जन्म कुंडली के अनुसार कैरियर चयन – Career Selection According To Birth Chart

करियर ज्योतिष

करियर ज्योतिष का मतलब ये जानना कि कुंडली/ज्योतिष करियर सिलेक्शन में  किस तरह आपकी मदद कर सकता है| How can astrology help in right career selection|  आपको बहुत जगह पर  ऐसा पढ़ने को मिलेगा| कौन सी राशि के लिए कौन सा  करियर सही है|  | इस राशि के लिए ये करियर सही है , किस राशि के व्यक्ति को कौन सा करियर सही रहेगा इत्यादि | Career selection based on Zodiac Sign  लेकिन ये सही नहीं है | अरे भाई – आपकी राशि निर्धारित होती है जब आप ने इस युग में जन्म लिया और आपकी आयु सिर्फ 00 मिनट थी तो कैसे निर्धारित करेगी कि आपको क्या करना चाहिए और क्या नहीं | अपने अपने पूर्व जन्म या जन्मों में क्या और कैसे किया उसके अनुसार ब्रह्मा जी ने हमें एक राशि आबंटित की लेकिन उस राशि से सही रिजल्ट्स लेना हमारे इस जन्म के कर्मों पर निर्धारित करता है| तो सिर्फ राशि अनुसार करियर सिलेक्शन Career selection based on sign बिलकुल एक तरफ़ा चयन है | 

इसी तरह कई बार हम केवल अपनी रूचि, कौशल या पेरेंट्स /मित्र आदि के आधार पर सही करियर का चुनाव करते हैं | ये भी पूरी तरह से सही नहीं है | 

कुंडली के अनुसार करियर – Career according to birth chart/kundli 

तो फिर सही करियर का चयन कैसे करें | वास्तव में हर राशि की  कुछ बेसिक विशेषताएं और कमजोरी होती हैं | आपकी राशि और कुंडली करियर सिलेक्शन में मदद जरूर कर सकती है | Your sign can help you select career but cannot be sole criterion for this  लेकिन इनका ताल मेल आपकी अपनी रूचि,  योग्यता और कार्य कुशलता से और आपकी आर्थिक / सामाजिक परिस्थितियों से जरूर होना चाहिए| | वास्तव में हर राशि की  कुछ बेसिक विशेषताएं और कमजोरी होती हैं | आपकी राशि और कुंडली करियर सिलेक्शन में मदद जरूर कर सकती है लेकिन इनका ताल मेल आपकी अपनी रूचि,  योग्यता और कार्य कुशलता से और आपकी आर्थिक / सामाजिक परिस्थितियों से जरूर होना चाहिए| 

हम में से अधिकतर लोग अपनी योग्यता और कार्य कुशलता से अवगत होते हैं | आवश्यकता होती है तो बस यह जांच करने की कि क्या आपकी कुंडली/kundli भी आपकी वर्तमान योग्यता को एक सही करियर के लिए सहयोग/समर्थन करती / दर्शाती है? एक योग्य ज्योतिषी की सहायता से हम अपनी कुंडली की जांच करवा कर अपने कार्य कौशल को कुंडली के हिसाब से मिला कर सही करियर का चयन कर सकते हैं। कुंडली के अनुसार सही करियर चयन/ Career selection according to birth chart के लिए हमें एक अनुभवी ज्योतिषी की आवश्यकता होती है।

हम सभी एक सफल करियर का सपना देखते हैं जो हमें एक आरामदायक जीवन शैली देने के साथसाथ समाज में अच्छी पहचान दिलवा सके। करियर ऐसा होना चाहिए कि यह व्यक्ति को पर्याप्त आय और सम्मान तो दे ही पर साथ ही साथ अपनी कार्य क्षमता का पूर्ण सदुपयोग करने में भी मदद करे। लेकिन ज्यादातर समय, हम अनिश्चित रहते हैं कि कौन सा करियर विकल्प हमारे लिए सबसे अच्छा कार्य विकल्प रहेगा?

