Tuesday, January 22, 2019

केतु एक ग्रह है जिसकी किसी भी कुंडली में बहुत भारी भूमिका रहती  है। लेकिन मैं पूरी तरह से धैर्य और सकारात्मकता के साथ प्रारम्भ करूँगा, डरने की जरुरत नहीं है । केतु के सकारात्मक और नकारात्मक दोनों, दो तरीके के प्रभाव पड़ते हैं। एक ओर, केतु भौतिक समृद्धि का सर्वोत्तम प्रदाता  है। और दूसरी ओर कुछ और सबकुछ नष्ट भी कर सकता है जो कि आपने खुद बनाया है या आपके पास है । यह चरम सीमा, निर्माण और विनाश, बुजुर्ग और बच्चे, पदार्थ और आत्मा का प्रतिनिधित्व करता है। यह एक ही सिक्के के दो पहलु की तरह काम करता है और प्रभाव डालता है।एक ग्रह के रूप में केतु, बुजुर्ग लेकिन बच्चे की सोच रखने वाला ग्रह है । यह परिशुद्धता के साथ – साथ क्रूर भी  हो सकता है और जब तक न चाहे तब तक अपने नखरे (खराब मूड, अनियंत्रित विस्फोट / भावना) समाप्त नहीं करता है  |

केतुएक  सिक्के के दो पहलु

क्या आपको पुराना ऑडियो कैसेट याद है, जो दोनों तरफ से (साइड -1 और साइड 2) चलता था ,  केतु भी उसी के जैसा है  केतु एकमात्र ग्रह है जो दोनों तरीकों से खेलता है। जब यह सकारात्मक होता है तो जातक को समृद्धि  प्रदान करता है | वैसे ही जब यह नकारात्मक पहलु से सक्रिय होता है तब यह एक आपदा की तरह सब कुछ नष्ट कर देता है  |  अर्थात इसके दो पहलु हैं जो एक ही समय में अलग -अलग जातकों के लिए अलग भूमिका के साथ सक्रिय हो सकते हैं जो लोग बहुत कमाते हैं और अचानक सब कुछ खो देते हैं और वहीं ज्यादा कमाने वाले और उतना ही  दान करने वाले भी केतु से ही प्रभावित होते हैं ।

केतु के लक्षण सक्रिय होने के संकेत

कोई भी नयी उमदा कार्य प्रारम्भ करने से पहले क्या आपको किसी बुजुर्ग ने कुछ आगाह किया था ? क्या कभी कोई व्यक्ति या शक्ति आपको सम्मोहित करती है ? क्या आपको कभी किसी घनिष्ठ मित्र या शुभ चिंतक ने आपके पीठ  पीछे वार किया है ? कभी किसी जानने वाले ने आपकी प्रगति में बाधा  डाली है  ? क्या कभी किसी ने आपके सहायता पूर्ण  व्यवहार का दुरूपयोग किया है ?  क्या किसी की उपस्थिति आपको आकस्मिक भयभीत करती करती है ?  यह सभी कारण संकेत देते हैं कि आपकी कुंडली में केतु सक्रिय है

केतु के प्रत्यक्ष और भयंकर प्रभाव

अब, उपर्युक्त समरूपता को समझें, अगर केतु जातक से कुछ छीनने या प्रदान न करने की इच्छा रखता है तो कोई भी शक्ति जातक को  वह वस्तु प्रदान करने सक्षम नहीं है |

राहु का संचालन एक व्यक्ति को भविष्यवादी बनता है ललेकिन एक सक्रिय केतु जातक को पीछे की ओर चलाता है |  वह पिछले चीजों को एक अलग परिप्रेक्ष्य के साथ पुन: करना शुरू कर देता है या जो कि जातक को लगातार अतीत में रख सकती हैं |

इस ब्लॉग को प्रस्तुत करने का मेरा प्राथमिक उद्देश्य कुंडली में एक अति सक्रिय केतु से जुडी कठिनाइयों को समझाना है। और विशेष रूप से जब इसका त्रिकोण के साथ कोई संबंध नहीं हो , जहां यह लाभप्रद होता है । एक और सच्चाई यह है कि यह ग्रह अधिकांश ज्योतिषयों के लिए जीविका का कारण है क्योंकि अधिकांश मामलों में वह ग्राहक से उसकी कुंडली में उपस्थित क्रूर केतु से मुकाबला करने के लिए सौदा करता है 

