दीपावली पूजा में किन किन चीजों को करें शामिल

laxmi pujan

दीपावली पूजा/Diwali Pooja हिंदू धर्म परंपरा में एक अत्यंत महत्वपूर्ण समय होता है, जिसे सभी लोग श्रद्धा भाव के साथ करते हैं। इस दिन कुछ ऐसे भी लोग भी देखे जा सकते हैं जो पूरे साल भर पूजा नहीं करते परंतु दीपावली के दिन वह पूजा अवश्य करते हैं। ऐसे में दिवाली का समय अत्यंत ही खास रहा है। यह एक महत्वपूर्ण त्यौहार भी है जो सम्पूर्ण भारत वर्ष में उत्साह एवं जोश के साथ मनाया जाता है। 

दीपावली की रात्रि का समय अत्यंत ही विशेष समय माना जाता है। दीपावली अमावस्या की रात्रि होती है और यह अमावस्या कुछ विशेष कार्यों के लिए अत्यंत ही महत्वपूर्ण समय होता है। इस दिन लक्ष्मी पूजन/Lakshmi pujan होता है। घर की सुख समृद्धि हेतु भी इस दिन पूजा की जाती है। इस दिन को तंत्र साधना एवं तांत्रिक कार्यों के लिए भी बहुत उत्तम माना गया है। 

दीपावली पूजन में प्रयोग की जाने वाली कुछ महत्वपूर्ण वस्तुएं/Important things to be used in Diwali pujan

दीपावली पूजन के दिन कुछ विशेष चीजों को शामिल किया जाना बहुत अच्छा और शुभ माना जाता है। यह पूजा वैसे भी बहुत खास होती है, इसलिए यही कारण है कि पूरे साल भर में आने वाले इस दिन की जाने वाली पूजा में यदि कुछ चीजों को शामिल किया जाए तो पूजा द्वारा शुभ फलों की प्राप्ति हो सकती है और जीवन में सुख समृद्धि का आगमन भी होता है। इस दिन की जाने वाली पूजा का प्रभाव व्यक्ति के संपूर्ण जीवन को प्रभावित करने में सक्षम होता है, अत: इस दिन की जाने वाली लक्ष्मी पूजा के समय पर उपयोग की जाने वाली वस्तुओं में कुछ महत्वपूर्ण चीजें इस प्रकार की होती हैं। 

1. दीपावली पूजन में गोमती चक्र/Gomti Chakra

दीपावली पूजन में गोमती चक्र का उपयोग करना शुभ माना जाता है। गोमती चक्र को एक अत्यंत ही शुभ व दुर्लभ वस्तु है क्योंकि वह पानी में पाया जाता है। पूजा साधना के कार्यों में गोमती चक्र को विशेष रूप से उपयोग में लाया जाता है। मान्यता है कि गोमती चक्र का पूजा में उपयोग करने से नकारात्मकता दूर होती है। गोमती चक्र/Gomti Chakra एक सुरक्षा चक्र की भांति कार्य करता है तथा पूजन के शुभ फलों की प्राप्ति में सहायक बनता है। इसके पूजा में उपयोग होने से समस्त प्रकार के दोषों का भी शमन होता है। 

2. दीपावली पूजन में कौड़ी का उपयोग 

कौड़ी भी गोमती चक्र की भांति जल से प्राप्त किया जाता है और इसे देवी लक्ष्मी का प्रतीक भी माना गया है। इसी के साथ कौड़ी को धन के देवता कुबेर के साथ भी संबंधित माना गया है। इसकी शुभता का प्रभाव धार्मिक दृष्टि से भी अत्यंत रहा है, अत: दीपावली पूजन/Deepawali poojan में कौड़ी का उपयोग करना उत्तम होता है और इसके द्वारा लक्ष्मी एवं कुबेर सिद्धि संपन्न होती है। तंत्र एवं मंत्र दोनों ही स्थानों पर कौड़ी का उपयोग महत्वपूर्ण रहा है।