यहां देखने के लिए मुख्य बातें हैपहला आपका कौशल, योग्यता और कार्य करने में आपकी रुचि और दूसरा यह तय करना कि मैं किस करियर में जाना चाहता हूं और मुझे किस करियर के लिए जाना चाहिए/ या मेरे लिए अच्छा है? आप क्या करना चाहते है और क्या करना आपके लिए ठीक रहेगा|  इन दोनों वाक्यों में छुपा सूक्ष्म सा अंतर, किसी व्यक्ति के जीवन का सबसे महत्वपूर्ण मोड़ हो सकता है। एक करियर के लिए केवल आपके कौशल, रुचि और जुनून की जरूरत होती है, बल्कि आपकी जन्म कुंडली उस करियर का कितना समर्थन कर रही है, यह भी जानने की उतनी ही जरूरत होती है। सही करियर चयन में ज्योतिष के महत्व को कमतर समझने की भूल करें बल्कि इसकी सटीकता और गहराई को समझें।

आप जानते हैं कि आप किन कामों में दूसरों से बेहतर हैं या किन कार्यों को आप अत्यंत सरलता कुशलता से करते है। अब अगला कदम है एक अनुभवी ज्योतिषी से मिलना और आपकी कुंडली द्वारा दर्शाये गए आपके गुणों को समझना। जन्म तिथि के अनुसार सही करियर चुनने के लिए आपको एक विशेषज्ञ ज्योतिषी की आवश्यकता होती है। इसी तथ्य को लेकर आप इस लेख को करियर ज्योतिष पर मिलने वाले कई अनेक लेखों से अलग पायेंगें। अब मुख्य विषय की बहुत अधिक व्याख्या किये बिना, मैं, जन्म कुंडली के अनुसार सर्वश्रेष्ठ करियर का चयन कैसे करें के मुख्य बिंदु पर सीधे ही रहा हूं। सही करियर चयन का मतलब है कि आपकी योग्यता और आपकी जन्म कुंडली दोनों का एक दूसरे के प्रति समर्थन। आपके ज्योतिषी की योग्यता भी साथ ही साथ बहुत महत्वपूर्ण है मैं चाहता हूँ कि आप एक छोटे से केस स्टडी के  माध्यम से समझें कि  करियर चयन पर सलाह देने से पहले ज्योतिषियों को किस तरह से सूक्ष्म निरक्षण की आवशयकता होती है।  

 

जन्म तिथि के अनुसार करियर चुनने का सही तरीका समझने के लिए एकएक शब्द को ध्यान से पढ़ें। एक बहुत ही होनहार बच्चा माँ मेरे पास ज्योतिषीय सलाह के लिए आये।  बच्चे का विज्ञान के प्रति झुकाव था।  लड़के का जन्म विवरण 08.01.2009, दोपहर 12.26 बजे, पटना बिहार, भारत। उसका लग्न मेष और चंद्र राशि वृषभ थी। लड़के की माँ ने कहा कि वह कभी भी कक्षा में 99% से नीचे नंबर नहीं लाता है और मेडिकल या इंजीनियरिंग में जाना चाहता है। अब उन सूक्ष्म ज्योतिषीय गणनाओं की समझिए जो मैंने उनके लिए जन्म कुंडली के अनुसार करियर का चयन करने के लिए इस्तेमाल की। उन्होंने जो विकल्प चुना वह गलत था। समझें कि कैसे:

उनके लिए सबसे अच्छा विकल्प चिकित्सा था, और वह भी एक विदेशी भूमि पर। मैं इसकी व्याख्या के लिए कई ज्योतिषीय गणनाओं की मदद लूँगा। (ज्योतिष का थोड़ा सा भी ज्ञान रखने वाले व्यक्ति यदि सहमत नहीं है तो मुझे गलत साबित कर सकते हैं)

1. तीसरे और छठे भाव का स्वामी बुध दसवें भाव में स्थित है। बुध (शिक्षा) जो तीसरे (प्रयास और कड़ी मेहनत) और छठे भाव (चिकित्सा रोग) के स्वामी हैं 10 वें भाव (करियर) में स्थित है। तो मेडिकल उनके लिए एक आदर्श विकल्प बनता है।

2. अब इसमें शामिल दूसरे ग्रह को देखें। बृहस्पति उच्च शिक्षा का कारक है, और उसके लिए, यह नौवें भाव  (विदेश यात्रा) बारहवें भाव (अस्पताल) भाव  का स्वामी होकर दसवें भाव  (करियर) में स्थित है। तो यह भी उस लड़के के लिए साफ़साफ़ इशारा दे रहा था: मेडिकल लाइन में जाओ और वह भी एक विदेशी भूमि पर।

