नि: शुल्क पितृ दोष कैलकुलेटर

पितृ का अर्थ है पूर्वज, और पितृ दोष आपके पूर्वजों हेतु उत्तरदायी कुंडली में एक दोष को दर्शाता है। लेकिन लोगों के मध्य सामान्य मिथक है और यहां तक ​​कि ज्योतिषी भी कहते हैं कि पितृ दोष/ Pitra Dosha सदा-सर्वदा हानिकारक ही होता है। मैं मानता हूं कि पितृ दोष/ Pitra Dosha एक दोष है, परन्तु इसकी अलग-अलग शक्ति और भिन्न-भिन्न प्रभाव हैं। आपकी सूचना हेतु बता दें, पितृ दोष सदा ही हानिकारक परिणाम नहीं देता है। फिर भी, क्योंकि यह एक दोष की श्रेणी में आता है, किसी व्यक्ति पर इसकी तीव्रता और प्रभावों जो जानने हेतु पितृ दोष गणना यंत्र/ Pitra Dosha Calculator प्रयोग करना बेहतर हो सकता है।

पितृ दोष क्या है?/ What is Pitra Dosha?

पितृ दोष/ Pitra Dosha पूर्वजों का कर्म ऋण है और इसे आम तौर पर कुंडली/Kundali में ग्रहों के संयोजन से दर्शाया जाता है। यह आपके, अपने पूर्वजों की उपेक्षा और उनके  दान या श्राद्ध का आध्यात्मिक उत्थान में पर्याप्त रूप से भागीदार ना होने के कारण भी हो सकता है।

एक दोषपूर्ण सूर्य पितृ दोष/ Pitra Dosha का मुख्य कारण है। राहु या उसकी राशि कन्या, केतु, या उसकी राशि मीन, शनि या उसकी राशि मकर और कुंभ, और मंगल या उसकी राशि वृश्चिक जैसे विभिन्न ग्रह संयोजन आपकी कुंडली/ Kundali में पितृ दोष का कारण हो सकते हैं। लेकिन फिर, कुंडली में सूर्य का स्थान जातक पर इस दोष की तीव्रता और प्रभाव को तय करता है।

पितृ दोष प्रभाव/ Pitra dosha effects

आपकी कुंडली में पितृ दोष/ Pitra dosha होने पर आपके जीवन में निम्न प्रभाव पड़ सकता है।

  • विवाह में विलम्ब 

  • असफल वैवाहिक जीवन

  • एक ही परिवार में टूटे हुए या असफल विवाह

  • एक ही परिवार में अविवाहित व्यक्तियों की संख्या में वृद्धि

  • महिलाओं का गर्भपात

  • गर्भ धारण करने हेतु असमर्थ महिलाएं

  • परिवार में शारीरिक और मानसिक रूप से विकलांग व्यक्ति

  • परिवार में अप्राकृतिक मृत्यु।

  • घर में दुर्घटना, आग एवं डकैती।

लेकिन मेरे मतानुसार पितृ दोष/ Pitra Dosha भी पितृ योग बन सकता है जिसका अर्थ है कि यदि वह बारहवें भाव/twelfth house में हो जातक को कई बेहतर परिणाम भी प्राप्त हो सकते हैं। मैंने कई लोगों को यह बताया है कि उन्हें अपने इस जीवन में जो कुछ भी अच्छा मिल रहा है, वह पितृ योग के कारण है।

पितृ दोष के उपाय/ Remedies of Pitra Dosh

जिस प्रकार मैं कर्मकाण्ड ज्योतिष की अपेक्षा कर्म ज्योतिष पर बल देता हूंठीक उसी प्रकार पितृ दोष/Pitra Dosha हेतु , मेरा एक विशिष्ट मत है कि कुंडली में पितृ दोष कर्मों के कारण आता है और केवल कर्मों के माध्यम से ही इसे सुधारा जा सकता है। मेरा कथन है कि पितृ दोष को केवल सुधारा जा सकता है, हटाया नहीं जा सकता। पितृ दोष/ Pitra Dosh के प्रभाव को कम करने हेतु अपने माता-पिता और बड़ों का सम्मान करना सबसे बेहतर उपाय है। फिर भी क्योंकि इसका धार्मिक महत्व है, इसलिए जातक द्वारा नीचे बताए गए कुछ सरल उपाय किए जा सकते हैं:

पितृ दोष/ Pitra Dosha  से छुटकारा पाने हेतु जातक रत्न अभिषेकम कर सकता है।

आप बिहार में गयाजी के दर्शन कर सकते हैं। यह पितृ नगरी के नाम से विख्यात है। पितृ दोष अनुष्ठान करने हेतु बहुत लोग वहां जाते हैं।

डूबते सूर्य को भोजन दान करना भी पितृ दोष के निवारण का एक अच्छा उपाय है।

प्रतिदिन गायत्री मंत्र का जाप करने से भी पितृ दोष का प्रभाव कम होता है।

पितृ दोष/ Pitr Dosha के प्रभाव को कम करने हेतु कोई भी व्यक्ति सूर्य अष्टोत्तर शतनामावली, आदित्य हृदय स्तोत्र, दशाक्षर सूर्य मंत्र, या सूर्य तांत्रिक मंत्र जैसे विभिन्न मंत्रों का जाप कर सकता है।

आप श्री सूर्य वज्र पंजर कवचम का भी प्रयोग कर सकते हैं और इस दोष से राहत पाने  हेतु प्रार्थना कर सकता है।

आप अधिक निःशुल्क ज्योतिष गणना यंत्र/ Astrology Calculator प्राप्त करने के साथ-साथ, ऑनलाइन कुंडली, विवाह हेतु राशिफल मिलान/Kundali Milan For marriage, कुंडली दोष/kundli dosha और दैनिक राशिफल के विषय में प्राप्त कर सकते हैं।