मिथुन राशि

( क , की , कु, घ , ड, छ, के , को ,ह )

व्यवसाय :

व्यापारी वर्ग के जातक कोई भी नया व्यवसाय करने से पहले उसके परिणाम स्वरुप होने वाले लाभ एवं हानि के बारे में अच्छी तरह से पड़ताल कर लें | जल्दबाजी में कोई भी निर्णय न लें बिना सोचे – समझे लिया गया निर्णय हानिकारक साबित हो सकता है और अपने बिज़नेस पार्टनर से सावधान रहें | व्यपारीजनों के लिए यह वर्ष विशेष शुभ नहीं है अत: अपने कार्यक्षेत्र में अपनी योजनाओं और रणनीतियों के बारे में किसी से अनावश्यक चर्चा न करें | लगातार आ रही बाधाओं के चलते मन निराश रहेगा आपको अधिक मनोबल की आवश्यकता रहेगी |

विद्यार्थियों को  अधिक मनोबल और दृणप्रतिज्ञ होने  की आवश्यकता है अपने लक्ष्य पर दृण रहें तथा स्थिर मन से पढ़ाई करें |

धन संपत्ति :

धन संपत्ति की दृष्टि से यह वर्ष कोई अधिक शुभ नही है | धन अर्जित करने की सम्भावना कम है अपने अनावश्यक खर्चों पर नियंत्रण रखें क्योंकि यह वर्ष अधिक व्यय लेकर आएगा जिससे आपकी आर्थिक स्थिति पर प्रभाव पड़ सकता है | इस वर्ष आप किसी से ऋण न ले तो बेहतर है | वर्ष के मध्य में आपको आय के कुछ नये अवसर मिलेंगे जिससे लाभ अर्जित करें |

घर-परिवार –समाज :

समाज में अपनी प्रतिष्ठा बनाये रखें | किसी से अनुचित व्यवहार न करें जिससे आपके मान-सम्मान पर कोई प्रभाव पड़े | घर – परिवार की ओर से मन व्यथित रहेगा , बच्चों की पढ़ाई और स्वास्थ्य को लेकर मन चिंतित रह सकता है | धैर्य रखें , साहस और विवेक से काम लें |

स्वास्थ्य :

आपका स्वास्थ्य अनुकूल रहेगा | चाय – कॉफी मिर्च, मसालों आदि का सेवन कम से कम मात्रा में करें अन्यथा आपको पेट से सम्बंधित कोई परेशानी हो सकती है | अपनी नियमित दैनिक दिनचर्या बनाएं रखें | नियमित व्यायाम करें |

कैरियर एवं प्रतियोगी परीक्षाएं :

विद्यार्थियों के लिए यह वर्ष अति उत्तम है | ऐसे शुभ अवसर पर विद्यार्थीगण अधिक से अधिक परीक्षाओं में भाग लेकर सफलता हासिल करने का प्रयास करें | अधिक मेहनत और परिश्रम से सफलता अवश्य प्राप्त होगी | नौकरी की खोज कर रहे जातकों के लिए या वर्ष विशेष लाभकारी नहीं है संघर्ष और चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है |

यात्रा-प्रवास –तबादला :

वह व्यक्ति जो विदेश जाकर कार्यरत  होना चाहते हैं उनके लिए यह वर्ष शुभ संकेत लेकर आया है | जातक की इच्छानुसार तबादला होने पर भी उनका मन अशांत व तनावग्रस्त रहेगा | वर्ष के मध्य में उन्हें शांति की अनुभूति होगी |

धर्म-कार्य-ग्रह शांति :

इस वर्ष यदि आप कोई धार्मिक कार्य करने जा रहें हैं तो योजनाबद्ध तरीके से करें अन्यथा कार्य में विघ्न की सम्भावना है | शनि देव की पूजा करें व शनिवार के दिन शनि देव के मंदिर जाएँ | मंगल वार को हनुमान चालीसा का पाठ करें व गरीबों को दान दें |

Share this post:

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *