Today's Gemini Health Horoscope | Daily Gemini Health Prediction

en hi mr

मिथुन दैनिक Health राशिफल (24-05-24 )

Due to high demand, numerous users are currently downloading this report. Kindly check again after some time. Thank you for your patience.

मिथुन राशि स्वास्थ्य 

मिथुन राशि का शारीरिक रूप-रंग प्रभावित करने वाला होता है।  यह लोग सामान्य कद काठी के होते हैं। इस राशि के जातक  आकर्षक व्यक्तिव वाले होते हैं । यह लोग आखों से अपने  व्यक्तित्व की पूरी छाप छोड़ते हैं, अपने शरीर को स्वस्थ रखने की हर संभव कोशिश भी करना चाहते हैं, लेकिन कई बार यह आराम पसंद होने के कारण लापरवाह भी हो सकते हैं। इनके नैन नक्श अच्छे होते हैं और यदि उनका रंग बहुत अधिक उजला न भी हो तो भी इनके चेहरे पर एक आभा देखने कि मिल सकती है। इन लोगोंके शरीर की मजबूती कुछ हद तक कम हो सकती है,परन्तु  यह लोग बहुत हिम्मत वाले होते हैं। 

मिथुन राशि के जातकों के कंधे और बाजु सुंदर और मजबूत होते हैं। बाल सामान्य लम्बाई के व घुंघराले हो सकते हैं। यह एक अच्छे व्यक्ति का स्वरुप जो होगा वह इनके व्यक्तित्व को देख कर समझा जा सकता है। मिथुन राशि वालों पर मौसम के बदलाव का प्रभाव देखा जा सकता है। इनमें कोमलता के भावों की अधिकता होती है और इस कारण अधिक बलिष्ठ नहीं होते हैं। मुख्य रुप से इन लोगों को वाणी संबंधित रोग अथवा तंत्रिका तंत्र से संबंधित रोग परेशान कर सकते हैं। 

मिथुन राशि वालों को श्वास से संबंधित रोग जैसे सांस फूलना दमा की शिकायत या फिर संक्रमण से होने वाले रोग  हो सकते हैं। इसके साथ ही वायु प्रदुषण का भी इन पर बुरा प्रभाव  पड़ सकता है। अपने आस पास के वातावरण के प्रति बहुत जागरूक होने के कारण यह लोग  जल्द ही उससे प्रभावित हो सकते हैं। धूल के कणों से भी इन्हें परेशानी या एलर्जी हो सकती है। इन लोगों पर कान से संबंधित रोगों का भी इन पर प्रभाव देखने को मिल सकता है। कान बहना, सही से सुनाई न देना या दर्द की समस्या हो सकती है। बुध ग्रह त्वचा से संबंधित भी है इस कारण बुध के प्रभाव से त्वचा संबंधित रोग भी हो सकते हैं।शरीर पर दाने होना या दाद खाज एव खुजली जैसी त्वचा-संबंधी समस्याएँ उभर सकती है। इसी के प्रभाव से रूसी या त्वचा के रूखेपन की समस्या भी रह सकती है। 

बुध मिथुन राशि का स्वामी है और यह जातक की बुद्धि को बहुत प्रभावित करता है, ऎसे में बुध के कमजोर होने या अशुभ ग्रहों से प्रभावित होने के कारण जातक भ्रम इत्यादि का शिकार हो सकते हैं अथवा यादाश्त में कमी हो सकती हैं। इसी के साथ ही मानसिक तनाव की अधिकता के चलते तंत्रिका तंत्र भी उनके कमजोर हो सकते हैं या नसों में सूजन हो सकती है। इसके साथ ही गले और गर्दन से जुड़े रोग या फिर माइग्रेन की परेशानी हो सकती है। थाइराइड के कारण भी इन लोगों का स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है। मिथुन राशि बोलने की क्षमता को भी प्रभावित करती है और यदि बुध पर अशुभ ग्रहों का प्रभाव हो तो हकलाने या गुंगेपन की समस्या हो सकती हैं।