एक सच्ची कहानी जो समझाएगी क्या है पितृ दोष

Pitra dosh

शलभ आज अकेला बैठा हुआ था और उसकी आँखों से झर-झर आंसू बह रहे थे। आज जो सच उसके सामने आया था, उसको लेकर उसका मन स्वयं अपने आप को ही कोस रहा था। वह चाह कर भी उस व्यक्ति की बातों को अपने मन से नहीं निकाल पा रहा था, जिसने उसको अंदर तक झंझोड़ कर रख दिया था। एक समय वो था जब उसे एक बहुत बड़ी कंपनी में बहुत अच्छी पोस्ट मिली थी और वो उस दिन अपने आप पर बहुत गर्व महसूस कर रहा था। धीरे धीरे यह गर्व घमंड में बदलता चला गया। उसे आज वो दिन याद आ रहा था, जब उसके पिता ने उसे बड़े प्यार से कहा था बेटा तू तो बहुत व्यस्त हो गया है, कभी कभी हमारे पास भी बैठा कर। उसने घमंड में कहा था, आप सारा दिन खाली हैं, लेकिन मुझ पर काम की जिम्मेदारी है। मैं आपकी तरह खाली नहीं हूँ। उसके बाद पिता ने कभी उसको अपने पास बैठने के लिए नहीं कहा। पिता की तबियत ख़राब रहने लगी। शलभ ने एक नौकर रख दिया जो उनकी देखभाल करता था। लेकिन शलभ खुद कभी पिता के पास नहीं बैठा। शलभ को एक महीने के लिए विदेश जाना पड़ा। पीछे से पिता की तबियत ज्यादा खराब हो गयी और वह चल बसे।  लेकिन एक बहुत इम्पोर्टेन्ट मीटिंग के चलते शलभ उस दिन नहीं पहुँच पाया और पिता का अंतिम संस्कार छोटे चाचा ने कर दिया।

लेकिन यहीं से शायद शलभ की बदकिस्मती शुरू हो गयी थी। जिस प्रोजेक्ट के लिए वह विदेश गया था, वही प्रोजेक्ट उसकी किसी एक गलती की वजह से उसके हाथ से निकल गया। जिसकी वजह से कंपनी को भारी loss का सामना करना पड़ा। और उसको अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ा। बहुत कोशिश की लेकिन उसको बहुत समय तक कोई नौकरी नहीं मिली।

एक दिन अचानक एक बहुत पुराने दोस्त से मुलाकात हो गयी। बातों बातों में उसने एक ऐसे व्यक्ति का नाम लिया जिसे कुंडली देखने में महारथ हासिल थी। ना चाहते हुए भी शलभ के कदम उनसे मिलने के लिए चल पड़े। वहां जब उनसे मिला तो उन्होंने बताया की उसकी कुंडली में प्रगाढ़ पितृ दोष/Pitra Dosha है। जिसके कारण उसको आगे भी यह सब झेलना पड़ सकता है।

शलभ ने पूछा क्या इसकी पूजा अगर करवा लूं तो यह दोष खत्म हो जाएगा?

क्या शलभ के पूजा करने से दोष ख़त्म होगा? क्या यह दोष उसके द्वारा की गयी पिता की अवहेलना करने के कारण था? क्या यह दोष उसको लगातार परेशान करेगा? क्या शलभ को इस दोष से मुक्ति मिल पाएगी? क्या है यह पितृ दोष? कैसे मिलेगी मुक्ति पितृदोष से? जानने के लिए नीचे दिये गये बटन पर क्लिक करें।

Leave a Reply