केतु के प्रभावप्रासंगिकता के साथ एक कहानी

23.09.2018 को हिंदुस्तान टाइम्स में प्रकाशित मेरे लेख में उल्लेख किया गया है कि किस प्रकार एक नकारात्मक रूप से सक्रिय केतु व्यक्ति का कैरियर खराब कर सकता है । छात्र जो एक विशिष्ट नौकरी के लिए एक प्रतिष्ठित कंपनी द्वारा चुना गया था , लेकिन इस कंपनी ने जातक को नहीं रखा , (केतु नकारात्मक सक्रियण में था ) और अब उसे स्नातक होने के कुछ महीनों बाद नौकरी देखी दूसरी नौकरी भी उतनी ही प्रतिष्ठित थी , लेकिन वह  इसका भी लाभ नहीं ले सका  क्योंकि नियुक्ति के समय जातक का स्वास्थ्य काफी बिगड़ गया (अब उसकी कुंडली में केतु अधिक गंभीर हो रहे थे)। उसे  अंततः एक औसतन  कंपनी में एक योग्यता से बहुत कम पद पर  नौकरी करनी पड़ी  (उसकी कुंडली में केतु अधिक नकारात्मक रूप से सक्रिय हो रहा था ) ।

केतु के प्रभावइसका क्या परिणाम हो सकता है

मैंने इस ग्रह द्वारा विभिन्न जातकों के जीवन में किये गए उत्पीड़नों को देखा है और उनमें से कुछ यहाँ उल्लेखित है

  • जमा जमाया बिज़नेस समाप्त  होना ।
  • बहुत सम्मानित होने के बाद अचानक अपमान |
  • बिना किसी प्रत्यक्ष कारण के प्रेम में नुकसान,
  • बिना किसी वास्तविक कारण के सार्वजनिक अपमान,
  • अस्पताल में गलत कार्यपद्धिति की प्रक्रियाएं,
  • बिना किसी स्पष्ट कारण के अचानक मौत।
  • किसी संगठन में पद और प्रतिष्ठा का नुकसान,
  • अधिकारों का अचानक हनन
  • साहस का गलत प्रदर्शन,
  • सबसे घृणित शब्दों का प्रयोग और बाद में पश्चाताप करना,
  • किसी की चुगली करना और पकड़ा जाना,
  • बिना बात किसी जाल में फंस जाना
  • किसी के लिए एक परिवार को छोड़ना , लेकिन अंततः उस व्यक्ति से भी द्वारा भी ठुकराया जाना ,
  • जो कि असम्भव है उसकी लालसा रखना
  • दिन में सपने देखना,

यदि केतु उपर्युक्त लक्षणों में से किसी का महत्व रखता है, तो मेरा विश्वास करो, उससे बाहर निकलना मुश्किल है |

केतु सम्पूर्ण जीवन का पूर्ण रूप से विनाश कर सकते हैंकुछ प्रत्यक्ष उदहारण

बाबा जो सलाखों के पीछे हैं, व्यवसायी जो देश से भाग गए हैं, पत्रकार जिन्होंने अपनी महिला कर्मचारियों का शोषण किया है, वह व्यक्ति जिन्होंने बैंक से भारी उधार लिया और चुका नहीं रहे और इन लोगों की तरह अन्य लोगों ने केतु और इसके दुख को सक्रिय किया है जो कि अंतहीन होगा। यदि कोई व्यक्ति इस ग्रह द्वारा आवंटित पीड़ाओं के अंत से पहले मर जाता है, तो ऐसा माना जाता है कि वह परेशानी जातक के भविष्य में एक लंबित कर्म के रूप में रहती है और किसी को आवंटित दुःखों का हिस्सा वर्तमान में ही सहन करना पड़ता है।

केतु के प्रभाव को कैसे करें कम

बहुत से लोग सोचते हैं कि उन्होंने इस जन्म में कुछ भी गलत नहीं किया है। लेकिन ये लोग शायद पिछले जीवन में किए गए गलत कार्यों को ध्यान में नहीं  रखते हैं। उन्हें इसके बारे में भी सोचना चाहिए और इनके वापसी फल का भी ध्यान रखना चाहिए |

इस ग्रह द्वारा आवंटित दुखों से बाहर निकलने के तरीके हैं। और इसके लिए सबसे अच्छा उपाय निश्चित रूप से आवश्यकता के अनुसार कर्म को सही करना है।

कुंडली में केतु की पड़ताल कराएं और यदि यह रुकने के लिए कहता है तो उसकी नकारात्मक ऊर्जा को रोकना चाहिए अन्यथा जो प्रभाव होगा वह नियंत्रण से बाहर होगा

अंतिम परामर्श : स्वयं की रक्षा हेतु

इसलिए  कुंडली में इस ग्रह की भूमिका को अच्छी तरह समझना चाहिए और फिर इसे उपयुक्त कर्मों के माध्यम से सही करना चाहिए | अन्यथा इस ग्रह के साथ छेड़छाड़ का परिणाम और भी भयानक हो सकता है |  कर्मा करेक्शन का यह सिद्धांत न केवल इस ग्रह के लिए अपितु कुंडली के सभी ग्रहों की नकारात्मकता को दूर करने के लिए सबसे बेहतर और अनूठा उपाय है 

इस ब्लॉग को अंग्रेजी में पढ़ने के लिए यह- क्लिक कीजिये

Tags: , ,

Related Article

No Related Article

0 Comments

Leave a Comment