मंगल का मकर राशि में गोचर

मंगल गोचर

मंगल का गोचर मकर राशि में आते ही यह उच्च का हो जाएगा। यह आपके साहस और दुश्मनों के खिलाफ लड़ाई पर महत्वपूर्ण प्रभाव डालेगा। मकर राशि में मंगल का गोचर नियमित ग्रहों के गोचर का एक हिस्सा है। मैं अपने विभिन्न ब्लॉगों में समझाता रहा हूं कि ऐसे सभी ग्रह गोचर हमें मूल राशिफल के परिणामों को संशोधित करने की सुविधा देते हैं। वर्तमान में मकर राशि में मंगल के गोचर के दौरान, मंगल 22 मार्च 2020 को अपराह्न 2:27 बजे से धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करेगा और 4 मई 2020 को रात्रि 8:29 बजे तक रहेगा।

To read this blog in English click here

मकर राशि में मंगल का गोचर – आंतरिक संबंध

वैदिक ज्योतिष में मंगल शक्ति, साहस, ध्यान, अपने अधिकारों के लिए लड़ने की क्षमता, पुरुष भाई-बहनों, विरोधियों, कटने से चोट, लगना और जलना, प्रतियोगिता, अचल संपत्ति, यौन ऊर्जा, लाल रक्त कोशिकाओं और जुनून, आक्रामकता, अग्नि आदि, जैसी चुनौतियों का प्रतिनिधित्व करता है। वहीँ दूसरी तरफ मकर अनुशासन, आदेश, व्यावहारिकता, संरचना, उच्च पद, स्थिति के लिए प्रयास करने आदि का प्रतीक है, इसलिए अब मकर राशि में मंगल का यह गोचर मंगल को अतिरंजित बनाता है। इस गोचर के दौरान आप ऊर्जावान महसूस करते हैं धर्मी तरीकों से करियर बनाने की कोशिश करते हैं। आप अपने नैतिक सिद्धांतों की रक्षा के लिए अन्याय के खिलाफ लड़ना महसूस कर सकते हैं। डिफेंस, पुलिस, कानून, आईएएस और आईपीएस सेवाओं और सर्जरी आदि के क्षेत्र में उच्च रैंक प्राप्त करने के लिए ऊर्जावान होंगे एवं परिस्तिथिया अनुकूल होंगी

यह गोचर सभी राशियों को कैसे प्रभावित करेगा?

22 मार्च 2020 से 4 मई 2020 तक मंगल का मकर राशि में होना निम्न राशियों में किस तरह का प्रभाव देगा इसके लिए नीचे दी गयी राशियों के बारे में जानकारी प्राप्त करें

मकर राशि में मंगल का गोचर – मेष राशि पर प्रभाव

पहले और आठवें घर का स्वामी मंगल 10 वें घर में करियर, पिता, सरकार, अहंकार, आत्मा, आत्म-सम्मान और आत्म-अभिव्यक्ति, आदि को दर्शाता है । यह कैरियर में अचानक सकारात्मक परिवर्तनों के लिए एक उत्कृष्ट समय होगा। आपके पास चुनौतियों को दूर करने के लिए अधिक इच्छाशक्ति और साहस होगा। सरकारी नौकरी करने वालों के लिए अच्छा समय रहेगा। वाहन चलाते समय या तेज उपकरणों और आग के साथ काम करते समय ध्यान रखें।

वृषभ राशि पर इस गोचर का प्रभाव

7 वें और 12 वें घर का स्वामी मंगल भाग्य के 9 वें घर में , विदेश यात्रा, पिता और पितातुल्य व्यक्ति , धार्मिक और दार्शनिक विचार, उच्च अध्ययन, उपदेश, अनुष्ठान आदि को दर्शाता है । आपके 9 वें घर में मंगल के गोचर की उपस्थिति वैवाहिक सौहार्द और उच्च शिक्षा के लिए रास्ते खोलता है । पढ़ाई या करियर के कारण पिता से दूर जाने की संभावना रहती है । विवाह या व्यवसाय के कारण लंबी दूरी की यात्रा हो सकती है।

मकर राशि में मंगल का गोचर – मिथुन राशि पर प्रभाव

6 एवं 11 वें भाव का अधिपति मंगल 8 वें घर में अचानक परिवर्तन, ससुराल से संबंध, जीवनसाथी के साथ संयुक्त संपत्ति, दीर्घायु, सर्जरी, रहस्य और गुप्त मामलों, बीमा, विरासत, करों आदि को दर्शाता है |यहाँ तक कि प्रतिकूल परिस्तिथिया में भी आप लाभ पा सकते हैं| चोट लगने के कारण दुर्घटनाओं के खतरे की संभावना हो सकती है। आप मनोगत प्रथाओं में रुचि ले सकते हैं | यह सेक्स और ड्रग्स का सेवन करने के लिए प्रलोभन दे सकता है|

मंगल का गोचर मकर राशि में – कर्क राशि पर प्रभाव

5 और 10वें भाव का अधिपति 7 वें घर में विवाह, भागीदारी, व्यवसाय, जीवनसाथी, करियर, अनुबंध, अन्य लोगों आदि को दर्शाता है| यह कानून, सर्जरी, आईएएस, और आईपीएस, आदि के छात्रों के लिए अनुकूल हो सकता है। कैरियर, शिक्षा, व्यवसाय, बच्चों आदि के मामलों में अनुकूल बातचीत करने की संभावना को दर्शाता है। विवाहित व्यक्तियों को जीवनसाथी के साथ बहस करने से बचना चाहिए। सरकारी नौकरी की चाह रखने वाले सफल हो सकते हैं।

सिंह राशि पर इस गोचर का प्रभाव

4th एवं 9th वें भाव का अधिपति मंगल 6th वें घर में बीमारी, बाधाओं, मुकदमेबाजी, शत्रुओं, छोटे जानवरों, विशेष रूप से पालतू जानवरों, प्रतियोगिता, ऋण, विवाद, दैनिक दिनचर्या आदि को दर्शाता है | जो व्यक्ति रक्षा और सशस्त्र पुलिस, का कार्य करते हैं विशेष रूप से सैनिक, वह पृस्कृत हो सकते हैं एवं उन्हें अपने क्षेत्र में मान्यता प्राप्त हो सकती है | आपराधिक वकील अपने ग्राहकों के लिए न्याय पाने में सफल होंगे। एथलीट और प्रतियोगी परीक्षा देने वालों के सफल होने की संभावना है। इस गोचर के दौरान कर्ज लेने से बचें।

मंगल का गोचर मकर राशि में – कन्या राशि पर प्रभाव

3th एवं 8th वें भाव का अधिपति मंगल 5 वें घर में बच्चों, प्रेम संबंधों, रोमांस, कला, बुद्धि, अध्ययन, सट्टा गतिविधियों, आदि को दर्शाता है| यह कलाकारों, प्रदर्शन कला और राजनीतिज्ञों आदि के लिए एक अनुकूल समय होगा, गर्भवती महिलाओं को इस अवधि में अपना विशेष ध्यान रखना चाहिए | सामान्य तौर पर, छात्रों को अपने मन को काबू में रख कर अपने कार्य पर ध्यान केंद्रित रखने की आवश्यकता होनी चाहिए | प्यार करने वालों में जोश का संचार होगा और वे अधिक रोमांटिक महसूस करेंगे। तंत्र के नकारात्मक उपयोग से दूर रहें।

इसका प्रभाव तुला राशि वालों पर

2nd एवं 7th वें भाव का अधिपति मंगल 4th घर में, माता, मन, घर, वाहन, अचल संपत्ति, राजनीति, खुशी, आदि को दर्शाता है | यह स्वास्थ्य, माँ, मन की शांति और वैवाहिक संबंधों के लिए बहुत अच्छी अवधि नहीं है। मसालेदार और गहरे तले हुए भोजन से बचें। निवास का परिवर्तन हो सकता है। अचल संपत्ति, निर्माण, वाहन आदि के माध्यम से लाभ हो सकता है।

मंगल का गोचर मकर राशि में – वृश्चिक राशि पर प्रभाव

पहले एवं छठे भाव का अधिपति मंगल तीसरे घर में छोटे भाई-बहनों, कम दूरी की यात्रा, संचार, प्रशासनिक नौकरी, लेखन और पड़ोसियों आदि को दर्शाता है । दूसरों की मदद करने की तुलना में स्वयं पर अधिक ध्यान केंद्रित करने की प्रवृत्ति हो सकती है। प्रशासन, यात्रा और अपराध-रिपोर्टिंग करने वाले, गैंगस्टर, एथलीट, मार्शल आर्टिस्टों में उत्साह महसूस करेंगे। तनावपूर्ण वैवाहिक संबंधों को आत्म-प्रयासों के माध्यम से पुनर्प्राप्त करने का मौका होगा।

धनु राशि पर इस गोचर का प्रभाव

5 वें और 12 वें भाव का अधिपति मंगल दूसरे घर में बचत, संपत्ति, परिवार और वंशावली, खान-पान, भाषण आदि को दर्शाता है |सार्वजनिक वक्ता, सरकारी राजनेता प्रभावशाली और गतिशील भाषण देंगे। आपको अपने क्रोध और आवेगपूर्ण व्यवहार को नियंत्रित करने की आवश्यकता हो सकती है। आप बेवजह की चीज़ों पर पैसा लगा सकते हैं। आप अपने करिश्माई और ऊर्जावान व्यक्तित्व के माध्यम से दूसरों को प्रभावित करने में सक्षम होंगे।

मकर लग्न वालों को कैसा लगेगा?

चतुर्थ और 11 वें भाव का अधिपति मंगल पहले घर में भौतिक स्व, कोर व्यक्तित्व, आत्मा, सरकार, प्रसिद्धि, आदि को दर्शाता है | आपके पास बहुत अधिक ऊर्जा होगी। एथलीटों और बॉडी बिल्डरों को अधिक सफलता मिलेगी। वाहन चलाते समय सड़कों पर प्रतिस्पर्धी होने से बचें। एक अनियंत्रित आक्रामक रवैया आपको परेशानी में डाल सकता है और शांति का नुकसान कर सकता है।

मंगल का गोचर मकर राशि में – कुंभ राशि पर प्रभाव

तृतीय एवं 10 वें भाव का अधिपति मंगल 12 वें घर में हानि, व्यय, अस्पताल में भर्ती, विदेशी निवास, आध्यात्मिकता, उच्चतर स्थानों आदि को दर्शाता है |आप अपनी छिपी प्रतिभा और कौशल की खोज कर पाएंगे। आपको अपने जुनून को नियंत्रित करने और स्व-उपभोग की गतिविधियों में लिप्त होने से बचने की आवश्यकता होगी। व्यापार के लिए विदेश यात्रा हो सकती है। अपने अनावश्यक खर्चों पर नियंत्रण रखें।

मीन राशि पर इस गोचर का प्रभाव

दूसरा एवं 9 वें भाव का अधिपति मंगल 11 वें घर में लाभ, आय, आशाओं और इच्छाओं, पूर्ति, पेशेवर नेटवर्क, बड़े भाई-बहनों आदि को दर्शाता है । यह गोचर सामान्य रूप से आपकी किस्मत चमकाएगा। राजनीति में लिप्त लोग अपने नेटवर्क के माध्यम से लाभ प्राप्त करेंगे। सैन्य जनरलों और IPS अधिकारियों को पदोन्नति और मान्यता प्राप्त होगी।

नोट: ये सामान्य परिणाम आपके वास्तविक जन्म चार्ट में मंगल और मकर राशि की स्थिति और दशा, संयोजन, पहलुओं और नक्षत्र जैसे अन्य कारकों के आधार पर संशोधित हो सकते हैं। जन्म कुंडली में शनि की स्थिति इन परिणामों को काफी हद तक प्रभावित कर सकती है जो की एक अनुभवी ज्योतिष ही इसका वर्णन कर सकता है !

Leave a Reply