Sunday, January 20, 2019

( मा, मी , मु , में, मो, टा, टी , टु , टे)

व्यवसाय:

यह वर्ष व्यापार की दृष्टि से अति उत्तम है नये आयामों के जुड़ने की सम्भावना है | जो जातक नौकरी की तलाश कर रहें हैं उनकी तलाश इस वर्ष पूर्ण होगी और जो पहले से कहीं कार्यरत हैं उनके पद – प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी | अपने वरिष्ठ अधिकारियों से आपके सम्बन्ध मधुर रहेंगे तथा अधिकारी वर्ग से आपको पूरा सहयोग मिलने की सम्भावना है |

विद्यार्थियों के लिए भी यह वर्ष शुभ है | सफलता प्राप्त करने के लिए विद्यार्थियों को इस वर्ष मन लगाकर अध्ययन करने की आवश्यकता है |

धन- संपत्ति:

निवेश की दृष्टि से यह वर्ष शुभ है |  इस वर्ष आपको जहाँ भी कोई ऋण या कोई देनदारी है उससे मुक्ति मिलेगी | वर्ष का पूर्वार्द्ध पूँजी निवेश के लिए उत्तम है | आपकी आर्थिक स्थिति में सुधार होगा एवं पैतृक धन मिलने की सम्भावना है |

घर – परिवार – समाज:

वर्ष के पूर्वार्द्ध में नये संबंधों के बनने की सम्भावना है | घर-परिवार एवं जीवनसाथी का भरपूर सहयोग मिलेगा | समाज में पद प्रतिष्ठा एवं मान – सम्मान में वृद्धि होगी | घर में कोई मंगल कार्य होने की सम्भावना है किसी का विवाह हो सकता है या संतान का जन्म आदि हो सकता है | घर का वातावरण सुखमय एवं उत्साहित रहेगा |

स्वास्थ्य:

परिवार में बच्चों के स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखें | आपके लिए स्वास्थ्य की दृष्टि से यह वर्ष अनुकूल है लेकिन बुखार , खांसी आदि छोटी – छोटी बीमारियां आपको होती रहेंगी खान-पान का बेहद ख्याल रखना है क्योंकि अनियमित खाने से डायरिया या अपच जैसी बीमारियां हो सकती हैं , पेट दर्द की शिकायत रह सकती है | बेहतर स्वास्थ्य के लिए प्रात: काल स्नानादि के पश्चात सूर्य को तांबे के पात्र में गुड़ मिला हुआ जल अर्पित करें लाभप्रद रहेगा |

कैरियर एवं प्रतियोगी परीक्षाएं :

विद्यार्थियों के लिए यह वर्ष उत्तम है  | थोड़ा अधिक प्रयास , थोड़ी अधिक मेहनत आपको सफलता के शिखर तक पहुँचायेगी | निरंतर प्रयास करते रहिये , और जो लोग नौकरी की खोज में हैं उन्हें इस वर्ष अवश्य सफलता मिलेगी | जिससे उनका आत्मविश्वास बढ़ेगा |

यात्रा – प्रवास – तबादला :

इस वर्ष जो जातक तबादला चाहते हैं उन्हें  सफलता प्राप्त नहीं होगी क्योंकि इस वर्ष यदि तबादला होगा तो आपके मनोनुकूल नहीं होगा और यात्राओं की दृष्टि से यह वर्ष शुभ नहीं है जहां तक संभव हो यात्राओं को टालने की कोशिश करें क्योंकि इस वर्ष यात्राओं से कष्ट की अनुभूति है या फिर किसी रूकावट की आशंका है |

धर्म – कार्य – ग्रह शांति :

इस वर्ष आपको हनुमान जी की विशेष रूप से आराधना करनी चाहिए | प्रथम स्नानादि करने के पश्चात नियमित रूप से हनुमान चालीसा का पाठ करें और मंगलवार के दिन हनुमान जी के मंदिर जाएँ और प्रसाद अर्पित करें | गरीबों को दान आदि करें और बुजुर्गों का आशीर्वाद प्राप्त करें |

Tags: , , , , ,

Related Article

0 Comments

Leave a Comment