पिछले जन्मों के संचित कर्म ही हमारी कुंडली का निर्माण करते हैं

हमें पता होना चाहिए कि जन्म के समय बनी कुंडली किसी पंडितजी द्वारा तैयार की गई कोई ऐच्छिक दस्तावेज़ या सहज चार्ट नहीं होता हैं ! बल्कि  हमारे पिछले जन्म …

Read More
शनि का गोचर

शनि का गोचर और विभिन्न शनि चरण

शनि का गोचर ( पारगमन or Saturn transit) लगभग ढाई साल तक एक ही  राशि में रहता है और उसके बाद अगले राशि  में प्रवेश करता है जब भी शनि …

Read More
व्यापार और व्यवसाय

व्यापार और व्यवसाय मेँ अचानक गिरावट के ज्योतिष्य कारण

हम सभी अपने व्यवसाय और व्यापार को विकसित करना चाहते हैं और इस से भी महत्वपूर्ण बात यह हैं की इसे और आगे बढ़ाना चाहते हैं! सभी जीवन में ऊपर …

Read More
भारतीय ज्योतिष

क्या हैं ? सच्चा ज्योतिष और ज्योतषीय भविष्यवाणियां

ज्योतिष एक प्राचीन विज्ञान हैं और ज्योतषीय भविष्यवाणियों का वैज्ञानिक आधार हैं भारतीय ज्योतिष आधुनिक काल के किसी भी अन्य विज्ञान की तरह हैं सभी विज्ञान तरक्की कर रहे हैं …

Read More
मंगल दोष

मंगल दोष और इसके विवाहित जीवन पर प्रभाव

यह एक भ्रम है कि केवल मांगलिक दोष ही  विवाह में बाधा डालता है । मै आपको बता दूँ  कि मंगल दोष या मांगलिक दोष ही  केवल विवाह की समस्याओं …

Read More
उच्च और नीच के गृह

उच्च और नीच के गृह विपरीत परिणाम भी दे सकते हैं

ज्योतिष के मेरे दो दशकों के अनुभव से मेने ये सत्यापिक निष्कर्ष निकाला है कि लगभग सभी कुंडली में नकारात्मक और सकारात्मक दोनों ग्रहों का संयोजन हैं। लगभग हर कुंडली …

Read More
जीवन के खेल

जीवन के खेल को कैसे बदलते हैं चमत्कार |

कभी-कभी, हम जीवन में चमत्कारों का चमत्कार पाते हैं। ये चमत्कार हमारे जीवन या किसी और के जीवन में हो सकते हैं। कभी-कभी अचानक विफलताओं या जीवन में होने वाली …

Read More
गजकेसरी

गजकेसरी, अमला, काहल & अन्य सकारात्मक योग |

प्रत्येक कुंडली  में निश्चित सकारात्मक योग होते हैं | बहुत से लोग इन योगों का घमंड करते हैं और इस धोखे में रहते हैं की वह निश्चय ही उन योगों …

Read More
शिक्षा का महत्व

शिक्षा का महत्व एवं उच्च शिक्षा |

वर्तमान समय में शिक्षा शब्द का अर्थ आजीविका हेतु योग्यता एवं उत्तम ज्ञान प्राप्त करना है | शिक्षा मनुष्य के उदार , चरित्रवान , विद्वान , और विचारवान बनाने के …

Read More
कोर्ट केस

ज्योतिष और कर्म सुधार के साथ कोर्ट केस का समाधान |

अदालत के मामले या मुकदमा मुख्य रूप से दो कारकों के परिणाम हैं केवल यह दो कारक ९९ प्रतिशत मुकदमे आदि के लिए जिम्मेदार हैं – पहला जातक की कुंडली …

Read More