रत्न कैलकुलेटर

वैदिक ज्योतिष के अनुसार रत्न जन्म कुंडली में ग्रहों और ग्रहों की युति से सर्वोत्तम परिणाम प्राप्त करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। बहुत से लोग शौक से भी ज्योतिषीय रत्न/Astrological Gemstone पहनते हैं, लेकिन जन्मतिथि के अनुसार ही सर्वश्रेष्ठ रत्न या राशि रत्न का चयन करना हर व्यक्ति के लिए बेहतर होता है। इस स्थिति में जन्मतिथि के अनुसार रत्न कैलकुलेटर/Gemstone as per birth date आपके लिए मददगार साबित हो सकती है। यह रत्न कैलकुलेटर/Gemstone calculator इस पृष्ठ पर सटीक जन्म विवरण के आधार पर आपके लिए भाग्यशाली रत्नों का चयन करने का काम करता है।

 

रत्न कैलकुलेटर क्या है?/What is a Gemstone Calculator?

निःशुल्क रत्न कैलकुलेटर आपको उन रत्नों के बारे में सही जानकारी प्रदान करेगा जिन्हें आप धारण कर सकते हैं या धारण करना चाहते हैं। यह जन्म के अनुसार रत्न कैलकुलेटर आपको आपके जन्म और लग्न के आधार पर परिणाम देगा।

इस बात में कोई दो राय नहीं है कि रत्न हर व्यक्ति के जीवन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। यदि आपको इस पर पूर्ण विश्वास है तो आपको इसका लाभ अवश्य मिलेगा। सभी रत्न प्रभावी और कीमती दोनों होते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार/As per Astrology किसी भी ज्योतिषी द्वारा बताए गए शुभ दिनों में इन रत्नों को शुद्ध विधि को करने के पश्चात ही धारण करना चाहिए। आपके एक बात का खास याद रखना चाहिए कि ज्योतिषीय रत्न धारण करना रत्नों को आभूषण, सुंदरता और स्थिति के रूप में पहनने से बिल्कुल अलग है। इन दोनों को एक समान समझने की भूल बिलकुल नहीं करनी चाहिए।

आप रत्न कैलकुलेटर/Gemstone Calculator का उपयोग करके अपने जन्मतिथि के अनुसार ज्योतिष रत्न पहन सकते हैं लेकिन वह केवल एक संकेतत है जिसके साथ आप शुरुआत कर सकते हैं। हालांकि, किसी भी रत्न को पहनने से पहले आपको किसी योग्य ज्योतिषी से परामर्श करना चाहिए और साथ में कुछ वैदिक प्रक्रियाओं का भी पालन करने के बाद ही इन रत्नों को धारण करना चाहिए अन्यथा आपको इसका सकारात्मक परिणाम नहीं मिल पाएगा। सभी रत्न इतने शक्तिशाली है कि यदि इन्हें उचित प्रक्रिया के साथ पहना जाए, तो आपको अपने प्रयासों में हमेशा सफलता मिलेगी। उचित प्रक्रिया आपको एक योग्य ज्योतिषी ही बता सकते हैं। यह सभी रत्न आपके पूरे जीवन को या तो सुधार सकती है या तेहस नहस कर सकती है। इसलिए इस बात की सलाह हमेशा दी जाती है कि उचित ज्योतिष विधियों के साथ ही जन्म तिथि के आधार पर सही रत्न का चयन करें।

 

कौन सा रत्न मेरे लिए लाभकारी होगा/Which stone will suit me?

इस प्रश्न का उत्तर आपको हमारे पेज पर मौजूद निशुल्क रत्न कैलकुलेटर/Free Gemstone calculator का उपयोग करके मिल सकता है। हम सब लोग अपनी उंगलियों में मौजूद रत्न से चीजों को बदलना चाहते हैं; लेकिन यह इतना आसान नहीं है जितना दिखता है। चाहे आप रत्न फैशन के लिए पहन रहे हो या जुनून के लिए, यह मत भूलें कि बहुत जल्दी किसी भी चीज की उम्मीद करना या बहुत जल्दी किसी भी चीज को खराब बता देना सही नहीं है। रत्न धारण करने पर भी यही तर्क लागू होता है। कई अन्य तरीकों और उपचारों को आजमाने और छोड़ने के बाद लोग अक्सर इन रत्नों को परेशानी से बाहर निकलने का एकमात्र तरीका मानते हैं और इसे धारण करने का विचार करते हैं। मुझे यकीन है कि रत्नों का कारोबार करने वाले व्यापारी भी अपने जीवन में बहुत सारी मुसीबतों का सामना करते हैं। खैर जाने दीजिए उनका नाम ना ही लिया जाए तो बेहतर है।

