चौसठवां नवांश क्या है ? यह भयभीत करने वाला क्यों है ?

Home Forums वैदिक ज्योतिष – प्रश्न और उत्तर नवांश-प्रश्न और उत्तर चौसठवां नवांश क्या है ? यह भयभीत करने वाला क्यों है ?

This topic contains 0 replies, has 1 voice, and was last updated by  Dr. Vinay Bajrangi 9 months, 3 weeks ago.

  • Author
    Posts
  • #544 Reply

    64 नवांश की गणना हेतु लग्न तथा चन्द्रमा दोनों को ही महत्व दिया जाता है | उदाहरणार्थ यदि किसी का जन्म के 6 अंश 40  कला पर हुआ है इसका अर्थ यह हुआ कि मेष लग्न के तीसरे नवांश अर्थात मिथुन नवांश में जातक का जन्म हुआ है | यहां से 64 वें नवांश की गणना की जाती है | यदि मेष लग्न के तीसरे नवांश अर्थात 6 अंश २० कला से 10 अंश के मध्य में 64 वां नवांश पड़ेगा और वह 8 वें भाव का अर्थात वृश्चिक राशि का तीसरा नवांश होगा अर्थात वृश्चिक राशि के 6 अंश 40 कला से 10 अंश के मध्य जो नवांश पड़ेगा , वह 64 वां नवांश होगा |

    जन्मलग्नांशकाच्चन्द्र नवांशादथ वाऽपि  वा ।

    राहौ चतुषषि्ठमिते निधानं च विनिर्दिशेत् ||

    64 वें नवांश पर से जब मृत्युकारक शनि भ्रमण करता है तो जातक को भीषण शारीरिक कष्ट होता है अथवा उसकी मृत्यु होती है | तथा सूर्य से 64 वें नवांश में पापग्रहों का भ्रमण पिता के लिए घातक होता है  |

     

    अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए देखिये यह वीडियो-

    https://www.youtube.com/watch?v=cVophEqrxlU&t=5s

    सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए नीचे दिए गए वेबसाइट पर क्लिक कीजेए |

    https://www.vinaybajrangi.com

    इससे संबन्धित प्रशनो के उत्तर जानने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करिए-

Reply To: चौसठवां नवांश क्या है ? यह भयभीत करने वाला क्यों है ?
Your information: