मांगलिक दोष - जानें कैसे यह दोष आपके विवाह को नहीं करता प्रभावित

यह एक अत्यंत गलत धारणा है कि मांगलिक दोषों/Manglik Dosh के कारण विवाह में बाधाएं होती हैं। यह समझना आवश्यक है कि हमेशा मंगल दोष या मांगलिक दोष/Mangal Dosh or the Manglik Dosh ही विवाह संबंधी समस्याओं का एकमात्र कारण नहीं होता है। वैवाहिक समस्याओं के लिए, मांगलिक दोषों के अलावा कई अन्य कारक भी जिम्मेदार होते हैं। किसी डर के कारण, मंगल दोष/Mangal Dosh निवारण उपचार और अनुष्ठानों में शामिल होने से पहले, इसके कारणों को गहनतापूर्वक समझने की कोशिश की जानी चाहिए। इन सटीक कारणों और उसके समाधानों को जानने के लिए विवाह ज्योतिष/Marriage Astrology मददगार साबित हो सकता है।

क्या वैवाहिक जीवन के लिए मांगलिक / मंगल दोष हमेशा खराब होता है?/ Is Manglik, Mangal Dosh always bad for marriage life?

मांगलिक/ मंगल दोष/Manglik, Mangal Dosh के बारे में बात करते समय यह पहली प्रतिक्रिया प्राप्त होती है - अरे! इससे तो वैवाहिक जीवन में समस्याएं हो सकती हैं। इसका यह अर्थ भी निकाला जा सकता है कि इससे विवाह में देरी या फिर दांपत्य जीवन में समस्याएं हो सकती हैं। इस कारण मांगलिक होना कलंक बन जाता है जो महिलाओं के लिए अधिक पीड़ादायक साबित हो सकता है। हालाँकि, कई वर्षों के व्यावहारिक कर्म ज्योतिष/karmic astrology के बाद, हमारे द्वारा विवाह और वैवाहिक जीवन में अशांति का कारण बनने वाले मांगलिक दोषों/Manglik Dosh के अलावा कई अन्य कारकों की पहचान भी की गई है जो वैवाहिक जीवन की समस्याओं के वास्तविक कारण बनते हैं। इनकी जानकारी प्राप्त करके समझा जा सकता है कि यह कारक अत्यंत व्यवहारिक कारण हैं जिनका आश्चर्यजनक रूप से मांगलिक/मंगल दोषों/Manglik, Mangal Dosh से कोई संबंध नहीं होता है। उनमें से अधिकांश इस प्रकार हैं:

1. विश्वासघात संबंधित मामले

2. कामेच्छा में कमी से संबंधित यौन समस्याएं 

3. मूल्यों और परंपराओं में अंतर

4. एक-दूसरे से आगे बढ़ने की होड़ 

5. जीवन बदलने वाली घटनाएं 

6. कार्य संबंधित या लंबे समय तक बने रहने वाले मानसिक तनाव संबंधी मामले 

7. ईर्ष्या

8. पारिवारिक मुद्दे

9. घरेलू हिंसा

10. वित्त संबंधित किसी एक में जिम्मेदारी का अभाव

11. अवास्तविक अपेक्षाएं

12. व्यसन या किसी चीज की लगन

13. सोशल मीडिया में अत्यधिक लिप्तता

14. कठिन समय में सहयोग की कमी

15. परिवार और मित्रों के साथ संबंधों में अत्यधिक   भागीदारी

16. महत्वपूर्ण मामलों में संचार की कमी

17. भविष्य के लिए उचित सोच की कमी

18. चिंता, देखभाल और सोच-विचार की कमी

उपरोक्त बिंदुओं में से कोई एक या किसी का संयोजन वैवाहिक जीवन में समस्या के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं। विवाह के लिए कुंडली में ज्योतिष/ astrology के द्वारा इन सभी कारकों को पढ़कर समझा जा सकता है। हालांकि, कुंडली मिलान/horoscope matching का दुखद पहलू यह है कि अधिकांश ज्योतिषीयों/astrologers द्वारा इन अत्यधिक महत्वपूर्ण बिंदुओं को कभी भी पढ़कर संबोधित नहीं किया जाता; बल्कि उनके द्वारा वैवाहिक कुंडली मिलान पर निर्णय लेने के लिए केवल कुछ सामान्य ज्ञात कारकों पर ही विचार किया जाता है। जिसके कारण उनके विवाह में समस्याएं उत्पन्न हो सकती है।

विवाह मिलान या कुंडली मिलान के सामान्य ज्ञात कारक / Commonly known factors of Marriage Matching or Kundli Matching

आम तौर पर ज्योतिषियों को यह दो बिंदु आकर्षित करते हैं: 

1. कुंडली/ या गुण मिलान

2. मांगलिक मिलान

मांगलिक/मंगल दोष पर हमारे द्वारा किए गए शोध / My Research on Manglik – Mangal Dosh

हमारे द्वारा मंगल/ मांगलिक दोष/Manglik, Mangal Dosh संबंधी कुंडली का सही मिलान करने के विषय पर, ज्योतिष/astrology में डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त होने के बाद "कुंडली/horoscopes के सही मिलान" के शोध द्वारा, भारत की कई अदालतों में तलाक के मामलों को निपटाने की प्रेरणा मिली। तलाक संबंधित कुंडली/horoscopes के नमूने में कुछ आश्चर्यजनक बिंदु साबित हुए :

1. लगभग 90% कुंडली/horoscopes में, गुण मिलान उत्तम था;

2. अधिकांश मामलों में कोई मांगलिक दोष/Manglik Dosh या असंतुलन नहीं पाया गया।

हमारे द्वारा किए गए इस शोध ने यह साबित किया कि ज्यादातर मामलों में मांगलिक दोष/Manglik Dosh तलाक की ओर ले जाने वाला प्रमुख दोष नहीं था और यही इस लेख का आधार है।

मांगलिक-मंगल दोष हमेशा बुरे क्यों नहीं होते?/ Why Manglik – Mangal Dosh is not always bad? 

कुछ लोग कुंडली मिलान/horoscope matching बिल्कुल भी नहीं कराते हैं और जो व्यक्ति कुंडली मिलान के लिए जाते हैं, वह विशेष रुप से मांगलिक दोष/Manglik Dosh के बारे में अत्यधिक चिंतित होने के कारण मांगलिक मिलान पर ध्यान केंद्रित करते हैं। विवाह संबंधित ज्योतिष/ astrology मंगल और विवाह पर इसके प्रभाव के बारे में बताता है जिसके कुछ मुख्य कारक इस प्रकार हैं:

1. सर्वप्रथम बात यह है कि कुंडली/natal Chart में मंगल अकेला नकारात्मक ग्रह नहीं होता है। यदि यह किसी के व्यवहार को किसी भी तरह से प्रभावित करता है, तो शनि, राहु, केतु और सूर्य भी समान या उच्च स्तर पर  प्रभावित कर सकते हैं।

2. किसी भी शास्त्रीय ज्योतिषीय ग्रंथों/classical astrological texts में इसका कोई प्रभाव या उल्लेख नहीं होने के कारण, मांगलिक दोष/ Manglik Dosh का विचार अत्यंत अस्पष्ट है।

3. इसे लेकर गुमराह करना वर्तमान ज्योतिषियों/astrologers के दिमाग की उपज है।

4. एक नकारात्मक मंगल, सभी बारह भावों/twelve houses के लिए हानिकारक नहीं हो सकता है।

5. एक बड़ा सवाल यह भी है कि क्या कोई मांगलिक गैर मांगलिक से शादी कर सकता है

आमतौर पर, लोगों के भीतर यह गलत धारणा है कि एक मांगलिक के कुंडली मिलान के लिए, एक और मांगलिक की आवश्यकता होती है। इस भ्रांति के माध्यम से ही इस बात को बल मिलता है कि लंगड़े का एक लंगड़े से ही विवाह हो सकता है। यह आम धारणा है कि मांगलिक दोष/Manglik Dosh वाले व्यक्ति को, मांगलिक दोष/ Manglik Dosh वाले व्यक्ति से ही विवाह करना चाहिए। जबकि वैवाहिक गठबंधन का अंतर्निहित अर्थ, एक-दूसरे का आदर करना होता है। इन दोनों कथनों के ईश्वरीय सार-तत्व को अत्यधिक सावधानीपूर्वक समझना चाहिए।

विवाह में देरी या अस्वीकृति के लिए अन्य ग्रह, मंगल के रूप में प्रवृत्त होते हैं। उचित ज्ञान के बिना, लोग मंगल के संबंध में अथक उपाय करते हैं लेकिन यह समझने की कोशिश नहीं करते कि ग्रह को उचित रूप से क्या संबोधित किया जाना चाहिए।