विदेशी भूमि में शोध कार्य भी उनके लिए एक और समान रूप से अच्छा पेशीय विकल्प था। चलिए समझते हैं कि क्यों

1. राहु के साथ बुध और बृहस्पति की युति दसवें भाव में है।

2. राहु विदेश यात्रा और शोध कार्य के लिए जाना जाता है। राहु एक अत्यधिक महत्वाकांक्षी ग्रह है जो व्यक्ति के चिंतन स्तर को बहुत अधिक विकसित करता है। राहु व्यक्ति को साधारण मान्यताओं से परे व्यवहार करने को उकसाता है, शोध कार्य करने की क्षमता देता है। यह इंसान को देश की सीमाएं पार करवाता है।

3. राहु के साथ दसवें भाव  में बुध और बृहस्पति की युति को देखकर मैंने उन्हें पीएचडी जैसे शोध कार्य के लिए जाने की सलाह दी और वो भी विदेश में। मुझे यह कहने में कोई आपत्ति नहीं है कि शोध कार्य, भारत की अपेक्षा विदेशों में अधिक प्रशंसनीय लाभदायक कार्य के रूप में देखा जाता है।

इंजीनियरिंग उनके लिए अच्छा विकल्प नहीं था। विज्ञान के छात्र के लिए इंजीनियरिंग एक अच्छा विकल्प नहीं हैयह सुनने में बेतुका सा लगता है। लेकिन मैं समझाऊंगा कि इस लड़के के लिए इंजीनियरिंग एक अच्छा विकल्प क्यों नहीं था।

1. मंगल की युति सूर्य के साथ है।

2. अभियांत्रिकी के लिए जाना जाने वाला मंगल, सूर्य के साथ युति के कारण अस्त है।

3. इसका अर्थ है कि मंगल के मूल भाव को सूर्य ने कम/कमजोर कर दिया था।

4. इसलिए, इंजीनियरिंग में करियर उनके लिए अच्छा विकल्प नहीं था।

सही करियर के चयन के लिए ज्योतिष में मुख्य कारक

1. सभी ग्रह, कई करियर को दर्शाते हैं, और प्रत्येक करियर की कई शाखाएं और उपशाखाएं हैं। जैसा कि आपने उपरोक्त उदाहरण में देखा होगा: दो धाराएं यानि चिकित्सा और अनुसंधान कार्य, उस लड़के के लिए अच्छे विकल्प थे। इंजीनियरिंग, जो एक विज्ञान के छात्र के लिए सबसे महत्वपूर्ण करियर विकल्प है, उसके लिए अच्छा विकल्प नहीं था। एक अच्छे करियर ज्योतिषी को सटीक करियर चुनने के लिए ऊपर वर्णित जन्म कुंडली में इतने सारे ज्योतिषीय योगों की जांच करनी होती है।

2. व्यक्ति किस स्थान पर सफल होगा: अपने देश में या विदेश में। जैसा कि ऊपर उल्लेख किया गया है, हर प्रकार के करियर में सभी जगहों पर समान सफलता की संभावना नहीं होती। उदाहरण के लिए शोध कार्य के क्षेत्र में करियर शायद कुछ ही देशों में ही एक अच्छे विकल्प के रूप में नजर आए।  

3. यह भी देखना ज़रूरी है कि आपके ज्योतिषी का अनुभव कितना है? जो ज्योतिषी सीमित वर्ग के लोगों के संपर्क में है, और जो कुछ ही जगहों तक सीमित हो पारंपरिक ज्योतिषीय तरीकों से काम करते हैं, वह आपको कुंडली के आधार पर सर्वश्रेष्ठ करियर के बारे में इतनी सटीक उपयोगी सलाह नहीं दे सकते।

4. इस प्रकार के ज्योतिषी से उचित करियर की सलाह लेना अपने आप से बेमानी होगी। ज्योतिषी की योग्यता पर लगा प्रश्नचिह्न उसके द्वारा सुझाये गए विकल्पों पर प्रश्नचिन्ह है। इतने सारे संयोजनों की जांच करने के लिए आपके ज्योतिषी के पास गहन और सटीक ज्ञान होना चाहिए। दूसरे, ज्योतिषी को दुनिया भर में चल रहे नाना प्रकार के करियर के बारे में पता होना चाहिए। कोई भी ऐप या कैलकुलेटर ऐसी सूक्ष्म गणना नहीं कर सकता है।