 किसी भी ज्योतिषी से इन सवालों के हल पूछें। मेरा अनुमान है कि उनमें से अधिकांश आपको वही बात बताएंगे जो मैंने आपको ऊपर बताया है। मेरे विचार से, रत्न किसी समाधान के साथ कार्य कर सकता है लेकिन खुद किसी समस्या का उपाय नहीं हो सकता। आपने कई अखबारों में दैनिक राशिफलों में रत्नों को पहनने की भविष्यवाणी पढ़ी होंगी। आपको एक बात बता दूं कि रत्न धारण करने में कोई समस्या नहीं है, लेकिन आपको रत्न एक निश्चित परिभाषित प्रक्रिया के पश्चात ही पहननी चाहिए। इस प्रक्रिया से आप अपने लिए सबसे भाग्यशाली रत्न का चयन कर सकते हैं और साथ साथ उन लोगों के लिए चयन कर सकते हैं जो आपके आस पास रहते हैं। रत्न के चुनाव के लिए सबसे सटीक तरीका यह है कि आप अपनी जन्मतिथि और किसी विशेष ग्रह के अनुसार रत्न को चुने और धारण करें। मेरे अनुसार नाम के आधार पर रत्न किसी को नहीं पहनना चाहिए और ना ही मैं ऐसा करने की सलाह देता हूं। 

 

राशि के अनुसार सर्वश्रेष्ठ रत्न।/Best Gemstone according to Zodiac Sign.

आप कई ऑनलाइन रत्न बेचने या बनाने वाले साइटों पर राशि के अनुसार रत्न का चयन करने के लिए एक व्यापक विचार प्राप्त कर सकते हैं। मैं आपको आपकी राशि के अनुसार रत्न के चुनाव में सहायता कर सकता हूं। सभी राशियां कुल चार श्रेणी में बंटी हुई है - अग्नि, पृथ्वी, जल और वायु। वैदिक ज्योतिष/Vedic Astrology के अनुसार रत्न का सुझाव राशि चक्र की विशेषताओं के आधार पर ही दी जाती है। आप नीचे दिए गए विवरण से जान सकते हैं कि किस राशि के लिए कौन सा रत्न लाभकारी होगा। राशि और संबंधित रत्नों की सूची नीचे दी गई है:

मेष राशि के लिए रत्न - मेष राशि के लिए लाल मूंगा भाग्यशाली रत्न साबित हो सकता है।

वृषभ राशि के लिए रत्न - ओपल वृषभ राशि के लिए भाग्यशाली रत्न है।

मिथुन राशि के लिए रत्न - मिथुन राशि के लिए पन्ना भाग्यशाली रत्न है।

कर्क राशि के लिए रत्न - मोती कर्क राशि वालों के लिए भाग्यशाली रत्न होता है।

सिंह राशि के लिए रत्न - सिंह राशि के लिए माणिक्य सर्वोत्तम रत्न है

कन्या राशि के लिए रत्न - कन्या राशि के जातकों के लिए ओपल सबसे अच्छा रत्न माना जाता है।

तुला राशि के लिए रत्न - तुला राशि के लिए ओपल सबसे अच्छा रत्न है।

वृश्चिक राशि के लिए रत्न - वृश्चिक के लिए लाल मूंगा सबसे अच्छा रत्न है।

धनु राशि के लिए रत्न - धनु राशि के लिए पीला नीलम सबसे अच्छा रत्न है।

मकर राशि के लिए रत्न - नीलम मकर राशि के लिए सबसे अच्छा ज्योतिषीय रत्न है।

कुंभ जन्म का रत्न - कुम्भ राशि के लिए नीलम सबसे अच्छा रत्न है।

मीन राशि - मीन राशि के लिए पीला नीलम सबसे अच्छा ज्योतिषीय रत्न/Astrological Gemstone है।

फिर भी, एहतियात के तौर पर, किसी को रत्न को धारण करने से पहले किसी अच्छे ज्योतिषी से परामर्श जरूर कर लें। 