प्रासंगिक कहानी / Story with relevance

हमारे कार्यालय द्वारा प्रत्येक कार्य-नीति संबंधित ग्रहों के  एक राशि से दूसरी राशि में जाने के कारण बड़ी संख्या में कुंडली/horoscopes मिलान किया जाता है। इनमें अत्यधिक परेशान करने वाली बात यह होती है कि उनमें से अधिकतर पहले से ही इस धारणा के साथ आते हैं कि मंगल उन्हें परेशान कर रहा है।

हमारे कार्यालय में, एक दंपति अपनी बेटी की शादी की कुंडली मिलान कराने आए थे। वे अपने पास आए सभी प्रस्तावों की सावधानीपूर्वक जांच कर रहे थे और अंत में, उन्होंने पांच कुंडलियों को चुना और वे सबसे अधिक मेल खाने वाली कुंडली के बारे में जानना चाहते थे। हमारी प्रक्रिया शुरू होने से पहले, उन्होंने सूचित किया कि:

1. उनकी बेटी को घोर (भयंकर) मांगलिक दोष/ Manglik Dosh होने के कारण उन्होंने सभी मांगलिक दोष वाले प्रस्तावों को चुना था।  

2. विचार करने योग्य अन्य प्रस्तावों को उन्होंने गैर-मांगलिक होने के कारण छोड़ दिया था। 

3.  उन्होंने क्रूर मंगल के लिए बहुत से उपाय किए थे। 

4. उन्होंने बताया गया कि जातक के 28 वर्ष का होने पर मंगल का प्रभाव कम हो जाता है। चूंकि, उनकी बेटी 28 वर्ष की हो चुकी है, लेकिन मंगल अभी भी उसके विवाह की संभावनाओं को प्रभावित कर रहा है।

5. उनकी बेटी ने अपने संगठन के एक साथी को इसलिए मना कर दिया था क्योंकि वह मांगलिक नहीं था।

विवाह के लिए ज्योतिष द्वारा इन सबकी व्याख्या की जाती है / Astrology for Marriage decodes this all

फिर, सभी छह कुंडलियों का आंकलन करने पर हमारी  यह आशंका सही साबित हुई कि इस दंपत्ति को भी गलत सूचना दी गई थी:

1. हालांकि मंगल, उनकी पुत्री के अष्टम भाव/eighth house में तुला राशि में स्थित था जो विवाह और पति की लंबी उम्र का अवरोधक नहीं होता है। उन्हें हमारे द्वारा स्पष्ट किया गया कि उनकी यह धारणा गलत थी कि उनकी पुत्री को घोर मांगलिक दोष है।

2. विचाराधीन पांच लड़कों में से, केवल दो मांगलिक थे जबकि बाकी तीन गैर-मांगलिक थे।

3. दंपति के पास लड़की के संगठन में काम करने वाले लड़के की कुंडली/horoscopes भी थी। इस कुंडली में कोई मांगलिक दोष नहीं था और वह उनकी बेटी के साथ पूरी तरह मेल खा रहा था।

उन्होंने इन पांचों कुंडलियों का चुनाव करने में एक वर्ष का समय लगाते हुए, कई कुंडलियों या अच्छे रिश्तों को गंवा दिया, जो उनके अनुसार गैर-मांगलिक थे, और जिनका अष्टकूट मिलान (गुण-मिलान) कम था।

यहां कम ज्ञान, अज्ञानता से कहीं ज्यादा खतरनाक साबित हुआ जिसने कीमती समय नष्ट करके और लड़की की भावनाओं के साथ खेलकर, एक दरार पैदा कर दी जो नहीं होनी चाहिए थी। वास्तव में, उस लड़की को अपमान और अवसाद की भावना थी कि उसे घोर मांगलिक दोष/Manglik Dosh था।

अंतिम परिणाम / Final Outcome

विचाराधीन लड़की ने 29 वर्ष की आयु में उस व्यक्ति से शादी कर ली जिससे वह प्यार करती थी। यह विवाह तीन साल पहले हो सकता था, लेकिन मंगल ग्रह ने नहीं बल्कि सूर्य ग्रह (पिता) ने बात बिगाड़कर उसकी शादी में देरी की। अँधेरे में खंजर फेंकने के बजाय, विशेषज्ञ से परामर्श लेना हमेशा बेहतर होता है।

· विशिष्ट मार्गदर्शन के लिए, आप निम्न के लिए जा सकते हैं:

· ऑनलाइन रिपोर्ट

· प्रत्यक्ष परामर्श

स्वयं जांचें कि आप मांगलिक हैं या नहीं।