नवांश और नवांश चक्र क्या है ?

This topic contains 2 replies, has 2 voices, and was last updated by  वैदिक ज्योतिष 1 year, 4 months ago.

  • Author
    Posts
  • #554

    admin
    Keymaster

    नवांश व नवांश चक्र  –  एक राशि तीस अंश की होती है जबकि एक नवांश ३ अंश २० कला  का होता है | अत: एक राशि नौ भागों में विभाजित की जाती है जिसे नवांश कहते हैं अर्थात नौवां अंश और प्रत्येक अंश ३ अंश २० कला का होता है |  यदि जातक का जन्म वर्गोत्तम लग्न में हुआ हो , अर्थात जन्म लग्न में प्रथम भाव की राशि  तथा नवांश चक्र में प्रथम भाव की राशि समान हो ,तो  प्रथम भाव से संबंधित विषयों के फलों में वृद्धि होती है |

    शुभं वर्गोत्तमे  जन्म वशिस्ठाने सद् ग्रह |

    अशुन्येषु केन्द्रेषु कारकारव्यग्रहेषु च |

    जिस प्रकार बारह राशियाँ होती हैं बारह राशियों में से प्रत्येक को नौ भागों में विभाजित किया जाता है | अत: बारहों राशियों १२*९=१०८ भागों में , ८ नवंशों में विभाजित हैं इसीलिए माला में १०८ मनके होते हैं |

    बारह राशियों की तरह २७ नक्षत्र भी होते हैं | प्रत्येक नक्षत्र को चार भागों में विभाजित किया जाता है | उन चार भागों को पद या चरण कहते हैं | एक नक्षत्र का मान १३ अंश २० कला होता है  | एक नक्षत्र का एक पद ३ अंश २० कला का होता है | एक नवांश भी ३ अंश २० कला का होता है | अत: नक्षत्र का एक पद और एक नवांश एक-दूसरे के बराबर होते हैं | यही नवांश चक्र है |

    अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए देखिये यह वीडियो-

    https://www.youtube.com/watch?v=cVophEqrxlU&t=5s

    सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए नीचे दिए गए वेबसाइट पर क्लिक कीजेए |

    https://www.vinaybajrangi.com

    इससे संबन्धित प्रशनो के उत्तर जानने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करिए-

  • #27954

    वैदिक ज्योतिष

    वैदिक ज्योतिष में ग्रहों और लग्न-बिंदु द्वारा व्याप्त नवमांश के लिए एक निरंतर संदर्भ दिया जाता है। दोनों, रासी-चार्ट और नवमांश-चार्ट को समान रूप से महत्वपूर्ण माना जाता है और इसलिए, एक साथ परामर्श किया जाता है। वैदिक ज्योतिष में, नवमांश का अर्थ है राशि चक्र का एक-नौवां हिस्सा। नवमांश का शाब्दिक अर्थ है “नौवां मंडल”। इस प्रकार, प्रत्येक नवमांश 3 डिग्री और 20 मिनट देशांतर या एक चौथाई नक्षत्र (नक्षत्र) में मापता है, और राशियों के राशि चक्र में 108 नवमांश शामिल होते हैं जो चार समूहों में विभाजित होते हैं।

  • #27956

    वैदिक ज्योतिष

    वैदिक ज्योतिष में ग्रहों और लग्न-बिंदु द्वारा व्याप्त नवमांश के लिए एक निरंतर संदर्भ दिया जाता है। दोनों, रासी-चार्ट और नवमांश-चार्ट को समान रूप से महत्वपूर्ण माना जाता है और इसलिए, एक साथ परामर्श किया जाता है। वैदिक ज्योतिषमें, नवमांश का अर्थ है राशि चक्र का एक-नौवां हिस्सा। नवमांश का शाब्दिक अर्थ है “नौवां मंडल”। इस प्रकार, प्रत्येक नवमांश 3 डिग्री और 20 मिनट देशांतर या एक चौथाई नक्षत्र (नक्षत्र) में मापता है, और राशियों के राशि चक्र में 108 नवमांश शामिल होते हैं जो चार समूहों में विभाजित होते हैं। Read More-http://www.indianastrology.com/

You must be logged in to reply to this topic.