नोट: यह निःशुल्क रत्न रिपोर्ट किसी विशेष राशि के सभी व्यक्तियों या किसी विशेष उद्देश्य आदि के आधार पर बनाई जाती है। हालांकि, इस रिपोर्ट में बताए गए सभी बारीकियों को समझने के बाद किसी ही रत्न को खरीदने का निर्णय लेना हमेशा ही आपके लिए बेहतर होता है। 

 

क्या जन्म रत्न वास्तव में लाभकारी होते हैं/Do birth gemstones really help

ज्योतिषीय रत्न/Astrology Gemstone किसी व्यक्ति का भाग्य नहीं बदल सकते, लेकिन यह सभी रत्न प्रतिकूल ग्रहों के प्रभाव को अवश्य कम कर सकते हैं। उचित रूप से चयनित राशि रत्न संबंधित ग्रहों की ऊर्जा को बढ़ा सकते हैं। लेकिन किसी योग्य ज्योतिषी की परामर्श के साथ ही राशि के अनुसार सबसे अच्छा रत्न चुनना चाहिए। 

मेरी अनुसार, जन्म विवरण या राशि के अनुसार रत्न धारण करने से आपकी वर्तमान स्थिति बेहतर होती है, अर्थात आपकी सभी समस्याओं का हल होता है। लेकिन आपको एक बात समझनी होगी कि अपने दुखों को दूर करने के लिए किसी रत्न को चमत्कार करने की अपेक्षा करके ना धारण करें। लेकिन अगर आपको कोई विशेष चिंता है और वह आपको परेशान कर रही है, तो सबसे पहले उन समस्याओं का हल ढूंढे। इसके लिए आप किसी ज्ञानी ज्योतिषी की सहायता ले सकते हैं। आपको अपने दुखों से उबरने के लिए विशिष्ट कर्म सुधार विधियां या फिर सरल वैदिक उपायों की आवश्यकता पड़ सकती है; अपने जीवन में सामान्य स्थिति लाने के लिए उन पर काम करने का प्रयास करें। अगर आप जन्म तिथि या राशि के अनुसार भाग्यशाली रत्न पहनने के बारे में सोचते हैं तो इसके लिए एक बार सलाह जरूर लें।

 

जन्मतिथि के अनुसार रत्न का चयन कैसे करें?/How to select gemstones by date of birth?

जन्म विवरण में क्या होता है? इसमें जन्म की तारीख, समय और स्थान शामिल होता है। हर व्यक्ति की कुंडली में सहायक / लाभकारी ग्रह और कमजोर या हानिकारक ग्रह होते हैं। तो यह रत्न आपकी कुंडली/kundli के कमजोर ग्रहों को मजबूत करने का कार्य करती हैं।

कई लोग काल या दशा के आधार पर रत्न धारण करते हैं, लेकिन यह उनके लिए लाभकारी साबित नहीं हो सकता है। वास्तव में, यह आपके लिए कोई सौभाग्य नहीं लाता है। इससे आपके सामने प्रतिकूल प्रभाव पैदा हो जाते हैं।

लग्न अच्छे और लाभकारी ग्रहों को दर्शाता है: लग्न के स्वामी/Lagnesh, पांचवें/Fifth House और नौवें भाव/Ninth House में लाभकारी ग्रह होते हैं। इसलिए, इनमें से कौन से स्वामी तुलनात्मक रूप से कमजोर है, इसकी जांच करने के बाद ही, एक ज्ञानी ज्योतिषी कमजोर ग्रह को मजबूत करने के लिए रत्नों का सुझाव देते हैं।

आपको यह भी पता होना चाहिए कि प्रत्येक ग्रह में दो राशियों या राशियों के स्वामी होता है। नौवें भाव के स्वामी की तरह शनि भी आठवें या दसवें भाव के स्वामी हो सकता है। हालांकि, यदि यह अष्टम भाव का स्वामी/Asthmesh है तो आपको शनि के लिए रत्न धारण करने से बचना चाहिए। अब, यह इस तथ्य से अलग है कि शनि नौवें भाव के दोहरे प्रभुत्व में है। तो, मेरे अनुभव और ज्ञान के अनुसार, प्रक्रिया काफी सरल है। यह कमजोर ग्रहों की पहचान, चार्ट से प्रभुत्व और फिर उसके अनुसार रत्न का चुनाव करने से शुरू होता है।

 

हमें रत्न क्यों पहनना चाहिए?/ Why should we wear the gemstones at all? 

