनको बताया कि उनकी पुत्री उस व्यक्ति से विवाह कर सकती है, जिससे वह प्रेम करती है।

मेरी सलाह मानने के बाद उस लड़की ने 29 वर्ष में अपने प्रेमी से विवाह कर लिया। इस विवाह को तीन वर्ष पहले ही हो जाना चाहिए था, लेकिन यहां पर सूर्य (पिता) ग्रह ने विवाह में देरी करवाई थी ना कि मंगल ग्रह ने। इस विषय में आपको किसी ऐसे व्यक्ति से परामर्श लेने की आवश्यकता है जिसे ज्योतिष में मंगल दोष के विषय में महारत हासिल है। ऐसा करने से आपको ज्ञान भी मिलेगा और आप अंधेरे से बाहर भी रहेंगे|

मंगल/मांगलिक दोष निष्क्रियता/ Mangal/manglik dosha cancellation

ज्योतिष में कुछ संयोजन है जो मंगल/कुजा दोष को निष्क्रिय कर सकते हैं। इस विषय में कुछ बेहद ही महत्वपूर्ण मंगल दोष के कुछ महत्वपूर्ण बिंदु नीचे दिए गए हैं।

मंगल/मांगलिक दोष निष्क्रियता/ Mangal/manglik dosha cancellation

ज्योतिष में कुछ संयोजन है जो मंगल/कुजा दोष को निष्क्रिय कर सकते हैं। इस विषय में कुछ बेहद ही महत्वपूर्ण मंगल दोष के कुछ महत्वपूर्ण बिंदु नीचे दिए गए हैं।

1.  मंगल या मांगलिक दोष निष्क्रिय हो सकता है यदि आपके साथी की कुंडली में पहले/First House, चौथे/Fourth House, सातवें/Seventh House, आठवें/Eighth House, और बारहवें भाव/Twelfth House में शनि हो।

2.  मंगल के कमजोर या दुर्बल होने या शुभ ग्रहों की दृष्टि होने पर कुजा/मंगल दोष रद्द या निष्क्रिय हो जाता है।

3.  स्त्री की कुंडली में बृहस्पति केंद्र या त्रिकोण भाव में हो तो मांगलिक दोष निष्क्रिय हो जाएगा। इस दोष की निष्क्रियता से स्त्री को पुत्र का आशीर्वाद मिल सकता है।

4. चौथे भाव/Fourth house में मंगल की अपनी राशि में होने से भी मंगल दोष निष्क्रिय होता है।

5.  मंगल (मंगल) की दूसरे भाव में राहु/चंद्रमा और शुक्र के साथ युति भी मांगलिक दोष को निरस्त कर सकती है।

6.  यह दोष तब भी निरस्त हो सकता है जब स्त्री की कुंडली में अशुभ ग्रह पहले, चौथे, सातवें, और आठवें भाव में हो।

7.  मंगल की बुध और शुक्र में नियुक्ति भी मांगलिक दोष निरस्त कर सकता है।

यह मंगल/मांगलिक दोष को रद्द करने के लिए कुछ विशिष्ट ज्योतिषीय स्पष्टीकरण हैं। लेकिन कुजा दोष कैलकुलेटर/ Kuja Dosha calculator के लिए जाने और अपने बारे में गलत धारणा बनाने की तुलना में मंगल दोष रिपोर्ट/Mangal Dosha report का विकल्प चुनना आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता है।

आप मांगलिक दोष के लिए रिपोर्ट भी ले सकते हैं, या

नवीनतम ज्योतिष समाचार: डॉ विनय बजरंगी|

पूछे जाने वाले प्रश्न

  • मांगलिक दोष कब तक रहता है?

    आमतौर पर मांगलिक दोष 28 वर्ष तक रहता है; यदि फिर भी आप किसी असमंजस में फंसते हैं तो मैं आपको सलाह दूंगा कि आपने सभी समस्याओं के समाधान के लिए किसी अच्छे ज्योतिषी से संपर्क कर सकते हैं|

  • क्या मांगलिक दोष को खत्म कर सकते हैं?

    किसी जातक की कुंडली में से मंगल दोष/ manglik Dosha को हटाना संभव नहीं है, लेकिन कुछ उपायों से इस दोष को निष्क्रिय या समाप्त किया जा सकता है।

  • मांगलिक दोष के लिए कौन कौन से उपाय होते हैं?

    मांगलिक दोष के लिए ज्योतिष में बहुत सारे उपाय होते हैं। यह सभी उपाय हर व्यक्ति के लिए अलग अलग हो सकते हैं। उन सभी उपायों को सही ढंग से जानने और उनका सही से पालन करने के लिए एक अच्छे ज्योतिषी से मिलें। 

     

  • क्या गैर मांगलिक मांगलिक से विवाह कर सकता है?

    ऐसा होना संभव है। लेकिन इसके लिए आपको अपनी कुंडली/Kundali का वैदिक ज्योतिष के नियमों के अनुसार आकलन करवाना चाहिए।

  • क्या होगा यदि मांगलिक जातक गैर मांगलिक जातक से विवाह कर ले?

    वैदिक ज्योतिष के अनुसार, सभी चीजें सही ढंग से चल सकती है, बशर्ते उन्होंने विवाह से पहले उत्तम परामर्श प्राप्त किया हो।

  • क्या मांगलिक दोष ने मेरा वैवाहिक जीवन खराब कर दिया?

    ऐसा नहीं है कि मंगल दोष/ manglik Dosha के कारण आपका वैवाहिक जीवन खराब हुआ है। इसके बहुत कारण हो सकते हैं। इस विषय में आप किसी ऐसे से बात कर सकते हैं जिन्होंने इस विषय में महारत हासिल कर रखी हो।