राहु ग्रह से संबंधित कौन-कौन से व्यापार हैं?

कुंडली में राहु

ज्योतिष शास्त्र अनुसार ग्रहों की प्रकृति के अनुरूप कार्यक्षेत्र एवं व्यवसाय के विषय में जान पाना काफी आसान होता है। कुंडली में हर ग्रह किसी न किसी विशेष काम की ओर इशारा अवश्य करता है। प्रत्येक ग्रह के कुछ मौलिक तत्व होते हैं जिनका असर व्यक्ति के कार्यक्षेत्र पर भी अपना असर डालता है। इन ग्रहों में राहु भी व्यक्ति के जीवन में कई तरह के व्यवसाय एवं नौकरी को दर्शाता है। राहु का प्रभाव जब दशम भाव से बनता है तो व्यक्ति के काम करने की स्थिति एवं प्राप्ति इत्यादि के बारे में काफी अच्छे से समझ पाना सहज होता है।

कार्यक्षेत्र में राहु का असर 

जन्म कुंडली में कार्यक्षेत्र के लिए दशम भाव विशेष होता है। जन्म कुंडली का दशम भाव व्यक्ति के काम को दर्शाता है। व्यक्ति किस चीज में आगे बढ़ सकता है उसे कौन से काम में सफलता मिल सकती है इन सब बातों को दशम भाव से भी देखना अत्यंत आवश्यक होता है। दशम भाव को कर्म स्थान भी कहा जाता है। जब राहु इस स्थान पर होता है तो वह कर्म पर अपना गहरा असर डालता है। राहु का ये विशेष गुण होता है कि वह जिस भी भाव, राशि एवं ग्रह के साथ होता है उसके अनुसार अपने फल भी दिखाता है। अत: राहु का ये गुण भी कार्यक्षेत्र की भविष्यवाणी करते हुए ध्यान में रखना जरूरी होता है।

व्यवसाय क्षेत्र पर राहु का सामान्य प्रभाव   

राहु को जब व्यवसाय एवं कार्यक्षेत्र हेतु देखा जाता है तो सबसे प्रमुख रुप से राहु कुछ विशेष कार्यों को दर्शाता है। राहु मुख्य रुप से डिजिटल क्षेत्र से जुड़े कामों के लिए मुख्य होता है। नेटवर्क को विस्तार देने में भी राहु की भूमिका महत्वपूर्ण होती है। भौतिकवाद चीजों से जुड़ा होकर राहु व्यक्ति को कई क्षेत्रों में ले जाने वाला हो सकता है। राहु प्रौद्योगिकी के गैजेट, शेयर मार्किट के काम, सट्टा जुआ इत्यादि के काम से संबंध रखता है ऐसे में राहु के प्रभाव/Rahu ka Prabhav से व्यक्ति इन कार्यों में भी अधिपत्य स्थापित कर सकता है। कसीनो, ड्रग से जुड़े काम, वेबसाइट का प्रबंधन, इंटरनेट का काम, फिल्म उद्योग से संबंधित सभी काम जिसमें मुख्य रुप से अभिनय, संचालक, निर्देशक आदि के काम राहु से प्रभावित होते हैं।

राहु का अधिकार कई तरह के उपकरणों एवं टेक्निकल से जुड़े कामों में अधिक होता है। इस कारण राहु के कार्यों में प्लास्टिक और उनसे बनी सामग्री बनाने या बेचने का कारोबार दे सकता है, मोबाइल के काम से जोड़ सकता है, बिजली के उपकरण के काम से जोड़ सकता है , इलेक्ट्रॉनिक उपकरण में महारत दे सकता है या इनके काम में जोड़ सकता है, एयर कंडीशनर, रेफ्रिजरेटर, हीटर इत्यादि को सही करने वाला मैकेनिक या इन चीजों के काम करवा सकता है, हवाई जहाज, मल्टीप्लेक्स, मूवी थिएटर, पब, डिस्कोथेक, टेलीविजन, रेडियो, सिनेमा इत्यादि में व्यक्ति को काम करने के मौके दे सकता है।