मैं यह नहीं कह रहा हूं कि रत्न से कोई लाभ नहीं होता है या जो पहनता है उसने गलत पहना है। प्राचीन रत्न मनुष्य के लिए काफी आकर्षक साबित होते हैं और रत्न धारण करने के पीछे कई पौराणिक कथाएं हैं जिसे हर व्यक्ति को जान लेना चाहिए। अथर्ववेद/Atharva Ved में रत्नों के बारे में आपको सभी जानकारी मिल जाएगी। वास्तव में पुराणों में भी व्यक्ति के जीवन में रत्नों के महत्व के बारे में वर्णन किया गया है। आप स्थिति, शक्ति, और पाप-शुद्धि प्राप्त करने के लिए रत्न धारण कर सकते हैं। जो लोग भारतीय वैदिक ज्योतिष का अभ्यास कर रहे हैं, वह इन रत्नों का उपयोग उनके चिकित्सीय महत्व के कारण करते हैं।

मुझे एक बात बिलकुल समझ नहीं  आती है कि लोग रत्नों को लेकर क्या करना चाहिए और क्या नहीं, इस बात को बिना जाने ही रत्न को धारण करने की ओर अग्रसर हो जाते हैं। मैं उन ज्योतिषियों का समर्थन नहीं करता जो केवल इन रत्नों को एक पैसा कमाने का पत्थर मानते हैं और  इसे सिर्फ बेचने में विश्वास करते हैं। ऐसे ज्योतिष इन रत्नों को सभी मानवीय समस्याओं का एकमात्र उपाय मानते हैं। आपको ज्योतिषी को रत्न सुझाने के लिए मजबूर करने से बचना चाहिए क्योंकि यह केवल आपका धन बर्बाद होगा और साथ साथ इसके विपरीत प्रभाव भी हो सकते हैं। किसी ज्योतिषी पर तभी भरोसा करें जब वह वैदिक ज्योतिष के आधार पर ही आपको रत्न का सुझाव दें।

 

रत्न कब धारण करना चाहिए?/When should one wear the Gemstone? 

लोग अक्सर किसी विशेष सपने को प्राप्त करने या अपने कमजोर ग्रहों को मजबूत करने या फिर क्रोध को नियंत्रित करने के लिए अपनी दशा या अवधि के आधार पर रत्न पहनते हैं। हालांकि, यह एक गलत प्रक्रिया है और कुछ लोग इस धारणा का फायदा उठा बहुत धन कमा रहे हैं। 

अब रत्न धारण करने का एक पूर्ण कारण है। इसका उपयोग प्रतिकूल घरों को बदले बिना त्रिकोण भाव (पहला, पांचवा और नौवें भाव) को मजबूत करने के लिए किया जाता है, जिसे त्रिक भाव के रूप में भी जाना जाता है, क्योंकि ऐसा कई बार देखा गया है कि संभव है कि मजबूत ग्रह में दोहरी आधिपत्य होती है। लालच को रत्न के चुनाव के लिए आधार ना बनाएं, क्योंकि यह आपको समस्या में डाल सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि गलत रत्न उन ग्रहों को प्रभावित कर सकते हैं जिससे आपको लाभ हो रहा हो। ऐसा करने से आपका जीवन नकारात्मक रूप से प्रभावित हो सकता है।

 रत्न कोई ऐसी चीज नहीं है जो धन, शक्ति या सुंदरता को परिभाषित करती है। यह समझना महत्वपूर्ण है कि आपके द्वारा चुने गए रत्नों को ज्योतिषीय रूप से परिष्कृत करने की आवश्यकता है। केवल एक रत्न आपके जीवन को तहस नहस कर सकता है। मैं यह नहीं कह रहा हूं कि रत्न ना पहनें, लेकिन इसे खरीदने या पहनने की योजना बनाने से पहले सही व्यक्ति की राय ले और अपने जीवन में सफलता सुनिश्चित करें। याद रखें कि यदि आप किसी की सिफारिश पर आँख बंद करके विश्वास करते हैं तो यह एक अपरिवर्तनीय प्रभाव दिखा सकता है और आपके जीवन में समस्या ला सकता है।

 

रत्न धारण करने से आप सभी को कुछ बातें अवश्य जाननी चाहिए?/Things to know before wearing a gemstone? 

