पितृ दोष में राहु का संघर्ष

पितृ दोष में राहु का संघर्ष: डॉ विनय बजरंगी

सूर्य से जुड़े होने पर भी भौतिक शरीर के बिना राहु इस पर इतनी छाया डालता है कि सूर्य अपने सामान्य तरीके से व्यवहार करना भूल जाता है। और यह, …

Read More
व्यावसायिक निर्णय

व्यावसायिक निर्णय – ज्योतिष सलाह कर सकती है प्रभावित |

लगभग हर किसी को एक व्यवसाय का मालिक बनना पसंद है , लेकिन क्या यह संभव है और इतना आसान है? व्यवसाय चलाने के लिए सफलतापूर्वक व्यवसाय निर्णय कई महत्वपूर्ण …

Read More
LAST MINUTE SUCCESS

हम जीवन में अंतिम मिनट पर सफलता प्राप्त करने से क्यों चूकते हैं

जीवन में सभी को सफलता की ज़रूरत है। लेकिन कुछ ऐसे उदाहरण हैं जो साहसी व्यक्ति को भी डरा देते हैं। जब कोई व्यवसाय परिणाम देने में विफल रहता है …

Read More
कर्म सुधार

कर्म सुधार के माध्यम से नकारात्मक दोषों को सकारात्मक योगों में बदलें |

नकारात्मक दोष, विकृतियां, दोष किसी भी कुंडली में उपस्थित हो सकते हैं। हालांकि, किसी को भी इसके बारे में चिंता नहीं करना चाहिए। ज्योतिषीय अंतर्दृष्टि आपको इन नकारात्मक दोषों को …

Read More
नकारात्मक विवाह

नकारात्मक विवाह के योग को विवाह योग में परिवर्तित करना

एक नकारात्मक विवाह का योग बन सकता है  अच्छे विवाह का योग कोई विवाह से नकारने वाले योग या चार्ट किसी भी विवाह उम्मीदवार और परिवार को परेशान कर सकते …

Read More
vivah

विवाह के लिए जीवनसाथी की खोज यहां समाप्त होती है

विवाह के लिए अन्य चीजों के आलावा दो चीज़ें अति आवश्यक होती हैं , एक संगत जीवनसाथी और दूसरा विवाह का उचित समय | ( सही समय पर विवाह होना …

Read More
Success

जीवन में सफलता कैसे प्राप्त करें

प्रत्येक व्यक्ति जीवन में सफल होना चाहता है लेकिन सबसे प्रासंगिक ( मुख्य ) सवाल कि जीवन में सफलता कैसे प्राप्त करें | जब कुछ लोग असफल होते हैं और …

Read More
एस्ट्रो वास्तु

एस्ट्रो वास्तु: दो विज्ञान एक साथ

एस्ट्रो वास्तु की नई तकनीक दो विज्ञान वास्तु और कुंडली का मिश्रण है और बिना तोड़ फोड़ के वास्तु के दोष और समाधान बताता है ! एस्ट्रो वास्तु के अनुसार …

Read More

कैसे देखें पितृ ऋण

पितृ ऋण पितृ ऋण से तातपर्य जातक पर अपने पूर्वजों के बुरे कर्मों का प्रभाव होने से है | यदि जातक की जन्म कुंडली में स्वयं की राशि के अधिपति ग्रह …

Read More
अनुष्ठान

सिर्फ अनुष्ठान करने से नहीं होते भगवान प्रसन्न – डॉ विनय बजरंगी

भारत आध्यात्मिकता का पालन करने वाला देश है। लेकिन क्या केवल अनुष्ठान करने का मतलब आध्यात्मिकता है। जैसा कि हम आम तौर पर जानते हैं या हमें सुझाव दिया जाता है, …

Read More