सॉफ्टवेयर से जुड़े काम में राहु काफी गहरा संबंध बनाता है और व्यक्ति को इन कामों में अच्छा स्थान दे सकता है। ऐप, एटीएम, रोबोट निर्माण या इनसे संबंधित कामों में शामिल हो सकता है। राहु व्यक्ति को एक हैकर भी बना सकता है जो आज के समय में साइबर अटैक के रुप में बहुत अधिक फेमस भी है। इस के अलावा दवाओं के क्षेत्र में भी राहु काम करता है। व्यक्ति मेडिकल सप्लीमेंट, नशीली दवा, स्टेरॉयड, एंटीबायोटिक्स, मानव निर्मित हार्मोन, विभिन्न प्रकार के रसायनों में काम करने का अवसर देता है। अंतर्राष्ट्रीय व्यापार, विदेश में कार्य, आयात-निर्यात से संबंधित काम में ले जा सकता है। कुंडली/Kundli में मजबूत और शुभ राहु होने पर व्यक्ति ज्योतिष, तंत्र, मनोरोग को दूर करने वाले चिकित्सक इत्यादि क्षेत्रों के माध्यम से जुड़ कर अच्छा काम कर सकता है। इन व्यवसायों में भी व्यक्ति को सफलता प्राप्त हो सकती है।

 

राहु का शुभ एवं मजबूत होना व्यक्ति को ऐसे स्थान पर नाम प्रसिद्धि दिला सकता है जहां लोगों के साथ जुड़ने का अधिक अवसर मिलता है। आज के समय में तो राहु का असर वर्चुअल सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर बहुत गहराई से देखा जा सकता है। व्यक्ति सर्च इंजन के माध्यम से सफलता प्राप्त कर सकता है। यूट्यूब, फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर जैसे कई प्लेटफॉर्म पर व्यक्ति सफलता प्राप्त कर सकता है। शेयर बाजार में बिटकॉइन का आना भी राहु का ही असर है, यहां राहु शुक्र मिलकर/Rahu Shukra Yoga जबरदस्त सफलताओं को दिला सकता है। 

ग्रह भाव और राशि अनुसार व्यवसाय सफलता 

राहु से जुड़े कामों में हम पर राहु का कौन से काम का असर सबसे अधिक होता है तो ये बात राहु के दशम भाव में/Rahu Dasve bhav me होने, दशम भाव के स्वामी के साथ होने, दशम भाव के साथ किसी प्रकार के वर्ग कुंडली में संबंध बनाने इत्यादि के रुप में या दशम भाव की राशि के स्वामी के साथ होने पर अपने कार्यों की ओर उन्मुख कर सकता है। इसी के साथ राहु का अन्य ग्रहों के साथ योग भी इस में अहम भूमिका का निर्वाह करता है। 

 

राहु और शुक्र का योग व्यक्ति को चकाचौंध से जोड़ सकता है, रसायनों एवं मेडिसन में भी काम करने में आगे रख सकता है। सौंदर्य से जुड़े कई तरह के उपचार में राहु शुक्र का योग विशेष रहता है। संचार के कामों में राहु और बुध का योगदान विशेष रुप से काम करता है। संचार संपर्क पत्रकारिता इत्यादि के कामों में राहु बुध का संयोग काफी महत्वपूर्ण माना गया है। राहु जब शनि के साथ जुड़ता है तो व्यक्ति को कई तरह के ऐसे कार्य देता है जो कठिन होने पर भी व्यक्ति आसानी से कर सकता है। धातुओं से जुड़ा काम, खदानों का काम, चमड़े, रबर, लोहे आदि के व्यापार में रसायन गैस पेट्रोलियम के काम में राहु योगदान देता है। राहु दशम में होकर राजनीति में भी ले जाने वाला होता है। राहु यदि बारहवें हो तो/Barve Bhav me Rahu व्यक्ति का कार्य क्षेत्र जन्मस्थान से दूर हो सकता है तथा विदेशी लोगों के साथ काम करने अथवा विदेश से संबंधित कंपनियों में कार्यकर सकता है। राहु की ग्रहों के साथ युति यदि शुभ अवस्था में होती है तो ऐसे में यह एक अच्छे प्रतिष्ठा उच्च स्थान को दिलाने में सहायक बनता है।

यह भी पढ़ें: क्या राहु हमेशा होता है खराब या अपनी स्थिति अनुसार होता है अच्छा बुरा?

Leave a Reply