 

रत्न चुनते समय आपको निम्नलिखित बातों पर ध्यान देना चाहिए।

1. रत्न दशा या अवधि पर निर्भर नहीं करते हैं।

2. किसी ग्रह के लिए रत्न का प्रयोग केवल इसलिए करना उचित नहीं है क्योंकि वह कमजोर है।

3. मेरे अनुसार शायद ही कोई कुंडली होती है जिसमें दो रत्नों के उपयोग की बात कही गई हो।

4. सिर्फ ग्रह संकुचित या कमजोर होने के कारण रत्नों का प्रयोग करना उचित नहीं है।

5. ग्रह आपकी कुंडली को तीन तरह से प्रभावित कर सकते हैं: यदि यह एक मित्र ग्रह हो/ शत्रु ग्रह हो या ग्रह जो मिश्रित परिणाम दे।

6. रत्न के प्रयोग से शत्रु ग्रह कभी भी मजबूत नहीं होना चाहिए, भले ही वह कमजोर ही क्यों न हो। शत्रु ग्रह के लिए रत्नों का प्रयोग अनुचित है।

7. किसी और के रत्नों का प्रयोग किसी रिश्तेदार या करीबी दोस्त के लिए नही करना चाहिए। यह एक बड़ी समस्या खड़ी कर सकता है।

8. रत्नों के लिए गलत धातु का प्रयोग करने से बचें, क्योंकि इससे विपरीत परिणाम भी आ सकते हैं।

9. रत्न केवल ग्रहों को मित्र बनाने और मजबूत करने के लिए होते हैं। मिश्रित फल वाले ग्रह कभी-कभी लाभकारी परिणाम दे सकते हैं; हालांकि, नकारात्मक परिणामों की भी संभावना होती है। इसलिए आपको समझना होगा कि मिश्रित ग्रहों के लिए रत्नों का उपयोग करने से दोहरे परिणाम होते हैं, और यह कुछ हिस्सों को मजबूत कर सकता है लेकिन इससे अन्य भागों को भी नुकसान पहुंच सकता है। रत्नों का मुख्य उपयोग किसी ग्रह के प्रदर्शन को बढ़ाने के लिए होता है और यदि मिश्रित ग्रह के लिए एक रत्न का उपयोग हो तो परिणाम भी मिश्रित मिलेंगे।

10. जिन्हें ज्योतिष का थोड़ा बहुत भी ज्ञान है वह जानते हैं कि तत्व क्या होता है। केवल एक प्रमाणित ज्योतिषी/Learned Astrologer ही आपको बता सकता है कि आपकी ज्योतिषीय राशि और उसके स्वामी का तत्व क्या है।

 

कौन सा रत्न धन और सफलता के लिए अच्छा है?/Which Gemstone is good for money, wealth, and success?

किसी भी रत्न का सुझाव देने से पहले, मैं ग्रहों की ताकत और कमजोरियों और उनके पड़ने वाले प्रभाव का विश्लेषण करना पसंद करता हूं। यहां, मैं केवल एक और सुझाव दे सकता हूं कि धन या शक्ति के लिए भाग्यशाली रत्नों का चयन करने के लिए कभी भी फैशन या जुनून के जाल में न फंसे क्योंकि इससे सिर्फ नुकसान ही होगा। आपको बता दें कि भाग्यशाली रत्न/Lucky Gemstone खरीदने का मतलब है अपने पैसे का एक जरूरी हिस्सा निवेश करना। तो, कोई भी रत्न लेने से पहले एक ज्ञानी  ज्योतिषी से परामर्श करें और जानें कि वास्तव में आपको रत्न की आवश्यकता है या नहीं और कौन सा रत्न आपके लिए सबसे उपयुक्त होगा। मेरे विचार से यदि रत्नों से धन और सफलता की प्राप्ति संभव होती तो वह अमूल्य होते, और गरीब वर्ग उनका उपयोग नहीं कर पाते।

ध्यान रहे ज्योतिष उपाय हमेशा काम नहीं करते

यह सब करते हुए, जानें कि भारत में अच्छे ज्योतिषी को कैसे खोजा जाए |