क्या ज्योतिष करियर चुनने में मदद कर सकता है – Can astrology help select best career

हाँ, ज्योतिष एक व्यक्ति को सर्वश्रेष्ठ करियर चुनने/Best career selection में मदद कर सकता है, बशर्ते ज्योतिषी सक्षम हो। उपरोक्त उदाहरण स्पष्ट करता है कि जन्म कुंडली से किसी व्यक्ति के लिए सर्वश्रेष्ठ करियर को पढ़ना कितना कठिन है। यह सार्वभौमिक रूप से स्वीकारा गया है कि हम सभी किसी किसी गतिविधि को करने में विशेषतया कुशल होते हैं। हम किसी किसी नौकरी या करियर के लिए बने हैं और उसी के अनुसार हमारा जन्मजात स्वभाव होता है। हम में से कुछ बहुत रचनात्मक हैं, जबकि अन्य के पास उत्कृष्ट तकनीकी ज्ञान हो सकता है। कोई अच्छा गा सकता है जबकि अन्य लेखन में माहिर हो सकते हैं। आप इन गुणों को संयोग से प्राप्त नहीं करते हैं, बल्कि यह विशेष रूप से आपके लिए तैयार की गई नियति की योजना है। सभी ग्रहों के कुछ विशेष प्रभाव होते हैं, और वे व्यक्ति की जन्म कुंडली में अपनी स्थिति के अनुसार अपना प्रभाव देते हैं। ज्योतिष आपके लिए सबसे अच्छा करियर विकल्प सुझाने में पूर्णतया सक्षम है। यह ग्रहों द्वारा सुझाये गए परिणामों को सरल भाषा में आप तक पहुँचाने में मदद करता है।

ज्योतिष आपकी पसंद, नापसंद, ताकत और कमजोरियों की पहचान कर सकता है। एक सफल करियर का चुनाव करते समय आपके निहित गुण और स्वभाव बहुत मायने रखते हैं। एक ज्योतिषी आपकी जन्म कुंडली में इन ग्रहों के प्रभावों का गहराई से विश्लेषण करते हैं और इनकी मदद से आपके व्यक्तित्व को प्रभावी ढंग से समझते हैं। कुंडली में निहित ग्रहों के प्रभाव से यह आपके लिए सर्वश्रेष्ठ करियर विकल्प को शॉर्टलिस्ट करने में मदद करता है।

बच्चे के करियर के लिए ज्योतिष

कुछ साल पहले की तुलना में आधुनिक समय पूरी तरह से अलग है। पहले पढ़ाई और करियर के लिए सीमित विकल्प थे, लेकिन अब बच्चों के पास अनंत करियर विकल्प हैं। करियर से पहले, यह भी उतना ही महत्वपूर्ण है कि बच्चा बाद में एक सफल करियर चुनने से पहले उस करियर के लिए आवश्यक सही शिक्षा या कोर्स का चयन करे। आपके बच्चे की कुंडली का सावधानीपूर्वक और गहन विश्लेषण करके आपके बच्चे की विशेषताओं और उनका उसकी शिक्षा पर प्रभाव का सटीक अनुमान लगाया जा सकता है। एक ज्योतिषी बच्चे की कुंडली द्वारा दिए गए सभी संकेतों का उपयोग करके उसे जीवन में सफल होने के लिए पूरी तरह से मदद करता है।

1. कभीकभी मातापिता के रूप में, हम अपने बच्चों के गहरे छिपे हुए गुणों को नहीं समझ पाते, जिन्हें केवल एक अनुभवी और सुशिक्षित ज्योतिषी ही समझ सकता है। ज्योतिष परामर्श आपको बच्चे के झुकाव और रुचियों को समझने में मदद करता है।

2. करियर का चुनाव करना मुश्किल है और इसमें अन्य कारकों के साथ लग्न या डी1, चंद्र राशि चार्ट, डी9 और डी10 चार्ट का विस्तृत अध्ययन शामिल है। जिस उम्र में बच्चा अपना करियर शुरू करेगा उस उम्र में कोण से ग्रह की दशा चल रही है और साथ ही गोचर में ग्रहों का क्या प्रभाव पड़ रहा है। सभी का निरिक्षण उपयुक्त करियर विकल्प निकालने के लिए किया जाता है। 