3. दीपावली पूजन में दक्षिणावर्ती शंख का उपयोग 

दीपावली पूजा में दक्षिणावर्ती शंख को भी शामिल किया जाता है। शंख का अभिषेक एवं पूजा क्रिया में उपयोग किया जाता है। दक्षिणावर्ती शंख को लक्ष्मी एवं आर्थिक समृद्धि का सूचक माना जाता है। इसे पूजा में शामिल करने से धन संपदा का जीवन में सदैव आगमन बना रहता है। इसके द्वारा जीवन में रुपये पैसे का संकट कभी नहीं झेलना पड़ता है। 

4. दीपावली पूजन में मोती का उपयोग 

दिवाली पूजा में मोती रत्न को भी शामिल किया जाता है। मोती शुभता एवं शांति प्रदान करने वाला रत्न होता है। मोतियों को माला व रत्न स्वरुप देवी को अर्पित किया जाना शुभ फलों को प्रदान करने वाला होता है। मान्यता है कि पूजा में मोती अर्पित करने से माता का आशीर्वाद प्राप्त होता है और जीवन में सुख समृद्धि के साथ साथ मानसिक संतोष भी मिलता है।

5. जल सिंघाड़ा 

दिवाली पूजन में जल सिंघाड़े का उपयोग भी किया जाता है। जल सिंघाड़ा देवी लक्ष्मी को अत्यंत प्रिय है अत: पूजा में एवं भोग सामग्री में इसे ऋतु फल के रूप में भी उपयोग किया जाता है। सिंघाड़ा वह फल है जिसका उपयोग व्रत में भी फलाहार के रूप में किया जाता है। इस दिन इस के उपयोग द्वारा स्वास्थ्य को भी लाभ प्राप्त होता है क्योंकि आयुर्वेद में भी सिंघाड़े की उपयोगिता को दर्शाया गया है और यह शरीर को शीतलता प्रदान करता है। 

6. समुद्र जल 

दीपावली की पूजा में समुद्र के जल को पूजन सामग्री में शामिल करने की भी परंपरा रही है। पौराणिक ग्रंथों के अनुसार देवी लक्ष्मी जी की उत्पत्ति समुद्र मंथन के पश्चात होती है, अत: लक्ष्मी जी को समुद्र की पुत्री के रूप में भी जाना जाता है। इस कारण से समुद्र का जल पूजा में रखना शुभदायक माना गया है। 

7. दीपावली पूजन में एकाक्षी नारियल 

दीपावली की पूजा में एकाक्षी नारियल को रखना भी अत्यंत शुभ माना जाता है। यह एक दुर्लभ श्रीफल होता है और दीपावली पूजा में इसको रखने से समस्त सुख एवं धन धान्य की प्राप्ति होती है। 

8. दीपावली पूजन में हल्दी 

दिवाली पूजन में हल्दी के उपयोग को भी महत्वपूर्ण माना गया है। जहां सात्विक पूजा में पीली हल्दी का उपयोग होता है वहीं इस दिन तंत्र शास्त्र साधना के लिए काली हल्दी को उपयोग में लाया जाता है। 

8. दीपावली पूजन में कमलगट्टे की माला 

दीपावली के दिन कमलगट्टे की माला को भी पूजा में रखा जाता है। कमलगट्टे की माला द्वारा मंत्र जाप एवं श्री सिद्धि करना उत्तम होता है। कमलगट्टे की माला श्री लक्ष्मी जी को अत्यंत प्रिय होती है, अत: इसके उपयोग द्वारा सिद्धि जल्द प्राप्त होती है और जीवन में संपन्नता व सकारात्मकता का वास होता है। 

9. दीपावली पूजन में कमल पुष्प 

दीपावली पूजा में कमल के फूल को पूजा में अवश्य शामिल करना चाहिए। कमल फूलों की माला देवी लक्ष्मी को अर्पित करने से पूजा के शुभ फलों की प्राप्ति होती है।

10. दीपावली पूजन में कपूर 

लक्ष्मी पूजा में कपूर का उपयोग करना भी उत्तम होता है। पूजा में कपूर के द्वारा देवी का पूजन एवं हवन इत्यादि में कपूर का उपयोग बहुत कारगर होता है।

सम्बंधित ब्लॉग: दिवाली पर लक्ष्मी-गणेश पूजा का महत्व और पूजन विधि

Leave a Reply