कुंडली के अनुसार subject selection 

क्या कुंडली /राशि सर्वश्रेष्ठ करियर का संकेत देती है? हां, आपका राशि चिन्ह सर्वश्रेष्ठ करियर का संकेत दे सकता है। आपका राशि चिन्ह सही करियर चयन की दिशा में उठाया गया पहला कदम साबित हो सकता है; यह आपके करियर को प्रभावित कर सकता है। लेकिन आपका birth sign किसी व्यक्ति के लिए सर्वश्रेष्ठ करियर का फैसला/चयन करने के लिए सबसे अच्छा/एकमात्र मानदंड नहीं हो सकता।

ज्योतिष शास्त्र में हम पूरी दुनिया को राशि चक्र को 12 राशियों में बांटते हैं। प्रत्येक राशि/sign एक निश्चित तत्व से संबंधित है, अर्थात अग्नि, पृथ्वी, वायु और जल। अब प्रत्येक तत्व की अपनी विशिष्टताएँ हैं जो किसी व्यक्ति के करियर विकल्प पर काफी प्रभाव डालती हैं। एक जानकार ज्योतिषी पेशे और करियर के मुख्य भाव 10वें भाव  का सावधानीपूर्वक विश्लेषण करता है। उसके बाद, उसे यह निर्धारित करना होगा कि कौन सा तत्व लग्न, चंद्रमा और दशम भाव पर प्रभुत्व दिखा रहा है। किसी को सही करियर विकल्प सुझाने में बहुत अनुभव चाहिए, और केवल एक विद्वान ज्योतिषी ही ऐसा कर सकता है। मैं विद्वान ज्योतिषी शब्द का सावधानी से उपयोग कर रहा हूं। करियर ज्योतिष में विभिन्न ज्योतिषीय चार्टों का विस्तृत और गहन अध्ययन शामिल है। विभिन्न चार्ट और जैमिनी सूत्र की गहरी समझ रखने वाला एक ज्योतिषी आपकी राशि के अनुसार 100% सटीक करियर भविष्यवाणियां करता है। जन्म कुंडली के अनुसार सर्वश्रेष्ठ करियर के बारे में अधिक पढ़ सकते हैं।

सही करियर भविष्यवाणी के लिए एक और महत्वपूर्ण बिंदू, वैदिक ज्योतिष का मूल नियम है: देश काल पात्र, जिसके बिना करियर के लिए की गयी कोई भी भविष्यवाणी सही नहीं हो सकती है। सभी देशों में अलगअलग संस्कृति और कानून के आधार पर अलगअलग करियर की संभावनाएं हैं। एक सरल उदाहरण लें: एक मजबूत शुक्र वाली महिला का भारत में अच्छा करियर हो सकता है लेकिन सऊदी अरब में यह सच नहीं हो सकता है। इंजीनियरिंग पृष्ठभूमि वाले व्यक्ति का श्रीलंका में अच्छा करियर नहीं हो सकता है, जहां इस तरह के करियर के लिए कोई बुनियादी ढांचा नहीं है। साथ ही कभीकभी पारिवारिक पृष्ठभूमि, सामाजिकआर्थिक परिस्थितियाँ व्यक्ति को सर्वश्रेष्ठ करियर बनाने में सहायता नहीं करती। ऊपर के उदाहरण में लड़का एक संपन्न परिवार से था, लेकिन विदेशी भूमि पर अनुसंधान में कैरियर की सफलता की वही भविष्यवाणी सच नहीं होगी यदि व्यक्ति कमजोर सामाजिकआर्थिक परिवार से संबंधित है।

करियर के फैसले जिंदगी भर के लिए होते हैं। इसलिए, अपने आप पर भरोसा रखें, अपनी जन्म कुंडली के अनुसार सर्वश्रेष्ठ करियर का चुनाव करें लेकिन सुनिश्चित करें कि आप सही ज्योतिषी से सलाह लें। करियर ज्योतिष/Career astrology का पूरा लाभ उठाएं लेकिन यह जानना बहुत जरूरी है कि एक अच्छे ज्योतिषी को कैसे आंकें अन्यथा सब कुछ सकारात्मक होने के बावजूद, आप गलत करियर का चुनाव कर सकते हैं। फिर वह ज्योतिषी या कोई और नहीं है, बल्कि आपको इसका दंड भुगतना पड़ेगा।

Leave a Reply